Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sun May 27 15:02:11 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    319496 news entries  next>>
  
Today (14:58) बरौनी जंक्शन पर स्काउट-गाइड ने यात्रियों को पिलाया ठंडा पानी (m.livehindustan.com)
New Facilities/Technology
ECR/East Central
0 Followers
7 views

News Entry# 338508  Blog Entry# 3457756   
  Past Edits
May 27 2018 (14:58)
Station Tag: Barauni Junction/BJU added by कात्यायनी एक्सप्रेस~/1872250

May 27 2018 (14:58)
Train Tag: Rajendra Nagar Terminal - Saharsa InterCity Link Express/23226 added by कात्यायनी एक्सप्रेस~/1872250

May 27 2018 (14:58)
Train Tag: Rajendra Nagar Terminal - Jaynagar InterCity Express/13226 added by कात्यायनी एक्सप्रेस~/1872250

May 27 2018 (14:58)
Train Tag: Tatanagar - Chhapra Express/18181 added by कात्यायनी एक्सप्रेस~/1872250

May 27 2018 (14:58)
Train Tag: Kamakhya - Jaipur Kavi Guru Express/19710 added by कात्यायनी एक्सप्रेस~/1872250

May 27 2018 (14:58)
Train Tag: Janhit Express/13206 added by कात्यायनी एक्सप्रेस~/1872250
ईस्ट सेंट्रल रेलवे स्काउट एंड गाइड जिला संघ गढ़हरा की ओर से बुधवार से बरौनी रेलवे स्टेशन पर नि:शुल्क ग्रीष्मकालीन जल सेवा शिविर का आयोजन किया गया है। कार्यक्रम का शुभारंभ स्टेशन प्रबंधक बृजमोहन प्रसाद सिन्हा व डीसीआई केपी सिंह ने किया। स्काउट-गाइड ने वैशाली एक्सप्रेस, गोंदिया एक्सप्रेस, इंटरसिटी एक्सप्रेस, टाटा-छपरा, कवि गुरु,जनहित एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों में यात्रियों को आरओ का ठंडा पानी पिलाया। जिला सचिव जीवानंद मिश्र ने बताया कि स्काउट-गाइड की ओर से नि:शुल्क जल सेवा शिविर 23 मई से 31 मई तक चलेगा। मौके पर डी.एम. तिवारी, मनीष कुमार, शशि कुमार आदि थे।
  
Yesterday (11:21) रांची : स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस के यात्रियों ने इलाहाबाद के स्टेशन मास्टर को पीटा (www.prabhatkhabar.com)
IR Affairs
SER/South Eastern
0 Followers
4860 views

News Entry# 338353  Blog Entry# 3454214   
  Past Edits
May 26 2018 (11:21)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by Aaditya^~/1421836

May 26 2018 (11:21)
Station Tag: Ranchi Junction/RNC added by Aaditya^~/1421836
कोच का एसी था खराब, गर्मी से यात्रियों का गुस्सा फूटा रांची : आनंद विहार-हटिया झारखंड स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस (ट्रेन नंबर 12874) के यात्रियों ने शनिवार को इलाहाबाद स्टेशन पर जमकर हंगामा किया. ये लोग ट्रेन का एसी खराब होने की वजह से नाराज थे. गुस्साये यात्रियों ने इलाहाबाद के स्टेशन मास्टर की पिटाई भी कर दी. बाद में ट्रेन को जैसे-तैसे वहां से आगे के लिए रवाना किया गया.  यात्रियों की शिकायत थी कि आनंद विहार टर्मिनल से रवाना होने के बाद से ही ट्रेन का एसी खराब था. इसकी शिकायत उन लोगों ने कोच एटेंडेंट से भी की. उसने कहा कि खराबी कहां है, यह पता नहीं चल पा रहा है. आगे स्टेशन पर  इसकी जांच करायेंगे, लेकिन काफी समय बीत जाने के बाद भी न तो जांच हुई और न ही एसी को दुरुस्त किया जा सका था.  10 घंटे से ज्यादा देरी से चल रही थी ट्रेन  इस ट्रेन को शुक्रवार...
more...
शाम तक रांची पहुंच जाना चाहिए था, लेकिन यह निर्धारित समय से करीब 10 घंटे देरी से चल रह थी. इससे ट्रेन यात्री परेशान थे, वहीं एसी खराब होने की वजह से कोच में सवार यात्रियों का गर्मी के कारण बुरा हाल था. घुटन की वजह से उनकी हालत खराब हो रहा थी. ट्रेन जब इलाहाबाद  स्टेशन पहुंची, तो यात्रियों ने स्टेशन मास्टर से एसी ठीक करने कहा. इसी को लेकर यात्रियों और  स्टेशन मास्टर के बीच तू-तू, मैं-मैं होने  लगी. धीरे-धीरे बात बढ़ गयी अौर यात्रियों ने स्टेशन मास्टर की पिटाई कर दी. इसके बाद ट्रेन को जैसे तैसे वहां से रवाना कर दिया  गया. यह ट्रेन शनिवार तड़के रांची पहुंचेगी. उधर, इसकी जांच शुरू कर दी गयी है.

6 posts - Yesterday - are hidden. Click to open.

22 posts - Today - are hidden. Click to open.

  
SER has poor maintainance, and old coaches add to the woes but never heard of AC failure in HTE -LTT SF and HTE -YPR SF which use same rakes as that of JSJ as all have RSA. The major problem with this is that the train is looped many times b/w GZB and CAR and even held for almost an hour around SBB and GZB. The non continuous run means that the battery is not charged and eventually it gives up. As violence can never be justified in the same way a train (or almost all trains) being delayed almost 15 hrs in all runs can also never be justified. Both the parties could hav handled the matter calmly. The SM could hav directed the pax towards the department responsible or himself could hav asked the responsible deptt on phone to look into the matter. Careless and irresponsible approach from both parties.

  
इसमे यूपी बिहार कहा से आया

  
Ye iri nahi ald division hai yaha jo inke khilaf awaj uthaye ga vo yaha se utth jayega

  
Recently there was news of AC failure in Patliputra Exp and HTE - LTT Exp
Now how will you justify the failure of these trains? Which zone loops them for hours??
SER's POOR maintenance is responsible for AC failure, somehow you guys are trying to put the blame on NCR ALD div.

  
He got beaten due to late running , it's a series of events in which he get trapped . if train is RT then by that time it wold been crossed daltonganj atleast and ALD SM would get spared . Bro i am at 1 point and for more apt answers you can PM me or for every answer see my screen name .
Bro it is allahabad , i had known this place and i can guarantee if controller have guts delay PR , AD 8 to 10hrs late for a week mentioning reason congestion in this summer and even AC is cooling fine then i can say the situation will be 100 times worse than what ALD SM has faced .

  
Yes its better to say that he got trapped in series of events. First the train was heavily delayed , then ac failure, then trying to depart without taking any measures for repairment. Though every zone has this tendency to depart the train from their station in these type of problems related to ac, or cleanliness, etc. Passengers are accustomed to heavy delays in this train. Their major problem was their grievance was not paid heed to. From ANVT train has scheduled stop at CNB too, why didn't they protest there? It must hav had a number of unscheduled stops, there also no protest. Atleast at CNB they could hav attended to the problem. They tested the patience of the pax and result was in its ugliest form at ALD. If the problem arises in NCR zone, ALD division pax will escelate that matter in front of NCR officials only not in front of SR officials. Their duty is to treat each and every train passing through the zone equally, they are Indian rail employees and not NC R ailway employees.

  
I heard about patliputra but not about LTT SF. I am not denying the news. That may be an occassional failure courtesy to old coaches plus poor maintainance of SER. But this train is facing this from last 2-3 runs. 2-3 days ago same problem was there at CNB too in 12873. I agree that it is poorly maintained but the truth is also that for ACs to run the battery needs to be charged up and they are charged only when train wheels are in motion. This is bound to happen when the train is always in loop. We hav travelled in this and hav seen how it is treated. It never runs non stop even for 50 kms. One thing more why all problems are related to NCR zone? Yesterday a child lost his life in BP Mail which despite of an informed medical emergency took 5 hrs to cover 90 kms from Mirzapur to ALD. Why not other zones are blamed? Why only NCR and that also by majority of passengers? It must be having some serious fault in its working style. How can one justify that an express train ran at avg speed of 18 kmph and that also not for 1-2 hrs but 5 hrs. Allahabadis and Kanpurites may be happy with NCR bcoz they hav PR, durnt, HS, SS which are excellent in their performance but others are not certainly courtesy to the performance of trains taken by them and they will definitely blame NCR only.

  
Plz re-read यात्रियों की शिकायत थी कि आनंद विहार टर्मिनल से रवाना होने के बाद से ही ट्रेन का एसी खराब था. इसकी शिकायत उन लोगों ने कोच एटेंडेंट से भी की. उसने कहा कि खराबी कहां है, यह पता नहीं चल पा रहा है. आगे स्टेशन पर इसकी जांच करायेंगे, लेकिन काफी समय बीत जाने के बाद भी न तो जांच हुई और न ही एसी को दुरुस्त किया जा सका था. Ya this time train had a set of people who rather choose some action rather so suffer what JSJ 12873-74 PAX used to be , Also departing train is not only priority of SM if there is faulty AC then work on it , ALD has good work force of all sort of technical team thats why all of it happened at ALD . They not acted CNB might be during 9AM /10AM HOLY SUN is not on full swing by that time , but at 2pm thats why he faced consequences , And no other station in CNB to ALD has such facility . Also but not the least SM should act PROFESSIONALLY why he indulged in quarrel with PAX, if he gently accepted and ordered some staff to repair AC all of this never happened .

  
Bechara SM

  
यही कलियुग है गलती किसी की पिटाया कोई और!
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) आफिस के कामर्शियल विभाग में पदस्थ एक सीनियर बाबू बसंत गोरे ने अपनी विलक्षण प्रतिभा का परिचय देते हुए अपनी साइकिल को ही मॉडीफाई करते हुए बैटरी चालित साइकिल बना डाली. खास बात यह है कि मात्र 35 पैसे खर्च कर उनकी बाइक 1 किमी का एवरेज देेेती है. उनके इस प्रयास की सराहना की जा रही है. उनकी इस साइकिल की लोकप्रियता व सफलता देखकर रेलवे के ही कई कर्मचारी उनसे इसी तरह की बैटरी चालित साइकिल बनाने का निवेदन कर रहे हैं.
डीआरएम आफिस के वाणिज्य विभाग में पदस्थ बसंत गोरे ने बताया कि लगातार पेट्रोल की कीमतें आसमान छू रही हैं, और यह सिलसिला रुकने वाला नहीं है, जिससे उनका डेली का
...
more...
बजट बाइक से धनवंतरी नगर स्थित घर से कार्यालय आने-जाने में पेट्रोल के बढ़ते खर्च से गड़बड़ा गया था. उनका मासिक पेट्रोल खर्च 2500 रुपए से अधिक हो गया था. इस महंगाई के समय में इससे निजात पाने का उन्हें एक विकल्प नजर आया, जब उन्होंने अपने बेटे की बाइक को ही मॉडीफाई करने का निर्णय लिया. साइकिल में थोड़ा बदलाव करके बैटरी लगाई, जिसके बाद अब उन्हें आफिस आने-जाने में मात्र मासिक खर्च 210 रुपए हो गया है.
इस तरह प्रयोग करने का विचार आया मन में
बसंत गोरे के मुताबिक पेट्रोल की कीमत से परेशान होकर पहले उन्होंने बैटरी की बाइक लेने का मन बनाया, लेकिन अधिक कीमत थी, जिस पर उन्होंने यूट्यूब और इंटरनेट पर इसकी तकनीक समझी और खुद ही बैटरी वाली साइकिल तैयार करने की सोची. उन्होंने पुरानी साइकिल में फेरबदल किया और पत्नी प्रीति गोरे की मदद से तीन माह में साइकिल तैयार कर ली.
एक बार चार्ज करने पर 20 किमी तक चलती है
बसंत के मुताबिक साइकिल को पॉवर देने के लिए मोबाइल में उपयोग होने वाली लीथियम बैटरी का उपयोग किया, जिसे चंडीगढ़ से मंगवाया. इसके बाद साइकिल के व्हील पर 350 वॉट की मोटर लगाई. इन सब पर तकरीबन 60 दिन तक प्रयोग किया और 22 से 23 हजार खर्च में इसे तैयार कर लिया. एक बार चार्ज करने पर इस पर 130 किलो का वजन लेकर 20 किमी तक चला जा सकता है.
  
Today (13:33) तेज रफ्तार मालगाड़ी से बीच रास्ते गिरा ट्रेन गार्ड, चालक को नहीं लगा पता, गंभीर (www.palpalindia.com)
0 Followers
543 views

News Entry# 338503  Blog Entry# 3457505   
  Past Edits
May 27 2018 (14:47)
Station Tag: Katni Junction/KTE added by RF Shanku^~/1438110

May 27 2018 (14:47)
Station Tag: Katni Murwara/KMZ added by RF Shanku^~/1438110
पलपल संवाददाता, जबलपुर. रेल प्रशासन भले ही अपने स्टाफ की सुरक्षा व संरक्षा के बड़े-बड़े दावे व वायदे करता रहा हो, लेकिन हकीकत में यह दावा बिलकुल भी उलट है, इसके दावों की पोल खोलती एक घटना आज रविवार की सुबह दमोह-कटनी रेलखंड में घटित हुई, जब तेज रफ्तार बुलेट मालगाड़़ी का गार्ड अचानक सिग्नल दिखाते समय झटका लगने से गार्ड के डिब्बे से गिर गया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. खास बात यह है कि गार्ड के पास सुरक्षा उपाय तक उपलब्ध नहीं थे, रेल प्रशासन ने वाकी-टाकी तक उपलब्ध नहीं कराया था, यदि वाकी-टाकी होती तो वह तुरंत ही घटना की जानकारी मालगाड़ी के चालक व समीपी स्टेशन को दे सकता था.
इस घटना के बाद वह
...
more...
ट्रेक पर ही बेहोश हो गया. यह तो अच्छा हुआ कि इस दौरान कोई ट्रेन उस ट्रेक से नहीं गुजरी, वरना गार्ड उसकी चपेट में आ जाता, बाद में कोटा-जबलपुर एक्सप्रेस के स्टाफ द्वारा उसे देखा गया, जिस पर ट्रेन को मौके पर रोककर गार्ड को कटनी लाया गया, जहां से निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इस घटना से रेलकर्मियों में आक्रोश है.
घटना के संबंध में बताया जाता है कि आज सुबह 5 बजे के लगभग सागर से कटनी की तरफ एक मालगाड़ी बाक्स एन- बुलेट-26 आ रही थी, जब यह ट्रेन हरदुआ व कटनी मुड़वारा के बीच किलोमीटर 1231-02 पर पहुंची, तभी मालगाड़ी का गार्ड जितेंद्र कुमार सिग्नल देते समय अचानक झटका लगने से नीचे गिर गया, जिससे उसके शरीर में खून निकलने लगा और वह बेहोश हो गया. आश्चर्य की बात यह है कि गार्ड के बगैर मालगाड़ी कटनी तक जा पहुंची, चालक को भी गार्र्ड के गिरने की कोई सूचना नहीं मिल सकी. बाद में कटनी पहुंचने पर गार्ड का पता नहीं चला तब हरदुआ स्टेशन को सूचना दी गई तो वहां से खोजबीन शुरू हुई तो पता चला कि गार्ड ट्रेक के ऊपर गंभीर अवस्था में बेहोश पड़े हैं.
कोटा-जबलपुर एक्सप्रेस को रोका, गार्ड को लाया गया
इस घटना की जानकारी लगते ही तुरंत ही ट्रेन संख्या 19809 कोटा-जबलपुर एक्सप्रेस जो वहां से गुजर रही थी, हरदुआ स्टेशन मास्टर ने वाकी-टाकी से सूचना देते हुए किलोमीटर 1231 पर बेहोश पड़े गार्ड को उठाने को कहा, जिस पर ट्रेन को मौके पर रोका गया और कोटा-जबलपुर एक्सप्रेस के गार्ड महेेंद्र कुर्मी ने अन्य यात्रियों की मदद से गार्ड को ट्रेन में रखा और कटनी मुड़वारा स्टेशन लाया, जहां से एम्बुलेंस से घायल गार्ड को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पर उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है.
मालगाड़ी के गार्डों को वाकी-टाकी तक नहीं
बताया जाता है कि पमरे प्रशासन अपने स्टाफ के साथ किस तरह संरक्षा से खिलवाड़ कर रहा है, इसकी बानगी गार्ड के मालगाड़ी से गिरने से ही समझी जा सकती है. रेल प्रशासन सिर्फ यात्री गाडिय़ों के गार्डों को ही वाकी-टाकी मुहैया कराता है, मालगाड़ी के गार्ड को वाकी-टाकी नहीं दी जाती. यदि वाकी-टाकी होती तो गार्ड तुरंत ही चालक व स्टेशनों को घटना की जानकारी देता, जिससे उसे समय पर उपचार उपलब्ध हो जाता.
इनका कहना....
मालगाड़ी गार्ड के चलती गाड़ी से गिरकर गंभीर रूप से घायल होने की सूचना यूनियन को लगी है. गार्ड के पास सुरक्षा का कोई साधन नहीं था. मालगाड़ी के गार्डों को रेल प्रशासन वाकी-टाकी तक उपलब्ध नहीं करा पा रहा है, ऐसे में कभी कोई बड़ा रेल हादसा होगा तो इसकी जवाबदारी रेल प्रशासन की होगी. यूनियन इस मामले को जीएम के समक्ष उठाने का निर्णय लेते हुए सभी गार्डों को वाकी-टाकी उपलब्ध कराने की मांग करेगी.
नवीन लिटोरिया, मंडल सचिव, पश्चिम मध्य रेलवे एम्पलाइज यूनियन, जबलपुर.

  
Yeah Ek dum galat Hua hai Bina guard ke LP train ko aage kese bada sakta hai aur usse pta bhi nhi chal paaya kii Guard Gira thaa.
Isse Hamarii Indian Railway kaa name barbaad hota hai. Shame 😅😅😅😅

  
ओवर ड्यूटी का नतीजा तो नहीं?

  
Today (10:38) ग्रीन लाइन का सेफ्टी इंस्पेक्शन इसी हफ्ते, मगर पिंक लाइन होगी और लेट (navbharattimes.indiatimes.com)
New Facilities/Technology
DMRC/Delhi Metro
0 Followers
791 views

News Entry# 338496  Blog Entry# 3457038   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Posted by: a2z~ 1115 news posts
कीर्ति नगर और इंद्रलोक से मुंडका के बीच बनी मेट्रो की ग्रीन लाइन को फेज-3 के तहत मुंडका से आगे बहादुरगढ़ तक एक्सटेंड करने का काम लगभग पूरा हो चुका है। इन दिनों यहां मेट्रो का ट्रायल चल रहा है और अब इसी हफ्ते 30 मई को कमिश्नर मेट्रो रेल सेफ्टी (सीएमआरएस) सेफ्टी इंस्पेक्शन करने वाले हैं। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि अगले महीने तक यह सेक्शन पैसेंजर सर्विस के लिए खुल जाएगा, लेकिन इसके बावजूद अभी लोगों को थोड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।
असल में अभी मॉडर्न इंडस्ट्रियल एरिया के पास बहादुरगढ़ में मेट्रो का जो नया डिपो बन रहा है, उसके लिए जमीन का 300 मीटर का एक हिस्सा अभी तक डीएमआरसी को नहीं मिल पाया
...
more...
है, जिसके चलते डिपो बनाने का काम लेट हो रहा है। डीएमआरसी के अधिकारियों का कहना है कि जब तक यह डिपो नहीं बनेगा, तब तक इस पूरे सेक्शन पर पूरी क्षमता के साथ मेट्रो का परिचालन नहीं किया जा सकता, क्योंकि मुंडका डिपो की क्षमता काफी सीमित है। ऐसे में अगर ग्रीन लाइन के नए सेक्शन को सीएमआरएस से ग्रीन सिग्नल मिल भी जाता है, तो भी जिन लोगों को मेट्रो के जरिए मुंडका से बहादुरगढ़ जाना है, उन्हें ट्रेनें 20 से 30 मिनट की फ्रीक्वेंसी पर ही मिल पाएंगी। फिलहाल डीएमआरसी ने भी अभी यह तय नहीं किया है कि सीएमआरएस की मंजूरी मिलने के बाद वह कब इस सेक्शन को खोलेगी। फिलहाल सीएमआरएस ने इस सेक्शन के सेफ्टी इंस्पेक्शन के लिए एक दिन का ही वक्त मांगा है, ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि उनका ग्रीन सिग्नल मिलने में दिक्कत नहीं आएगी। मुंडका से आगे बहादुरगढ़ के सिटी पार्क तक कुल 7 नए एलिवेटेड स्टेशन बनाए गए हैं।
वक्त लग रहा है
सूत्रों से पता चला कि पिंक लाइन की डेडलाइन भी आगे खिसका दी गई है, क्योंकि लाजपत नगर से आगे काम पूरा होने में वक्त लग रहा है। इस लाइन पर मजलिस पार्क से साउथ कैंपस के बीच का एक सेक्शन तो पहले ही खुल चुका है और आजकल मोती बाग से लाजपत नगर के बीच ट्रायल चल रहा है। इस हिस्से के जून तक खुलने की संभावना थी, लेकिन अब कहा जा रहा है कि जुलाई तक ही खुल पाएगा। दूसरी ओर शिव विहार से विनोद नगर के बीच जो सेक्शन जुलाई तक खुलने की उम्मीद की जा रही थी, वह भी अब अगस्त तक ही खुल पाएगा, जबकि लाजपत नगर से त्रिलोकपुरी के बीच का हिस्सा इस साल के अंत तक खुलने की उम्मीद है।
Page#    319496 news entries  next>>

Go to Full Mobile site