Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Tue Jun 19 21:38:49 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    322704 news entries  next>>
  
Today (21:38) प्रमोशन के इंतजार में रेलवे के 1600 अधिकारी (www.jagran.com)
0 Followers
0 views

News Entry# 341956  Blog Entry# 3551191   
  Past Edits
Jun 19 2018 (21:38)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by Jeetendra Kumar~/1461395

Jun 19 2018 (21:38)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by Jeetendra Kumar~/1461395

Jun 19 2018 (21:38)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by Jeetendra Kumar~/1461395
मुंगेर। भारतीय रेलवे के 16 सौ से अधिक ऑफिसर प्रमोशन के इंतजार में हैं। इसके बावजूद रेल को शिखर पर पहुंचाने की बात प्रमोशन से वंचित ऑफिसर करते हैं। उक्त बातें मंगलवार को रेलवे ऑफिसर क्लब ईस्ट कॉलोनी जमालपुर में आयोजित दो दिवसीय ईस्टर्न रेलवे प्रमोटी ऑफिसर एसोसिएशन के सचिव अभिजीत राय ने कही। घंटों चले कार्यसमिति की बैठक में उपस्थित रेल अधिकारियों ने कहा कि प्रमोशन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में मामला है। रेलवे के सारे विभागों में पदोन्नति रद कर दिया गया है। जिस कारण दो सालों से पदोन्नति की प्रक्रिया अधर में लटका हुआ है। ऑफिसरों का प्रमोशन नहीं होने से रेल में कई पद रिक्त है। वहीं ईस्टर्न रेलवे के अध्यक्ष राणा बंदोपाध्याय ने कहा कि ऑफिसरों का प्रमोशन नहीं होने से रेलवे का विकास प्रभावित हो रहा है। बैठक में विशेष रूप से ईरमी के निदेशक गजानन मालिया एवं मुख्य कारखाना प्रबंधक अर¨वद कुमार पांडे ने...
more...
उपस्थित होकर दो दिवसीय कार्यसमिति की गरिमा को बढ़ाने का काम किया। विदित हो कि भारतीय रेल में दो तरह के अधिकारी होते हैं। पहला डायरेक्ट यूपीएससी परीक्षा पास कर बनते हैं। दूसरा अधिकारी प्रमोशन व अनुभव के आधार पर बनते हैं। वैसे रेल में यह लड़ाई दोनों ऑफिसरों के बीच वर्षो से चली आ रही है। जिसका निर्णय अब न्यायालय से होना है। मौके पर क्यूयू खान, भाष्कर राम चौधरी, निमाई कुमार सिन्हा, बीके मंडल, मुकेश कुमार, रोमन मलिक, सुभान डे, जेसी राव सहित कई मौजूद थे। एएसआइ और एसआइ के प्रमोशन को हरी झंडी यह भी पढ़ें By Jagran
मुंगेर। भारतीय रेलवे के 16 सौ से अधिक ऑफिसर प्रमोशन के इंतजार में हैं। इसके बावजूद रेल को शिखर पर पहुंचाने की बात प्रमोशन से वंचित ऑफिसर करते हैं। उक्त बातें मंगलवार को रेलवे ऑफिसर क्लब ईस्ट कॉलोनी जमालपुर में आयोजित दो दिवसीय ईस्टर्न रेलवे प्रमोटी ऑफिसर एसोसिएशन के सचिव अभिजीत राय ने कही। घंटों चले कार्यसमिति की बैठक में उपस्थित रेल अधिकारियों ने कहा कि प्रमोशन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में मामला है। रेलवे के सारे विभागों में पदोन्नति रद कर दिया गया है। जिस कारण दो सालों से पदोन्नति की प्रक्रिया अधर में लटका हुआ है। ऑफिसरों का प्रमोशन नहीं होने से रेल में कई पद रिक्त है। वहीं ईस्टर्न रेलवे के अध्यक्ष राणा बंदोपाध्याय ने कहा कि ऑफिसरों का प्रमोशन नहीं होने से रेलवे का विकास प्रभावित हो रहा है। बैठक में विशेष रूप से ईरमी के निदेशक गजानन मालिया एवं मुख्य कारखाना प्रबंधक अर¨वद कुमार पांडे ने उपस्थित होकर दो दिवसीय कार्यसमिति की गरिमा को बढ़ाने का काम किया। विदित हो कि भारतीय रेल में दो तरह के अधिकारी होते हैं। पहला डायरेक्ट यूपीएससी परीक्षा पास कर बनते हैं। दूसरा अधिकारी प्रमोशन व अनुभव के आधार पर बनते हैं। वैसे रेल में यह लड़ाई दोनों ऑफिसरों के बीच वर्षो से चली आ रही है। जिसका निर्णय अब न्यायालय से होना है। मौके पर क्यूयू खान, भाष्कर राम चौधरी, निमाई कुमार सिन्हा, बीके मंडल, मुकेश कुमार, रोमन मलिक, सुभान डे, जेसी राव सहित कई मौजूद थे।

By Jagran
स्थाई नियंत्रण कक्ष दिलाएगी अतिक्रमण से मुक्ति
जल संचय आने वाली पीढि़यों के लिए वरदान : मंत्री
नदियों के दोहन से ¨सचाई व्यवस्था चरमराई
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
  
यात्री सुविधा में पिछड़ा सहरसा स्टेशन ने रेल राजस्व के मामले में रिकॉर्ड बनाया है। बड़े स्टेशनों को आमदनी के मामले में पीछे छोड़ कर पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर जोन में सहरसा टॉप पर पहुंच गया है।सहरसा स्टेशन ने आमदनी के मामले में पटना, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर और मुगलसराय सरीखे बड़े स्टेशनों को पीछे छोड़ कर पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर जोन में टॉप पर पहुंच गया है।13 से 17 जून महज पांच दिनों में सहरसा स्टेशन का राजस्व 80 हजार 210 टिकट बिक्री से 2 करोड़ 18 लाख के पार पहुंच गया है। वहीं इन पांच दिनों में पटना स्टेशन का राजस्व सिर्फ 1 करोड़ 83 लाख 32 हजार 900 रुपये और दरभंगा का 1 करोड़ 86 लाख 40 हजार 100 रुपये ही रहा। मुजफ्फरपुर स्टेशन का राजस्व जहां 1 करोड़ 18 लाख 42 हजार 300 रुपये वहीं मुगलसराय जंक्शन का मात्र 83 लाख 43 हजार 780 रुपये रहा। सहरसा स्टेशन...
more...
जिस रेल डिवीजन के अंतर्गत आता है उस समस्तीपुर जंक्शन का पांच दिनों का राजस्व मात्र 64 लाख 67 हजार 900 रुपये रहा।मजदूरों की भीड़ ने बढ़ाया सहरसा स्टेशन का राजस्वहजारों की संख्या में पहुंचने वाली मजदूर यात्रियों की भीड़ ने सहरसा स्टेशन के राजस्व में इजाफा ला दिया है। अभी धान रौपनी के लिए रोज हजारों की संख्या में सहरसा स्टेशन से मजदूर यात्रियों का पंजाब और हरियाणा राज्य पलायन होता है। इसके अलावा फैक्ट्री और भवन निर्माण का काम करने दिल्ली भी मजदूर यात्री जा रहे हैं। भीड़ को देखकर कई स्पेशल ट्रेनें भी चलाई गई है। हालांकि टिकट बिक्री का यह आंकड़ा मजदूर के साथ-साथ आम व दैनिक यात्रियों का मिलाकर है। वैसे बिना भीड़भाड़ के सामान्य दिनों में सहरसा स्टेशन का रोज का राजस्व 15 से 16 लाख रुपये रहता है।अधिकारियों की कुशल मॉनिटरिंग का नतीजा नहीं हुआ हंगामा10 जून का नाम सुनकर सहरसा स्टेशन के टिकट काउंटर और अन्य कार्यालयों में काम करने वाले कर्मियों और दैनिक यात्रियों का शरीर सिहर उठता है। कारण स्पेशल ट्रेन नहीं मिलने और टिकट किराया दर अधिक लेने के कारण होने वाली हंगामा के कारण इस दिन स्टेशन पर अराजक स्थिति बन आती थी। लेकिन डीआरएम आर. के. जैन और सीनियर डीसीएम वीरेन्द्र कुमार की कुशल मॉनिटरिंग तथा डीसीआई राजेश रंजन श्रीवास्तव की मुस्तेदी के कारण शांतिपूर्वक यह दिन गुजर गया। यात्रियों से अधिक किराया लेने की बात संज्ञान में आते शहर के चांदनी चौक स्थित दो जनसाधारण टिकट बुकिंग काउंटरों का लाइसेंस रद्द करते बंद करा दिया गया। समस्तीपुर रेल डिवीजन के सीनियर डीसीएम वीरेन्द्र कुमार ने कहा कि यात्रियों की बढ़ी भीड़ के कारण सहरसा स्टेशन पर टिकट बिक्री से रेलवे के राजस्व में जोन में सबसे अधिक इजाफा हुआ है। यात्रियों से टिकट किराया राशि अधिक नहीं लिया जाय इसपर नजर रखते कार्रवाई की जा रही है।
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. रेलवे ने अब हर स्टेशन के स्टेशन डायरेक्टर, स्टेशन अधीक्षक व सुपरवाइजरी इंचार्ज के चेम्बर में एयर कंडीशनर लगाने का निर्देश दिया है. यह इसलिए कि रेलवे स्टेशन पर यात्री इन अधिकारियों व सुपरवाइजर के चेम्बर में पहुंचते हैं, जहां पर बेहतर व्यवस्थाएं उपलब्ध हों, ताकि यात्री भी प्रभावित हो सकें. रेलवे बोर्ड ने निर्देश दिया है कि एयर कंडीशनर लगाने का काम 2 माह में पूर्ण कर लिया जाए.
रेलवे अपनी छवि आम यात्रियों के बीच बेहतर करने के लिए लगातार नये-नये उपाय कर रहा है. जिसके तहत अब उसने निर्णय लिया है कि अब हर स्टेशन के स्टेशन डायरेक्टर, स्टेशन अधीक्षक व सुपरवाइजरी इंचार्ज के चेम्बर में एयर कंडीशनर लगाया जाएगा. अभी तक स्टेशन डायरेक्टर, स्टेशन अधीक्षक
...
more...
व सुपरवाइजरी इंचार्ज के चेम्बर में एयर कंडीशनर नहीं लगे होते थे, कई स्टेशनों में तो गर्मी के दौरान भी एक पंखा चलता रहता था, जिससे कर्मचारी तो परेशान होते ही थे, साथ ही इन चेम्बर्स में लगातार यात्री जानकारी लेने व कई तरह की समस्याओं की जानकारी लेने पहुंचते थे, जहां पर यात्री भी बेहतर सुविधाएं नहीं होने से परेशान होते थे. स्टेशनों में कार्यरत स्टाफ द्वारा अपनी समस्याओं को एआईआरएफ व पमरे एम्पलाइज यूनियन के माध्यम से उठाया जाता रहा है, जिस पर यूनियन द्वारा लगातार रेलवे बोर्ड से संपर्क किया और एआईआरएफ के माध्यम से स्टेशन के अफसरों, स्टेशन अधीक्षकों व सुपरवाइजरी स्टाफ जैसे डिप्टी एसएस कामर्शियल, हेड टीटीई कक्ष आदि में एसी लगाने की मांग की थी, जिसे रेलवे बोर्ड ने मान लिया है.
रेलवे बोर्ड ने जारी कर दिया आदेश
एयर कंडीशनर लगाने का आदेश आज 19 जून मंगलवार को रेलवे बोर्ड ने जारी कर दिया और सभी जोन के महाप्रबंधकों को इस संबंध में आदेश जारी किया है, जिसमें निर्देश दिया गया है कि एनएसजी-1 से एनएसजी-4 स्तर के सभी स्टेशनों में स्टेशन डायरेक्टर, स्टेशन अधीक्षक व सुपरवाइजरी इंचार्ज के चेम्बर्स में एसी लगाया जाए, क्योंकि उनके चेम्बर्स में पब्लिक का आना-जाना लगा रहता है, साथ ही स्टाफ की कार्यक्षमता भी बढ़ेगी.
इनका कहना...
- पमरे एम्पलाइज यूनियन एआईआरएफ के माध्यम से लगातार इस मांग को उठाती रही है कि रेलवे स्टेशनों में तैनात सुपरवाइजरी स्टाफ, खासकर ऐसे स्टाफ जिनका आम यात्रियों से प्रत्यक्ष सम्पर्क निरंतर बना रहता है, वहां पर कार्यदक्षता बढ़ाने के लिए एयर कंडीशनर लगाया जाना चाहिए. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने एआईआरएफ की मांग मानते हुए इस संबंध में कार्रवाई करने कहा था, जिस पर आज 19 जून को रेलवे बोर्ड ने एयर कंडीशनर लगाने का आदेश जारी कर दिया है. यह काम अगले दो माह में पूरा कर लिया जाएगा.
मुकेश गालव, महामंत्री, पमरे एम्पलाइज यूनियन, जबलपुर.
आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में
जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य
खबर : चर्चा में
1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?
2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश
3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान
4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता
5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र
6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग
7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में
8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल
9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?
10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात
11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय
  
Today (21:29) Number of Railways UTS mobile application users in B'luru reaches 51,000 (www.devdiscourse.com)
0 Followers
30 views

News Entry# 341953  Blog Entry# 3551163   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
According to Divisional railway manager of Bengaluru division, R S Saxena, Bengaluru is the only division where this mobile application has been launched in the non-suburban sector.
The number of users of the Railways' Unreserved Ticketing System mobile application in Bengaluru rose to 51,000 today since its launch in February this year.
According to Divisional railway manager of Bengaluru division, R S Saxena, Bengaluru is the onlydivision where this mobile application has been launched in the non-suburban sector.
Earlier,
...
more...
this application was launched in cities like Mumbai and Delhi, which have suburban railways. Saxena said the application was launched in Bengaluru to avoid long queues in front of ticket counters.
"... First day, we had just about a few hundred (application subscribers). In Bengaluru division itself, we have 51,000 registered users of this app. The total number of this app users in the entire South Western railway zone is 67,000 registered users," Saxena said.
He said the app was available in Google Playstore. People can get their tickets from the application in a radius of three to four kilometres from the station
(This story has not been edited by Devdiscourse staff and is auto-generated from a syndicated feed.)
LEAVE COMMENT
Bhutan
India
United Arab Emirates
United States
Canada
SECTORS
EDITIONS
TAGS
OTHER PRODUCTS
Email: info@devdiscourse.com Phone: +91-130-6444012, +91-7027739813, 14, 15
  
Today (21:28) Patna metro rail DPR to be ready by June 30 (timesofindia.indiatimes.com)
New Facilities/Technology
0 Followers
45 views

News Entry# 341952  Blog Entry# 3551159   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Posted by: a2z~ 2418 news posts
The state urban development and housing department (UDHD) has given another 15 days to the Rail India Technical and Economic Service (RITES), an executing agency of the Indian Railway, to finalise the detailed project report (DPR) for Patna metro rail.
UDHD officials said on Friday the DPR, earlier scheduled to be submitted to the department by June 15, would now be submitted by June 30. After the state government's approval, it will be submitted to the Union ministry of urban development for final approval.
The officials said the work on the project was
...
more...
targeted to start by the end of this year. It will take at least three years for completion of the first phase. Sources said the DPR deadline was extended to facilitate inclusion of a couple of ongoing infrastructure projects in the city. "For instance, we have asked RITES to incorporate Lohia Path Chakra project on Bailey Road so that the DPR does not need to be revised later," a UDHD official said.
TOP COMMENT
It will be a blessing for Patnites provided the central government does not play the political games . Patna needs metro very badly as it has become overpopulated and over polluted as well .
Ejaz Ahmad
According to him, several meetings on preliminary DPR have already been held. State UDHD minister Suresh Kumar Sharma also met Union minister of state with independent charge in the ministry of urban development Hardeep Singh Puri on June 7. Puri is learned to have assured Sharma that the Centre would give its approval to the DPR at the earliest.
The UDHD official said the estimated outlay for the metro rail project was pegged at Rs 17,000 crore. "The Centre as well as state government will contribute 20% each of the project cost, while the remaining 60% will be procured from financial agencies at low interest rate," the official said.
Page#    322704 news entries  next>>

Go to Full Mobile site