Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

You'll find companions wherever you go, when you travel in Trains, family or solo.

Full Site Search
  Full Site Search  
Just PNR - Post PNRs, Predict PNRs, Stats, ...
 
Mon Jun 27 18:06:54 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Advanced Search

News Posts by 😎😎BBS Raj 🚝 Purushottam Meri jaan😘😘❤ ❤

Page#    Showing 1 to 5 of 1888 news entries  next>>
Indian Railway News नियमित ट्रेनों के संचालन के साथ ही मालगाड़ियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। मुरादाबाद मंंडल में औसत चार सौ मालगा़ड़ी व ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। चालक और गार्ड की कमी से ट्रेन संचालन में दिक्कत आ रही है।



मुरादाबाद,
...
more...
जेएनएन। Indian Railway News : नियमित ट्रेनों के संचालन के साथ ही मालगाड़ियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। मुरादाबाद मंंडल में औसत चार सौ मालगा़ड़ी व ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। चालक और गार्ड की कमी से ट्रेन संचालन में दिक्कत आ रही है। ट्रेन संचालन को सुचारू रखने के लिए रेल प्रशासन ने रोडवेज की तर्ज पर प्रत्येक चालक व गार्ड को प्रत्येक माह सात हजार किमी न्यूनतम ट्रेन चलाने का आदेश जारी कर दिया है। इस आदेश के बाद चालक व गार्ड को साप्ताहिक अवकाश तक मिलना कठिन हो गया है। साप्ताहिक अवकाश लेने वाले चालक व गार्ड के निर्धारित किमी पूरा नहीं हो पा रहा है।



परिचालन विभाग व यांत्रिक विभाग ने निर्धारित दूरी से कम ट्रेन चलाने वाले चालक व गार्ड को नोटिस जारी किए गए हैं। सभी से ट्रेनें कम चलाने का कारण पूछा गया है, सही जवाब नहीं देने पर इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी। नोटिस में कई यूनियन व एसोसिएशन के पदाधिकारियों का नाम भी शामिल हैं, जिन्होंने एक माह में दो हजार किमी से कम ट्रेनों का संचालन किया है। रेलवे कर्मचारी नोटिस का विरोध कर रहे हैं।



उनका कहना है कि चालक व गार्ड का पद लंबे समय से रिक्त चल रहे हैं। न तो पद भरे जा रहे हैं और न ही गाड़ियों की संख्या बढ़ने पर उसके सापेक्ष नए पद सृजित किए जा रहे हैं। इसके चलते रेलवे के चालक और गार्ड पर वर्क लोड बढ़ गया है। नरमू के मंडल मंत्री राजेश चौबे ने बताया कि चालक व गार्ड की शिकायत के आधार पर रेल प्रशासन को पत्र भेजा गया है। इसमें उत्पीड़न करने वाले आदेश पर रोक लगाने की मांग की है। जो चालक व गार्ड यूनियन या एसोसिएशन के पदाधिकारी हैं, उन्हें वह कर्मचारियों के समस्याओं के समाधान के लिए बैठक आदि की स्पेशल छुट्टी मिलती है, इसलिए उसके माइलेज कम है।
Jun 05 (08:37) सांबा रेलवे स्टेशन पर नही रुकरही रेल गाड़ियों, लोगों में रोष (www.amarujala.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
4220 views

News Entry# 488281  Blog Entry# 5367806   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
सांबा। जिले के कालीबड़ी रेलवे स्टेशन पर इन दिनों कोई भी रेलगाड़ी नहीं रुक रही है। इस को लेकर लोगों में रोष है। स्थानीय लोगों के अनुसार जिला प्रशासन के साथ रेलवे के उच्च अधिकारियों को भी इस बाबत अवगत कराया गया है, लेकिन कोई उचित कदम नहीं उठाया गया है।विज्ञापनसरपंच कृष्ण लाल, रविंद्र सिंह लब्लु, सामाजिक कार्यकर्ता सुमित सिंह सप्पन, निलांबर डोगरा आदि ने बताया कि कोरोना के दौरान कालीबड़ी रेलवे स्टेशन पर कोविड केंद्र नहीं होने कारण आने जाने वाली रेल गाड़ियों को सांबा में रुकने की मनाही कर दी गई थी। अब जबकि कोरोना के मामले नहीं रहे हैं। ऐसे में सभी प्रकार के कामकाज सामान्य ढंग से चल रहे हैं। जबकि सांबा के कालीबड़ी रेलवे स्टेशन पर आज भी रेल गाड़ियों को रुकने की अनुमति नहीं दी गई है। इस बाबत जिला प्रशासन के साथ उन्होंने रेलवे के उच्च अधिकारियों को भी अवगत कराया है कि सांबा...
more...
के कालीबड़ी रेलवे स्टेशन पर रेलगाड़ियों को रुकने की अनुमति दी जाए, लेकिन कोई उचित कदम नहीं उठाया गया है। सांबा में सेना का ब्रिगेड है, बीएसएफ का हेडक्वार्टर है, सिडको के तीन फेज में सैकड़ों कारखाने हैं। इतना कुछ होने के बावजूद भी रेलवे स्टेशन पर रेलगाड़ियों के रुकने की अनुमति नहीं मिलने पर लोगों को अब जम्मू व कठुआ जाना पड़ रहा है। ऐसे मेंआम लोगों को एक साथ अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने मांग उठाई है कि सांबा के कालीबड़ी रेलवे स्टेशन पर रेल गाड़ियों के रुकने की अनुमति दी जाए।
सरकार विभागों में भ्रष्टाचार नहीं रुक रहा है। सीबीआई ने उत्तर रेलवे के डिप्टी सीएमएम को घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। सीबीआई ने ठिकानों पर छापेमारी कर 32 लाख रुपये की नकदी बरामद की है।
सीबीआई ने उत्तर रेलवे के लखनऊ डिवीजन में तैनात डिप्टी चीफ मैटेरियल मैनेजर (कैरेज एंड वैगेज) आलोक मिश्रा को 80 हजार रुपये घूस की रकम के साथ गिरफ्तार किया। सीबीआई ने आलोक मिश्रा के सहयोगी रहे दो निजी व्यक्तियों अविनाश मिश्रा और मंजीत सिंह को भी गिरफ्तार किया है। आलोक मिश्रा के ठिकानों पर मारे गए छापों में 32.10 लाख रुपये नकद, कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज व डिजिटल उपकरण भी बरामद हुए हैं।
सीबीआई
...
more...
को डिप्टी सीएमएम और उनके दोनों निजी सहयोगियों के विरुद्ध यह शिकायत मिली थी कि ठेके देने और उनके बिलों के भुगतान के लिए ठेकेदारों से लिए रिश्वत की मांग कर थे। यह जानकारी भी मिली कि डिप्टी सीएमएम ने अपने एक निजी सहयोगी को एक ठेकेदार के लगभग 70 लाख के बिलों के भुगतान के लिए नकद लाने का निर्देश दिया है। इस सूचना के आधार पर सीबीआई ने जाल बिछाकर आरोपी डिप्टी सीएमएम को रुपये की 80 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए पकड़ लिया। इसके बाद लखनऊ में विभिन्न स्थानों पर छापेमारी का अभियान चलाया जा रहा है। छापों में डिप्टी सीएमएम के आवास से अब तक 32.10 लाख रुपये नकद के अलावा अन्य आपत्तिजनक दस्तावेज और डिजिटल उपकरण बरामद हुए हैं। गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों को सीबीआई द्वारा सक्षम न्यायालय के सामने पेश किया जाएगा।
डिप्टी सीएमएम के साथ गिरफ्तार किए गए दोनों निजी व्यक्तियों में से एक अविनाश मिश्रा लखनऊ में आवास विकास परिषद की वृंदावन आवास योजना-चार का निवासी है, जबकि दूसरा आरोपी मंजीत सिंह गोमती नगर के विभूति खंड का रहने वाला है। इस मामले में अन्य अज्ञात सरकारी कर्मचारियों एवं निजी व्यक्तियों को भी आरोपी बनाया गया है। सीबीआई आगे की जांच में अन्य आरोपियों का पता लगाएगी।
Jun 04 (17:31) लखनऊ से आनंद विहार जाने वाली एसी डबल डेकर ट्रेन की रफ्तार पड़ गई धीमी, तीन साल बाद हुआ था संचालन (m.jagran.com)
IR Affairs
NER/North Eastern
0 Followers
6209 views

News Entry# 488209  Blog Entry# 5367350   
  Past Edits
Jun 04 2022 (17:31)
Station Tag: Lucknow Junction NER/LJN added by 😎😎BBS Raj 🚝 Purushottam Meri jaan😘😘❤ ❤/2086033
Stations:  Lucknow Junction NER/LJN  
तीन साल बाद शुरू हुई एसी डबल डेकर ट्रेन की रफ्तार धीमी पड़ गई है। मालगाड़ी के चक्कर में एसी डबल डेकर ट्रेन बहुत लेट हो रही है। इस वजह से इसके यात्री भी काफी हद तक कम हो गए हैं।
लखनऊ, जागरण संवाददाता। करीब तीन साल के इंतजार के बाद शुरू हुई यूपी की पहली एसी डबल डेकर ट्रेन मालगाड़ियों के आगे अपना रास्ता नहीं बना पा रही है। यह ट्रेन लखनऊ से आनंद विहार तक की दूरी 12 से 14 घंटे में तय कर रही है। इसका असर वापसी की डबल डेकर ट्रेन पर भी पड़ रहा है। यह ट्रेन रात दो से तीन बजे तक लखनऊ पहुंच रही है।
एसी
...
more...
डबल डेकर ट्रेन का संचालन सप्ताह में चार दिन मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार और रविवार को लखनऊ जंक्शन से आनंद विहार के बीच होता है। इस ट्रेन का लखनऊ जंक्शन से छूटने का समय सुबह 4:55 बजे का है। जबकि आनंद विहार पहुंचने का समय दोपहर 12:55 बजे का है। बीती 31 मई को एसी डबल डेकर ट्रेन लखनऊ जंक्शन से रवाना होने के बाद बरेली तक मालगाड़ियों के कारण कई जगह रोकी गई।
यह ट्रेन आनंद विहार दोपहर 12:55 बजे की जगह शाम 4:34 बजे पहुंच सकी। इसी तरह दो जून को एसी डबल डेकर ट्रेन दो घंटे की देरी से आनंद विहार पहुंच सकी। आनंद विहार देर से पहुंचने वाली एसी डबल डेकर ट्रेन की वापसी पर भी असर पड़ रहा है। आनंद विहार से इस ट्रेन के रवाना होने का समय दोपहर 2:05 बजे का है। जबकि लखनऊ जंक्शन आने का समय रात 10:30 बजे का है। शुक्रवार को आनंद विहार से रवाना हुई डबल डेकर लखनऊ जंक्शन रात 1:10 बजे पहुंची।
वहीं दो जून को एसी डबल डेकर ट्रेन रात 1:59 बजे आ सकी। जबकि 31 मई को एसी डबल डेकर के यात्रियों को चेयरकार की सीट पर बैठकर अधिक परेशान होना पड़ा। बिना रसोई यान वाली यह ट्रेन 31 मई की शाम रवाना हुई तो लखनऊ जंक्शन एक जून की सुबह 3:26 बजे पहुंच सकी। अधिक लेट लतीफी का शिकार होने के कारण इस ट्रेन में यात्री टिकट कम बुक करा रहे हैं। जिस कारण सोमवार से बड़ी संख्या में सीटें खाली पड़ी हैं।
Indian Railways Ticket Transfer Process अगर आप चाहें तो ट्रेन में आपकी टिकट पर कोई दूसरा व्यक्ति सफर कर सकता है। जी हां भारतीय रेलवे यात्रियों की सुविधा के लिए बेहतरीन सुविधा उपलब्ध करवाता है जिसके माध्यम से लोग अपना टिकट दूसरे को भी ट्रांसफर कर सकते हैं।



नई
...
more...
दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय रेलवे अपने यात्रियों के लिए कई बेहतरीन सुविधाएं उपलब्ध करवाता है। लेकिन आज हम यहां पर आपको जो बताने जा रहे हैं वह शायद ही आपको पता होगा। जी हां क्या आप जानते हैं कि ट्रेन में आप के टिकट पर कोई और भी यात्रा कर सकता है। आप सोच रहे होंगे कि यह कैसे संभव है। लेकिन, आपको बता दें कि यह संभव है। अगर आप चाहे तो आप अपनी ट्रेन टिकट को दूसरे को ट्रांसफर कर सकते हैं, जिसके बाद वह व्यक्ति आपकी उस टिकट पर आसानी से यात्रा कर सकता है। आइए जानते हैं कि आखिर इसके लिए क्या नियम हैं।



दरअसल, कई बार ऐसा होता है कि यात्रियों के सामने कुछ गंभीर समस्याएं आ जाती हैं, जिसके बाद वह यात्रा नहीं कर पाते हैं। इसके बाद व्यक्ति टिकट कैंसिलेशन के लिए काफी पेरशान होता है और टिकट कैंसिलेशन चार्ज कटने के बाद उसका पैसा रिफंड होता है। इस तरह की कई समस्याएं सामने आती हैं, जिसे देखते हुए आईआरसीटीसी ने इसका कुछ हल निकाला है। अब आप अपना टिकट कैंसल न करके किसी और को ट्रांसफर कर सकते हैं, जिसके बाद वह व्यक्ति उस टिकट पर यात्रा कर सकता है।



क्या है इसका तरीका?



इसके लिए यात्रियों को ट्रेन डिपार्चर के 24 घंटे पहले निकटतम ट्रेन आरक्षण कार्यालय में एक लिखित अनुरोध सबमिट करना होगा। ई-टिकट माता, पिता, भाई, बहन, पुत्र, पुत्री, पति/पत्नी जैसे परिवार के सदस्यों को ट्रांसफर किया जा सकता है। जिस यात्री के नाम पर टिकट जारी किया गया है, उसे ई-आरक्षण पर्ची का एक प्रिंटआउट, एक मूल आईडी कार्ड प्रमाण और उस व्यक्ति के साथ संबंध का प्रमाण देना होगा, जिसे टिकट ट्रांसफर किया जाना है। यदि यात्री ड्यूटी पर जाने वाला सरकारी कर्मचारी है और उचित अधिकार रखता है, तो ट्रेन के प्रस्थान के नियत समय से 24 घंटे पहले एक लिखित अनुरोध प्रस्तुत करता है। ऐसे सभी अनुरोध केवल एक बार स्वीकृत किए जाएंगे।
Page#    1888 news entries  next>>

Go to Full Mobile site