Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

रेलफैनों की तो बात ही कुछ और है

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Wed Dec 8 11:19:04 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Advanced Search

News Posts by Manohar

Page#    Showing 1 to 5 of 2961 news entries  next>>
Indian Railways अगरतल्ला-मालदा-आनंद विहार सप्ताहिक ट्रेन रात आठ बजे भागलपुर तो 850 बजे जमालपुर पहुंचेगी। प्रत्येक मंगलवार को साहिबगंज-भागलपुर-जमालपुर होकर चलेगी राजधानी एक्सप्रेस। नए साल में शुरू हो जाएगा परिचालन। मालदा से भागलपुर के रास्ते जनशताब्दी एक्सप्रेस को भी चलाने की भी पहल तेज।

जागरण संवाददाता, भागलपुर। साहिबगंज-भागलपुर-जमालपुर-किऊल रेलखंड के यात्रियों के लिए दिल्ली का सफर अब ज्यादा सुविधाजनक होगी। भागलपुर से राजधानी से 14 घंटे में 'राजधानी' का सफर पूरा होगा। अगरतल्ला-मालदा-आनंद विहार सप्ताहि ट्रेन (20501/20502) राजधानी एक्सप्रेस का परिचालन नए साल में शुरू हो जाएगा। अगरतल्ला से यह ट्रेन देर
...
more...
शाम 7:25 खुलेगी और अंबासा, धर्मनगर, न्यू करीमगंज, बादरपुर, होजाई, गुवाहाटी, रागिया, बरपेश रोड, न्यू जलपाईगुड़ी, मुकरिया होते हुए दूसरे दिन मंगलवार की शाम रात 5:30 बजे यह ट्रेन मालदा टाउन पहुंचेगी। 10 मिनट के बाद शाम 5:40 मालदा स्टेशन से खुलेगी और देर शाम 7:00 बजे साहिबगंज और पांच मिनट बाद साहिबगंज से खुलेगी।


साहिबगंज से खुलने के बाद सीधे यह ट्रेन रात 8:00 बजे भागलपुर पहुंचेगी। पांच मिनट रुकने के बाद रात 8:05 बजे भागलपुर से प्रस्थान करेगी और 8:45 बजे जमालपुर पहुंचेगी। भागलपुर से पटना का सफर महज तीन घंटे और दिल्ली का सफर 14 घंटे में पूरा होगा। यह ट्रेन रात 11 बजे पटना और दूसरे दिन 10:30 बजे आनंद विहार पहुंचेगी।



वहीं प्रत्येक शुक्रवार को यह ट्रेन आनंद विहार से सुबह साढ़े दस बजे भागलपुर, दोपहर 1:55 बजे मालदा टाउन और दोपहर 2:05 बजे मालदा से खुलने के बाद विभिन्न स्टेशन से गुजरते हुए यह ट्रेन दूसरे दिन शनिवार को दोपहर 12:50 बजे अगरतल्ला पहुंचेगी।


रेलवे के अधिकारियों के अनुसार इस ट्रेन का भागलपुर और जमालपुर होकर चलाने की दिशा में तैयारियां चल रही है। इसी के मद्देनजर जमालपुर के नए टनल का सीआरएस करा जल्द इसे चालू करने की दिशा में पहल तेज कर दी गई है ताकि नए साल में राजधानी एक्सप्रेस का परिचालन शुरू हो सके। अगरतल्ला से मालदा टाउन की दूरी 2427 किलोमीटर है और भागलपुर से दिल्ली की दूरी 1210 किलोमीटर मीटर है। इस ट्रेन की औसतन स्पीड 61.57 किलोमीटर प्रतिघंटे की है।

मालदा से भागलपुर, जमालपुर व किऊल स्टेशन तक प्रतिघंटे 110 और किऊल और पटना के बीच 130 किलोमीटर प्रतिघंटे की स्पीड है। पटना और दिल्ली के बीच प्रतिघंटे इससे अधिक स्पीड है। अधिकारियों ने बताया कि मालदा-साहिबगंज-भागलपुर-जमालपुर-किऊल होकर जनशताब्दी एक्सप्रेस को चलाने की दिशा में भी पहल की जा रही है। राजधानी एक्सप्रेस के बाद इस ट्रेन को चलाने की भी योजना है। राजधानी एक्सप्रेस और जनशताब्दी एक्सप्रेस में एलएचबी कोच है। राजधानी एक्सप्रेस के परिचालन को ध्यान में रखकर ही पुराने पटरियां बदली जा रही हैं।

राजधानी एक्सप्रेस को मालदा टाउन, साहिबगंज, भागलपुर, जमालपुर होकर चलाने की योजना के तहत पहल तेज कर दी गई है। यह ट्रेन प्रत्येक मंगलवार को चलेगी। -पवन कुमार, सीनियर डीसीएम सह सीपीआरओ, मालदा रेल मंडल।
भाई की शादी छोड़ आधी रात रेलवे स्टेशन पहुंची बहन, चावल-सब्जी-दाल बांटती आई नजर

शादी में बचे खाने का सबसे सही उपयोग कर चर्चा में आई बहन (इमेज- इंस्टाग्राम)

सोशल मीडिया (Social
...
more...
Media) पर दिल जीत लेने वाली कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं. इसमें एक महिला सज-धज कर सड़क पर बैठी नजर आई. महिला के सामने खाने-पीने की ढेर सारी चीजें नजर आई. पता चला कि महिला के भाई की शादी में काफी खाना बच गया था. उसे ही बांटने के लिए महिला (Woman Distributing Marriage Leftover Food) सड़क पर बैठी थी.

शादी का सीजन (Wedding Season) चल रहा है. भारत में वेडिंग के दौरान लोग अपनी लिमिट्स से ज्यादा बढ़कर ही खर्च करते हैं. खाने-पीने से लेकर रिश्तेदारों के गिफ्ट्स और तामझाम में जमकर पैसा खर्च किया जाता है. सोसाइटी में अपना रुतबा बनाए रखने के लिए पैसे खर्च किये जाते हैं. इस दौरान जमकर बर्बादी भी होती है. आम तौर पर लगभग हर शादी में खाने की बर्बादी देखी (Food Wastage) जाती है. इसी बर्बादी को रोकने वाली कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं, जो लोगों का दिल जीत रहा है.

जानकारी के मुताबिक़, वायरल तस्वीरें कोलकाता के रानाघाट स्टेशन Ranaghat Station) का है. तस्वीर में एक महिला बन-ठन कर स्टेशन पर बैठी नजर आई. उसने हेवी साड़ी और हेवी ज्यूलरी पहन रखी थी. महिला के आसपास चावल, दाल और सब्जी से भरे बर्तन थे. आधी रात महिला स्टेशन पर भूखे लोगों को खाना खिला रही थी. पता चला कि महिला के भाई की उसी दिन शादी थी. शादी में आए गेस्ट्स के जाने के बाद पता चला कि इतना खाना बच गया है. महिला खाने की बर्बादी नहीं देख पाई और उसे बांटने के लिए स्टेशन आ गई.

लोगों को ये मोमेंट दिल छूने वाला लगा. इस मोमेंट को कैमरे में वेडिंग फोटोग्राफर नीलांजल मंडल ने शेयर किया. महिला का नाम पापिया कर (Papiya Kar) बताया जा रहा है. महिला रात के एक बजे रानाघाट स्टेशन पर खाना बांटते नजर आई. महिला के भाई का रिसेप्शन था, जिसमें बचे हुए खाने को वहां बांटा जा रहा था. महिला ने जब पार्टी के बाद खाना देखा, तो समझ गई कि कैटरिंग वाले इस फेंक देंगे. खाने की बर्बादी देख महिला ने उसे बांटने का फैसला किया.

सोशल मीडिया पर लोगों को ये तस्वीरें काफी पसंद आ रही है. इन्हें इंस्टाग्राम पर ig_calcutta नाम के अकाउंट पर शेयर किया गया. कैप्शन में लिखा था कि ये पोस्ट आंखें खोल देगी. इस तरह की काइंडनेस दिल जीत लेती है. लोग इन तस्वीरों को जमकर शेयर कर रहे हैं. तस्वीरों में साफ़ देखा जा सकता जरूरतमंद खाने को देख कितने खुश हैं. कई लोगों ने इस पोस्ट को शेयर किया.
IRCTC Tourism: आप सिर्फ दो दिन में दिल्ली से अमृतसर की सैर कर सकते हैं और आपको सिर्फ 5780 रुपये खर्च करने होंगे. आइए आपको इंडियन रेलवे के इस पैकेज के बारे में डिटेल में बताते हैं-

अमृतसर पैकेज (फाइल फोटो)

IRCTC
...
more...
Tour Package: अगर आप भी इस बार वीकेंड पर कहीं घूमने का प्लान बना रहे हैं तो IRCTC आपके लिए एक खास पैकेज लेकर आया है, जिसमें आपको एक रात और दो दिन घूमने का मौका मिलेगा. जी हां... आप सिर्फ दो दिन में दिल्ली से अमृतसर (New Delhi - Amritsar Tour) की सैर कर सकते हैं और आपको सिर्फ 5780 रुपये खर्च करने होंगे. आइए आपको इंडियन रेलवे के इस पैकेज के बारे में डिटेल में बताते हैं-

कितना आएगा खर्च?अगर आप ये पैकेज लेते हैं तो सिंगल ऑक्युपेसी में प्रति व्यक्ति 8420 रुपये खर्च करने होंगे. इसके अलावा डबल ऑक्युपेसी में प्रति व्यक्ति 6240 रुपये खर्च होंगे. वहीं, ट्रिपल ऑक्युपेसी में 5780 रुपये खर्च होंगे. 5 से 11 साल तक के चाइल्ड विद बैड के लिए 4670 रुपये खर्च करने होंगे. इसके अलावा 5 से 11 साल तक के चाइल्ड विदआउट वेड के लिए 3820 रुपये खर्च करने होंगे. 

यहां कर सकते हैं संपर्कइसके पैकेज के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप IRCTC Tourist Facilitation Center, Platform No. 16, New Delhi Railway Station, फोन नंबर - 9717641764, 9717648888, 8287930747 पर संपर्क कर सकते हैं. इसके अलावा मेल आईडी pankaj.tiwari@irctc.com & tourismnz@irctc.com पर भी पूछताछ कर सकते हैं. 

ऑफिशियल लिंक पर कर सकते हैं विजिटइस पैकेज के बारे में आप click here ऑफिशियल लिंक पर भी विजिट कर सकते हैं.
रेलवे ने अप्रैल 2021 से 5 दिसंबर 2021 तक यानी सिर्फ 8 महीने में ही 100 करोड़ से ज्यादा का जुर्माना वसूला है. रेलवे ने ऐसे यात्रियों के लिए एक अभियान चलाया था जिससे ये वसूली की गई है.

नई दिल्ली: Northern Railway Collects 100 Crore Fine: भारतीय रेलवे यात्रियों की बस एक गलती पर जबरदस्त वसूली की है. इस एक गलती की पेनल्टी के रूप में रेले ने 100 करोड़ से ज्यादा पैसे वसूले हैं. अब तक आपने सुना होगा कि रेलवे टिकट बेचकर और मालभाड़ा से पैसे कमाती है. लेकिन
...
more...
रेलवे की कमाई का एक बड़ा जरिया फाइन (Fine) भी है.

100 करोड़ रुपये जुर्माना वसूली

यह जुर्माना बिना टिकट (Ticketless Travellers) यात्रा करने वाले यात्रियों से वसूला जाता है. अब आप ये अंदाजा लगा सकते हैं कि ट्रेन में बिना टिकट यात्रा करने वालों की संख्या कितनी ज्यादा होती है. उत्तर रेलवे ने अप्रैल 2021 से 5 दिसंबर 2021 तक यानी सिर्फ 8 महीने में ही 100 करोड़ से ज्यादा का जुर्माना वसूला है. रेलवे ने ऐसे यात्रियों के लिए एक अभियान चलाया था जिससे ये वसूली की गई है. 

रेलवे महाप्रबंधक ने दी जानकारी 

उत्तर रेलवे महाप्रबंधक, आशुतोष गंगल ने बताया कि 1 अप्रैल 2021 से 5 दिसंबर 2021 के बीच कई रेलवे स्टेशनों और ट्रेन में टिकट जांच का अभियान चलाया गया जिसमें भारी संख्या में लोग बिना टिकट यात्रा करते पकड़े गए. इस दौरान बिना टिकट और अनधिकृत तौर पर यात्रा करने वालों से फाइन लिया गया. आशुतोष गंगल ने बताया कि टिकट जांच से प्राप्त जुर्माने की रकम 100 करोड़ से ज्यादा है.

अभियान आगे भी चलता रहेगा

आशुतोष गंगल ने इस अभियान को सफल बनाने वाले सभी रेलवे कर्मचारियों की सराहना भी की. देश में सभी जोन में रेलवे इस तरह के अभियान चलाता रहता है. कोरोना प्रोटोकॉल के तहत मास्क न पहनने के चलते भी सेंट्रल रेलवे ने 23 हजार से ज्यादा यात्रियों पर जुर्माना लगाया और फाइन के रूप में 26 लाख रुपये की वसूली की.

दरअसल, त्योहारी सीजन के दौरान लाख कोशिशों के बावजूद कई लोगों को टिकट नहीं मिल पाती, ऐसे में वह बिना टिकट ही रेलवे के सफर पर निकल जाते हैं. रेलवे के दिल्ली मंडल ने ऐसे 1.42 करोड़ यात्रियों को पकड़ा और उनसे 8.01 करोड़ रुपये के जुर्माने की वसूली की.

कितना लगता है जुर्माना?

गौरतलब है कि रेलवे के द्वारा बिना टिकट यात्रा करते हुए पकड़े जाने पर कम से कम 250 रुपये से लेकर 1 हजार रुपये तक का जुर्माना वसूला जाता है. इसके अलावा इस तरह से अनधिकृत यात्रा पर यात्रियों को जेल भी हो सकती है या दोनों एक साथ हो सकते हैं. पकड़े जाने पर, बिना टिकट यात्रा करने वाले यात्री से ट्रेन से शुरू होने वाले स्टेशन से लेकर अंतिम स्टेशन तक का किराया लिया जाता है.

रेलवे द्वारा साल दर साल बिना टिकट यात्रियों से वसूला गया जुर्माना

साल                    वसूला गया जुर्माना2018-19                     62.772019-20                    77.30142020-21                10065.14
लंबे समय से सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन पर बंद ट्रेन के परिचालन की मांग यात्री कर रहे थे। यह ट्रेन कोरोना वायरस संक्रमण के बाद 24 मार्च-2020 से बंद कर दी गई थी। सोमवार को सोनीपत-गोहाना-जींद रेल मार्ग पर एक बार फिर से ट्रेन को चलाया गया। जींद से सोनीपत वाया गोहाना चली इस ट्रेन में करीब 100 यात्री सवार होकर पहले दिन सोनीपत पहुंचे। यह ट्रेन अपने निश्चित समय से पांच मिनट की देरी से प्लेटफार्म नंबर पांच पर लगाई गई। जिसे देखने लिए काफी संख्या में लोग स्टेशन पर पहुंचे। सोमवार को सोनीपत रेलवे स्टेशन से जींद और गोहाना के लिए 35 टिकटों की बिक्री हुई है। रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि अभी लोगों को पूरी तरह जानकारी नहीं है। जिसकी वजह से पहले दिन सवारियां कम आई है। एक सप्ताह के भीतर पूरी तरह से भरकर चलने की आशा जताई जा रही है। इस रूट पर तीन...
more...
ट्रेन का परिचालन किया जाता था, फिलहाल एक ट्रेन ही चलाई जा रही है। साेनीपत-गोहाना-जींद रेल के चलने से यात्रियों ने काफी राहत महसूस की है। दैनिक यात्री नीरज, सुनील, रमेश, लखविंदर आदि ने बताया कि ट्रेन का परिचालन बंद होने से इन लोगों को आवागमन के लिए ज्यादा धन खर्च करना पड़ रहा था। इसके अतिरिक्त आवागमन में समय भी ज्यादा लग रहा था। जिसके लिए रेलवे को चलाने की मांग की जा रही थी। रेल के चलने से इस सर्दी में लोगों को राहत मिलेगी। अन्यथा लोग बाइक और टैंपो में सवार होकर आवागमन करते हैं।

इस रूट पर ट्रेन का संचालन था पूरी तरह बंद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश में 24 मार्च से संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। जिसके साथ ही देश भर में ट्रेन का परिचालन पूरी तरह से रोक दिया गया था। इसमें सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन भी शामिल है। तब से अब तक इस रूट पर ट्रेन का परिचालन पूरी तरह से बंद था। जिसे यात्रियों की लगातार डिमांड पर सोमवार से रेलवे चलाना शुरू किया है। सोमवार को 19 महीना 13 दिन बाद सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन पर ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया है।

जींद से सुबह 10:30 बजे अागमन, साेनीपत से 1:35 बजे हुई वापसी

जींद से यह रेलगाड़ी सुबह 10:30 बजे प्रस्‍थान कर दोपहर 12:40 बजे सोनीपत पहुंची। वापसी दिशा में सोनीपत से यह रेलगाड़ी 01:35 बजे प्रस्थान कर शाम 4 बजे जींद पहुंची। रूट पर रेलगाडी जींद सिटी, पांडु पिंडारा, ललात खेडा, बामहनी, ईशापुर खीरी, बुटाना, खंडराई, गोहाना, रभड़ा, लठ, मोहाना और बडवासनी स्‍टेशनों पर दोनों दिशाओं में ठहरेगी। ़ा, लठ, मोहाना और बडवासनी स्‍टेशनों पर दोनों दिशाओं में ठहरेगी।

गोहाना के लिए 10 की जगह देने होंगे 30 रुपए​​​​​​​

पहले दिन ट्रेन गोहाना जंक्शन पर 9 मिनट की देरी से पहुंची। ट्रेन शुरू होने से यात्रियों को राहत तो मिली है, लेकिन सोनीपत जाने के लिए यात्रियों को अपनी जेब ढीली करनी पड़ेगी। सोनीपत का 3 गुना तक किराया बढ़ा दिया है। पहले यात्रियों को ₹10 किराया देना होता था, अब सोनीपत के लिए ₹30 खर्च करने होंगे। रेलवे ने 2 वर्ष बाद जींद से सोनीपत के लिए दिन भर में 3 ट्रेनें चलती है। सोमवार को ट्रेनों का संचालन किराए में 3 गुना बढ़ोतरी के साथ किया गया। अधिकारियों को स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ अधिक होने की उम्मीदें थी। लेकिन पहले दिन भर में जंक्शन से केवल 40 यात्रियों ने ही ट्रेन में सफर किया। ट्रेन के चलने से शहर के व्यापारियों को फायदा होगा। सोनीपत से दिल्ली के लिए आसानी से ट्रेन मिल जाती है। ट्रेन नहीं चलने पर व्यापारियों को दिल्ली जाने के लिए बसों पर निर्भर रहना पड़ता था। एसएस बलराम मीणा ने बताया कि जींद से सोनीपत के लिए ट्रेन का संचालन शुरू हो गया है। मुख्यालय ने किराए में वृद्धि की है। यात्रियों की सुविधा के लिए ट्रेन प्रत्येक निर्धारित स्टॉपेज पर रुकेगी।
Page#    2961 news entries  next>>

Go to Full Mobile site