Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Brindavan Express - ರೈಲು ಹೆಸರು ಬೃಂದಾವನ್ ,ಇದು ಯಾವಾಗಲೂ Number 1 - Vijay Baradwaj

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Oct 16 00:48:59 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Stream
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~

Page#    Showing 1 to 5 of 10249 news entries  next>>
  
Yesterday (21:45) आउटसोर्सिग की राह पर रेलवे लोको, कोच मेंटीनेंस के कोर कार्यो में भी कर्मचारियों की संख्या कम होगी (epaper.jagran.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
686 views

News Entry# 393340  Blog Entry# 4459533   
  Past Edits
Oct 15 2019 (21:46)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:46)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:46)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:46)
Station Tag: Lucknow Junction NER/LJN added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:46)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:46)
Station Tag: Nadiad Junction/ND added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:46)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964
उदाहरण के लिए ओएचई (ओवरहेड इक्विपमेंट)नॉन पावर ब्लॉक, ओएचई के अन्य कार्य, पीएसआइ (पॉवर सप्लाई इंस्टालेशन)मेंटीनेंस एवं पीएसआइ ऑपरेशन तथा टीपीसी (ट्रैक्शन पॉवर कंट्रोलर), ड्राइंग तथा तकनीकी एवं क्लेरिकल स्टाफ व हेल्पर के कार्य आउटसोर्स करने को कहा गया है। कोर गतिविधियों में भी नए मानकों के अनुसार इलेक्टिक लोको तथा कोच के मेंटीनेंस के लिए इलेक्टिक एवं मैकेनिकल कर्मचारियों की संख्या अब पहले से कम होगी। रेलवे में ये मुहिम सरकार के उस आदेश के बाद शुरू हुई है जिसमें सभी मंत्रलयों से फालतू कर्मचारियों में कमी करने तथा गैर-कोर गतिविधियों को आउटसोर्स करने को कहा गया है। ताजा मुहिम रेलवे में मार्च, 2020 तक 55 वर्ष से अधिक उम्र अथवा 30 वर्ष की सेवा पूरी करने वाले अक्षम कर्मचारियों और अधिकारियों को रिटायर करने के 27 जुलाई के पिछले आदेश के कार्यान्वयन के बीच में शुरू हुई है। इस संबंध में सरकार की ओर से लोकसभा में जवाब...
more...
दिया गया था कि रेलवे में 13 लाख कर्मचारी हैं और सरकार इनकी संख्या को घटाकर 10 लाख करना चाहती है। इसके लिए 2014 से 2019 के बीच ग्रुप ए तथा ग्रुप बी के 1.19 लाख अधिकारियों के कामकाज, शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य, हाजिरी तथा समयपालन की समीक्षा की गई है। तदनुसार सेवा नियमावली की ‘प्रीमेच्योर रिटायरमेंट क्लॉज’ के तहत प्रदत्त अधिकारों का उपयोग करते हुए इनमें से अक्षम अधिकारियों को समय से पहले रिटायर करने का निर्णय लिया गया है। रेलवे में कर्मचारियों संख्या कम करने तथा नॉन-कोर गतिविधियों को आउटसोर्स करने का आधार उसी दिन तैयार हो गया था जब 2016 में रेल बजट को खत्म कर इसे आम बजट का हिस्सा बना दिया गया था। तत्कालीन वित्तमंत्री अरुण जेटली ने तब कहा था, ‘रेलवे का मुख्य कार्य ट्रेने चलाना है। जो चीजें इस मुख्य गतिविधि का प्रत्यक्ष हिस्सा नहीं हैं उन्हें आउटसोर्स किया जा सकता है। ’
सरकार का मानना है कि यदि भारतीय रेल को जापान और चीन से मुकाबला करना है तथा जनता को विश्वस्तरीय और हाईस्पीड सेवाएं प्रदान करनी है तो उसे कुशल और प्रतिस्पद्र्धी बनना होगा। इसके लिए आवश्यक है कि वे कार्य अनुबंध पर निजी कंपनियों को सौंप दिया जाएं जिनका सीधा संबंध ट्रेन ऑपरेशन से नहीं है। इंजन, वैगन और डिब्बों का निर्माण, पार्सल, स्टेशनों, कॉलोनियों, अस्पतालों तथा स्कूलों का प्रबंधन एवं रखरखाव जैसे अनेक कार्य इसी श्रेणी में आते हैं।
लोको, कोच मेंटीनेंस के कोर कार्यो में भी कर्मचारियों की संख्या कम होगी
  
Yesterday (21:42) गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर थ्री स्टार होटल जैसी सुविधाएं (epaper.jagran.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
791 views

News Entry# 393339  Blog Entry# 4459530   
  Past Edits
Oct 15 2019 (21:42)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:42)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964
Trains:  Amrapali Express/15707   Bagh Express/13019   Bagh Express/13020   Lucknow Jn - Barauni Express/15204   Barauni - Lucknow Jn Express/15203   Amritsar - Saharsa Garib Rath Express/12204   Gorakhdham SF Express/12555   Gorakhdham SF Express/12556   Yesvantpur - Gorakhpur Express (via Gonda)/15016   Barauni - Gwalior Mail/11123   Gwalior - Barauni Mail/11124   Gorakhpur - Lucknow Jn. InterCity SF Express/12531   Shaheed Express/14673   Shaheed Express/14674   Gorakhpur - Yesvantpur Express (via Gonda)/15015   Lucknow Jn. - Gorakhpur InterCity SF Express/12532   Anand Vihar Terminal - Muzaffarpur Garib Rath Express/12212   Dibrugarh - Chandigarh Express/15903   Chandigarh - Dibrugarh Express/15904   Chhapra - Mathura Express/22531   Mathura - Chhapra SF Express/22532   Gorakhpur - Yesvantpur Express (via Faizabad)/15023   Yesvantpur - Gorakhpur Express (via Faizabad)/15024   Ahmedabad - Gorakhpur Express/19409   Gorakhpur - Ahmedabad Express/19410   Lucknow Jn. - Chhapra Kacheri Express/15113   Chhapra Kacheri - Lucknow Jn. Express/15114   Gorakhpur - Pune Weekly Express (Via Lucknow)/15029   Lucknow Jn. - Patliputra SF Express/12530   Pune - Gorakhpur Weekly Express (Via Lucknow)/15030   Gorakhpur - Mumbai LTT Lokmanya Express (via Barhni)/11080   Mumbai LTT - Gorakhpur Lokmanya Express (Via Barhni)/11079   Gorakhpur - Panvel Express (via Barhni)/15065   Panvel - Gorakhpur Express (Via Barhni)/15066   Gorakhpur - Mumbai Bandra (T.) Express (via Barhni)/15067   Bandra Terminus - Gorakhpur Express (via Barhni)/15068  
आइआरसीटीसी की देखरेख में तीन रूम और दो डॉरमेट्री बनकर तैयार हो चुके हैं। उद्घाटन के बाद अगले चरण का कार्य शुरू होगा। यात्रियों को रिटायरिंग रूम में ही लजीज नाश्ता और गरमागरम खाना मिल जाएगा। मनोरंजन के साधन भी उपलब्ध होंगे। सामने टीवी और टेबल पर पत्र- पत्रिकाएं उपलब्ध रहेंगी। घंटी बजते ही परिचारक भी सामने उपस्थित होंगे। आइआरसीटीसी ने महिला यात्रियों का भी ख्याल रखा है। उनके लिए अलग से डॉरमेट्री की व्यवस्था रहेगी। यात्रियों को खानपान की व्यवस्था के लिए पेंट्री की भी सुविधा मिलेगी।
दरअसल, रेलवे के रिटायरिंग रूम परंपरागत रूप से साधारण ही होते हैं। ठहरने के अलावा अन्य जरूरतों के लिए यात्रियों को स्टेशन से बाहर जाना पड़ता है।
...
more...

रूम का किराया (रुपये में)
24 घंटे के लिए 1500, 12 घंटे के लिए 1200, नौ घंटे के लिए 900, छह घंटे के लिए 700, तीन घंटे के लिए 500
डॉरमेट्री का किराया (रुपये में)
24 घंटे के लिए 500, 12 घंटे के लिए 400, नौ घंटे के लिए 300, छह घंटे के लिए 200, तीन घंटे के लिए 100
बिना पेंट्रीकार वाली ट्रेनों में भी यात्रियों को आर्डर पर मिलेगी भोजन की थाली
गोरखपुर: रेल यात्र के दौरान नाश्ता, लंच और डिनर को लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं है। अब बिना पेंट्रीकार वाली ट्रेनों में भी यात्रियों को रास्ते में जहां चाहेंगे खानपान की सामग्री मिल जाएगी। इसके लिए ऑनलाइन बुकिंग करनी होगी। आर्डर के लिए वेंडर भी चलेंगे। आइआरसीटीसी ने दीपावली से पहले गोरखधाम, इंटरसिटी और कृषक सहित 38 महत्वपूर्ण एक्सप्रेस ट्रेनों में गुणवत्तायुक्त गर्म भोजन की थाली परोसने की तैयारी लगभग पूरी कर ली है। फिलहाल अभी यह सुविधा गोरखपुर से लखनऊ के बीच ही मिलेगी। आने वाले दिनों में अन्य रेल मार्गो पर भी यह व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।
गोरखपुर में बनेगा बेस किचन: यात्रियों को मनचाहा नाश्ता और भोजन उपलब्ध कराने के लिए गोरखपुर और लखनऊ में बेस किचन बनेंगे। गोरखपुर के जन आहार में बेस किचन की तैयारी है। यहां बेस किचन और जनआहार साथ चलेंगे। किचन में सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। यात्री किचन में क्या बन रहा हैं, देख सकेंगे।
आइआरसीटीसी मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अश्वनी श्रीवास्तव ने बताया कि टेंडर फाइनल हो चुका है। कुछ औपचारिकताएं बची हैं, उसे पूरा किया जा रहा है। दीपावली तक यात्रियों को सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी।
इन ट्रेनों में मिलेगी सुविधा
12531-12532 इंटरसिटी, 12555-12556 गोरखधाम, 15707 आम्रपाली, 15203-15204 लखनऊ-बरौनी, 15015-15016 गोरखपुर-यशवंतपुर, 22531-22532 छपरा-मथुरा, 11123-11124 ग्वालियर-बरौनी, 15067- 15068 गोरखपुर-बांद्रा, 11079-11080 गोरखपुर-एलटीटी, 15065-15066 गोरखपुर-पनवेल, 15023-15024 गोरखपुर-यशवंतपुर, 15029-15030 गोरखपुर-पुणो, 14673-14674 शहीद, 15903-15904 डिब्रूगढ़-चंडीगढ़, 13019-13020 बाघ एक्सप्रेस, 12530 लखनऊ-पाटलिपुत्र, 15113-15114 लखनऊ-छपरा, 12212 मुजफ्फरपुर गरीब रथ, 12204 सहरसा गरीब रथ, 19409-19410 गोरखपुर-अहमदाबाद एक्सप्रेस।
  
Yesterday (21:28) इसरो की सैटलाइट ट्रेन को समय पर पहुंचा रही है... लेकिन कैसे (epaper.navbharattimes.com)
New Facilities/Technology
NR/Northern
0 Followers
728 views

News Entry# 393338  Blog Entry# 4459508   
  Past Edits
Oct 15 2019 (21:29)
Station Tag: Ambala Cantt. Junction/UMB added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:29)
Station Tag: Lucknow Junction NER/LJN added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:29)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:29)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:29)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Oct 15 2019 (21:29)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964
3 करोड़ अपडेट
(संभावित)
1.4 करोड़ अपडेट
5 लाख अपडेट
अक्टूबर 2020 तक
अक्टूबर
...
more...
2019 तक
जनवरी 2019 तक
रेलवे को रोजाना कितने अपडेट देता है इसरो
अगले साल तक सारी ट्रेनों पर होगी आसमान से नजर
रियल टाइम ट्रेन इन्फॉर्मेशन सिस्टम(RTIS)
कब शुरू हुआ काम
अक्टूबर 2020
सभी ट्रेनें इसरो से जुड़ सकती हैं (डेडलाइन)
अक्टूबर 2019
6000 इंजनों में डिवाइस लगीं, यह रेलवे का आधा नेटवर्क है
जनवरी 2019
कुछ बड़ी ट्रेनों में लोकेशन सिस्टम सफल रहा
जुलाई-सितंबर 2017
इसरो ने कुछ ट्रेनों में ट्रायल शुरू किया• यात्रियों को ट्रेन के समय की सटीक जानकारी।
• जहां स्टॉप नहीं वहां ट्रेन के रुकने की जानकारी, जिसे बाद में ठीक किया जा सकता है।
• ट्रेन की धीमी स्पीड पता चलती है, जिसे समय पर सुधारने की कोशिश होती है।
• ट्रेन कंट्रोलर को तुरंत अपडेट मिलने से वह प्राथमिकता के आधार पर ट्रेन आगे बढ़ाता है।
• 30 सेकंड पर ट्रेन की लोकेशन
• हर 30 सेकंड पर बढ़ने-घटने वाली स्पीड
• किसी रेलवे स्टेशन से गुजरने, पहुंचने और चलने की जानकारी
• जहां पर ट्रेन को रुकना नहीं, वहां रुक गई है तो।• रियलटाइम के लिए ट्रेन इन्फॉर्मेशन सिस्टम नाम
की डिवाइस ट्रेन इंजन के नीचे और ऊपर फिट की जाती है।
• यह डिवाइस इसरो के गगन (जिओपोजिशनिंग सिस्टम) का इस्तेमाल करके डेटा भेजने का काम करती है। यह सैटलाइट के संपर्क में होती है।
• ट्रेन चलाने वाले लोको पायलट भी एक बटन दबाकर कंट्रोल रूम में कोई इमरजेंसी मेसेज भेज सकते हैं।
रियलटाइम अपडेट के फायदे
क्या डेटा मिलता है...
क्या है सिस्टम
दिल्ली के कंट्रोल रूम में ट्रेनों की आवाजाही की डिटेल देखता एक अफसर।• ईटी ब्यूरो, नई दिल्ली
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर रात के 2.58 बजे हैं। रेलवे कंट्रोलर- देव का पूरा ध्यान ट्रेन नंबर 22340 (पठानकोट-दिल्ली सुपरफास्ट एक्सप्रेस) पर है। यह ट्रेन कुछ ही देर पहले हरियाणा के करनाल से रवाना हुई है।
देव के लिए अगले आधे घंटे मुश्किल भरे होने वाले हैं। साथ ही रेलवे ट्रैक ठीक करने वाले उन कर्मचारियों के लिए भी जो पानीपत जंक्शन के पास ट्रैक के किनारे बैठे हैं। जैसे ही पठानकोट-दिल्ली एक्सप्रेस पानीपत पहुंची, कर्मचारियों को ट्रैक पर काम करने के लिए हरी झंडी दे दी गई। अब जब तक अगला आदेश नहीं मिलता, ये कर्मचारी बिना किसी डर के ट्रैक पर काम करते रहेंगे।
इधर, देव ने पानीपत के स्टेशन मास्टर को फोन लगाया और कुछ बातें कीं। 15 मिनट के लिए ट्रैक को आवाजाही के लिए ब्लॉक करने की इजाजत देते वक्त देव को मालूम था कि अभी कई और ट्रेनें कतार में हैं। वह यह भी जानते हैं कि इन ट्रेनों को कैसे और किस वक्त पास देना है।
एक साल पहले तक ट्रेनों की आवाजाही के बारे में ऐसे फैसले रेलवे कंट्रोलर नहीं ले पाते थे। यह संभव हुआ है कि इसरो के गगन (जीपीएस पर आधारित एक नैविगेशन सिस्टम से)। यह सिस्टम सैटलाइट द्वारा संचालित है, जो कि पहले भारतीय एयरस्पेस के लिए बनाया गया था। अब यह सिस्टम से हर 30 सेकंड पर ट्रेनों की स्पीड और लोकेशन का डेटा देता है, जिससे ट्रेनों की टाइमिंग सटीक हो गई है।
रेलवे कंट्रोलर देव की पोस्टिंग उस सेक्शन में है, जो दिल्ली-अंबाला के बीच ट्रेनों की आवाजाही को मैनेज करते हैं। अपनी छह घंटे की ड्यूटी में देव के पास यह अधिकार है कि वह किसी भी ट्रेन को रोक सकते हैं और किसी ट्रेन को आगे कर सकते हैं। यहां तक पटरी पर अगर मरम्मत की जरूरत है, तो इसकी इजाजत भी दे सकते हैं।
पहले रेलवे कंट्रोलर की ड्यूटी मुश्किल थी। उसका ज्यादातर समय रजिस्टर में ट्रेनों का डेटा फीड करने में ही चला जाता है। ऐसे में वह जरूरत के हिसाब से ट्रेनों को चलाने की प्लानिंग नहीं कर पाता था। अब डेटा सीधा सैटलाइट से जुड़ जाने की वजह से देव को ज्यादा समय मिलता है। इसलिए वह प्राथमिकता के आधार पर ट्रेनों को समय से पहुंचाने का काम करते हैं। अगर कोई ट्रेन 60-70 की स्पीड में चल रही है और ट्रैक में 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाई जा सकती है, तो देव उस ट्रेन को स्पीड बढ़ाने का निर्देश देते हैं। जबकि पहले दो स्टेशनों के बीच कवर की गई दूरी के आधार पर ट्रेन की स्पीड मापी जाती थी। लेकिन अब यह हर 30 सेकंड में पता चलता रहता है।
देश के करीब आधे लोकोमोटिव इंजनों में नए सिस्टम लग गए हैं। मतलब वे सैटलाइट से जुड़ चुके हैं। इसमें 120 करोड़ रुपये का खर्च आया है। इसरो का यह सैटलाइट रणनीतिक और गोपनीयता के नजरिए से महत्तपूर्ण है, इसलिए हम उस सैटलाइट का नाम प्रकाशित नहीं कर रहे हैं। लेकिन नए सिस्टम से यह साफ है कि देव जैसे हजारों रेलवे कंट्रोलर ट्रेनों को टाइम से पहुंचाने लगे हैं।
रेलवे अपनी सभी ट्रेनों को एक सिस्टम के जरिए इसरो के सैटलाइट से जोड़ रहा है। ऐसा करने से फिलहाल 1.4 करोड़ रियलटाइम अपडेट रोजाना मिल रहे हैं। जैसे- ट्रेन कहां है और कितनी स्पीड से चल रही है। इस रिपोर्ट में एक रेलवे कंट्रोलर के काम को समझते हुए जानें कि कैसे जीपीएस डेटा का इस्तेमाल करके ट्रेनें समय की पाबंद हुई हैं।
इसरो की सैटलाइट ट्रेन को समय पर पहुंचा रही है... लेकिन कैसे/
  
Sep 30 (00:58) डबलडेकर का रूट बदलने की तैयारी (www.amarujala.com)
New/Special Trains
NER/North Eastern
0 Followers
5951 views

News Entry# 392355  Blog Entry# 4443709   
  Past Edits
Sep 30 2019 (00:58)
Station Tag: Anand Vihar Terminal/ANVT added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Sep 30 2019 (00:58)
Station Tag: Sitapur Junction/STP added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Sep 30 2019 (00:58)
Station Tag: Lucknow Junction NER/LJN added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Sep 30 2019 (00:58)
Train Tag: Anand Vihar Terminal - Lucknow Jn. AC Double Decker Express/12584 added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Sep 30 2019 (00:58)
Train Tag: Lucknow Jn. - Anand Vihar Terminal AC Double Decker Express/12583 added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964
सीतापुर के रास्ते डबलडेकर चलाने की तैयारी, यात्रियों की संख्या बढ़ाने के मकसद से किया जा रहा बदलाव
डबलडेकर एक्सप्रेस में पैसेंजरों की संख्या बढ़ाने के मकसद से
...
more...
ट्रेन का रूट बदला जा सकता है। इसकी फीजिबिलिटी जांचने के लिए पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन के अधिकारियों ने मंथन शुरू कर दिया है। ट्रेन को सीतापुर के रास्ते दिल्ली तक चलाने पर सीतापुर के यात्रियों को भी राहत मिलेगी। डबलडेकर लखनऊ जंक्शन से आनंदविहार के बीच हफ्ते में चार दिन चलती है। एसी चेयरकार वाली यह ट्रेन यात्रियों की पसंदीदा हुआ करती थी, लेकिन समय के साथ यात्रियों का रुझान कम हो गया। लिहाजा घटते राजस्व को देखते हुए यात्रियों की संख्या बढ़ाने के लिए पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन रूट बदलने की रणनीति बना रहा है। सूत्रों की मानें तो रेलवे के आला अधिकारी ट्रेन को सीतापुर के रास्ते दिल्ली के लिए चलाने की तैयारी में हैं। दरअसल, ऐशबाग से सीतापुर रूट का आमान परिवर्तन पूरा हो चुका है। अब इस रूट पर ट्रेनें रफ्तार भर रही हैं। ऐसे में डबलडेकर को इस रूट पर शिफ्ट करने में दिक्कतें नहीं होंगी। ऐसा करने पर रेलवे को सीतापुर के यात्री भी मिल सकेंगे। लखनऊ से दिल्ली के लिए सुबह तीन ट्रेनें हैं। इसमें डबलडेकर एक्सप्रेस जंक्शन से सुबह 4.55 बजे रवाना होती है, जबकि गोमती एक्सप्रेस चारबाग स्टेशन से सुबह छह बजे दिल्ली जाती है। अब छह अक्तूबर से तेजस एक्सप्रेस भी शुरू होने जा रही है, जोकि सुबह 6.10 बजे दिल्ली रवाना होगी।सीतापुर के पैसेंजरों को मिलेगी राहतरेलवे अधिकारी बताते हैं कि अभी ट्रेन लखनऊ जंक्शन से आलमनगर होते हुए बरेली, मुरादाबाद, गाजियाबाद व आनंदविहार तक जाती है। ट्रेन सीतापुर के रास्ते चलाने पर यात्रियों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है। सीतापुर से दिल्ली जाने वाले सैकड़ों यात्रियों को राहत मिल जाएगी।अमूमन खाली रहती हैं सीटेंडबलडेकर अमूमन खाली ही दौड़ती है। ट्रेन हफ्ते में चार दिन चलती है। इसमें पहली से 15 अक्तूबर तक 629, 647, 672, 611, 530, 688, 670 व 617 सीटें खाली हैं। रेलवे अधिकारियों की मानें तो ट्रेन की ऑक्यूपेंसी करीब 80 प्रतिशत के आसपास रहती है।
  
Sep 28 (00:32) निर्वाचन आयोग ने दी IRCTC tejas express के उद्घाटन समारोह को मंजूरी, सीएम द‍िखाएंगे झंडी lucknow news (m.jagran.com)
New/Special Trains
NER/North Eastern
0 Followers
3753 views

News Entry# 392166  Blog Entry# 4440645   
  Past Edits
Sep 28 2019 (00:33)
Station Tag: Ghaziabad Junction/GZB added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Sep 28 2019 (00:33)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Sep 28 2019 (00:33)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Sep 28 2019 (00:33)
Station Tag: Lucknow Junction NER/LJN added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Sep 28 2019 (00:33)
Train Tag: Gorakhpur Nautanwa Special/8205A added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Sep 28 2019 (00:33)
Train Tag: Lucknow Jn. - New Delhi IRCTC Tejas Express/82501 added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964
लखनऊ, जेएनएन। आधुनिक सुविधाओं वाली आइआरसीटीसी तेजस एक्सप्रेस IRCTC tejas expressको चार अक्टूबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। कैंट विधानसभा उपचुनाव की आचार संहिता के कारण निर्वाचन आयोग ने हरी झंडी दिखाने और उद्घाटन समारोह आयोजित करने की मंजूरी दे दी है। हालांकि इस दौरान कोई नई घोषणा नहीं की जा सकेगी। लखनऊ जंक्शन कैंट विधानसभा क्षेत्र में आता है। इस क्षेत्र में आचार संहिता लगी होने के कारण आइआरसीटीसी ने निर्वाचन आयोग से मंजूरी मांगी थी।
आइआरसीटीसी तेजस एक्सप्रेस के यात्रियों को उनकी सीट पर पर्यटन और उनकी मिलने वाली सर्विस की अहम जानकारी देने वाली मैगजीन पढऩे को मिलेगी। आइआरसीटीसी के मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अश्विनी श्रीवास्तव ने बताया कि कारपोरेट सेक्टर की इस पहली ट्रेन में
...
more...
पर्यटन स्थलों की महत्वपूर्ण जानकारियों के अलावा टे्रन में ऑनबोर्ड मिलने वाली सुविधाओं की पूरी डिटेल भी इस मैगजीन में होगी। सफर शुरू करने से पहले हर सीट के कवर पर यह मैगजीन लगा दी जाएंगी। कुल 6:15 घंटे का सफर पूरा करने से पहले यात्रियों को इन मैगजीन को वापस रखना होगा। 
वहीं तेजस के यात्रियों को लखनऊ जंक्शन और नई दिल्ली स्टेशन पर मीटिंग कराने की सुविधा देगा। आइआरसीटीसी के दोनो ही स्टेशन पर लाउंज हैं। इन लाउंज में मीटिंग में पावर प्रजेंटेशन सहित सभी सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश आइआरसीटीसी मुख्यालय ने दे दिए हैं। यात्रियों को आइआरसीटीसी की वेबसाइट पर अपना ऑनलाइन टिकट बुक करते समय ही मीटिंग कराने की डिमांड करनी होगी। आइआरसीटीसी उसका शुल्क लेगा। यहां उनके सूक्ष्म जलपान की सुविधा भी आइआरसीटीसी मुहैया कराएगा। 
अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप
Page#    10249 news entries  next>>

Go to Full Mobile site