Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sun Jun 24 04:55:29 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~

Page#    Showing 1 to 5 of 8544 news entries  next>>
  
Today (00:39) गाजीपुर -औडि़हार में बन रहे डेमू व मेमू शेड का निर्माण भी आगामी चार माह में पूरा हो जाएगा-मनोज सिन्हा (m.jagran.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
225 views

News Entry# 342631  Blog Entry# 3566737   
  Past Edits
Jun 24 2018 (00:39)
Station Tag: Ghazipur City/GCT added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Jun 24 2018 (00:39)
Station Tag: Aunrihar Junction/ARJ added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
गाजीपुर (जेएनएन)। रेल राज्यमंत्री व संचार मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा ने कहा कि सम्राट स्कंदगुप्त के लेख के लिए जाने जाने वाले गाजीपुर के सैदपुर भितरी का नाम एसी विद्युत लोकोशेड बनने के बाद भारतीय रेल में अमर हो जाएगा। पीएम मोदी रेल को सामान्य आदमी के यात्रा का साधन मानते हैं इसलिए रेल पर पर्याप्त धन खर्च किए जा रहे हैं। रेल राज्य मंत्री शनिवार को नगर स्थित सैदपुर भितरी रेलवे स्टेशन पर 100 लोको क्षमता के एसी विद्युत लोकोशेड के शिलान्यास समारोह में बोल रहे थे। कहा कि शुरुआती दौर में यहां 100 लोको का अनुरक्षण किया जाएगा। बाद में इसे 200 लोको क्षमता का बना दिया जाएगा। इसके बनने के बाद आसपास कई छोटे-मोटे कल कारखाने खुलेंगे जिससे हजारों लोगों को आजीविका चलेगी। 
रेल
...
more...
सुविधाओं पर ज्यादा खर्च
मंत्री ने कहा कि रेल पर पर्याप्त धन खर्च किया जा रहा है। वर्ष 2009 से 2014 तक 47-48 हजार करोड़ रुपये रेल पर खर्च हुए थे। पिछले वर्ष रेल पर 1.30 हजार करोड़ व इस वर्ष 1.48 हजार करोड़ रुपये खर्च किए गए। उन्होंने इसी तरह अन्य क्षेत्रों में हुए खर्च को बताया। कहा कि पीएम मोदी का उद्देश्य है कि 100 प्रतिशत रेल लाइन को का विद्युतीकरण किया जाए। उन्होंने डीआरएम एसके झां से बात करने के बाद करीब 15 जुलाई को गाजीपुर में बने जोनल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट व गाडिय़ों की धुलाई के लिए बने वाशिंग सेंटर के लोकार्पण की घोषणा की। कहा कि 14 नवंबर 2016 को जिस रेल सह सड़क पुल का शिलान्यास किया था उसका लोकार्पण 14 नवंबर 2019 से पहले बनकर तैयार हो जाएगा। इस रेल सह सड़क पुल का पहला गर्डर 15 दिन बाद रखा जाएगा।
कांग्रेस के कार्यकाल में भी दिया ध्यान 
अपने भाषण में उन्होंने भले ही कांग्रेस के कार्यकाल में पूर्वांचल पर ध्यान न देने की बात कही लेकिन कमलापति त्रिपाठी व कल्पनाथ के समय में कुछ कार्य होने की बात स्वीकार की। कहा कि पीएम मोदी ने न केवल भारतीय राजनीति की शब्दावली बदली है बल्कि कार्य की संस्कृति को भी बदला है। रेल राज्यमंत्री पूर्वोत्तर रेलवे के जीएम अग्रवाल व आरबीएनएल के प्रबंध निदेशक सतीशचंद्र अग्निहोत्री से वार्ता करने के बाद जनता को भरोसा दिया कि 21 माह की बजाय 18 माह में ही इस लोकोशेड को मूर्त रूप प्रदान किया जाएगा। कहा कि औडि़हार में बन रहे डेमू व मेमू शेड का निर्माण भी आगामी चार माह में पूरा हो जाएगा। इस मौके पर विधान परिषद सदस्य विशाल उर्फ चंचल सिंह, शिक्षक एमएलसी चेतनारायण सिंह, डीआरएम एसके झा, ट्रैक्शन रेलवे बोर्ड के सदस्य घनश्याम सिंह आदि मौजूद थे। 
पूर्व एसओ को धमकाया, मुकदमा 
रेल एवं संचार मंत्री का प्रतिनिधि बनकर रेवतीपुर के पूर्व थानाध्यक्ष को एक व्यक्ति ने धमकी भरे अंदाज में वाहन छोड़कर का फरमान जारी कर दिया। एसओ ने आनाकानी की तो उक्त व्यक्ति ने रेल राज्यमंत्री को खुद थाने लाने की बात कही। इस पर थानेदार नरम हुए और वाहन छोडऩे की हामी भर दी। हालांकि बाद में थानाध्यक्ष द्वारा उक्त नंबर की जांच कराई गई तो फर्जी निकला। इस मामले में उन्होंने रेवतीपुर थाने में मोबाइल पर आए नंबर को आधार बनाते हुए मुकदमा दर्ज कराया।
यात्रियों की सुरक्षा रेलवे की प्राथमिकता : मंत्री
केंद्रीय रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन ने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा को लेकर रेलवे सजग है। इसलिए ट्रेनों की लेटलतीफी की बजाय अभी सुरक्षा को प्राथमिकता दी जा रही है। धीरे-धीरे ट्रेनों का समय ठीक हो जाएगा। देवरिया रेलवे स्टेशन से जितनी ट्रेनें गुजरती हैं उसको देखते हुए यहां एक से दो और प्लेटफार्म की जरूरत महसूस हो रही है। पूर्वोत्तर रेलवे के एजीएम को इस संबंध में बताया हूं। गोहेन शनिवार की देर रात भाटपाररानी एक निजी कार्यक्रम में जाते समय सदर रेलवे स्टेशन पर संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। केंद्रीय रेल राज्य मंत्री ने सलेमपुर सांसद रङ्क्षवद्र कुशवाहा द्वारा ट्रेनों के ठहराव की मांग को लेकर धरना देने की बात कहने के सवाल पर कहा कि देश के सभी सांसद अपने क्षेत्र में ट्रेनों के ठहराव की मांग कर रहे हैं। यदि सभी जगहों पर ट्रेनों का ठहराव दिया जाए तो ट्रेनों का फंक्शन बर्बाद हो जाएगा। एक्सप्रेस की क्वालिटी खत्म हो जाएगी। ऐसे में इस पर शोध करना पड़ेगा कि कहां ट्रेनों का ठहराव उचित रहेगा।
  
Yesterday (22:53) ट्रेनों की लेटलतीफी में कराह उठते है रेल यात्री (www.amarujala.com)
Other News
NER/North Eastern
0 Followers
542 views

News Entry# 342621  Blog Entry# 3566570   
  Past Edits
Jun 23 2018 (22:53)
Station Tag: Ghazipur City/GCT added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
गहमर। दानापुर रेल मंडल के मुगलसराय-पटना रेलखंड पर आए दिन हो रही छोटी-बड़ी घटनाओं से यात्रियों की फजीहत हो रही है। इस रेल मार्ग पर इंजन फेल होने और पटरियों के चटकने की घटनाएं आए दिन हो रही हैं। जिससे घंटों यातायात बाधित रहता है। रेलखंड के तीन बड़े रेलवे स्टेशन दिलदारनगर, बक्सर और आरा में रिजर्व इंजन रखने की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में मुगलसराय अथवा दानापुर से इंजन आने के बाद ट्रेनों का परिचालन शुरू किया जाता है। दूसरा इंजन आने तक रेल लाइन बाधित रहती है। कई बार पटरियों के चटकने से भी रूट जाम हो जाता है। ऐसे में यात्री कराह उठत हैं। गहमर होकर गुजरने वाली रेलमार्ग पर हालिया घटनाओं का जिक्र करें तो 11 जून को वरुणा रेलवे स्टेशन से डुमरांव के बीच 12791 डाउन सिकंदराबाद-दानापुर एक्सप्रेस का इंजन फेल हुआ था। इससे करीब चार घंटे तक यातायात बाधित रहा। अगले ही दिन 12...
more...
जून को फिर 14055 अप डिब्रूगढ़-नई दिल्ली ब्रह्मपुत्र मेल का इंजन डुमरांव स्टेशन पर फेल हो गया। इस गाड़ी को आगे बढ़ाने में करीब सात घंटे लगे। इन दिनों यात्रा का सीजन चल रहा है और सभी गाड़ियाें में भीड़ चल रही है। इस रूट पर अगर नजदीकी स्टेशनों पर अतिरिक्त इंजन और रिपेयरिंग की व्यवस्था रखा जाए तो घटना के बाद कम समय में ही इन गाड़ियों को गंतव्य पर भेजा जा सकता है। इस रूट पर बाधा का असर देश के विभिन्न हिस्सों में जाने वाली गाड़ियों पर भी पड़ता है। गहमर वाली यह रूट आगे जाकर बक्सर, पटना, हाबड़ा, गुवाहाटी, भागलपुर, दिल्ली, नागपुर, गोरखपुर, मुंबई आदि बड़े शहरों को जोड़ता है। ऐसे में ट्रेनों का परिचालन ठप होने से देश की प्रमुख शहरों में जाने वाली ट्रेनों की टाइमिंग बिगड़ जाती है। दानापुर डिवीजन के तहत आने वाला यह स्टेशन मुगलसराय से करीब 125 किलोमीटर दूर है। पटना से भी लगभग 100 किलोमीटर की दूरी है। इसके बाद भी दिलदारनगर-गहमर-बक्सर में न तो कोई मैकेनिक है और न रिजर्व इंजन की कोई व्यवस्था। ऐसे में ट्रेन के इंजन में खराबी आने के बाद मुगलसराय- दानापुर के भरोसे ही रहना पडता है। स्थिति यह है कि मेमू रैक में भी खराबी आने पर गहमर-दिलदारनगर-बक्सर में बनाने की कोई व्यवस्था नहीं है। इधर रेलवे में सबसे पावरफुल रेल इंजन में इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव-9 शामिल किया गया है। इस इंजन को मालगाड़ी मे इस्तेमाल किया जाता है। रेलवे के 6350 हार्सपावर क्षमता वाली इस इंजन का माडिफाई वर्जन-7 है। यह इंजन 24 कोच की पैसेंजर ट्रेन को 140 से 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से खींच सकती है। रेलमार्गों पर इंजन फेल होने के साथ ही रेल पटरी चटकने की भी घटनाएं होती जा रही हैं। इस मामले में स्टेशन प्रबंधक साधू यादव ने बताया कि तकनीकी खराबी या किसी गड़बड़ी की सूचना मिलती है तो वह तुरंत मंडल खंड नियंत्रक को इसकी जानकारी देते है। उसके बाद उनसे प्राप्त दिशा-निर्देशों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाती है। इसमें काफी समय लग जाता है।
  
Yesterday (22:51) ग्वालियर-बरौनी एक्सप्रेस 14 घंटे लेट, यात्री परेशान (www.jagran.com)
Other News
NER/North Eastern
0 Followers
459 views

News Entry# 342620  Blog Entry# 3566567   
  Past Edits
Jun 23 2018 (22:51)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
Stations:  Gonda Junction/GD  
गोंडा: भले ही मौसम में काफी कुछ बदलाव आ गया हो लेकिन ट्रेनों की लेट लतीफी कम नहीं हो रही है। ट्रेनें घंटों की देरी से चल रही है, जिससे यात्री परेशान हो रहे हैं। जंक्शन पर पर्याप्त इंतजाम न होने के कारण यात्रियों की मुश्किल और बढ़ जा रही है। न तो पर्याप्त बेंच है, न ही अन्य प्रबंध। जिसके कारण यात्रियों को फर्श पर बैठना पड़ रहा है। बुधवार को लखनऊ की ओर से आने वाली न्यू जलपाई गुड़ी-नई दिल्ली सुपरफास्ट एक्सप्रेस 10 घंटे, जननायक एक्सप्रेस आठ घंटे, बरौनी-ग्वालियर एक्सप्रेस छह घंटे, छपरा मथुरा एक्सप्रेस पांच घंटे व बरौनी लखनऊ एक्सप्रेस दो घंटे की देरी से चल रही है। गोरखपुर की ओर जाने वाली ग्वालियर बरौनी एक्सप्रेस 14 घंटे, गोरखधाम एक्सप्रेस साढ़े तीन घंटे, लखनऊ पाटलिपुत्र सुपरफास्ट एक्सप्रेस साढ़े तीन घंटे, बांद्रा मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस दो घंटे, शहीद एक्सप्रेस ढाई घंटे की देरी से चल रही है। इसके...
more...
अलावा फिरोजपुर दरभंगा एक्सप्रेस, यशवंतपुर गोरखपुर एक्सप्रेस व लोकमान्य तिलक गोरखपुर एक्सप्रेस एक-एक घंटे की देरी से चल रही है। जिससे यात्रियों को परेशानी हो रही है। हालांकि चीफ पीआरओ संजय यादव का कहना है कि ट्रेनों के समय से संचालन को लेकर प्रयास किया जा रहा है। इनसेट सुविधाओं को बढ़ाएं ट्रेनें लेट होने से यात्रियों को परेशानी यह भी पढ़ें - जंक्शन पर यात्री सुविधाओं का टोटा है। यहां पर न तो पर्याप्त बैठने का प्रबंध है, न ही अन्य इंतजाम। जिससे यात्रियों को फर्श पर ही बैठना पड़ रहा है। प्लेटफार्म के बाहर कहीं पर भी पानी का कोई प्रबंध नहीं है। पानी की किल्लत के कारण यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है। ऐसे में अगर कोई भी यात्री पानी पीने के लिए प्लेटफार्म में चला गया तो उस पर कार्रवाई का डर रहता है। पिछले दिनों ऐसे ही एक मामले में एक यात्री की पिटाई का भी मामला आया था। बावजूद इसके कोई ध्यान नहीं दे रहा है। रेलवे परामर्शदात्री समिति के सदस्य पंकज कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि यात्री सुविधाओं को लेकर अधिकारियों से बात की जा रही है। By Jagran
गोंडा: भले ही मौसम में काफी कुछ बदलाव आ गया हो लेकिन ट्रेनों की लेट लतीफी कम नहीं हो रही है। ट्रेनें घंटों की देरी से चल रही है, जिससे यात्री परेशान हो रहे हैं। जंक्शन पर पर्याप्त इंतजाम न होने के कारण यात्रियों की मुश्किल और बढ़ जा रही है। न तो पर्याप्त बेंच है, न ही अन्य प्रबंध। जिसके कारण यात्रियों को फर्श पर बैठना पड़ रहा है।
बुधवार को लखनऊ की ओर से आने वाली न्यू जलपाई गुड़ी-नई दिल्ली सुपरफास्ट एक्सप्रेस 10 घंटे, जननायक एक्सप्रेस आठ घंटे, बरौनी-ग्वालियर एक्सप्रेस छह घंटे, छपरा मथुरा एक्सप्रेस पांच घंटे व बरौनी लखनऊ एक्सप्रेस दो घंटे की देरी से चल रही है। गोरखपुर की ओर जाने वाली ग्वालियर बरौनी एक्सप्रेस 14 घंटे, गोरखधाम एक्सप्रेस साढ़े तीन घंटे, लखनऊ पाटलिपुत्र सुपरफास्ट एक्सप्रेस साढ़े तीन घंटे, बांद्रा मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस दो घंटे, शहीद एक्सप्रेस ढाई घंटे की देरी से चल रही है। इसके अलावा फिरोजपुर दरभंगा एक्सप्रेस, यशवंतपुर गोरखपुर एक्सप्रेस व लोकमान्य तिलक गोरखपुर एक्सप्रेस एक-एक घंटे की देरी से चल रही है। जिससे यात्रियों को परेशानी हो रही है। हालांकि चीफ पीआरओ संजय यादव का कहना है कि ट्रेनों के समय से संचालन को लेकर प्रयास किया जा रहा है। इनसेट सुविधाओं को बढ़ाएं

- जंक्शन पर यात्री सुविधाओं का टोटा है। यहां पर न तो पर्याप्त बैठने का प्रबंध है, न ही अन्य इंतजाम। जिससे यात्रियों को फर्श पर ही बैठना पड़ रहा है। प्लेटफार्म के बाहर कहीं पर भी पानी का कोई प्रबंध नहीं है। पानी की किल्लत के कारण यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है। ऐसे में अगर कोई भी यात्री पानी पीने के लिए प्लेटफार्म में चला गया तो उस पर कार्रवाई का डर रहता है। पिछले दिनों ऐसे ही एक मामले में एक यात्री की पिटाई का भी मामला आया था। बावजूद इसके कोई ध्यान नहीं दे रहा है। रेलवे परामर्शदात्री समिति के सदस्य पंकज कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि यात्री सुविधाओं को लेकर अधिकारियों से बात की जा रही है।
By Jagran
पांच अरब से होगा बिजली व्यवस्था का कायाकल्प
पिता की हत्या में बेटे व बहू गिरफ्तार
अस्पताल में छापा, सुविधाओं पर जताई नाराजगी
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
  
Yesterday (22:50) जंक्शन पर यात्रियों को नहीं मिल रहा पानी (www.jagran.com)
Other News
NER/North Eastern
0 Followers
465 views

News Entry# 342619  Blog Entry# 3566564   
  Past Edits
Jun 23 2018 (22:50)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
Stations:  Gonda Junction/GD  
गोंडा: बाराबंकी जा रहे श्याम प्रकाश कैशवार गोंडा जंक्शन पर पानी के लिए भटक रहे थे। कई स्टालों पर जाने के बाद भी उन्हें कहीं पर ठंडा पानी नहीं मिल पाया। जिससे वह काफी परेशान नजर आ रहे थे। जंक्शन पर लगी पानी की टंकियों से ठंडा पानी न आने के कारण लोगों की प्यास नहीं बुझ पा रही है। वहीं पर अभय कुमार भी पानी की समस्या से परेशान थे। वह कह रहे थे कि पानी न मिलने से काफी दिक्कत आ रही है। यह एक दो नहीं बल्कि गोंडा जंक्शन से गुजरने वाले हजारों यात्रियों का दर्द है। दरअसल, गोंडा जंक्शन पर पिछले तीन दिनों से रेल नीर की आपूर्ति नहीं हुई। इसके कारण गुरुवार से जंक्शन पर पानी का संकट बढ़ गया। स्टॉलों से रेल नीर गायब हो गया। मालूम हो कि स्टेशन परिसर में रेल नीर की ही बिक्री अनुमन्य है। इसके अलावा अन्य कंपनियों...
more...
के पानी की बोतल स्टेशन पर प्रतिबंधित है। ऐसे में रेल नीर की आपूर्ति बाधित होने के कारण यात्रियों की परेशानी बढ़ गई। कई यात्रियों ने इस समस्या को लेकर रेल अधिकारियों को ट्वीट भी किया है। बावजूद इसके दिक्कत कम होने का नाम नहीं ले रही है। प्लेटफार्म नंबर एक, दो व तीन पर सबसे ज्यादा परेशानी यात्रियों को हो रही है। प्लेटफार्म पर लगीं पानी की टोटियों पर पानी लेने के लिए यात्रियों की कतार लगी हुई है। गर्म पानी होने के बाद भी लोग मजबूरी में वह पानी पीने को विवश हैं। यात्रियों का कहना था कि जिम्मेदार अधिकारियों को इस पर ध्यान देना चाहिए। बताया जाता है कि रेल नीर की आपूर्ति करने वाली फर्म के प्लांट में दिक्कत आ गई है, जिससे पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। हालांकि प्लांट के कर्मियों ने अगले दो दिन में व्यवस्था ठीक करने की बात कही है। हो रहा हंगामा श्रद्धालुओं और अजादारों को मिल रहा दर्द यह भी पढ़ें - पानी की किल्लत को लेकर गोरखधाम, वैशाली व सत्याग्रह एक्सप्रेस से यात्रा करने वाले यात्री काफी परेशान हो रहे हैं। गुरुवार की शाम को सत्याग्रह एक्सप्रेस में बिजली को लेकर हंगामा हो गया। हालांकि रेल अधिकारी सतर्कता बरत रहे हैं। वहीं पर गोरखपुर आनंद विहार एक्सप्रेस दस घंटे, कामाख्या आनंद विहार एक्सप्रेस व बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस साढ़े पांच घंटे व जननायक एक्सप्रेस 5 घंटे की देरी से चल रही है। वैशाली, गोरखधाम, शहीद एक्सप्रेस भी विलंब से चल रही है, जिससे यात्रियों की परेशानी कम नहीं हो रही है। जिम्मेदार के बोल - स्टेशन अधीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि यह बात सही है कि रेल नीर की आपूर्ति नहीं हो रही है। इससे महज सड़कों पे गड्ढे हैं बिजली है न पानी.. यह भी पढ़ें समस्या बढ़ गई है। इसे देखते हुए स्टाल संचालकों को बाहर की कंपनियों के पानी की बिक्री करने की अनुमति दी गई है। जिससे यात्रियों को हो रही परेशानी से बचाया जा सके। कार्रवाई की मांग - गोंडा नगर पालिका परिषद के सभासद शेष चौरसिया का कहना है कि नगर पालिका परिषद ने बीस जून की रात को दो टैंकर पानी पथवलिया गांव में भिजवाया है। यह नियमों का उल्लंघन है। शहरी क्षेत्र के बजाय ग्रामीण क्षेत्र में पानी का टैंकर भेजने के मामले की जांच कराकर कार्रवाई की मांग को लेकर ईओ का पत्र भेजा है।By Jagran
गोंडा: बाराबंकी जा रहे श्याम प्रकाश कैशवार गोंडा जंक्शन पर पानी के लिए भटक रहे थे। कई स्टालों पर जाने के बाद भी उन्हें कहीं पर ठंडा पानी नहीं मिल पाया। जिससे वह काफी परेशान नजर आ रहे थे। जंक्शन पर लगी पानी की टंकियों से ठंडा पानी न आने के कारण लोगों की प्यास नहीं बुझ पा रही है। वहीं पर अभय कुमार भी पानी की समस्या से परेशान थे। वह कह रहे थे कि पानी न मिलने से काफी दिक्कत आ रही है।
यह एक दो नहीं बल्कि गोंडा जंक्शन से गुजरने वाले हजारों यात्रियों का दर्द है। दरअसल, गोंडा जंक्शन पर पिछले तीन दिनों से रेल नीर की आपूर्ति नहीं हुई। इसके कारण गुरुवार से जंक्शन पर पानी का संकट बढ़ गया। स्टॉलों से रेल नीर गायब हो गया। मालूम हो कि स्टेशन परिसर में रेल नीर की ही बिक्री अनुमन्य है। इसके अलावा अन्य कंपनियों के पानी की बोतल स्टेशन पर प्रतिबंधित है। ऐसे में रेल नीर की आपूर्ति बाधित होने के कारण यात्रियों की परेशानी बढ़ गई। कई यात्रियों ने इस समस्या को लेकर रेल अधिकारियों को ट्वीट भी किया है। बावजूद इसके दिक्कत कम होने का नाम नहीं ले रही है। प्लेटफार्म नंबर एक, दो व तीन पर सबसे ज्यादा परेशानी यात्रियों को हो रही है। प्लेटफार्म पर लगीं पानी की टोटियों पर पानी लेने के लिए यात्रियों की कतार लगी हुई है। गर्म पानी होने के बाद भी लोग मजबूरी में वह पानी पीने को विवश हैं। यात्रियों का कहना था कि जिम्मेदार अधिकारियों को इस पर ध्यान देना चाहिए। बताया जाता है कि रेल नीर की आपूर्ति करने वाली फर्म के प्लांट में दिक्कत आ गई है, जिससे पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। हालांकि प्लांट के कर्मियों ने अगले दो दिन में व्यवस्था ठीक करने की बात कही है। हो रहा हंगामा

- पानी की किल्लत को लेकर गोरखधाम, वैशाली व सत्याग्रह एक्सप्रेस से यात्रा करने वाले यात्री काफी परेशान हो रहे हैं। गुरुवार की शाम को सत्याग्रह एक्सप्रेस में बिजली को लेकर हंगामा हो गया। हालांकि रेल अधिकारी सतर्कता बरत रहे हैं। वहीं पर गोरखपुर आनंद विहार एक्सप्रेस दस घंटे, कामाख्या आनंद विहार एक्सप्रेस व बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस साढ़े पांच घंटे व जननायक एक्सप्रेस 5 घंटे की देरी से चल रही है। वैशाली, गोरखधाम, शहीद एक्सप्रेस भी विलंब से चल रही है, जिससे यात्रियों की परेशानी कम नहीं हो रही है।
जिम्मेदार के बोल
- स्टेशन अधीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि यह बात सही है कि रेल नीर की आपूर्ति नहीं हो रही है। इससे

समस्या बढ़ गई है। इसे देखते हुए स्टाल संचालकों को बाहर की कंपनियों के पानी की बिक्री करने की अनुमति दी गई है। जिससे यात्रियों को हो रही परेशानी से बचाया जा सके।
कार्रवाई की मांग
- गोंडा नगर पालिका परिषद के सभासद शेष चौरसिया का कहना है कि नगर पालिका परिषद ने बीस जून की रात को दो टैंकर पानी पथवलिया गांव में भिजवाया है। यह नियमों का उल्लंघन है। शहरी क्षेत्र के बजाय ग्रामीण क्षेत्र में पानी का टैंकर भेजने के मामले की जांच कराकर कार्रवाई की मांग को लेकर ईओ का पत्र भेजा है।
By Jagran
पांच अरब से होगा बिजली व्यवस्था का कायाकल्प
पिता की हत्या में बेटे व बहू गिरफ्तार
अस्पताल में छापा, सुविधाओं पर जताई नाराजगी
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
  
Yesterday (22:49) अब आधुनिक काउंटरों पर जनरल टिकट (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
474 views

News Entry# 342618  Blog Entry# 3566556   
  Past Edits
Jun 23 2018 (22:49)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
Stations:  Gorakhpur Junction/GKP  
गोरखपुर : रेल यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है। अब उन्हें गोरखपुर स्टेशन पर जनरल टिकट के लिए धक्कामुक्की नहीं करनी पड़ेगी। न ही पीने के पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ेगा। आम यात्रियों को सहूलियत प्रदान करने के लिए रेलवे प्रशासन ने बुकिंग हॉल को अति आधुनिक बनाने का निर्णय लिया है। रेलवे प्रशासन की हरी झंडी के बाद इंजीनिय¨रग विभाग ने बुकिंग हाल के नवनिर्माण की कवायद शुरू कर दी है। जल्द ही निर्माण कार्य शुरू कर दिए जाएंगे। इसके तहत पैसेंजर हाल, बुकिंग और और पुराने बुकिंग हाल को आपस में मिलाया जाएगा। जिससे एक बड़े हाल का स्वरूप तैयार होगा। जिसमें हजारों यात्री एक साथ टिकटों की बुकिंग कर सकते हैं। यात्रियों को विशेष सुविधा प्रदान करने के लिए अतिरिक्त इंतजाम किए जाएंगे। इसके तहत यात्रियों के लिए बैठने की विशेष व्यवस्था होगी। हाल में बड़े-बड़े पंखे लगाए जाएंगे। पानी की समुचित व्यवस्था होगी,...
more...
ताकि लोगों को परेशानी न हो। यही नहीं ट्रेनों की पल-पल की जानकारी के लिए बड़े-बड़े डिस्प्ले बोर्ड लगाए जाएंगे। सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। अक्सर, भीड़ बढ़ने पर यात्रियों की परेशानी भी बढ़ जाती है। गर्मी के दिनों में तो स्थिति और खराब हो जाती है। लंबी लाइन में खड़ा होना मुश्किल हो जाता है। लाइन में लगने के बाद ट्रेन ही छूट जाती है। यात्रियों की इन मुश्किलों को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने बुकिंग हाल को आधुनिक स्वरूप देने का अहम निर्णय लिया है। रेलवे स्टेशन से औसत रोजाना 35 हजार यात्री जनरल टिकटों की बुकिंग करते हैं। रेलवे काउंटरों से ही खरीदें टिकट यह भी पढ़ें --- अब प्लेटफार्मो पर नहीं टपकेगा वर्षा का पानी अब पेपरलेस जनरल टिकट की तैयारी यह भी पढ़ें रेलवे स्टेशन का कायाकल्प शुरू हो गया है। प्लेटफार्मो के फर्श को दुरुस्त करने के बाद रेलवे प्रशासन ने अब शेड को सही करने का निर्णय लिया है। रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्मो पर स्थित सभी पुराने शेड बदले जाएंगे। दरअसल, प्लेटफार्म 3/4, 5/6 और 7/8 के शेड पुराने और जर्जर हो चुके हैं। वर्षा के दिनों में पानी प्लेटफार्म पर टपकता रहता है। ऐसे में यात्रियों को परेशानी होती है। नए शेड लग जाने से वर्षा के दिनों में भी यात्रियों को आराम मिलेगा। इस संबंध में पूर्वोत्तर रेलवे के सीपीआरओ संजय यादव का कहना है कि रेलवे स्टेशन पर तेजी के साथ यात्री सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। यात्री सुविधाएं रेलवे की प्राथमिकताओं में प्रमुख है। -----------By Jagran
गोरखपुर : रेल यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है। अब उन्हें गोरखपुर स्टेशन पर जनरल टिकट के लिए धक्कामुक्की नहीं करनी पड़ेगी। न ही पीने के पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ेगा। आम यात्रियों को सहूलियत प्रदान करने के लिए रेलवे प्रशासन ने बुकिंग हॉल को अति आधुनिक बनाने का निर्णय लिया है।
रेलवे प्रशासन की हरी झंडी के बाद इंजीनिय¨रग विभाग ने बुकिंग हाल के नवनिर्माण की कवायद शुरू कर दी है। जल्द ही निर्माण कार्य शुरू कर दिए जाएंगे। इसके तहत पैसेंजर हाल, बुकिंग और और पुराने बुकिंग हाल को आपस में मिलाया जाएगा। जिससे एक बड़े हाल का स्वरूप तैयार होगा। जिसमें हजारों यात्री एक साथ टिकटों की बुकिंग कर सकते हैं। यात्रियों को विशेष सुविधा प्रदान करने के लिए अतिरिक्त इंतजाम किए जाएंगे। इसके तहत यात्रियों के लिए बैठने की विशेष व्यवस्था होगी। हाल में बड़े-बड़े पंखे लगाए जाएंगे। पानी की समुचित व्यवस्था होगी, ताकि लोगों को परेशानी न हो। यही नहीं ट्रेनों की पल-पल की जानकारी के लिए बड़े-बड़े डिस्प्ले बोर्ड लगाए जाएंगे। सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। अक्सर, भीड़ बढ़ने पर यात्रियों की परेशानी भी बढ़ जाती है। गर्मी के दिनों में तो स्थिति और खराब हो जाती है। लंबी लाइन में खड़ा होना मुश्किल हो जाता है। लाइन में लगने के बाद ट्रेन ही छूट जाती है। यात्रियों की इन मुश्किलों को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने बुकिंग हाल को आधुनिक स्वरूप देने का अहम निर्णय लिया है। रेलवे स्टेशन से औसत रोजाना 35 हजार यात्री जनरल टिकटों की बुकिंग करते हैं।

---
अब प्लेटफार्मो पर नहीं
टपकेगा वर्षा का पानी

रेलवे स्टेशन का कायाकल्प शुरू हो गया है। प्लेटफार्मो के फर्श को दुरुस्त करने के बाद रेलवे प्रशासन ने अब शेड को सही करने का निर्णय लिया है। रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्मो पर स्थित सभी पुराने शेड बदले जाएंगे। दरअसल, प्लेटफार्म 3/4, 5/6 और 7/8 के शेड पुराने और जर्जर हो चुके हैं। वर्षा के दिनों में पानी प्लेटफार्म पर टपकता रहता है। ऐसे में यात्रियों को परेशानी होती है। नए शेड लग जाने से वर्षा के दिनों में भी यात्रियों को आराम मिलेगा।
इस संबंध में पूर्वोत्तर रेलवे के सीपीआरओ संजय यादव का कहना है कि रेलवे स्टेशन पर तेजी के साथ यात्री सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। यात्री सुविधाएं रेलवे की प्राथमिकताओं में प्रमुख है।
-----------
By Jagran
घर से भागने को तैयार नहीं हुई प्रेमिका तो जलाकर मार डाला
मगध से पड़ा मगहर का नाम !
मानव तस्करी भी रोकेगा रेलवे का हेल्पलाइन '182'
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
Page#    8544 news entries  next>>

Go to Full Mobile site