Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

TKD WDP-4B "प्रतीक" - रंग ऐसा कि हर किसी को प्यार हो जाए - Anubhav Kashyap

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Tue Apr 20 04:10:04 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by महाँकाल एक्सप्रेस

Page#    Showing 1 to 5 of 856 news entries  next>>
उत्तर पश्चिम रेल NWR ने एक सूची बनाई है। दरअसल रेलवे बोर्ड से क्षेत्रीय रेल्वेज को गाड़ियोंकी निगरानी करने कहा गया है, जो गाड़ियोंको यात्रिओंकी ओरसे बहुत कम रिस्पॉन्स मिल रहा है। निम्नलिखित सूची उन्ही खाली चलनेवाली गाड़ियोंकी है, उक्त गाड़ियोंका परिचालन कुछ दिनों के लिए रद्द कीये जाने का प्रस्ताव जनरल मैनेजर की सहमती से रेलवे बोर्ड को भेज जा सकता है। यज्ञपि यह ध्यान रखा जाएगा कि प्रत्येक मार्ग पर कोई न कोई गाड़ी चलती रहेगी जो महत्व के ज्यादा स्टापेजेस कवर कर रही हो।

उपरोक्त सूची में, गाड़ियोंके
...
more...
यात्री संख्या रिपोर्ट है। हर गाड़ी के लगभग 3 – 3 दिनोंके फेरे के आँकड़े दिए गए है। जल्द ही इनमेसे कुछ गाड़ियोंके फेरे रद्द किए जा सकते है।
वाराणसी. Penality On Face Mask-कोरोना की दूसरी लहर से बचाव के लिए रेलवे महकमे ने पूरी तरह से कमर कस ली है। अब रेलवे परिसर, प्लेटफार्म या कालोनियों में बिना मास्क के घुमने पर 500 रुपये का जुर्माना किया जाएगा। इसी तरह ट्रेन में बिना मास्क बैठने पर भी 500 रुपये की वसूली के निर्देश हैं। पान-गुटखा खाकर थूकने पर भी जुर्माने की राशि निर्धारित की गई है। उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज ने संबंधित स्टेशनों को निर्देश जारी कर दिया है। यह जुर्माना टिकट कलेक्ट्रेट, स्टेशन अधीक्षक, स्टेशन मास्टर के अलावा कमर्शियल विभाग के अधिकारियों द्वारा जुर्माना किया जाएगा।संक्रमण रोकने के लिए मास्क जरूरीउत्तर मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी अमित कुमार सिंह ने इस आदेश पर कहा है कि कोविड के मद्देनजर, किसी भी व्यक्ति द्वारा बिना मास्क पहने, रेलवे परिसर (ट्रेनों सहित) में प्रवेश करना, स्टेशन परिसर व ट्रेन में थूकना, गंदगी फैलाने, जैसी स्थिति में जुर्माना वसूला जाएगा। यह...
more...
सभी कृत्य सार्वजनिक स्वास्थ्य को हानि पहुंचाने की श्रेणी में ही माना जाएगा। ऐसे में रेलवे परिसर व ट्रेनों में प्रवेश करते समय सभी के लिए मास्क या फेस कवर पहनना अनिवार्य है। मास्क या फेस कवर न पहनने की स्थिति में 500 रुपये की राशि ली जाएगी। संक्रमण को रोकने के लिए मास्क जरूरी कर दिया गया है। पूरे सफर के दौरान मास्क पहन कर बैठना अनिवार्य है।पान गुटखा खाकर थूकने पर भी जुर्मानापरिसर व ट्रेन में स्वच्छ वातावरण को बनाए रखने के लिए पान-गुटखा खाकर थूकने वालों पर भी अब शिकंजा कसा जाएगा। मसलन, पान-गुटखा खाकर किसी ने थूका तो उसके खिलाफ जुर्माना व विधिक कार्रवाई की जाएगी। यह आदेश फिलहाल छह माह तक लागू रहेगा
रतलाम. रेलवे ने त्योहार को देखते हुए करोड़ों यात्रियों को सौगात देते हुए कई मार्ग पर यात्री ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। इन ट्रेन में आरक्षण की शुरुआत हो गई है व ट्रेन का ठहराव मंडल के कई स्टेशन पर दिया गया है। इसके अलावा रेलवे ने हबीबगंज दाहोद ट्रेन सहीत अन्य ट्रेन को यात्रियों की संख्या में कमी को देखते हुए आगामी आदेश तक बंद करने का निर्णय लिया है।मुंबई सेंट्रल मंडुआडीह ट्रेनट्रेन नंबर 09089 मुंबई सेंट्रल मंडुआडीह दादर ट्रेन 21 अप्रैल बुधवार से रात 10.30 बजे चलकर रतलाम में सुबह 7.10/7.15 गुरूवार होते हुए शुक्रवार को 8 बजे मंडुआडीह पहुंचेगी। इसी प्रकार ट्रेन नंबर 09090 मंडुआडीह दादर 23 अप्रैल शुक्रवार को मंडुआडीह से शाम 5 बजे चलकर रतलाम शाम 5.55/6.00 शनिवार होते हुए रविवार को तड़के 4.30 बजे दादर पहुंचेगी। इस ट्रेन का दोनों दिशाओं में बोरीवली, वापी, सूरत,वडोदरा, रतलाम, कोटा, सवाई माधोपुर, भरतपुर, मथुरा, कानपुर, लखनऊ, राय...
more...
बरेली, अमेठी, प्रतापगढ़, जंघई, एवं भदोई स्टेशन पर ठहराव दिया गया है।कामाख्या जाएगी ट्रेनट्रेन नंबर 09303 डॉ अंबेडकर नगर कामाख्या 23 व 30 अप्रैल प्रति शुक्रवार को दोपहर 12.45 बजे चलकर इंदौर 1.50/13.55, देवास 2.26/2.28, उज्जैन 3.20/3.35 व शुजालपुर 4.57/4.59 होते हुए रविवार को दोपहर 2.45 बजे कामाख्या पहुंचेगी। इसी प्रकार ट्रेन नंबर 09304 कामाख्या डॉ अंबेडकर नगर 26 अप्रैल व 3 मई सोमवार को कामाख्या से सुबह 5.35 बजे चलकर शुजालपुररात 12.05/12.07 बुधवार, उज्जैन 2.00/2.20, देवास 2.50/2.52 व इंदौर 4.40/4.45 बुधवार होते हुए प्रति बुधवार को सुबह 5.30 बजे डॉ अंबेडकर नगर पहुंचेगी। इस ट्रेन का दोनों दिशाओं में इंदौर, देवास, उज्जैन, शुजालपुर, संत हिरदाराम नगर, बीना, झांसी, ओरई, कानपुर सेंट्रल, लखनऊ, सुल्तानपुर, जौनपुर सिटी, वाराणसी, पं दीनदयाल उपाध्याय जं. पटना, बरौनी, खगडिय़ा, कटिहार, किशनगंज, न्यू जलपाई गुड़ी, अलीपुरद्वार एवं न्यू बोंगाई गांव स्टेशन पर ठहराव दिया गया है। IMAGE CREDIT: patrika अहमदाबद दानापुर ट्रेनट्रेन नंबर 09467 अहमदाबद दानापुर 25 अप्रैल रविवार को अहमदाबाद से रात 11.15 बजे चलकर रतलाम सुबह 6.00/6.05 सोमवार होते हुए मंगलवार को सुबह 10.50 बजे दानापुर पहुंचेगी। इसी प्रकार ट्रेन नंबर 09468 दानापुर अहमदाबाद 27 अप्रैल मंगलवार को दानापुर से दोपहर 1.50 बजे चलकर रतलाम शाम 7.50/7.55 बुधवार होते हुए गुरूवार को रात 2.30 बजे दानापुर पहुंचेगी। इस ट्रेन का दोनों दिशाओं में नडियाड,छायापुरी, रतलाम, कोटा, सवाई माधोपुर, गंगापुर सिटी, हिंडौन सिटी, भरतपुर, अछनेरा, मथुरा, कासगंज, फारुखाबाद, कानपुर सेंट्रल, लखनऊ, सुल्तानपुर, जौनपुर सिटी, वारानसी, पं. दीनदयाल उपाध्याय जं., बक्सर एवं आरा स्टेशनों पर ठहराव दिया गया है।बांद्रा गौरखपुर ट्रेनट्रेन नंबर 09073 बांद्रा टर्मिनस गोरखपुर 21 अप्रैल को शाम 7.25 बजे चलकर रतलाम सुबह 5.25/5.35 गुरूवार होते हुए शुक्रवार को सुबह 6.05 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। इसी प्रकार ट्रेन नंबर 09074 गोरखपुर बांद्रा 23 अप्रैल शुक्रवार को गोरखपुर से शाम 4.10 बजे चलकर रतलाम शाम 4.50/4.55 शनिवार होते हुए रविवार को सुबह 5.10 बजे बांद्रा पहुंचेगी। इस ट्रेन का दोनों दिशाओं में बोरीवली, वापी, सूरत,वडोदरा, रतलाम, भवानी मंडी, कोटा, सवाई माधोपुर, बयाना, आगरा फोर्ट, टूंडला, इटावा, कानपुर सेंट्रल, लखनऊ सिटी, बाराबंकी, एवं बस्ती स्टेशन पर ठहराव दिया गया है। IMAGE CREDIT: patrika रेलवे ने इन ट्रेन को किया निरस्तट्रेन नंबर 09323 डॉ अंबेडकर नगर भोपाल 19 अप्रैल से अगले आदेश तक निरस्त रहेगी। ट्रेन नंबर 09324 भोपाल डॉ अंबेडकर नगर 20 अप्रैल से अगले आदेश तक निरस्त रहेगी। ट्रेन नंबर 09340 भोपाल दाहोद 20 अप्रैल से अगले आदेश तक निरस्त रहेगी। ट्रेन नंबर 09329 दाहोद भोपाल 20 अप्रैल से अगले आदेश तक निरस्त रहेगी। IMAGE CREDIT: patrika
रास्ते खत्म कहां होते हैं... जिंदगी के सफर में,मंजिल तो वहां है...जहां ख्वाहिशें थम जाएं...मुंबई से लौट रहे लोगों की कहानी भी कुछ ऐसे ही है। रोज रोटी देने वाले शहर को छोड़कर घर तो पहुंचे, लेकिन ख्वाहिशों को पूरा करने वाली मंजिल कैसे मिलेगी? पलायन एक्सप्रेस के दूसरे पार्ट में हम मुंबई से बनारस, लखनऊ और पटना पहुंची ट्रेनों की बोगियों में दाखिल हुए।
इसे हमने दो हिस्सों में बांटा है। पहली रिपोर्ट मुंबई से प्रधानमंत्री मोदी की उम्मीदों के शहर बनारस पहुंचे लोगों पर है। और दूसरी रिपोर्ट लखनऊ और पटना से होगी, जहां हजारों की तादाद में रोज लोग आ रहे।
तो
...
more...
आज बनारस से रिपोर्ट...मुंबई में कोरोना के मामले 20 दिन में 3670% तक बढ़ गए हैं। हालात बेहद खराब हैं। यूपी-बिहार के लोग लौट रहे हैं। मुंबई से आने वाली दो मुख्य ट्रेन महानगरी और स्पेशल ट्रेन लोकमान्य तिलक 01061 वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन पर आ चुकी हैं। 1500 से 1600 यात्रियों की क्षमता वाले इस ट्रेन में ढाई हजार से ज्यादा लोग सवार हैं।
भीड़ इतनी है कि लोग टॉयलेट के पास बैठ सफर करने को मजबूर हैं। खाना-पीना भी वहीं हो रहा है। अमित कुमार बिहार के रहने वाले हैं। मुंबई में एक कंपनी में सुपरवाइजर का काम करते थे। लॉकडाउन लगा तो कंपनी के सेठ ने कहा घर चले जाओ।
अमित बताने लगे कि स्टेशन ट्रेन पकड़ने आया तो टिकट ही नहीं मिला। साथ में परिवार के चार लोग भी थे। ऐसे में घर जाने के लिए हर एक आदमी पर दो-दो हजार रुपए का फाइन भरा। यानी कुल 8 हजार रुपए दिए तब जाकर ट्रेन में जगह मिली।
वहीं कुछ दूर पर दरभंगा के रहने वाले गफ्फार बैठे मिले। वेल्डिंग का काम करते हैं। इनकी भी वही कहानी। बताया कि मुंबई के स्टेशन पर टिकट ही नहीं मिल पा रहा था। आना था ताे ट्रेन में आ बैठे। टीटी आए तो सबको फाइन मारते गए। मैं खुद भुसावल में 1900 रुपया फाइन भरकर सफर कर पाया। मजबूरी है कि किसी भी तरह गांव वापस पहुंच जाएं। मुंबई में तो हालत बिल्कुल ठीक नहीं है।
मुंबई में लॉक होने से अच्छा है घर लौट जाएं
पटना के रहने वाले संजीव ने बताया कि वे गारमेंट्स फैक्ट्री में जॉब करते थे, लेकिन लॉकडाउन के कारण बारी-बारी से सभी फैक्ट्रियां बंद हो रही हैं। इतना ही नहीं बाहर भी नहीं निकलने दिया जा रहा। अब ऐसे में तो केवल गांव लौटने का ही रास्ता बचा था, तो किसी तरह निकल आए।
कुछ ऐसी कहानी बक्सर के रहने वाले श्याम राय की है। वे मुंबई में टैक्सी चलाते थे। उन्होंने बताया कि मुंबई में मंदिर, पार्क, दुकानें सब कुछ बंद होने लगा है। अब ऐसे में कौन बाहर निकले? किसी भी तरह बाहर निकले तो पुलिस पीट रही है। तो धंधा कैसे होगा? लोग परेशान होकर अपने-अपने गांव भाग रहे हैं।
शहर में बैग सिलाई का धंधा करने वाले मोतिहारी के तबरेज भी घर लौट रहे हैं। बीते एक महीने से उनका धंधा बंद है। काम खोजने निकले तो पुलिस पीटती है। बड़ी मुश्किल से परिवार के साथ ट्रेन में टॉयलेट के पास बैठकर सफर कर रहे हैं।





निम्नलिखित 32 गाड़ियाँ है, जो 18/4/2021 से पूर्णतयः रद्द की जा रही है। परीपत्रक में विस्तारसे सभी गाड़ियोंका विवरण दिया गया है।
Page#    856 news entries  next>>

Go to Full Mobile site