Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

दूरी नही मंज़िल भारी, साथ हो जब मेट्रो हमारी - Mushfique Khalid

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Fri Sep 17 03:35:26 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by ♤The Silent Traveller ♧♤

Page#    Showing 1 to 5 of 10395 news entries  next>>
Aug 07 (16:05) गोंडा मे एक माह में शुरू होगा सेंट्रल RRI पैनल, अब आउटर पर नहीं रुकेंगीं ट्रेनें (www.amarujala.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
18060 views

News Entry# 461339  Blog Entry# 5035774   
  Past Edits
Aug 07 2021 (16:05)
Station Tag: Gonda Kachahri/GDK added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 07 2021 (16:05)
Station Tag: Subhagpur/SUBR added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 07 2021 (16:05)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964
गोंडा। आठ करोड़ रुपये की लागत से गोंडा रेलवे यार्ड में बने सेंट्रल पैनल का शुभारम्भ माह सितंबर में हो जाएगा। इसके चालू होने से अब आउटर पर ट्रेनों को नहीं रोका जाएगा। ट्रेने से सीधे प्लेटफार्म पर पहुंचेंगी। जिससे यात्रियों को गन्तव्य तक पहुंचने में समय बर्बाद नहीं होगा। इसके साथ ही नए बने प्लेटफार्म नंबर चार व पांच से भी ट्रेनों को आवागमन शुरू हो जाएगा।विज्ञापनबता दें कि ट्रेनों के समय से पहुंचने में सुविधा के लिए गोंडा रेलवे यार्ड में तकरीबन 8 करोड़ रुपए की लागत से सेंट्रल पैनल बनाया गया है। इस पैनल के चालू होने से ट्रेनों को आउटर पर नहीं रुकना पड़ेगा।जिससे सभी ट्रेनें सीधे प्लेटफार्म पर पहुंचेंगी। अभी तक प्लेटफार्म खाली न होने पर ट्रेनों को आउटर पर रोकना रेलवे प्रशासन की मजबूरी थी। मगर अब इससे निजात मिल जाएगी।शुक्रवार को गोंडा रेलवे यार्ड का निरीक्षण करने आई सेफ्टी ऑडिट टीम का नेतृत्व कर...
more...
रहे पूर्वोत्तर रेलवे के प्रमुख मुख्य सिग्नल एवम् दूरसंचार प्रबंधक व प्रमुख मुख्य संरक्षा अधिकारी अनिल मिश्रा ने बताया कि नए सेंट्रल पैनल का शुभारंभ सितंबर माह में कर दिया जाएगा।बताया कि सेंट्रल पैनल को अत्याधुनिक यंत्रों से सुसज्जित किया जा रहा है। सेंट्रल पेैनल के चालू हो जाने से गोंडा रेलवे यार्ड में ट्रेनों के आने-जाने व संचालन में कोई रुकावट नहीं होगी ना ही ट्रेनों के समय में बर्बादी होगी। बताया कि अभी तक प्लेटफार्म खाली न होने के साथ ही अन्य कारणों से ट्रेनों को आउटर पर घंटो रोकना पड़ता था।मगर सेंट्रल पेैनल के चालू हो जाने से अब बिना किसी रुकावट के प्लेटफार्मों पर ट्रेनें सीधी पहुंचेंगी। बताया कि नए बनाए गए प्लेटफार्म नंबर चार व पांच से भी जल्द ही ट्रेनों को आवागमन शुरू कर दिया जाएगा। सेफ्टी ऑडिट टीम ने गोंडा रेलवे यार्ड के निरीक्षण के बाद सुभागपुर, इटियाथोक व बलरामपुर होते हुए बढ़नी रेलवे स्टेशन तक संरक्षा पर ऑडिट किया। टीम के साथ अपर मंडल रेल प्रबंधक शिशिर सोमवंशी सहित दर्जनों अधिकारी मौजूद रहे।
Aug 07 (16:04) 10 लाख की लागत से आधुनिक बनेगा गोंडा रेलवे ट्रैक डिपो, गोरखपुर एनईआर जोन में गोरखपुर, गोंडा व मल्हौर में यह डिपो था (www.amarujala.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
20374 views

News Entry# 461338  Blog Entry# 5035772   
  Past Edits
Aug 07 2021 (16:04)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 07 2021 (16:04)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 07 2021 (16:04)
Station Tag: Malhaur/ML added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 07 2021 (16:04)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964
गोंडा। पूर्वोत्तर रेलवे का ट्रैक डिपो अब गोंडा में पूरी तरह स्थानांतरित कर लिया गया है। गोरखपुर एनईआर जोन में गोरखपुर, गोंडा व मल्हौर में यह डपो था। पूर्वोत्तर रेलवे की लाइनों में फाल्ट आने या सामानों की आपूर्ति अलग-अलग डिपो से करना पड़ता था।विज्ञापनलेकिन अब मल्हौर का ट्रैक डिपो खत्म कर गोंडा में स्थानांतरित किया गया है। इसके लिए दस लाख रुपये से गोंडा के ट्रैक डिपो का विस्तार किया जा रहा है। इस डिपो में सामानों की लोडिंग व अन लोडिंग में अब किसी तरह की परेशानी नहीं होगी।पूर्वोत्तर रेलवे के प्रमुख मुख्य अभियंता एसके पांडे ने बातचीत के दौरान बताया कि गोंडा रेलवे डिपो पूर्वोत्तर रेलवे का एक सबसे महत्वपूर्ण डिपो है। वर्तमान समय को देखते हुए इस डिपो का जीर्णोद्धार करना जरूरी है। इसलिए गोंडा ट्रैक डिपो के लिए 10 लाख का बजट आवंटित कर दिया गया है।साथ ही कार्य की पूर्णता के लिए समय भी निर्धारित...
more...
कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि डिपो का महत्व इसलिए और बढ़ गया है कि पहले मीटर गेज और ब्रॉडगेज दोनों होते थे।जिससे यहाँ से करीब 90 किमी दूर मल्हौर रेलवे स्टेशन के पास रेलवे लाइनों के पास डिपो था। जहां पर भी इंजीनियर विभाग के ट्रैक डिपो का समान रहता था। उन्होंने बताया कि लेवल क्रॉसिंग और एक लाइन पूर्वोत्तर रेलवे का दूसरा उत्तर रेलवे के बीच डिपो होने के नाते उसे खत्म कर दिया गया है।इस डिपो को गोंडा डिपो में समायोजित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में गोंडा रेलवे ट्रैक डिपो के इंचार्ज का कार्य बेहतर है। जिससे इस डिपो का जो भी खामियां हैं उसे समय पर दूर कर लिया जाएगा।
आने वाले कुछ महीनों के बाद चारबाग रेलवे स्टेशन और लखनऊ जंक्शन किसी औद्योगिक घराने के नाम पर जाना जाएगा। दोनों स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास बनाने के लिए रिक्वेस्ट फॉर क्वालीफिकेशन के बाद सात कंपनियां मैदान में हैं। इनमें से अडाणी रेलवे ट्रांसपोर्ट लि. और जीएमआर के बीच टक्कर है।
जागरण संवाददाता, लखनऊ: आने वाले कुछ महीनों के बाद चारबाग रेलवे स्टेशन और लखनऊ जंक्शन किसी औद्योगिक घराने के नाम पर जाना जाएगा। इन दोनों स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास बनाने के लिए रिक्वेस्ट फॉर क्वालीफिकेशन के बाद सात कंपनियां मैदान में हैं। इनमें से अडाणी ग्रुप की अडाणी रेलवे ट्रांसपोर्ट लि. और दूसरी कंपनी जीएमआर के बीच कांटे की टक्कर है। चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के निजीकरण में भी इन दोनों
...
more...
कंपनियों के बीच ही कांटे की टक्कर थी। जिसमें अडाणी लखनऊ इंटरनेशनल एयरपोर्ट लि. को चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट की ऑपरेशनल छोड़कर सभी गतिविधियों का अधिकार 50 साल के लिए मिला था। अब चारबाग स्टेशन और लखनऊ जंक्शन को पीपीपी मॉडल पर वर्ल्ड क्लास बनाने को 556.8 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट के लिए भी इन दोनों कपंनियों के साथ कुल सात कंपनियों ने रूचि दिखायी है।
डाणी व जीएमआर के अलावा आइएसक्यू एशिया इंफ्रास्ट्रक्चर इनवेस्टमेंट लि., जीआर इंफ्रा प्रोजेक्ट लि., मेघा इंजीनियरिंग व इंफ्रास्ट्रक्चर लि., वेल्सपन इंटरप्राइजेज लि. और कल्पतरू पावर ट्रांसमिशन लि. ने भी अपनी रिक्वेस्ट फॉर क्वालीफिकेशन को रेल भूमि विकास प्राधिकरण (आरएलडीए) को सौंपा है। वर्ल्ड क्लास प्रोजेक्ट का ठेका लेने वाली कंपनी चारबाग में माल गोदाम, पुराने सेवायोजन कार्यालय के पास, सेवाग्राम और चारबाग से सटी अन्य रेलवे कालोनियों की खाली पड़ी 12.23 एकड़ जमीन को कॉमर्शियल व आवासीय प्रोजेक्ट के लिए लीज पर देगी। इससे होने वाली आय से चारबाग स्टेशन पर दो नए प्लेटफार्म, चारबाग रिजर्वेशन सेंटर से पार्सल घर तक अंडरग्राउंड रास्ता, भूमिगत पार्किंग, प्लेटफार्म एक से सात तक सब-वे, बजट होटल, एयर कॉनकोर्स, एस्केलेटर, शॉपिंग मॉल और मल्टीप्लेक्स जैसी सुविधाएं बढ़ाएगी। पहले चरण का काम तीन वर्ष में पूरा होगा। जिस पर 442.5 करोड़ रुपये जबकि उसके अगले दो वर्षों में 114.3 करोड़ रुपये खर्च होंगे। अब इस माह होने वाली आरएलडीए की बोर्ड बैठक में अडाणी सहित इन सात कंपनियों की रिक्वेस्ट फॉर क्वालीफिकेशन पर अंतिम निर्णय किया

Jul 13 (16:36) गोंडा यार्ड का सात अगस्त से नान इंटर लॉकिंग का कार्य शुरू होगा इसके बाद गोंडा मे होगे 9 प्लेटफार्म (www.google.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
16870 views

News Entry# 459042  Blog Entry# 5013206   
  Past Edits
Jul 13 2021 (16:36)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964
Stations:  Gonda Junction/GD  
गोंडा। गोंडा से बहराइच व बलरामपुर लाइन को ब्रॉॅडगेज में तब्दील कर दिया गया लेकिन लाइनों के आपस में लिंक न होने से लोगों को सीधी ट्रेन की सुविधा नहीं मिल पा रही है। अगस्त माह से गोंडा, बहराइच, बलरामपुर व श्रावस्ती के लोगों को सीधी ट्रेन सेवा का लाभ मिलेगा और यात्री अपने नजदीकी रेलवे स्टेशन पर बैठकर अपने दूर गंतव्य तक जा सकेंगे।विज्ञापनतीन साल से छोटी लाइन को बड़ी लाइन बनाने तथा बहराइच और बलरामपुर से आने जाने के लिए बने नए दो प्लेटफार्म बनने के बाद भी इन दोनों जिलों से ट्रेनों को गोंडा से आगे सीधे नहीं भेजा जा सकता है।अब लिंक को तैयार किया जा रहा है। इसी कार्य की प्रगति जानने के लिए शुक्रवार को गोरखपुर मुख्यालय से प्रमुख चीफ इंजीनियर एसके पांडेय के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम ने गोंडा यार्ड का सघन निरीक्षण किया। प्रमुख चीफ इंजीनियर ने निरीक्षण में कई खामियां मिलने...
more...
पर अधिकारियों की क्लास लगाई।अधिकारियों के मुताबिक सात अगस्त से नान इंटर लॉकिंग का कार्य शुरू हो जाएगा। इसके करीब 20 दिनों के बाद सब कुछ ठीक ठाक रहा तो अगस्त माह से बलरामपुर व बहराइच की ट्रेनों को गोंडा से रनथ्रू जाने का लिंक बन जायेगा। इसके बाद इन जिलों के लोग सीधे महानगरों की यात्रा का लाभ उठा सकेंगे।बताते चले कि वर्तमान में बहराइच व बलरामपुर से गोंडा से आगे जाने के लिए बीच के ही स्टेशन पर ट्रेनों को रोकना पड़ता है। जब ट्रैक बनाया जाता है तब जाकर ट्रेनों को गोंडा से आगे लखनऊ, गोरखपुर, कानपुर, ग्वालियर व अन्य महानगरों के लिए भेजा जाता है।यह स्थिति करीब तीन साल से है। 2018 में छोटी लाइन को बड़ी लाइन में परिवर्तित कर दिया गया था। मगर लिंक ना बनाए जाने के कारण बहराइच व बलरामपुर से गोंडा आने वाली ट्रेनों को रन थ्रू नहीं किया जा सका। गोरखपुर मुख्यालय से प्रमुख चीफ इंजीनियर एसके पांडे के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम ने शुक्रवार को गोंडा रेलवे यार्ड का निरीक्षण किया।एसके पांडे को निरीक्षण के दौरान सिग्नल विभाग की कई खामियां मिलीं जिसे शीघ्र दुरुस्त करने का निर्देश दिया गया। सीधी ट्रेन सेवा मिलने से दो जिलों तथा गोंडा केकरीब डेढ़ करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। इस संबंध में अधिशासी अभियंता (निर्माण) प्रकाश ने बताया कि अधिकारियों का दौरा यार्ड में नॉन इंटरलॉकिंग के कार्य के मद्देनजर हुआ है।उन्होंने बताया कि बहुत जल्द ही नान इंटरलॉकिंग कार्य शुरू हो जाएगा। साथ ही बलरामपुर व बहराइच से आने वाली ट्रेनों का लिंक अगस्त माह के शुरुआती सप्ताह तक बन जाने की संभावना है।
Feb 20 (00:58) गोंडा के एक करोड़ लोग जल्द पाएंगे सीधी ट्रेन सेवा की सौगात (www.amarujala.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
18934 views

News Entry# 440058  Blog Entry# 4882884   
  Past Edits
Feb 20 2021 (00:58)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964
Stations:  Gonda Junction/GD  
गोंडा। मंडल के तीन जिलों के एक करोड़ की आबादी को जल्द ही सीधे ट्रेन सेवा की सौगात 50 दिन में मिलेगी। बीते ढाई साल से छोटी लाइन से बड़ी लाइन बनने के कारण बहराइच व बलरामपुर की ट्रेनों को गोंडा से आने भेजने का लिंक नही था। अब लिंक तैयार हो रहा है, जो 50 दिन के भीतर पूरा हो जाएगा। विज्ञापन ...
more...
इसके बाद दोनो जिलों से आने वाली ट्रेन लखनऊ होते हुए दिल्ली और ग्वालियर के साथ ही महानगरों और गोरखपुर होते हुए बिहार तक सीधे जा सकेंगे। गोंडा में उन्हें अब लिंक मिल जाएगा। अब तक बहराइच और बलरामपुर से आने वाली ट्रेनों को गोंडा में रुकना पड़ता है। ढाई साल पहले बड़ी लाइन बनने के बाद यह स्थित बनी थी। इसके पहले साल वर्ष 2017 तक छोटी लाइन होने के कारण कोई दिक्कत नही थी, वह सीधे लखनऊ तक जाती थीं। बड़ी लाइन का निर्माण 2018 के बाद शुरू होने से छोटी लाइन को लिंक ही नही मिल पा रहा था। इससे बहराइच व बलरामपुर से आने वाली ट्रेनों को आगे भेजने की व्यवस्था नही बन पा रही थी। सीधे लिंक न मिलने से यात्रियों को दिक्कत का सामना करना पड़ता था। अब रेलवे दोनों जिलों की रेलवे लाइन को लिंक देने की परियोजना को आगे बढ़ाया है। रेलवे यार्ड के विकास में यह परियोजना सबसे महत्वपूर्ण है। इसके पूरा होने पर बहराइच व बलरामपुर से आने वाली ट्रेनों को सीधे लिंक मिल जाएगी और वह आगे बढ़ सकेंगी। मंडल रेल प्रबंधक डॉ मोनिका अग्निहोत्री ने परियोजनाओं के प्रगति की समीक्षा बुधवार को किया और साफ कहा कि आम जनता को सुविधा देने के लिए प्रयास हो रहे हैं, परियोजनाएं समय पूरे करने होंगे। डीआरएम ने बताया कि अगले 50 दिन के बाद गोंडा रेलवे यार्ड का सुंदरीकरण का कार्य पूरा हो जाएगा। जिससे जनपद बहराइच व बलरामपुर के तरफ से आने व जाने वाली ट्रेनों का संपर्क मार्ग सीधे महानगरों से जुड़ जाएगा। जिससे देवीपाटन मंडल वासियों के करीब एक करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। बुधवार को स्पेशल ट्रेन से लखनऊ डिवीजन के मंडल रेल प्रबंधक डॉ मोनिका अग्निहोत्री ने कई विभागों के प्रभारियों के साथ लखनऊ से गोंडा रेलवे स्टेशन के बीच विंडो ट्रेनिंग किया। रेलवे स्टेशन व यार्ड के विकास कार्य का निरीक्षण किया। स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक, दो, लोको शेड, आरओएच डिपो, रेलवे यार्ड, सेंट्रल पैनल, आरआरआई दफ्तर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान डीआरएम को कई जगह गंदगी व कबाड़ पाए जाने पर अधिकारियों को हिदायत दी। परियोजनाएं समय पर पूरा कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि रेलवे कार्य में शिथिलता व लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों को बख्शा नहीं जाएगा। रेलवे कॉलोनी में आवासित कर्मचारियों की शिकायत मिलने पर मंडल रेल प्रबंधक डॉ. मोनिका अग्निहोत्री ने रेलवे कालोनियों का भी निरीक्षण किया। डीआरएम रेलवे खैरा कॉलोनी में आवासों का निरीक्षण कर रही थीं। तभी आवासित कर्मचारियों ने बताया कि आवासों के परिसर में बने सेफ्टी टैंक चोक हो गए हैं। कालोनी की सड़कें भी जर्जर हालत में है। उन्होंने मौके पर ही एक टीम गठित करके एक सप्ताह के अंदर रेलवे कालोनियों के आवास संबंधी रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं।
Page#    10395 news entries  next>>

Go to Full Mobile site