Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Bookmark
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Thu Dec 13 21:25:07 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    350029 news entries  <<prev  next>>
  
Dec 07 (13:01) रेललाइन शुरू करने की मांग को लेकर बनाई गई मानव श्रृंखला, 4 हजार बच्चों ने लिया भाग (up.punjabkesari.in)
IR Affairs
ECR/East Central
0 Followers
3305 views

News Entry# 370966  Blog Entry# 4076597   
  Past Edits
Dec 07 2018 (13:02)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 07 2018 (13:02)
Station Tag: Jhanjharpur Junction/JJP added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 07 2018 (13:02)
Station Tag: Saraygarh/SRGR added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 07 2018 (13:02)
Station Tag: Nirmali/NMA added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 07 2018 (13:02)
Station Tag: Supaul/SOU added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
सुपौलः बिहार के सुपौल जिले में बड़ी रेललाइन शीघ्र शुरू करने की मांग को लेकर जिले के दर्जनों स्कूलों के चार हजार से अधिक बच्चों ने चार किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाई।जानकारी के अनुसार, बच्चों ने जिले के निर्मली नगर के मेन रोड स्थित भगत सिंह-सुभाष चौक, कोसी कॉलोनी, अस्पताल रोड, पुरानी सिनेमा रोड से होकर महात्मा गांधी चौक तक एक दूसरे का हाथ पकड़ कर मानव श्रृंखला बनाई। इसके चलते बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए कुछ घंटों के लिए यातायात पर रोक लगाई गई। इस दौरान पुलिस के कई अधिकारी जगह-जगह मॉनिटरिंग करते नजर आए।बता दें कि जिले में पिछले ढाई साल से रेल परिचालन ठप है। निर्मली-सरायगढ़, निर्मली-झंझारपुर व सुपौल-सहरसा रेलखंड पर परिचालन ठप होने के कारण क्षेत्र के लोग रेल सुविधा से वंचित हैं। इसे लेकर हाल ही के दिनों में व्यवसायियों ने भी भूख हड़ताल आंदोलन शुरू किया था। अब निजी स्कूल के बच्चे भी व्यवसायियों...
more...
के समर्थन में सड़क पर उतर आए हैं।

  
PM zara Seemanchal ke Railway par dhayan de
  
Today (13:20) Indian Railways finalise ten new routes to start operational run of Train-18 (urbantransportnews.com)
0 Followers
3182 views

News Entry# 371421  Blog Entry# 4099503   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
New Delhi (Urban Transport News): After issuing circular to Integral Coach Factory (ICF) Chennai for manufacturing more Train-18 series trains, the Indian Railways is finalizing the routes for starting the operation of India’s first engine-less semi high-speed Train-18 on the track. 
According to sources, the Indian Railways is considering the ten new proposed routes to start the operational run of the Train-18. In the recent Railway Board meeting chaired by Union Railway Minister Shri Piyush Goyal, the following new routes were discussed-
Route No. 1:  New Delhi – Bhopal Habibganj
New
...
more...
Delhi – Mathura – Agra Cantt. – Gwalior – Jhansi
Route No. 2: New Delhi – Varanasi
New Delhi – Ghaziabad – Moradabad – Bareilly – Sultanpur – Jaunpur City – Varanasi
Route No. 3:  New Delhi – Kalka
New Delhi – Ambala Cantt. – Chandigarh – Kalka
Route No. 4:  New Delhi – Dehradun
New Delhi – Ghaziabad – Meerut – Muzaffar Nagar – Deoband – Saharanpur – Dehradun
Route No. 5:  New Delhi – Mumbai
New Delhi – Mathura – Bharatpur – Sawai Madhopur – Kota – Ratlam –  Vadodara – Surat – Mumbai
Route No. 6: New Delhi – Moradabad
New Delhi – Ghaziabad – Hapur – Garhmukteshwar – Gajraula – Amroha – Moradabad
Route No. 7: New Delhi – Prayagraj
New Delhi – Ghaziabad – Aligarh – Tundla – Etawah – Kanpur – Prayagraj
Route No. 8: New Delhi – Amritsar
New Delhi – Ambala Cantt. – Ludhiana – Jalandhar City – Beas – Amritsar 
Route No. 9: New Delhi – Howrah
New Delhi – Ghaziabad – Kanpur Central – Prayagraj – Pt. Deen Dayal Upadhyaya – Gaya – Dhanbad – Asansol – Howrah
Route No. 10: New Delhi – Jhansi
Hazarat Nizamuddin – Mathura – Agra Cantt. – Gwalior – Jhansi
The first route of Train-18 will be New Delhi – Bhopal (Habibganj). The first train will likely to inaugurate on December 25 to mark the birthday of former Prime Minister Late Shri Atal Bihari Vajpayee. 
In response to recent Railway circular General Manager ICF Chennai Sudhanshu Mani said that the ICF will develop two new Train-18 series trains in next year by March 2019. Thus the two new routes will likely to open after April 2019. The Indian Railways has set a deadline to open all routes by the end of 2020.
“We expect Train 18 to commence its commercial run from January 2019. Normally, the trials take three months, but now it is happening faster than expected,” Sudhanshu Mani, GM ICF Chennai said while responding on the question related to starting of operation of Train 18. 
“Christmas Day also happens to be the birthday of late Prime Minister Atal Bihari Vajpayee and it would be a tribute to the great statesman if we manage to launch the next-generation train on that day,” a senior railway official told IANS recently.

13 Public Posts - Today


  
Don't worry vsk BSB jald hi introduce honewali hai

  
ye konsa logic h ki chennai me bnn re tou chennai ko milni chahie? ek tejas chennai me bann ke wahi se chl ri iska mtlb ye nhi ki sb chennai ka south ko mile. yaha bhi rai bareili coach factory se coaches south jate hain, tb tou koi north wala nhi bolta aise? why are you getting so attached buddy? point is ki ye sb routes revenue generating and proven routes hain patronage ke. south ki tou tejas ka hi patronage pe south wale question kr re.

  
revenue generatting hai tho T-18 nr regions par hi introduce karne ye kya hai ji, Adhe ke adhe revenue nr,ncr se to general sittings,sleeper classes through hoti hai comparing with AC class (yeh keh raha ho kyo ki T-18 fully Ac Coach hai) Tik hai apke hi bat me a raha ho Rae bareilly coach factory toh abhi abhi 2 to 3 yrs before hi start hua magar ICF madras to bahut saal se hai he ji, and finally we are getting attached due to the neglecting of southern states and giving importance to northern sectors in railways, T-18 tho NDLS-Varanasi,NDLS-Mumbai to sahi hai magar iske alava list me mention kiye jaane ka routes me to T-18 chala na tick nahi hoga, Souther sector me Chennai-Bangalore,Hyderabad-Mumbai,Mumbai-Chennai etc. bhi revenue collections he.Tejas tho abhi abhi shuru karne wale hai , by the by Tejas aur T-18 ka compare ka koyi kaam nahi hai ji

  
apse kisne kaha ki nr ncr me general revenue jyada h compared to ac? india ki sbse jyada revenue wali shatabdi and rajdhani nr ki hi h.
maluum ho ki nr ki shatabdi me dynamic pricing hit hui h 😝
  
Today (18:19) जिन रुटों की गाड़ियों में महीने में 22 दिन वेटिंग, वहां नई ट्रेन चलाने की तैयारी (www.bhaskar.com)
New/Special Trains
SECR/South East Central
0 Followers
843 views

News Entry# 371448  Blog Entry# 4100709   
  Past Edits
Dec 13 2018 (18:20)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Saurabh®~/1294142
Stations:  Raipur Junction/R  
रायपुर। राजधानी से गुजरने वाली जिन ट्रेनों में महीने में 22 दिन वेटिंग, वहां नई ट्रेन चलाने के लिए सर्वे शुरू हो गया है। रेलवे बोर्ड की टीम ने ऐसी सभी ट्रेनों की सूची तैयार कर ली है, जिनमें इमरजेंसी में कभी कंफर्म बर्थ नहीं मिल रही है। इन गाड़ियों का रिजर्वेशन चार्ट का अध्ययन करने के साथ ये रिपोर्ट भी तैयार की जा रही है ऐसे रुटों में कितनी ट्रेनें चल रही हैं। सर्वे रिपोर्ट के आधार पर नई ट्रेनें चलाने का फैसला किया जाएगा।
रेलवे अफसरों के अनुसार दो-तीन साल से कुछ रास्तों पर नई ट्रेनें चलाने की मांग की जा रही है। लगातार दबाव पड़ने के बाद ही रेलवे बोर्ड ने सर्वे की प्रक्रिया शुरू की है। प्रारंभिक
...
more...
चरण के सर्वे में दुर्ग से भोपाल के बीच नई ट्रेन की जरूरत महसूस की जा रही है। नई ट्रेन को अमरकंटक एक्सप्रेस की तर्ज पर चलाया जाएगा। सर्वे रिपोर्ट में पता चला है कि इस ट्रेन में सालभर कंफर्म सीट के लिए मारामारी मची रहती है। नई ट्रेन शुरू होने से यात्रियों को राहत मिलेगी। इसके अलावा पटना, हैदराबाद, जयपुर और हटिया रूट पर भी ट्रेन चलाने के लिए सर्वे किया जा रहा है। रेलवे बोर्ड ने इसके अलावा भी कई रूट पर सर्वे किया जा रहा है। कुछ रूटों पर हमसफर एक्सप्रेस भी चलाने का प्लान है।
दायरा भी बढ़ाया जा रहा
पुरी से इंदौर के बीच एक साप्ताहिक हमसफर चल रही है, लेकिन इसका किराया अधिक है। सामान्य यात्रियों के लिए भोपाल से आगे इंदौर तक ट्रेन का विस्तार किया जाएगा। रेलवे अफसरों के मुताबिक भोपाल से दुर्ग-रायपुर सहित इस रूट की ट्रेनों में स्लीपर श्रेणी में अक्सर 75 से ज्यादा और एसी-3 में 30 से अधिक की वेटिंग बनी रहती है। यही हाल सिकंदराबाद व हैदराबाद एवं पुणे-संतरागाछी रूट की ट्रेनों में है। इन्हीं हालात को देखते हुए रेलवे प्रशासन की योजना है कि इनमें से एक-दो स्थानों के लिए त्योहारों के मौसम के पहले हर दिन चलने वाली ट्रेन शुरू कर दी जाए। इसी तरह दिल्ली, इलाहाबाद, पटना, मुंबई और हावड़ा जैसे शहरों के लिए जरूरत के मुताबिक क्लोन ट्रेनें चला दी जाएं, जिससे यहां से गुजरने वाली ट्रेनों पर यात्रियों की निर्भरता खत्म हो सके।
तीन जगह टूटा ओएचई, रायपुर-बिलासपुर रूट पर ट्रेनें पांच घंटे फंसी
रायपुर से बिलासपुर व उसलापुर के बीच तीन अलग-अलग स्थानों पर इंजन के पेंटो में फंसकर ओएचई तार टूटने से रेल यातायात पांच घंटे तक प्रभावित रहा। सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे दगोरी स्टेशन के पास भी ओएचई वायर टूटा था। टूटे हुए ओएचई वायर की मरम्मत करने में देरी होने से रायपुर और भाटापारा स्टेशन की कई ट्रेनों को रोक दिया गया था।
इस वजह से नागपुर-बिलासपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस को रायपुर स्टेशन पर दो घंटे रोककर रखा गया। इसके अलावा पुणे-हावड़ा आजाद हिंद एक्सप्रेस को भाटापारा में रोका गया। इसके अलावा कई अन्य ट्रेनें भी सहूलियत के अनुसार अलग-अलग स्टेशनों में रोकी गई। बुधवार को आधे घंटे के अंतराल में बिलासपुर और दगोरी रेलवे स्टेशन के बीच तीन स्थानों पर ओएचई तार टूटा था। एक साथ ओएचई टूटने से डाउन लाइन पर ट्रेनें अस्त-व्यस्त हो गईं। रेलवे अफसरों के अनुसार इंजन के पेंटों में फंसकर तीन खंभों के कैंटीलीवर टूटकर लटक गए थे। हालांकि एक साथ ओएचई में इतनी बड़ी गड़बड़ी से रेलवे प्रशासन बेचैन हो गया था।
ये ट्रेनें प्रभावित रहीं
बिलासपुर और दगोरी रेलवे स्टेशन के आसपास ओएचई तार टूटने से रायपुर और कटनी मार्ग से बिलासपुर आने वाली ट्रेनें अलग-अलग स्टेशनों में रोककर रखीं गईं। ओएचई के वजह से छत्तीसगढ़ संपर्कक्रांति एक्सप्रेस, राजधानी एक्सप्रेस, बीकानेर- बिलासपुर एक्सप्रेस, अमृतसर-बिलासपुर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस, इंटरसिटी एक्सप्रेस, पुणे-हावड़ा आजाद हिंद एक्सप्रेस, ज्ञानेश्वरी सुपर डीलक्स और निजामुद्दीन-रायगढ़ गोंडवाना एक्सप्रेस को रायपुर डिवीजन के अलग-अलग स्टेशनों में रोककर रखा गया। कटनी रूट पर भी दो-तीन ट्रेनें रुकी रहीं।
छत्तीसगढ़-समता पर घटेगा दबाव : रायपुर होकर भोपाल के रास्ते आगे जाने वाली छत्तीसगढ़ व समता एक्सप्रेस में भी अक्सर लंबी वेटिंग बनी रहती है। स्लीपर श्रेणी में 100 के आसपास व एसी-3 श्रेणी में 40 या उससे अधिक की वेटिंग इन ट्रेनों में रहती है। आखिर में यात्री अमरकंटक एक्सप्रेस को विकल्प के तौर पर उपयोग करते हैं, लेकिन उसमें भी वेटिंग मिलती है। इसलिए यात्रियों के हित में अमरकंटक के दो से तीन घंटे बाद और छत्तीसगढ़-समता एक्सप्रेस के पहले अमरकंटक एक्सप्रेस की तरह ही एक और ट्रेन चलाने की योजना पर भी विचार किया जा रहा है।
  
Today (18:18) पावर हाउस स्टेशन पर छग एक्सप्रेस का इंजन हुआ फेल, 1 घंटे बाद रवाना (www.bhaskar.com)
Major Accidents/Disruptions
SECR/South East Central
0 Followers
840 views

News Entry# 371447  Blog Entry# 4100703   
  Past Edits
Dec 13 2018 (18:19)
Station Tag: Bhilai Power House/BPHB added by Saurabh®~/1294142

Dec 13 2018 (18:19)
Train Tag: Chhattisgarh Express/18238 added by Saurabh®~/1294142
छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस के भिलाई पावर हाउस स्टेशन पहुंचते ही बुधवार सुबह उसका इंजन फेल हो गया। लोको पायलट की तमाम कोशिशों के बाद भी इंजन चालू ही नहीं हुआ। इसके बाद तत्काल दुर्ग से दूसरा इंजन बुलाकर ट्रेन को आगे रवाना किया गया। इसके चलते छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस डेढ़ घंटे तक स्टेशन पर खड़ी रही। बुधवार सुबह करीब 9 बजकर 20 मिनट पर 18238 अमृतसर-बिलासपुर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस पावर हाउस स्टेशन पहुंची। यहां पहुंचते ही ट्रेन का इंजन खराब हो गया। काफी देर तक लोको पायलट ने इंजन शुरू करने का प्रयास किया। तकनीकी खराबी के कारण इंजन चालू ही नहीं हो सका। इसके बाद दुर्ग से तत्काल दूसरा इंजन बुलाया गया। दूसरा इंजन लगने के बाद करीब 10 बजकर 42 मिनट पर ट्रेन बिलासपुर के लिए रवाना की गई। इससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।
  
East Central Railway
●ट्रेनों के समय-पालन में और सुधार एवं क्षमता वृद्धि हेतु किया गया एक और अभिनव उपाय● ●फ्रेट कॉन्वॉय के माध्यम से किया जा रहा अधिक माल गाड़ियों का परिचालन●
भारतीय रेल द्वारा मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के समय-पालन में सुधार एवं अतिरिक्त परिचालन क्षमता बनाकर अधिक से अधिक मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के परिचालन के लिए कतारबद्ध माल गाड़ियों का परिचालन(Running Freight Trains in convoy) करने के अभिनव उपाय को क्रियान्वित किया जा रहा है। इस प्रकार काफिले(Convoy) में परिचालन में किसी पूर्व निर्धारित अवधि के दौरान एक के पीछे एक कतारबद्ध मालगाड़ियां
...
more...
गुजारी जाती हैं। इस पद्धति से परिचालन का बड़ा लाभ यह होता है कि माल गाड़ियों की औसत गति अधिक होती है तथा एक निश्चित अवधि में अपेक्षाकृत अधिक संख्या में माल गाड़ियों का परिचालन हो जाता है। परिणामस्वरूप मेल एक्सप्रेस ट्रेनों के समय पालन में भी सुधार होता है। साथ ही साथ ट्रेन चलाने के लिए आवश्यक मार्ग, लोकोमोटिव, कोच व वैगन तथा क्रू जैसे संसाधनों का अधिकतम उपयोग सुनिश्चित होता है।
12 दिसंबर 2018 को पूर्व मध्य रेल और उत्तर मध्य रेल के बीच कतारबद्ध माल गाड़ियों का परिचालन कर डाउन दिशा में 44 तथा अप दिशा में 41 माल गाड़ियां चलाई (Interchange) गयीं जबकि दिसंबर,2018 में अब तक सामान्य दिनों (Non Convoy Days) में डाउन दिशा में औसतन 37.4 तथा अप दिशा में औसतन 36.7 माल गाड़ियां चलाई गयी हैं।
भारतीय रेल द्वारा ट्रेनों के समय-पालन में सुधार के लिए निरंतर कदम उठाए जा रहे हैं। अवसंरचना विकास एवं उन्नयन जैसे नई लाइन, विद्युतीकरण एवं ट्रैक नवीनीकरण आदि पर तेजी से काम किया जा रहा है। कोहरे के दौरान पूर्व की अपेक्षा तेज एवं सुचारू रेल परिचालन के लिए नई तकनीकों जैसे ट्रेनों में फॉग सेफ डिवाइस का उपयोग किया जा रहा है। पूर्व मध्य रेल में अप्रैल,2018 में मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों का समय-पालन जहां 48.4% था वह उल्लेखनीय वृद्धि के साथ अक्टूबर,2018 में 71.5% हो गया।
Page#    350029 news entries  <<prev  next>>

Go to Full Mobile site