Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

এক রাজ্য, দুই রাণী।নাম তাদের, শালিমার ও আলিপুরদুয়ার রাজ্যরানী - Dip

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Aug 24 08:51:31 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Stream
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    367308 news entries  next>>
  
Today (08:32) डीआरएम ने कहा संत हिरदाराम नगर स्टेशन का पूर्ण विकास करेंगे (naidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
68 views

News Entry# 389366  Blog Entry# 4409205   
  Past Edits
Aug 24 2019 (08:32)
Station Tag: Sant Hirdaram Nagar/SHRN added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Sant Hirdaram Nagar/SHRN  
- गणमान्य नागरिकों से कहा आप जनप्रतिनिधियों के मार्फत मांगें रखेंगे तो जल्दी काम होगासंत हिरदाराम नगर। नवदुनिया प्रतिनिधिबैरागढ़ के फाटक रोड के पास रेलवे की खाली पड़ी जमीन पर शुक्रवार को डीआरएम उदय बोरवानकर ने पौधारोपण किया। इस मौके पर उनसे मिलने पहुंचे गणमान्य नागरिकों से डीआरएम ने कहा कि संत हिरदाराम नगर स्टेशन का पूर्ण विकास किया जाएगा।फाटक रोड पर पिछले साल रेल वाटिका विकसित की गई थी। सिंधी मेला समिति के अध्यक्ष भगवानदास सबनानी के नेतृत्व में यहां बड़ी संख्या में पौधे रौपे गए थे। इसी वाटिका में डीआरएम ने पौधे लगाए। सिंधी सेंट्रल पंचायत के एक शिष्टमंडल ने उनसे मुलाकात कर स्टेशन के समुचित विकास की मांग की। साथ ही यहां से गुजरने वाली यात्री ट्रेनों का स्टापेज करने का आग्रह भी किया। पंचायत के उपाध्यक्ष वासुदेव वाधवानी ने बताया कि श्री बोरवानकर ने नागरिकों की सजगता की सराहना करते हुए कहा कि रेलवे की मांगों...
more...
को लेकर बैरागढ़ के संगठन और संस्थाएं काफी सक्रिय हैं यह अच्छी बात है लेकिन यदि आप जनप्रतिनिधियों की अगुवाई में मांग पत्र तैयार करें तो त्वरित कार्रवाई हो सकती है।विकास के लिए जमीन की कमी नहींश्री वाधवानी के अनुसार डीआरएम ने कहा कि संत हिरदाराम नगर स्टेशन के विकास के लिए रेलवे के पास जमीन की कमी नहीं है। यहां भविष्य में तीसरा प्लेटफार्म बनाया जाना है। रेलवे के पास स्टेशन के निकट ही करीब 200 एकड़ जमीन है। उल्लेखनीय है कि बैरागढ़वासी लंबे समय से स्टेशन को शहरी रूप देने, अंडर ब्रिज बनाने एवं यहां से गुजरने वाली ट्रेनों के स्टापेज की मांग कर रहे हैं। सांसद प्रज्ञासिंह ठाकुर ने चुनाव के समय रेल समस्याएं हल कराने का वायदा किया था लेकिन चुनाव के बाद वे एक भी यहां नहीं आई हैं। अब डीआरएम को यह कहना पड़ा है कि आप जनप्रतिनिधियों के मार्फत मांग रखें।#zeythYb lu fUnt mk;
- गणमान्य नागरिकों से कहा आप जनप्रतिनिधियों के मार्फत मांगें रखेंगे तो जल्दी काम होगा
संत हिरदाराम नगर। नवदुनिया प्रतिनिधि
बैरागढ़ के फाटक रोड के पास रेलवे की खाली पड़ी जमीन पर शुक्रवार को डीआरएम उदय बोरवानकर ने पौधारोपण किया। इस मौके पर उनसे मिलने पहुंचे गणमान्य नागरिकों से डीआरएम ने कहा कि संत हिरदाराम नगर स्टेशन का पूर्ण विकास किया जाएगा।
फाटक रोड पर पिछले साल रेल वाटिका विकसित की गई थी। सिंधी मेला समिति के अध्यक्ष भगवानदास सबनानी के नेतृत्व में यहां बड़ी संख्या में पौधे रौपे गए थे। इसी वाटिका में डीआरएम ने पौधे लगाए। सिंधी सेंट्रल पंचायत के एक शिष्टमंडल ने उनसे मुलाकात कर स्टेशन के समुचित विकास की मांग की। साथ ही यहां से गुजरने वाली यात्री ट्रेनों का स्टापेज करने का आग्रह भी किया। पंचायत के उपाध्यक्ष वासुदेव वाधवानी ने बताया कि श्री बोरवानकर ने नागरिकों की सजगता की सराहना करते हुए कहा कि रेलवे की मांगों को लेकर बैरागढ़ के संगठन और संस्थाएं काफी सक्रिय हैं यह अच्छी बात है लेकिन यदि आप जनप्रतिनिधियों की अगुवाई में मांग पत्र तैयार करें तो त्वरित कार्रवाई हो सकती है।
विकास के लिए जमीन की कमी नहीं
श्री वाधवानी के अनुसार डीआरएम ने कहा कि संत हिरदाराम नगर स्टेशन के विकास के लिए रेलवे के पास जमीन की कमी नहीं है। यहां भविष्य में तीसरा प्लेटफार्म बनाया जाना है। रेलवे के पास स्टेशन के निकट ही करीब 200 एकड़ जमीन है। उल्लेखनीय है कि बैरागढ़वासी लंबे समय से स्टेशन को शहरी रूप देने, अंडर ब्रिज बनाने एवं यहां से गुजरने वाली ट्रेनों के स्टापेज की मांग कर रहे हैं। सांसद प्रज्ञासिंह ठाकुर ने चुनाव के समय रेल समस्याएं हल कराने का वायदा किया था लेकिन चुनाव के बाद वे एक भी यहां नहीं आई हैं। अब डीआरएम को यह कहना पड़ा है कि आप जनप्रतिनिधियों के मार्फत मांग रखें।
  
जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जबलपुर रेलवे स्टेशन के यार्ड रिमॉडलिंग के काम का शुक्रवार को अंतिम दिन है। जबलपुर रेल मंडल आज इस काम के लिए 6 घंटों तक ट्रेनों की आवाजाही रोककर यार्ड रिमॉडलिंग को अंतिम रूप देगा। हालांकि इस वजह से आज जबलपुर स्टेशन से रवाना होने वाली महाकोशल, गोंडवाना, दयोदय, चित्रकूट जैसे कई ट्रेनें देरी से रवाना होंगी।जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को स्टेशन पर सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक मेगा ब्लॉक लिया जाएगा। इस वजह से जबलपुर स्टेशन के सभी 6 प्लेटफार्मों पर ट्रेनों की आवाजाही बंद रहेगी। इस दौरान न कोई यात्री स्टेशन पर आ पाएगा। आज स्टेशन पर सिग्नल एवं दूरसंचार विभाग द्वारा सिग्नलिंग के काम बड़े स्तर पर होगा। नान इंटरलाकिंग का काम पूरा होने के बाद 24 अगस्त से मुख्य रेलवे स्टेशन पर ब्लॉक का काम नहीं होगा। स्टेशन में सभी ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो जाएगी।इटारसी से भोपाल, कटनी रूट से...
more...
जाएंगी यह ट्रेनेंशुक्रवार को होने जा रहे मेगा ब्लॉक के दौरान कई ट्रेनों के समय, रूट में बदलाव किया गया है। रेलवे के मुताबिक जबलपुर से गुजरने वाली ट्रेन 12167 कुर्ला-मडुआडीह, ट्रेन 15119 रामेश्वरम-मडुआडीह, ट्रेन 12149 कुर्ला-दानापुर एक्सप्रेस को इटारसी से भोपाल, बीना सागर होकर कटनी से सतना रूट से निकाला जाएगा। रेलवे ने ट्रेन 12150 दानापुर-पुणे, ट्रेन 11062 दरभंगा-कुर्ला पवन एक्सप्रेस, ट्रेन 12168 मडुआडीह-कुर्ला सुपरफास्ट ट्रेन को कटनी से दमोह, सागर, बीना, भोपाल, इटारसी रेल रूट से रवाना किया जाएगा।जबलपुर स्टेशन से यह ट्रेनें होंगी लेट रवानाट्रेन 12189 जबलपुर-निजामुद्दीन महाकोशल एक्सप्रेस को आज अपने निर्धारित समय शाम 6.10 बजे से डेढ़ घंटे लेट रवाना किया जाएगा। वहीं ट्रेन 22181 गोंडवाना एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय दोपहर 3 बजे की जगह शाम 6 बजे रवाना होगी। दयोदय एक्सप्रेस एवं चित्रकूट एक्सप्रेस भी अपने निर्धारित समय से आधे-आधे घंटे विलंब से रवाना होगी। इसी तरह ट्रेन 12322 मुंबई मेल एवं ट्रेन 12141 सुपर फ़ास्ट ट्रेन के भी 3 घंटे देरी से जबलपुर स्टेशन आएंगी।यह भी किया बदलाव- ट्रेन 11448 हावड़ा-जबलपुर शक्तिपुंज को कटनी से जबलपुर के बीच तीन घंटे।- ट्रेन 13201 जनता एक्सप्रेस को मानिकपुर से जबलपुर के बीच 2.30 घंटे।- ट्रेन 20904 बनारस-बड़ोदा एक्सप्रेस को मानिकपुर से जबलपुर के बीच 1.40 घंटे।- ट्रेन 12321 हावड़ा-मुंबई मेल को 30 मिनट विलंब से चलाकर जबलपुर स्टेशन पर प्रवेश दिया जाएगा।Janmashtami 2019 : उज्‍जैन के गोपाल मंदिर में 110 साल पुरानी परंपरा, कृष्ण जन्म के बाद पांच दिन तक नहीं होती शयन आरतीWeather Update : पश्चिम मध्‍यप्रदेश सहित इन राज्‍यों में भारी बारिश की आशंका, शुक्रवार को ऐसा रहेगा देश भर में मौसम का हाल#Jabalpur News#Indian Railway#Train At A Glance#Jabalpur News In Hindi#Latest Jabalpur News#MP News#जबलपुर न्यूज
जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जबलपुर रेलवे स्टेशन के यार्ड रिमॉडलिंग के काम का शुक्रवार को अंतिम दिन है। जबलपुर रेल मंडल आज इस काम के लिए 6 घंटों तक ट्रेनों की आवाजाही रोककर यार्ड रिमॉडलिंग को अंतिम रूप देगा। हालांकि इस वजह से आज जबलपुर स्टेशन से रवाना होने वाली महाकोशल, गोंडवाना, दयोदय, चित्रकूट जैसे कई ट्रेनें देरी से रवाना होंगी।
जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को स्टेशन पर सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक मेगा ब्लॉक लिया जाएगा। इस वजह से जबलपुर स्टेशन के सभी 6 प्लेटफार्मों पर ट्रेनों की आवाजाही बंद रहेगी। इस दौरान न कोई यात्री स्टेशन पर आ पाएगा। आज स्टेशन पर सिग्नल एवं दूरसंचार विभाग द्वारा सिग्नलिंग के काम बड़े स्तर पर होगा। नान इंटरलाकिंग का काम पूरा होने के बाद 24 अगस्त से मुख्य रेलवे स्टेशन पर ब्लॉक का काम नहीं होगा। स्टेशन में सभी ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो जाएगी।
इटारसी से भोपाल, कटनी रूट से जाएंगी यह ट्रेनें
शुक्रवार को होने जा रहे मेगा ब्लॉक के दौरान कई ट्रेनों के समय, रूट में बदलाव किया गया है। रेलवे के मुताबिक जबलपुर से गुजरने वाली ट्रेन 12167 कुर्ला-मडुआडीह, ट्रेन 15119 रामेश्वरम-मडुआडीह, ट्रेन 12149 कुर्ला-दानापुर एक्सप्रेस को इटारसी से भोपाल, बीना सागर होकर कटनी से सतना रूट से निकाला जाएगा। रेलवे ने ट्रेन 12150 दानापुर-पुणे, ट्रेन 11062 दरभंगा-कुर्ला पवन एक्सप्रेस, ट्रेन 12168 मडुआडीह-कुर्ला सुपरफास्ट ट्रेन को कटनी से दमोह, सागर, बीना, भोपाल, इटारसी रेल रूट से रवाना किया जाएगा।
जबलपुर स्टेशन से यह ट्रेनें होंगी लेट रवाना
ट्रेन 12189 जबलपुर-निजामुद्दीन महाकोशल एक्सप्रेस को आज अपने निर्धारित समय शाम 6.10 बजे से डेढ़ घंटे लेट रवाना किया जाएगा। वहीं ट्रेन 22181 गोंडवाना एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय दोपहर 3 बजे की जगह शाम 6 बजे रवाना होगी। दयोदय एक्सप्रेस एवं चित्रकूट एक्सप्रेस भी अपने निर्धारित समय से आधे-आधे घंटे विलंब से रवाना होगी। इसी तरह ट्रेन 12322 मुंबई मेल एवं ट्रेन 12141 सुपर फ़ास्ट ट्रेन के भी 3 घंटे देरी से जबलपुर स्टेशन आएंगी।
यह भी किया बदलाव
- ट्रेन 11448 हावड़ा-जबलपुर शक्तिपुंज को कटनी से जबलपुर के बीच तीन घंटे।
- ट्रेन 13201 जनता एक्सप्रेस को मानिकपुर से जबलपुर के बीच 2.30 घंटे।
- ट्रेन 20904 बनारस-बड़ोदा एक्सप्रेस को मानिकपुर से जबलपुर के बीच 1.40 घंटे।
- ट्रेन 12321 हावड़ा-मुंबई मेल को 30 मिनट विलंब से चलाकर जबलपुर स्टेशन पर प्रवेश दिया जाएगा।
  
Today (08:28) 5 घंटे ट्रेनों को रोका 14 घंटे खुद काम किया, तब जाकर 4 दिन पहले काम खत्म (naidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
88 views

News Entry# 389364  Blog Entry# 4409203   
  Past Edits
Aug 24 2019 (08:28)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Jabalpur Junction/JBP  
जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
जबलपुर रेलवे स्टेशन का यार्ड रिमॉडलिंग का काम खत्म हो गया। शुक्रवार रात 8 बजे जबलपुर रेल मंडल के ऑपरेटिंग, इंजीनियरिंग, सिग्नल एंड कम्यूनिकेशन, मैकेनिकल, रेल विद्युत विभाग ने काम खत्म कर दिया और ट्रेन का संचालन करने वाले आरआरआई (रूट रिले इंटरलॉकिंग) विभाग को अनापत्ति प्रमाण पत्र दे दिया। दरअसल इस काम में 400 से ज्यादा कर्मचारी और 50 से ज्यादा अधिकारी लगे थे, जिन्होंने 24 घंटे में सिर्फ 5 घंटे ट्रेनों की आवाजाही रोकी और खुद 12 से 14 घंटे काम किया।
इस वजह से यार्ड रिमॉडलिंग का
...
more...
काम 27 अगस्त की बजाए 24 अगस्त को ही पूरा हो गया। दरअसल 28 जुलाई को स्टेशन यार्ड रिमॉडलिंग का काम शुरू हुआ, जिसे 28 अगस्त तक खत्म करना था, लेकिन यह समय से पहले हो गया।
सुबह 11 से रात 8 बजे तक चला तेज रफ्तार काम
यार्ड रिमॉडलिंग के आखिरी दिन सुबह 11 बजे से जबलपुर स्टेशन से ट्रेनों की आवाजाही को पूरी तरह से रोक दिया गया। इसके बाद इंजीनियरिंग, सिग्नल और आरई विभाग ने काम शुरू किया। मुख्य काम आरआरआई के नए पैनल से नियंत्रित होने वाले सिग्नल और पॉइंट की टेस्टिंग करना था। सिग्नल विभाग की टीम ने समय की गंभीरता को देखते हुए सुबह 8 बजे से ही टेस्टिंग शुरू कर दी। इधर इंजीनियरिंग विभाग की टीम ट्रैक पर बने शेष काम पूरा करने में जुट गई। वहीं ऑपरेटिंग विभाग कटनी से इटारसी के बीच रेलवे ट्रेनों पर नजर रखी रहा था। ब्लॉक शाम 6 बजे तक का था, लेकिन सिग्नल टेस्टिंग शेष रह गया था इस वजह से ब्लॉक का समय रात 8 बजे तक कर दिया।
यात्रियों को मिलेंगे 3 बड़े फायदे
पहले - अभी खाली प्लेटफार्म होने पर भी ट्रेन आउटर पर खड़ी रहती थीं।
फायदा- ट्रेनों को 1 से 6 तक सभी प्लेटफार्म पर एक समय पर लिया जा सकेगा, जिससे ट्रेन में सवार यात्रियों को परेशानी नहीं होगी। कई बार एक से तीन घंटे तक ट्रेन आउटर पर ही खड़ी रहती थीं।
..
पहले - इटारसी-कटनी छोर पर दो ट्रैक थे, जिससे दिक्कत आती थी
अब- दोनों छोर से स्टेशन तक आने और स्टेशन से दोनों ओर जाने वाली ट्रेनों के लिए ट्रैक की संख्या बढ़ा दी गई है, जिससे ट्रेनों का परिचालन सुगम हो गया है।
-
पहले - ट्रेनों के सिग्नल और पॉइंट को ऑपरेट करने के लिए एक आरआरआई था
अब- अब जबलपुर स्टेशन पर नया आरआरआई बनाकर उससे ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया है। पुराना आरआरआई वैकल्पिक रखा गया है, ताकि इटारसी जैसी घटना के दौरान ट्रेनों का ऑपरेशन न रुके।
...
इसलिए 4 दिन पहले हुआ काम
यह थी चुनौती- यार्ड रिमॉडलिंग का काम आसान नहीं था। यार्ड पर सिर्फ ट्रेनों को रोककर काम नहीं किया जाना था, बल्कि कम से कम ट्रेनों को रोकना था। दूसरी ओर कुछ ट्रेनों को स्टेशन से निकलना था। अधारताल और मदनमहल से रवाना होने वाली ट्रेनों के कोचों का मेंटेनेंस इसके अलावा लगातार हो रही भारी बारिश चुनौती थी।
ऐसे किया काम- जबलपुर से निकालने वाली महज 30 फीसदी ट्रेनों के रूट बदले गए। बाकी ट्रेनों को रोक-रोक कर निकाला गया। जबलपुर से रवाना होने वाली ट्रेनों को अधारताल- मदनमहल स्टेशन से निकाला गया। इतना ही नहीं कोच का मेंटेनेंस करने अधारताल, कछपुरा, श्रीधाम से लेकर रीवा और सोमनाथ तक मैकेनिकल विभाग के कर्मचारियों ने कोच साफ किए।
हर विभाग का बेहतर तालमेल
ऑपरेटिंग विभाग- ट्रेनों को संचालन संभाला, ब्लॉक दिया, ट्रेनों के समय पर नजर रखी
इंजीनियरिंग विभाग- स्टेशन के ट्रैक, पॉइंट और पैनल को शिफ्ट किया गया
कमर्शियल विभाग- टिकट से लेकर पानी, बैठने समेत पैसेंजर सुविधाओं का जिम्मा संभाला
सिग्नल विभाग- सबसे महत्वपूर्ण सिग्नल, पॉइंट को शिफ्ट किया और चेक किया
मैकेनिकल विभाग- ट्रेनों के कोचों का समय पर मेंटेनेंस कर ट्रेनों को रवाना किया
आरई विभाग- रेलवे ट्रैक से गुजरने वाली विद्युत लाइन को ट्रैक के मुताबिक सेट किया
........
हमने तय समय से चार दिन पहले काम खत्म कर दिया। शुक्रवार को रात 8 बजे के बाद ट्रेनों की बहाली कर दी गई। रेलवे के हर अधिकारी-कर्मचारी ने बेहतर समन्वय से अपनी जिम्मेदारी निभाई। रद्द ट्रेनों को 24 अगस्त से बहाल करना शुरू कर दिया जाएगा।
-डॉ.मनोज गुप्ता, डीआरएम, जबलपुर रेल मंडल
यार्ड रिमॉडलिंग में इन्होंने की मेहनत
- डीआरएम मनोज गुप्ता बारिश में भी ट्रैक पर काम करने वालों के साथ खड़े रहे।
- मैकनिकल विभाग- मणिभूषण सिंह ने कोच मेंटेनेंस की जिम्मेदारी संभाली।
-एडीआरएम सुधीर सरवरिया दिन में ट्रैक पर रहते, रात में फाइल निपटाते।
- सीनियरडीओएम- विश्वरंजन,डीओएम जबलपुर रोहित मालवीय ने ट्रेनों का संचालन संभाला।
- सीनियरडीईएन संजय यादव, डीईएन जबलपुर- अभिषेक मिश्रा ने ट्रैक मेंटेनेंस संभाला।
- सीनियर डीसीएम- बसंत शर्मा, मनोज गुप्ता(कोचिंग) ने यात्री सुविधाओं पर नजर रखी।
- सहायक अभियंता पीके गुप्ता, डीएस नंदा ने काम को समय पर करवाया।
  
Today (08:24) आज जबलपुर स्टेशन का निरीक्षण करने आएगी यात्री सुविधा समिति (naidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
97 views

News Entry# 389363  Blog Entry# 4409202   
  Past Edits
Aug 24 2019 (08:24)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Jabalpur Junction/JBP  
जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधियार्ड रिमॉडलिंग का काम शुक्रवार को पूरा होने के अगले दिन शनिवार को केंद्रीय यात्री सुविधा समिति जबलपुर आ रही है। समिति जबलपुर और मदनमहल रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधाओं का जायजा लेगी। गौरतलब है कि यह टीम पिछले साल भी जबलपुर आई थी, लेकिन जब से अब तक टीम ने यात्रियों की सुविधाओं पर न तो नजर डाली और न ही यात्रियों से पूछा गया।सूत्रों के मुताबिक टीम जबलपुर से ज्यादा मैहर मंदिर भ्रमण पर जोर दे रही है। दरअसल रविवार को टीम मैहर जाएगी, जिनकी व्यवस्था के लिए जबलपुर मंडल के अधिकारी और कर्मचारी जुट गए हैं। टीम के अध्यक्ष रमेश चंद्रा फ्लाइट से शनिवार दोपहर 12 बजे आएंगे तो वहीं सदस्य हरीओम भनोट, रमेश शर्मा, जयंती लाल, पूजा वैधनी आज ट्रेन से जबलपुर पहुंच रहे हैं।यात्रियों से पूछते ही नहीं सुविधाएं कैसी हैंनिरीक्षण टीम आने से पहले दोनों स्टेशन पर शुक्रवार को यात्रियों की सुविधाओं...
more...
का जायजा लेने कमर्शियल विभाग के अधिकारी और कर्मचारी पहुंचे। खास बात यह है कि टीम यात्रियों की सुविधाओं का जायजा लेगी, लेकिन इस बीच न तो उपभोक्ता समिति के सदस्यों को बुलाया गया है न ही यात्रियों से पूछताछ करने की कोई योजना है। #Jabalpur news
जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
यार्ड रिमॉडलिंग का काम शुक्रवार को पूरा होने के अगले दिन शनिवार को केंद्रीय यात्री सुविधा समिति जबलपुर आ रही है। समिति जबलपुर और मदनमहल रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधाओं का जायजा लेगी। गौरतलब है कि यह टीम पिछले साल भी जबलपुर आई थी, लेकिन जब से अब तक टीम ने यात्रियों की सुविधाओं पर न तो नजर डाली और न ही यात्रियों से पूछा गया।
सूत्रों के मुताबिक टीम जबलपुर से ज्यादा मैहर मंदिर भ्रमण पर जोर दे रही है। दरअसल रविवार को टीम मैहर जाएगी, जिनकी व्यवस्था के लिए जबलपुर मंडल के अधिकारी और कर्मचारी जुट गए हैं। टीम के अध्यक्ष रमेश चंद्रा फ्लाइट से शनिवार दोपहर 12 बजे आएंगे तो वहीं सदस्य हरीओम भनोट, रमेश शर्मा, जयंती लाल, पूजा वैधनी आज ट्रेन से जबलपुर पहुंच रहे हैं।
यात्रियों से पूछते ही नहीं सुविधाएं कैसी हैं
निरीक्षण टीम आने से पहले दोनों स्टेशन पर शुक्रवार को यात्रियों की सुविधाओं का जायजा लेने कमर्शियल विभाग के अधिकारी और कर्मचारी पहुंचे। खास बात यह है कि टीम यात्रियों की सुविधाओं का जायजा लेगी, लेकिन इस बीच न तो उपभोक्ता समिति के सदस्यों को बुलाया गया है न ही यात्रियों से पूछताछ करने की कोई योजना है।
  
Today (08:22) आईआरसीटीसी की ट्रेनों में यात्री नहीं करा सकेंगे रिजर्वेशन (naidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
115 views

News Entry# 389362  Blog Entry# 4409200   
  Past Edits
Aug 24 2019 (08:22)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Jabalpur Junction/JBP  
जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधिरेलवे के आरक्षण केंद्र से यात्री सभी ट्रेनों के रिजर्वेशन नहीं करा सकेंगे। रेलवे के 100 दिन के प्लान में इसकी शुरुआत कर दी गई है। आईआरसीटीसी द्वारा चलाई जाने वाली यात्री ट्रेनों में सफर करने के लिए यात्रियों को नए साफ्टवेयर से अपनी टिकट बुक करानी होगी। दरअसल रेलवे के आरक्षण केंद्र से इन ट्रेनों में न तो रिजर्वेशन मिलेगा और न ही खाली सीट और किराए की जानकारी।दरअसल आईआरसीटीसी ने रेलवे से भारतीय रेल आरक्षण केंद्र को संचालित करने वाले पैसेंजर रेलवे साफ्टवेयर की तर्ज पर ऐसा साफ्टवेयर विकसित करने कहा है, जिसकी मदद से आईआरसीटीसी की निजी ट्रेनों में न सिर्फ रिजर्वेशन किया जा सके, बल्कि किराया भी निर्धारित कर सकेंगे। रेलवे बोर्ड ने जारी किया आदेश- भारतीय रेल बोर्ड ने इस संबंध में 17 अगस्त को एक आदेश जारी किया है, जिसमें क्रिस (रेलवे के लिए साफ्टवेयर बनाने वाली कंपनी) से पैसेंजर रिजर्वेशन...
more...
सिस्टम की तरह ही एक न्यू एज साफ्टवेयर विकसित करने कहा है, ताकि आईआरसीटीसी द्वारा चलाई जाने वाली निजी ट्रेनों में रिजर्वेशन किया जा सके। दरअसल आईआरसीटीसी भी रेलवे के रिजर्वेशन काउंटर की तर्ज पर अपने काउंटर खोलने जा रही है, जो न सिर्फ रेलवे स्टेशन पर होंगे बल्कि शहर के बीच भी खोले जाएंगे।जबलपुर में भी खुलेंगे आईआरसीटीसी के सेंटरवर्तमान में रेलवे के रिजर्वेशन काउंटर पर चलने वाले पीआरएस साफ्टवेयर क्रिस संचालित करता है। जबलपुर के आरक्षण केंद्र मुंबई पीआरएस से संचालित होता है। अब इस साफ्टवेयर की तर्ज पर ही क्रिस आईआरसीटीसी का साफ्टेवयर विकसित करने में जुट गया है। जानकार बताते हैं कि अभी तक ऑनलाइन रिजर्वेशन टिकट का अधिकारी आईआरसीटीसी के पास है, लेकिन जल्द ही वह काउंटर से होने वाली साधारण व स्पेशल ट्रेनों के रिजर्वेशन का भी अधिकारी ले लेगा।रेलवे का सिर्फ ड्राइवर-गार्ड, बाकी प्राइवेट-आईआरसीटीसी ने तेजस ट्रेन से इसकी शुरूआत कर दी है। इस ट्रेन में रेलवे का सिर्फ ड्राइवर और गार्ड होगा, न तो टीटीई होंगे न ही रेलवे का अन्य स्टॉफ इसमें रखा जाएगा। बल्कि टिकट चेकिंग से लेकर खाने की सप्लाई तक का काम आईआरसीटीसी करेगा। ..........इस सॉफ्टवेयर का काम आईआरसीटीसी द्वारा सेंट्रलाइज किया जा रहा है। अभी इस बारे में मैं कुछ नहीं कह सकता।-नरेन्द्र पिपल, पीआरओ, आईआरसीटीसी, मुंबई #jabalpur news
जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
रेलवे के आरक्षण केंद्र से यात्री सभी ट्रेनों के रिजर्वेशन नहीं करा सकेंगे। रेलवे के 100 दिन के प्लान में इसकी शुरुआत कर दी गई है। आईआरसीटीसी द्वारा चलाई जाने वाली यात्री ट्रेनों में सफर करने के लिए यात्रियों को नए साफ्टवेयर से अपनी टिकट बुक करानी होगी। दरअसल रेलवे के आरक्षण केंद्र से इन ट्रेनों में न तो रिजर्वेशन मिलेगा और न ही खाली सीट और किराए की जानकारी।
दरअसल आईआरसीटीसी ने रेलवे से भारतीय रेल आरक्षण केंद्र को संचालित करने वाले पैसेंजर रेलवे साफ्टवेयर की तर्ज पर ऐसा साफ्टवेयर विकसित करने कहा है, जिसकी मदद से आईआरसीटीसी की निजी ट्रेनों में न सिर्फ रिजर्वेशन किया जा सके, बल्कि किराया भी निर्धारित कर सकेंगे।
रेलवे बोर्ड ने जारी किया आदेश- भारतीय रेल बोर्ड ने इस संबंध में 17 अगस्त को एक आदेश जारी किया है, जिसमें क्रिस (रेलवे के लिए साफ्टवेयर बनाने वाली कंपनी) से पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम की तरह ही एक न्यू एज साफ्टवेयर विकसित करने कहा है, ताकि आईआरसीटीसी द्वारा चलाई जाने वाली निजी ट्रेनों में रिजर्वेशन किया जा सके। दरअसल आईआरसीटीसी भी रेलवे के रिजर्वेशन काउंटर की तर्ज पर अपने काउंटर खोलने जा रही है, जो न सिर्फ रेलवे स्टेशन पर होंगे बल्कि शहर के बीच भी खोले जाएंगे।
जबलपुर में भी खुलेंगे आईआरसीटीसी के सेंटर
वर्तमान में रेलवे के रिजर्वेशन काउंटर पर चलने वाले पीआरएस साफ्टवेयर क्रिस संचालित करता है। जबलपुर के आरक्षण केंद्र मुंबई पीआरएस से संचालित होता है। अब इस साफ्टवेयर की तर्ज पर ही क्रिस आईआरसीटीसी का साफ्टेवयर विकसित करने में जुट गया है। जानकार बताते हैं कि अभी तक ऑनलाइन रिजर्वेशन टिकट का अधिकारी आईआरसीटीसी के पास है, लेकिन जल्द ही वह काउंटर से होने वाली साधारण व स्पेशल ट्रेनों के रिजर्वेशन का भी अधिकारी ले लेगा।
रेलवे का सिर्फ ड्राइवर-गार्ड, बाकी प्राइवेट
-आईआरसीटीसी ने तेजस ट्रेन से इसकी शुरूआत कर दी है। इस ट्रेन में रेलवे का सिर्फ ड्राइवर और गार्ड होगा, न तो टीटीई होंगे न ही रेलवे का अन्य स्टॉफ इसमें रखा जाएगा। बल्कि टिकट चेकिंग से लेकर खाने की सप्लाई तक का काम आईआरसीटीसी करेगा।
..........
इस सॉफ्टवेयर का काम आईआरसीटीसी द्वारा सेंट्रलाइज किया जा रहा है। अभी इस बारे में मैं कुछ नहीं कह सकता।
-नरेन्द्र पिपल, पीआरओ, आईआरसीटीसी, मुंबई
Page#    367308 news entries  next>>

Go to Full Mobile site