Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Bookmark
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Dec 15 00:40:08 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    350128 news entries  next>>
  
Yesterday (23:53) Waitlisted and RAC ticket holders cheer! This new device by Indian Railways to give you confirmed berths (www.financialexpress.com)
New Facilities/Technology
0 Followers
111 views

News Entry# 371553  Blog Entry# 4106456   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Indian Railways passengers, especially waitlisted and RAC ticket holders, have reason to be happy - thanks to a new tablet device that is being given to TTEs across the national transporter's network.
Indian Railways passengers, especially waitlisted and RAC ticket holders, have reason to be happy – thanks to a new tablet device that is being given to TTEs across the national transporter’s network. Called the Hand-Held Terminals (HHTs), the new tablet devices will help TTEs update Indian Railways about the real-time occupancy status of a running train, hence increasing chances of waitlisted, RAC tickets getting confirmed. To begin with, the plan is to introduce these hand-held devices in all Shatabdi and Rajdhani Express trains. “We are going to distribute around 550
...
more...
HHTs across the Indian Railways network and based on the response, the service will be extended to all trains with reserved coaches,” a Railway Ministry official told Financial Express Online.
HHT will help allot vacant berths to RAC and waitlisted passengers and be used to to send updated information about the occupancy of seats/berths back to the server. The idea is simple – once a train leaves its originating destination, the TTE will check tickets and in case a reserved berth or seat is found to be vacant, he will update the status on his HHT device. This HHT device will relay real-time information to the Passenger Reservation System (PRS) through GPRS and the vacant berth will be allotted to waitlisted passengers on subsequent stations. This would help Indian Railways better utilise its capacity in case a passenger fails to board the train or cancel his/her ticket before the preparation of the chart.
Some salient features of the HHT device are:
The new device will also replace paper charts with e-charts and enable computerisation of on-board passenger interface operations. The Railway Ministry official told Financial Express Online that in future the HHT devices will have the provision of Excess Fare Ticket (EFT) and Point of Sale (POS)/digital means of collection of fare as well.
  
Yesterday (20:43) FIRST BREAKING भोपाल से रात में मिली रतलाम के लिए नई हमसफर ट्रेन की सुविधा (m.patrika.com)
New/Special Trains
WCR/West Central
0 Followers
1217 views

News Entry# 371549  Blog Entry# 4105896   
  Past Edits
Dec 14 2018 (20:43)
Station Tag: Ujjain Junction/UJN added by •¸¸•´¯ נнεℓυм εxρяεss ¯•¸¸•´^~/1721922

Dec 14 2018 (20:43)
Station Tag: Ratlam Junction/RTM added by •¸¸•´¯ נнεℓυм εxρяεss ¯•¸¸•´^~/1721922

Dec 14 2018 (20:43)
Station Tag: Vadodara Junction/BRC added by •¸¸•´¯ נнεℓυм εxρяεss ¯•¸¸•´^~/1721922

Dec 14 2018 (20:43)
Station Tag: Surat/ST added by •¸¸•´¯ נнεℓυм εxρяεss ¯•¸¸•´^~/1721922

Dec 14 2018 (20:43)
Station Tag: HabibGanj/HBJ added by •¸¸•´¯ נнεℓυм εxρяεss ¯•¸¸•´^~/1721922
रतलाम। लंबे समय से भोपाल से सीधे रतलाम के लिए ट्रेन की मांग कर रहे यात्रियों को रेलवे ने खुशखबर दी है। अब सोमवार को हबीबगंज से उज्जैन होते हुए रतलाम-बड़ोदरा के रास्ते सोमवार से नई हमसफर ट्रेन की शुरुआत हो रही है। ट्रेन नंबर 01668 हबीबगंज से सोमवार को तो 01667 उधना से मंगलवार को चलेगी।रेलवे के वाणिज्य विभाग से जुडे़ वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि ट्रेन हबीबगंज से चलने के बाद सीहोर, शुजालपुर, मक्सी, उज्जैन, रतलाम, बड़ोदरा, सूरत होते हुए उधना तक जाना-आना करेगी। ट्रेन रतलाम में हबीबगंज से चलने के दौरान रात 2.35 बजे आएगी व 5 मिनट का ठहराव करके 2.40 बजे रवाना होगी। जबकि उधना से चलने के दौरान ट्रेन का रतलाम आगमन रात 9.05 बजे होगा व 9.10 बजे चलाया जाएगा।इस तरह होगा लाभहालाकि हमसफर का टिकट महंगा होता है, लेकिन फिर भी यात्रियों को इससे बड़ा लाभ होगा। बड़ी बात तो ये है कि...
more...
हीरा व साड़ी कारोबारी लंबे समय से सूरत के लिए अतिरिक्त ट्रेन की मांग कर रहे थे। उनको इस ट्रेन से लाभ होगा। इसके अलावा राज्य की राजधानी भोपाल का संबंध भी गुजरात से होगा। इतना ही नहीं, रतलाम से भोपाल जाने वाले वे यात्री जो शाम को 5 व 7 बजे की ट्रेन रतलाम आने के लिए काम में देरी होने की वजह से नहीं पकड़ पाते है, उनको सोमवार को तो एक ट्रेन की सुविधा रतलाम के लिए मिलेगी। इसके अलावा बड़ोदरा से रतलाम आने के लिए दोपहर 12 बजे बाद शाम 5 बजे के पहले कोई ट्रेन नहीं है, एेसे में ये ट्रेन सोमवार को मदद के लिए यात्रियों को शाम को 4.35 बजे ही मिल जाएगी। गति का लाभ भी मिलेगाइस ट्रेन में आने-जाने के दौरान बिजली से चलने वाला इंजन होने से भी गति का लाभ यात्रियों को मिलेगा। इतना ही नहीं, इस समय उज्जैन अगर धार्मिक व्यक्ति महाकाल दर्शन के लिए या भस्म आरती में जाना चाहे तो शाम को 7 बजे बाद कोई सीधी ट्रेन नियमित रुप से मध्यरात्रि में 2 बजे पहले नहीं है। इसके अलावा साप्ताहिक ट्रेन रात को 12.30 बजे रहती है। अब ये अतिरिक्त ट्रेन की सुविधा यात्रियों को मिलेगी व मंगलवार रात 9.10 बजे रतलाम से चलकर सिर्फ 2 घंटे में उज्जैन रात 11.10 बजे लगा देगी। ये रहेगा टाइम टेबलचलने का समय-स्टेशन-आने का समयरात 8.45-हबीबगंज-3.10 मध्यरात9.25-बैरागढ़-2.109.48-सीहोर-1.4010.20-शुजालपुर-1.0511.20-मक्सी-12.0512.35-उज्जैन-11.102.35-रतलाम-9.057.10-बड़ोदरा-4.359.35-सूरत-2.2510.05-उधना-2.30

  
Another humsafar

  
Yeh bas 3 trip ke liye hai

  
In few months in Indian Railways Humsafar number will be more than normal mail/exp and sf trains.

  
Yesterday (12:12) ट्रेन की धुलाई में 2 घंटे नहीं लगेंगे 8 मिनट, 1500 की जगह 300 ली. पानी लगेगा (www.bhaskar.com)
New Facilities/Technology
SECR/South East Central
0 Followers
955 views

News Entry# 371520  Blog Entry# 4103803   
  Past Edits
Dec 14 2018 (12:12)
Station Tag: Durg Junction/DURG added by Saurabh®~/1294142
Stations:  Durg Junction/DURG  
दुर्ग रेलवे स्टेशन के वॉशिंग डिपो में आगामी दिनों में ऑटोमेटिक कोच वाॉशिंग मशीन से कोच धुलेंगे। यह सिस्टम नए साल में शुरू होगा। इस पर रेलवे करीब 2.20 करोड़ रुपए खर्च करेगा। देश में अपने तरह का यह दूसरा वॉशिंग प्लांट होगा। वर्तमान में एक ट्रेन की धुलाई में करीब 2 घंटे का समय लगता है, इस नए सिस्टम से महज 8 मिनट में धुलाई हो सकेगी। उपयोग में आने वाले पानी का 80 प्रतिशत रिसाइकिल कर पुन: उपयोग में लाया जा सकेगा।
  
Yesterday (14:24) सराय रोहिल्ला-अहमदाबाद सेक्शन पर जल्द दौड़ेगी इलेक्ट्रिक इंजन वाली ट्रेन (www.bhaskar.com)
0 Followers
3125 views

News Entry# 371537  Blog Entry# 4104322   
  Past Edits
Dec 14 2018 (14:24)
Station Tag: Rewari Junction/RE added by Big Bash League Soon ✨^~/1353704

Dec 14 2018 (14:24)
Station Tag: Delhi Sarai Rohilla/DEE added by Big Bash League Soon ✨^~/1353704
593 करोड़ रुपए की लागत से सराय रोहिल्ला से गुड़गांव व रेवाड़ी रेलवे सेक्शन के बीच 78 किलोमीटर का ओवरहेड विद्युतीकरण कार्य 19 जनवरी तक पूरा होने जा रही है। दिल्ली रेल मंडल के महाप्रबंधक आरएन सिंह ने बताया कि इस सेक्शन के विद्युतीकरण से संचालन में सुधार आएगा। साथ ही डीजल इंजन गाडिय़ां भी कम होंगी, जिससे प्रदूषण कम होगा। उन्होंने बताया कि रेवाड़ी-अहमदाबाद सेक्शन पर विद्युतीकरण का काम पूरा होने के बाद इलेक्ट्रिक इंजन वाली ट्रेन संचालित की जाएगी।

  
Wow achhi bat

  
Abi Delhi door hai !!

  
pahle dec-18 tak hona tha ab 19jan tak aagye....wah kya speed hai

  
Slow progress
  
Yesterday (23:07) दो साल बाद भी नहीं बढ़ी ट्रेनों की संख्या (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
305 views

News Entry# 371552  Blog Entry# 4106392   
  Past Edits
Dec 14 2018 (23:07)
Station Tag: Pilibhit Junction/PBE added by Pilibhit broad gauge^~/1323097
Stations:  Pilibhit Junction/PBE  
पीलीभीत : पूर्वोत्तर रेलवे के इज्जतनगर मंडल के पीलीभीत-बरेली सिटी रेलखंड पर बड़ी लाइन की ट्रेनों के संचालन को दो साल का समय पूरा हो चुका है। अभी तक कोई नई ट्रेन की शुरुआत नहीं हो सकी है। ऐसे में बड़ी रेल लाइन की ट्रेनों का जनपदवासियों को कोई लाभ नहीं मिल पा रहा है। मजबूरन यात्रियों को रोडवेज बसों का सहारा लेना पड़ रहा है। तत्कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने पीलीभीत रेलवे स्टेशन पर 14 दिसंबर 2016 को पीलीभीत-बरेली सिटी रेलखंड पर पैसेंजर ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। 16 दिसंबर से नियमित ढंग से ट्रेनों का संचालन शुरू हो पाया था। मौजूदा समय में पीलीभीत से बरेली सिटी रेलखंड पर ट्रेनों को चलते हुए दो साल का समय पूरा हो चुका है, लेकिन अभी तक किसी भी ट्रेन की बढ़ोतरी नहीं की गई। पीलीभीत से रात 9:35 बजे पैसेंजर ट्रेन बरेली सिटी के लिए रवाना...
more...
होती थी, जिसे एक अक्टूबर को बंद करके डेमू ट्रेन का संचालन शुरू किया गया। इस समय पांच जोड़ी पैसेंजर ट्रेनें चलाई जा रही हैं जो सिर्फ लोकल ही चल रही हैं। दो साल के अंतराल में रेलवे विभाग ने एक भी ट्रेन नहीं बढ़ा सका, जिससे जनपदवासियों में रोष है। महानगरों के लिए चलाई जाएं ट्रेनें
फोटो 14 पीआइएलपी 6
ब्राडगेज की ट्रेनें बढ़ने से समाज का सर्वांगीण विकास हो सकता है। पंद्रह साल पहले माल का परिवहन होता था। जनपद में राइस मिलें, शुगर फैक्ट्री समेत अन्य औद्योगिक आस्थान संचालित हो रहे हैं। चार महीने पहले शाही रेलवे स्टेशन के पास मालगोदाम निर्माण के लिए जमीन फाइनल हो गई थी। अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। पैसेंजर ट्रेनों से कुछ नहीं हो रहा है। महानगरों के लिए एक्सप्रेस व मेल ट्रेनों का संचालन किया जाए। हमारा यही दुर्भाग्य है कि अभी तक दो साल में एक भी एक्सप्रेस व मेल ट्रेनों का तोहफा नहीं मिल सका है। टनकपुर से दिल्ली, प्रयागराज तक बाया बरेली से ट्रेनों का संचालन किया जा सकता है। पीलीभीत अथवा टनकपुर से मुंबई, त्रिवेणी एक्सप्रेस, आला हजरत एक्सप्रेस ट्रेन को चलाया जा सकता है, जिससे जनपद की जनता को लाभ पहुंचेगा। ट्रेन का रूट सस्ता और सुगम है, तो सरकार के लिए फायदेमंद है। एक जनपद-एक उत्पाद योजना में मालगाड़ी के माध्यम से सीधे बांस को मंगाया जा सकेगा। अभी बांस मंगाने में दिक्कत हो रही है। जनपद में 100 राइस मिलें, 50 फ्लोर मिल, चार चीनी मिल संचालित हो रही है। ऐसे में रेलवे को राजस्व मिलेगा।
-सीए संजय अग्रवाल, जिलाध्यक्ष इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन पीलीभीत।

  
Ner is like zone without portfolio
Page#    350128 news entries  next>>

Go to Full Mobile site