Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Brindavan Express - ರೈಲು ಹೆಸರು ಬೃಂದಾವನ್ ,ಇದು ಯಾವಾಗಲೂ Number 1 - Vijay Baradwaj

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Mon Sep 27 23:52:40 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search
Page#    438696 news entries  next>>
Today (22:44) ट्रेन के सामने जान देने पहुंची युवती को आटो चालक ने बचाया (www.naidunia.com)
Commentary/Human Interest
CR/Central
0 Followers
1190 views

News Entry# 466125  Blog Entry# 5077884   
  Past Edits
Sep 27 2021 (22:44)
Station Tag: Betul/BZU added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Betul/BZU  
बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। नगर के औद्योगिक क्षेत्र कोसमी में स्थित रेलवे गेट पर सोमवार को एक युवती ट्रेन के सामने आत्महत्या करने के लिए बैठ गई। भोपाल की ओर से तेज रफ्तार से आ रही ट्रेन और उसके बीच चंद कदम का फासला था तभी गेट के पास खड़े आटो के चालक ने दौड़कर उसे बचा लिया। युवती को बड़ी मुश्किल से उसने रेलवे ट्रैक से अलग किया। इस घटना को आटो में बैठे लोगों ने मोबाइल के कैमरे में कैद कर लिया।
आटो चालक मोहसिन शाह ने बताया कि सोमवार को करीब 11.15 बजे वह सवारियां लेकर पॉलीटेक्निक कॉलेज की ओर जा रहा था। ट्रेन के आने से पहले कोसमी का रेलवे गेट बंद होने से वह आटो लेकर खड़ा हो
...
more...
गया। पास में ही एक युवती मुंह पर स्कार्फ लपेटे हुए रो रही थी। ट्रेन का हार्न सुनाई देते ही उसने मोबाइल पर किसी से बात की और फौरन ही गेट में लगे लोहे के पोल के नीचे से पटरी पर जाकर खड़ी हो गई। सामने से ट्रेन आ रही थी और रेलवे ट्रैक पर युवती को खड़ा देख आटो चालक मोहसिन को माजरा समझ आ गया। वह तत्काल ही आटो से उतरा और दौड़कर गेट के नीचे से रेलवे ट्रैक पर पहुंच गया। उसने युवती का हाथ पकड़कर अलग करने का प्रयास किया लेकिन युवती जोर-जोर से रोने लगी और वहां से अलग नहीं हो रही थी। मोहसिन ने उसे बलपूर्वक पटरी से जैसे ही अलग किया वैसे ही धड़धड़ाते हुए ट्रेन वहां से गुजर गई। युवती को आटो के पास लाया गया और अन्य लोगों ने उसकी परेशानी पूछी लेकिन वह किसी को कुछ भी नहीं बता रही थी। रेलवे गेट पर तैनात गार्ड ने परिजनों की जानकारी उससे ली और उन्हें मौके पर बुलाकर घटना के बारे में बताया। परिजन उसे अपने साथ लेकर चले गए। मोहसिन ने बताया कि यदि वह संकोच के कारण एक मिनट की भी देरी करता तो अनहोनी हो सकती थी। आटो चालक को आटो एंबुलेंस योजना का संचालन करने वाली बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति जीवन रक्षक सम्मान से सम्मानित करेगी।
Today (22:41) टिकट आरक्षण के लिए दी जाए सिटी बुकिंग काउंटर की सुविधा (www.naidunia.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
1253 views

News Entry# 466124  Blog Entry# 5077882   
  Past Edits
Sep 27 2021 (22:41)
Station Tag: Korba/KRBA added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Korba/KRBA  
कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। वर्तमान स्थिति में दूरस्थ क्षेत्रों व खासकर उपनगरों में रेल यात्रियों के लिए टिकट आरक्षण केंद्र की सुविधा नहीं है। यह सेवा रेलवे स्टेशन के अलावा शहर के कुछ चुनिंदा स्थानों में ही मिल रही। ऐसे में दूर रहने वाले लोगों को लंबी दूरी तय कर स्टेशन या शहर के अन्य सुविधा केंद्रों की दौड़ लगाने विवश होना पड़ रहा है। क्षेत्र के लोगों की जरूरत की ओर ध्यान आकर्षित कराते हुए सिटी बुकिंग काउंटर की सुविधा की मांग रेल प्रशासन से की गई है।
रेल सेवाओं से संबंधित जिले की समस्याओं और आवश्यकताओं से अवगत कराते हुए सिटी बुकिंग काउंटर की यह मांग मंडल रेल उपभोक्ता सलाहकार समिति की बैठक में उठाई गई है। बैठक में कोरबा का
...
more...
प्रतिनिधित्व करते हुए समिति के सदस्य हरीश परसाई की ओर से कटघोरा एवं कोरबा में आरक्षण टिकट के लिए यह सुविधा शुरू करने का आग्रह रेल प्रबंधन से किया गया। इसी तरह उन्होंने रेलवे स्टेशन कोरबा के लिए भी अपेक्षित यात्री सुविधाओं में विस्तार किए जाने की मांग रखी है। बताया जा रहा कि बैठक में सदस्यों के सवालों का स्पष्ट जवाब नहीं मिलने से वे बिफर पड़े। कहा- जब इस बैठक में कोई निर्णय लेने का अधिकार आपके पास नहीं है तो हमें बुलाकर सुझाव लेने का क्या मतलब है। हमारे कितने सुझाव रेलवे बोर्ड को भेजे गए यह जानकारी दें। बैठक में मंडल रेल प्रबंधक आलोक सहाय ने सभी सदस्यों को उनकी सक्रियता पूर्वक की गई सहभागिता के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आपके माध्यम से हम सभी चीजों को जानकर उस पर बेहतर कार्य कर सकते हैं।
निर्णय का हक नहीं तो सुझाव पर टिप्पणी क्यों
कोरबा क्षेत्र की मांगों को रखते हुए हरीश परसाई ने कहा कि ट्रेनों का परिचालन, उनके ठहराव आदि पर अगर कोई निर्णय लेने का अधिकार आपके पास नहीं है, तो हमारे दिए गए सुझाव पर आपने टिप्पणी क्यों लिखी। अब तक हमारे किन-किन सुझाव पर रेलवे बोर्ड को पत्र भेजा गया यह पूछने पर किसी ने कोई जवाब नहीं दिया। अंत में डीआरएम सहाय ने कहा कि जितने भी महत्वपूर्ण सुझाव हैं उन्हें जोनल मुख्यालय के जरिए बोर्ड तक भेजा जाएगा और सदस्यों को इसकी जानकारी भी दी जाएगी। कोशिश कर रहे हैं यात्रियों की समस्याओं का निराकरण जल्द से जल्द हो सके।
पार्किंग में शेड निर्माण कराने का भी सुझाव
इसी तरह श्रीधर नायडू ने कोरबा रेलवे स्टेशन में वाहनों के लिए पार्किंग में छायादार शेड निर्माण कराने का सुझाव दिया। तीन घंटे चली इस बैठक में सभी सदस्यों के 75 से अधिक सवाल किए, जिनमें 30 से अधिक यानी लगभग 40 प्रतिशत सवाल रद्द ट्रेनों को चलाने, जो ट्रेनें चल रहीं हैं उनका स्टापेज पूर्व की तरह यथावत रखने और स्पेशल के नाम पर लिया जा रहा बढ़ा हुआ किराया बंद करने का सुझाव शामिल है। मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के सभा कक्ष में हुई बैठक में डीआरएम आलोक सहाय सहित उपस्थित अफसरों ने सदस्यों के 75 से अधिक सवालों के जवाब दिए।
Today (22:11) ट्रेनों की संख्या बढ़ रही, प्लेटफार्म पर सुविधा नहीं (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
ER/Eastern
0 Followers
2942 views

News Entry# 466123  Blog Entry# 5077854   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Stations:  Godda/GODA  
गोड्डा रेलवे स्टेशन में ट्रेनों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जाहिर है

संस, गोड्डा : गोड्डा रेलवे स्टेशन में ट्रेनों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जाहिर है यात्रियों की संख्या में भी इजाफा होगा। ऐसे में अपेक्षाकृत सुविधाओं का होना जरूरी भी है। लेकिन संसाधनों की कमी के कारण आए दिन यात्रियों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, यहां हर महीने ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जा रही है। लेकिन प्लेटफार्म की संख्या कम होने के कारण इस स्टेशन पर अभी से परेशानियां शुरू हैं। यहां
...
more...
ट्रेनें आतीं तो हैं लेकिन फेरे पूरे होने के बाद उन ट्रेनों के रखरखाव की कोई व्यवस्था नहीं, अपितु यार्ड। शायद यही कारण है कि रखरखाव के अभाव में ट्रेनों को भागलपुर से चलाना पड़ रहा है। अगर यहां रखरखाव की व्यवस्था अपितु यार्ड की व्यवस्था हो तो कई ट्रेन गोड्डा स्टेशन से ही खुलेगी। एक्सप्रेस ट्रेनों के रैक भागलपुर से मेंटेनेंस होकर आ रहीं हैं।

गोड्डा स्टेशन में प्लेटफार्म नंबर तीन पर दो माह से अधिक समय से काम काम बंद है जो स्थिति है पखवारे भर में भी काम नहीं होने के आसार नहीं दिख रहे हैं। वर्तमान में प्लेटफार्म नंबर तीन पर मिट्टी भरने के साथ ही ब्लैंककेटिग, मोरंग स्टोन डस्ट बिछाने के बाद ही पटरी बिछेगी। प्लेटफार्म नंबर तीन 575 मीटर है।
वर्षा की मौसम भी समाप्ति पर है जो कार्य होने भी थे वो भी इस दौरान नहीं हो पा रहे है।

इसके कारण आनेवाले समय में ट्रेन परिचालन में बड़ी समस्या हो सकती है कारण कि फिलहाल दो प्लेटफार्म व पटरी है जिससे की ट्रेन की आवाजाही हो रही है। वही गाड़ी संख्या बढ़ती ही जा रही है लेकिन प्लेटफार्म तैयार ही नहीं हो रहे है जबकि स्टेशन पर चार प्लेटफार्म बनने है लेकिन तीसरे प्लेटफार्म में अब तक आधा काम भी नहीं हो पाया है। जिससे लोगों को तो परेशानी है ही वही यात्री ट्रेन परिचालन में कठिनाई है। रेलवे को उपलब्ध संसाधन व दो लाइन पर ही टाइमिग मिलाकर गाड़ी चलाना पड़ रहा है। यहां तक कि गोड्डा-रांची एक्सप्रेस ट्रेन को भी वर्तमान संसाधन के हिसाब से चलाया जा रहा है। जहां संसाधन बढ़ने व प्लेटफार्म बढ़ने के बाद इसके भी रूट में बदलाव टाइमिग बदलने की बात रेलवे के स्तर से कही जा रही है।

------------ वर्षात के कारण काम प्रभावित हुआ था मानसून की वापसी के कगार पर है अब फिर से काम शुरू करने की तैयारी की जा रही है। विभाग के अधिकारी व कर्मी की टीम मौजूद है। जितनी जल्दी होगा काम शुरू किया जायेगा विभाग का प्रयास है कि यात्री सुविधा व ट्रेन परिचालन को लेकर प्लेटफार्म नंबर तीन के काम को शीध्र पूरा किया जाये अब विलंब नहीं होना है काम शुरू होते ही तेजी आ जायेगी। - एसके भगत, मुख्य अभियंता, निर्माण तीन,पूर्व रेलवे कोलकात्ता

Today (22:07) Indian Railways: এক দুই তিন চার পাঁচ আপ, সাজানো নম্বরের ট্রেন রোজ ছাড়ে হাওড়া, খোঁজ রাখে আর ক’জন (www.anandabazar.com)
Other News
ER/Eastern
0 Followers
2286 views

News Entry# 466122  Blog Entry# 5077850   
  Past Edits
Sep 27 2021 (22:07)
Station Tag: Guwahati/GHY added by আট থেকে আশি ফেলুদাকে ভালোবাসি/1777975

Sep 27 2021 (22:07)
Station Tag: Howrah Junction/HWH added by আট থেকে আশি ফেলুদাকে ভালোবাসি/1777975

Sep 27 2021 (22:07)
Train Tag: Saraighat Express/12345 added by আট থেকে আশি ফেলুদাকে ভালোবাসি/1777975
Stations:  Howrah Junction/HWH   Guwahati/GHY  
কামাখ্যা দর্শনে যেতে চান? ট্রেন সফর করলে প্রথমেই মনে আসে হাওড়া থেকে বিকেলে ছেড়ে পরের দিন সকাল সকাল অসমের কামাখ্যায় পৌঁছে যাওয়ার সরাইঘাট এক্সপ্রেস। কলকাতা থেকে উত্তরবঙ্গে যাওয়ার জন্যও এই ট্রেনটি অনেকেই পছন্দ করেন। এই ট্রেনে যাঁরা ইতিমধ্যেই সফর করেছেন তাঁরাও খেয়াল করে দেখেছেন কি এই ট্রেনের নম্বরটা! ১২৩৪৫ আপ সরাইঘাট এক্সপ্রেস। এই নামেই হাওড়া থেকে ছাড়ে। ফেরার সময় বদলে গুয়াহাটি থেকে ছাড়ে ১২৩৪৬ ডাউন নামে।
সাধারণ ভাবে আপ সরাইঘাট এক্সপ্রেস হাওড়া ছাড়ে বিকেল ৩টে ৫০ মিনিটে। গুয়াহাটি পৌঁছয় পরের দিন সকাল ১০টা ৫ মিনিটে। ফিরতি পথে দুপুর ১২টা ২০ মিনিটে গুয়াহাটি ছেড়ে হাওড়ায় আসে পরের দিন ভোর ৫টা ২০ মিনিটে। ৯৯৯ কিলোমিটার যাত্রাপথে মাত্র ১২টি স্টেশনে দাঁড়ায় এই সুপারফাস্ট ট্রেন।
...
more...
বার প্রশ্ন উঠতে পারে কেন এই এক্সপ্রেস ট্রেনটির এমন নম্বর? এটাকে প্রাপ্তিই বলা যেতে পারে। রেলের নিয়ম অনুযায়ী ৫ সংখ্যার ট্রেনের নম্বরের প্রথমটি ১ হওয়ার অর্থ এটি দূরপাল্লার ট্রেন। দ্বিতীয় সংখ্যা ২-এর অর্থ এটি সুপারফাস্ট এক্সপ্রেস। আর তৃতীয় সংখ্যা দিয়ে বোঝানো হয় এই ট্রেনটির রক্ষণাবেক্ষণ কোন রেলের দায়িত্বে। এ ক্ষেত্রে ৩ সংখ্যাটি পূর্ব রেলের পরিচায়ক। বাকি ৪ ও ৫ সরাইঘাট এক্সপ্রেসের প্রাপ্তি। রেল সূত্রে যা জানা যায়, শেষের নম্বরগুলি সে ভাবে অর্থবাহী হয় না। কিন্তু ভারতীয় রেলের নিয়ম অনুযায়ী যে কোনও দূরপাল্লার ট্রেনের নম্বরই ৫ সংখ্যার হওয়া আবশ্যক।
दिल्ली, यूपी और हरियाणा के सीमावर्ती इलाकों में Bharat bandh लंबा जाम लगा
नई दिल्ली: Delhi-NCR Traffic jam : सोमवार का दिन किसानों के भारत बंद के नाम रहा. पंजाब से लेकर केरल तक भारत बंद का असर देखने को मिला, किसान सुबह 6 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक देशभर के कई महत्वपूर्ण हाईवे और रेल की पटरियों को जाम कर प्रदर्शन करते नज़र आए. भारत बंद की वजह से देश की राजधानी दिल्ली की तमाम सीमाओं पर ज़बरदस्त जाम रहा. किसानों ने सुबह 6 बजते ही दिल्ली के ग़ाज़ीपुर सीमा पर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे बंद कर दिया जिसे शाम 4 बजे के करीब खोल दिया गया. भारत बंद का सबसे ज़्यादा असर पंजाब, हरियाणा में देखने को मिला. किसानों ने पंजाब
...
more...
और हरियाणा के लगभग सभी बड़े हाईवे और रेल की पटरियों को बंद कर दिया. सुबह ही किसानों ने हरियाणा को दिल्ली से जोड़ने वाले कोंडली मानेसर एक्सप्रेसवे और पलवल को जोड़ने वाली सड़क बंद कर दी. भारत बंद में महिला किसानों की भी ज़बरदस्त भागीदारी देखने को मिली. भारत बंद की वजह से चंडीगढ़ शताब्दी समेत लगभग 15 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया.
दक्षिण भारत के राज्यों में भी भारत बंद का व्यापक असर देखने को मिला. ख़ासकर केरल में सभी बाज़ार बंद नज़र आए क्योंकि वहां के सभी राजनीतिक दलों ने बंद का समर्थन किया था.पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी बंद का व्यापक असर देखने को मिला. ग़ाज़ियाबाद के मुरादनगर के पास दुहाई में किसानों ने मेरठ और दिल्ली जाने वाला रास्ता बंद कर दिया जिसके चलते मुसाफिरों को समस्या का सामना करना पड़ा. किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार बातचीत का समय और जगह बताएं किसान बिना शर्त बातचीत के लिए तैयार हैं.किसानों के मुद्दे पर अपनी ही सरकार के ख़िलाफ़ मोर्चा खोले बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मांग की कि गन्ने का प्रति क्विंटल दाम 400 किया जाए. दरअसल रविवार को ही यूपी सरकार ने गन्ने की क़ीमत 325 रुपये से बढ़ाकर 350 रुपये क्विंटल की है.किसानों के कृषि कानूनों के खिलाफ भारत बंद (Bharat Bandh) के दौरान दिल्ली और एनसीआर के इलाकों में लोग भारी जाम देखा गया. दिल्ली गुरुग्राम बॉर्डर (Delhi Gurugram Border) पर कारों की लंबी कतारें सुबह के वक्त ही लग गईं. कई घंटों बाद भी लोग वाहनों के भीतर ही फंसे रहे. गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) , केएमपी, दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे को भी किसानों ने जाम कर दिया. इससे दिल्ली और नोएडा गाजियाबाद (Noida Ghaziabad) को जोड़ने वाले एनएच-9 और एनएच-24 पर भी भारी जाम लग गया. हालांकि अब किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे को खोल दिया है.
भारत बंद पर राकेश टिकैत बोले, 10 साल आंदोलन को तैयार, वार्ता पर सरकार को दिया ये जवाब...
दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर कारों का लंबा रेला रेंगता नजर आया. किसानों ने कुंडली मानेसर एक्सप्रेसवे को भी बाधित कर रखा है. गाजीपुर बॉर्डर पर भी यातायात बंद होने से नोएडा गाजियाबाद से दिल्ली जाने वाले लोग प्रभावित हुए. दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे (Delhi-Meerut Expressway at Ghazipur border Delhi)को भी किसानों ने जाम कर दिया. किसानों ने एनएछ-9 और एनएच-24 पर भी भीषण जाम लग गया. वहीं हरियाणा के बहादुरगढ़ में रेलवे स्टेशन पर भी किसान रेल ट्रैक पर बैठ गए, जिससे रेलों की आवाजाही पर असर पड़ा.शाम 4 बजते ही किसानों ने सभी बंद रास्ते खोल दिए. आज ही सिंघू बार्डर पर एक 54 साल के किसान भोगलराम की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. अब तक इस आंदोलन में लगभग 700 किसानों की मौत हो चुकी है. लेकिन अब भी कोई सामाधान निकलता नज़र नहीं आ रहा. किसानों का कहना है कि अब वो चुनाव राज्य उत्तर प्रदेश में बीजेपी को वोट की चोट देंगे.
Page#    438696 news entries  next>>

Go to Full Mobile site