Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

RailFans - the future of journalism

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Mar 25 10:59:15 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    357731 news entries  next>>
  
Today (09:22) सतना से मानिकपुर तक कल दौड़ेगी सीआरएस स्पेशल ट्रेन (mnaidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
435 views

News Entry# 379372  Blog Entry# 4271111   
  Past Edits
Mar 25 2019 (09:22)
Station Tag: Manikpur Junction/MKP added by Chowkidar Adittyaa Sharma^~/1421836

Mar 25 2019 (09:22)
Station Tag: Satna Junction/STA added by Chowkidar Adittyaa Sharma^~/1421836

Mar 25 2019 (09:22)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Chowkidar Adittyaa Sharma^~/1421836
जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
सतना से मानिकपुर तक रेलवे ट्रैक के विद्युतीकरण के काम का निरीक्षण करने मंगलवार को जबलपुर से सीआरएस स्पेशल ट्रेन रवाना होगी। इसके लिए मुंबई से सीआरएस अरविंद जैन जबलपुर पहुंच रहे हैं, जो जबलपुर से सतना फिर मानिकपुर तक सीआरएस स्पेशल से जाएंगे।
इटारसी से कटनी तक रेलवे ट्रैक के विद्युतीकरण का काम पूरा हो गया है। कटनी से सतना के बीच ठेका रद्द होने से ट्रैक के विद्युतीकरण का काम रुक गया है, हालांकि उससे आगे सतना से मानिकपुर तक का काम भी लगभग पूरा हो
...
more...
गया है। इसी का निरीक्षण करने मंगलवार को सीआरएस जबलपुर आ रहे हैं। इस निरीक्षण के लिए रेलवे के विद्युत विभाग ने तैयारियां पूरी कर ली हैं।
इसलिए काम लेट
सतना से मानिकपुर के बीच 77 किमी लंबा रेलवे ट्रैक है, जिसके विद्युतीकरण का काम इलाहाबाद विद्युत विभाग द्वारा किया जा रहा है। इस काम को एक साल पूर्व हो जाना था, लेकिन जबलपुर से कटनी और कटनी से सतना और मानिकपुर के बीच चल रहे काम की सीबीआई ने जांच की, जिसमें भारी गड़बड़ियां मिलीं। इसके बाद यह काम रोक दिया गया, जिससे यह देरी हुई। सीबीआई की जांच पूरी होने के बाद अब दूसरी एजेंसी को यह काम दिया गया, जिसने सतना से मानिकपुर के बीच का विद्युतीकरण पूरा कर लिया है, जिसका मंगलवार को सीआरएस निरीक्षण करेंगे।
अभी इसमें लगेगा वक्त
सीबीआई जांच के बाद कटनी से सतना के लिए रेलवे ट्रैक के विद्युतीकरण का काम जिस एजेंसी को दिया, उसने भी लापरवाही की, जिसके बाद यह भी ठेका रद्द कर दिया गया। फिलहाल यह काम बंद पड़ा है। अब दोबारा ठेका होने के बाद ही काम शुरू होगा। काम होने के बाद सीआरएस से स्वीकृति ली जाएगी, इसमें लगभग 9 से 10 माह का और वक्त लग सकता है।
यात्रियों को यह फायदा
- सतना से मानिकपुर तक विद्युत इंजन से पैसेंजर ट्रेनों को चलाया जाएगा।
- कटनी-सतना ट्रैक के विद्युतीकरण के बाद इटारसी से सीधे मानिकपुर तक विद्युत इंजन से ट्रेनें चलेंगी।
- इससे जबलपुर, कटनी और मानिकपुर में इंजन बदलने में समय नहीं लगेगा।
- इस रूट पर चलने वाली यात्री और माल गाड़ियों की रफ्तार भी बढ़ जाएगी।

  
  
Today (09:36) नेपाल कैबिनेट ने 840 मिलियन रूपए जारी किए भारत से एक जोड़ी ट्रेन खरीदने के लिए (navbiharpatrika.com)
New Facilities/Technology
0 Followers
419 views

News Entry# 379379  Blog Entry# 4271128   
  Past Edits
Mar 25 2019 (09:36)
Station Tag: Janakpur Dham/JNKPE added by Abhinav Sinha/1524497

Mar 25 2019 (09:36)
Station Tag: Jaynagar/JYG added by Abhinav Sinha/1524497
Stations:  Jaynagar/JYG   Janakpur Dham/JNKPE  
नेपाल सरकार ने रेलवे विभाग को अतरिक्त 840 मिलियन रूपए भारत से एक जोड़ी ट्रेन खरीदने के लिए जारी किए हैं। नेपाल के सूचना प्रोद्योगिकी मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी भारत से 500 मिलियन के अतरिक्त 840 मिलियन रूपए जारी किए है। भारत की कोंकण रेलवे कॉरपोरेशन लिमिटेड से नेपाल डेमू ट्रेन खरीद रहा है। नेपाल के यातायात मंत्रालय के अनुसार रेल खरीद प्रक्रिया में और पैसों की जरूरत पड़ेगी। नेपाल भारत से अत्याधुनिक पांच कोचों वाली डेमू ट्रेन खरीद रहा है जिसकी झमता 300 किमी तक होगी। अनुमान लगाया जा रहा है इन पांच कोचों में प्रतिदिन 1200 से 1300 यात्री सफर कर पाएंगे। दो डेमू ट्रेनों से जयनगर से जनकपुर तक यात्रा कर पाएंगे।
  
Today (09:33) दरभंगा-जयनगर रेल खंड पर विधुत इंजन ट्रेन का किया जाएगा परिचालन, विद्युतीकरण का फाउंडेशन कार्य पूरा। (navbiharpatrika.com)
New Facilities/Technology
ECR/East Central
0 Followers
437 views

News Entry# 379378  Blog Entry# 4271126   
  Past Edits
Mar 25 2019 (09:33)
Station Tag: Jaynagar/JYG added by Abhinav Sinha/1524497

Mar 25 2019 (09:33)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Abhinav Sinha/1524497
मालूम हो कि देश के दूसरे स्टेशनों की तरह जयनगर-दरभंगा रेलवे लाइन पर विधुत इंजन ट्रेनों का परिचालन किया जाएगा। इसे लेकर 75 करोड़ की राशि से फाउंडेशन कार्य को पूरा किया गया है। जहां पोल का काम जल्द ही शुरू किया जाएगा। बताते चलें कि साल 2018 में आयोजित देश के विभिन्न स्टेशनों की प्रतियोगिता में मधुबनी स्टेशन को साफ-सफाई और मिथिला पेंटिंग के आधार पर द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ है।
स्टेशनों पर यात्रियों के लिए घोर सुविधाओं का अभाव
बता दें कि देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी इस
...
more...
का नाम शामिल हो गया है। वहीं मधुबनी स्टेशन पर कई संस्थानों द्वारा मिथिला पेंटिंग का डाॅक्यूमेंट्री फिल्म भी बनाया गया है। पूरे देश भर में दूसरा स्थान प्राप्त करने के बावजूद स्टेशनों पर यात्रियों के लिए कोई सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराया गया है।
2020 से ट्रेनों की परिचालन संभावित
एक प्लेटफॉर्म से दूसरे-तीसरे प्लेटफाॅर्म पर जाने के लिए फुट ओवरब्रिज बनाया तो गया है। लेकिन बुजुर्ग एवं दिव्यांग यात्रियों के लिए वो पत्थर ‌की लकीर ही साबित होता है। वहीं विधुत इंजन से ट्रेनों का परिचालन शुरू होने से लोगों में ये उम्मीद बंधी है कि स्टेशन को अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस किया जाएगा। इसके साथ ही विद्युतीकरण का कार्य दिसंबर 2019 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। जहां 2020 से इस रेलवे लाइन पर परिचालन की संभावना जतायी गई है।
  
Today (09:29) रेलवे लिपिक देता था चोरों को तेल ट्रेन की सूचना, पाइंटमैन निगरानी के साथ करता था सिग्नल लाल (mnaidunia.jagran.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
479 views

News Entry# 379377  Blog Entry# 4271121   
  Past Edits
Mar 25 2019 (09:29)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Chowkidar Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
आइल टैंक ट्रेन से डीजल चोरी करने वाले आठ फरार आरोपितों को आरपीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए आरोपितों में दो रेलकर्मी हैं। इसमें एक लिपिक है जो आइल टैंक के गुजरने की सूचना देता था। वहीं दूसरा कर्मचारी पाइंटमैन है और वह आरपीएफ पर नजर रखता था। उनके पहुंचते ही चोरों को जानकारी देता था। साथ ही सिग्नल लाल भी कर देता था। इसके बाद तेल गाड़ी खड़ी हो जाती थी।
पिछले दिनों आरपीएफ ने आइल टैंक ट्रेन से
...
more...
डीजल चोर गिरोह एक सदस्य को 40 जेरीकेन डीजल के साथ गिरफ्तार किया था। वहीं 10 अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गए। आरपीएफ फरार आरोपितों की तलाश में जुटी हुई थी। इसी बीच शनिवार को उसलापुर आरपीएफ आउटपोस्ट प्रभारी वीरेंद्र कुमार को शाम 7.30 बजे के करीब सूचना मिली कुछ लोग तेल चोरी की योजना बना रहे हैं। उन्होंने इसकी जानकारी पोस्ट प्रभारी डी बस्तिया को दी। उनके आदेश के बाद उपनिरीक्षक सहायक उप निरीक्षक यूएस श्रीवास, प्रधान आरक्षक डीके कौशिक, आरक्षक पीके कश्यप व प्रधान आरक्षक टी राय एंव एसके कश्यप के साथ मौके पर पहुंचे। इसके बाद निगरानी कर रहे थे। रात नौ बजे टाटा मैजिक क्रमांक सीजी 10 एएफ 8615 पहुंची। इसमें छह लोग सवार थे। उनमें चार व्यक्ति उतरे और झाड़ियों की तरफ गए और कुछ वजनी सामान को ले जाते हुए नजर आए। टाटा मैजिक को चौतरफा घेराबंदी कर सभी को पकड़ लिया गया। उनके कब्जे प्लास्टिक का जेरीकेन मिला। जिसे खोलकर देखा गया तो उसके अंदर डीजल तेल निकला। पकड़े गए लोगों से पूछताछ पर उन्होंने अपना नाम बिलाल अंसारी, पिता स्व. युसुफ अंसारी (25) इमानवेल पीटर उर्फ पप्पू पिता पैट्रिक पीटर (23 ), जैनिल मसीह उर्फ जेंटो (29) , मोहम्मद इस्लाम उर्फ हलीम पिता मोहम्मद आरीफ (23), सोना सोनवानी पिता स्व. बिरजू सोनवानी (24) व गौकरण राज उर्फ लंबू पिता आदि प्रसाद राज (23) बताया। इनके नाम बताते ही यह पुष्टि हो गई कि 12 मार्च की रात घटना के बाद आरपीएफ को देखकर यह सभी फरार हो गए थे। इसके सभी को 60 लीटर डीजल व टाटा मैजिक के समेत गिरफ्तार कर उसलापुर आरपीएफ आउटपोस्ट लाया गया। यहां पूछताछ के दौरान सभी ने दो रेलवे कर्मियों की इस अपराध में शामिल होने की सूचना दी। इनमें से एक बिलासपुर रेलवे कंट्रोल में लिपिक के पद पर पदस्थ स्वराज नाग चौधरी (42) निवासी कंस्ट्रक्शन कॉलोनी है। यही आइल टैंक ट्रेन के आने की सूचना फोन पर आरोपितों को देता था। वहीं दूसरा तिफरा ब्रिज के पास केबिन में पाइंटर सेटिंग का काम करने वाला डनिल्ड विलियम उर्फ दानू विलियम (53) निवासी घासीदास मंदिर के पास तारबाहर है। यह आरपीएफ स्टाफ को पहचानता है। इसलिए वह आरोपितों को आरपीएफ के पहुंचने की खबर उन तक पहुंचाता था। इसके बाद पकड़े गए दो आरोपितों को लेकर आरपीएफ ने इन दोनों रेलकर्मियों के घर दबिश दी। दोनों घर ही मौजूद थे। उन्हें गिरफ्तार कर पोस्ट लाया गया। आठों आरोपित के खिलाफ धारा 3 (ए) आरपीयूपी एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर फरार दो अन्य लोगों की तलाश की जा रही है।
लिपिक को प्रति रैक 10 हजार व पाइंटमैन को मिलता था पांच हजार
पकड़े गए रेलकर्मियों को उसलापुर लाकर पूछताछ कर उनका बयान दर्ज किया गया। इस पर लिपिक स्वराज नाग चौधरी ने बताया कि वह 22 वर्षों से कार्यरत है। चार माह पहले उसके पास सोना सोनवानी व उसके कुछ साथी पहुंचे और कार्ड केबिन के पास से तेल चोरी करने में मदद मांगी। इसके एवज में प्रति रैक 10 हजार रुपये देने का लालच दिया। जिस पर वह राजी हो गया। इसी लालच में पाइंटमैन डनिल्ड विलियम उर्फ दानू भी आया। उसे भी निगरानी करने के एवज में प्रति रैक पांच हजार रुपये मिलता था।
मुख्य सरगना व एक अन्य फरार
पकड़े गए आरोपितों ने भी बयान में आरपीएफ को बताया कि तारबाहर निवासी शेख मुल्तान का बेटा बाबू उर्फ असलम रकम की लेनदेन व तेल की खपत करता था। लेकिन इसे कहां खपाता था इसकी जानकारी केवल उसी को है। वह फरार है। इसके अलावा एक आरोपित वसीम की तलाश भी आरपीएफ कर रही है।
  
Today (09:27) रेलपथ में गड़बड़ी के कारण चांपा में हुईं तीन घटनाएं (mnaidunia.jagran.com)
Major Accidents/Disruptions
SECR/South East Central
0 Followers
494 views

News Entry# 379376  Blog Entry# 4271118   
  Past Edits
Mar 25 2019 (09:28)
Station Tag: Champa Junction/CPH added by Chowkidar Adittyaa Sharma^~/1421836

Mar 25 2019 (09:28)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Chowkidar Adittyaa Sharma^~/1421836
बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
चांपा यार्ड में लगातार तीन दिन तक मालगाड़ी बेपटरी होने की वजह रेलपथ है। यह मापदंड के अनुसार नहीं था। इसके चलते यहां पहुंचते ही मालगाड़ी पटरी से उतर जाती थी। इंजीनियरिंग विभाग के दोषी अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
फरवरी में चांपा यार्ड में लगातार दो दिन कोयला लोड मालगाड़ी बेपटरी हो गई थी। तीसरे दिन यूनिमेट मशीन भी पटरी से उतर गई। इस घटना से रेलवे में हड़कंप मच गया। इसे न केवल नुकसान हुआ बल्कि यात्रियों को ट्रेन सुविधा नहीं
...
more...
मिलने में भी असुविधा हुई। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए आनन- फानन में जांच समिति बनाई गई और उन्हें बारीकी से जांच करते हुए जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए गए थे। इसके बाद समिति में शामिल अधिकारी घटना की पड़ताल में जुट हुए थे। पिछले दिनों उन्होंने जांच पूरी करने के बाद एक रिपोर्ट सौंपी जिसमें स्पष्ट तौर पर इंजीनियरिंग विभाग को दोषी ठहराया गया। दरअसल मालगाड़ी बेपटरी की दोनों घटनाएं एक ही पाइंट क्रमांक 44 पर हुई है। पहले दिन इस पाइंट से मालगाड़ी लाइन क्रमांक पांच और दूसरे दिन लाइन क्रमांक छह पर प्रवेश की। प्रथम दृष्टया में पाइंट में ही तकनीकी खराबी को घटना की वजह मानी जा रही थी। जांच के दौरान अधिकारियों को भी यही गड़बड़ी मिली। हाल ही में बनाए गए इस नए पांइट के निर्माण के दौरान जितना स्पेस होना चाहिए था वह नहीं था। इसके चलते मालगाड़ी की लाइन बदलते ही उसके पहिए पटरी से उतर जाते थे।
जांच के दौरान रेलपथ में कमियां पाई गई है। इसके लिए दोषी के खिलाफ के जल्द कार्रवाई की जाएगी।
रविश कुमार सिंह
सीपीआरओ, दपूमरे जोन
Page#    357731 news entries  next>>

Go to Full Mobile site