Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

तो क्या हुआ , जो एक ट्रेन निकल गयी तुम्हारी, जिंदगी के ट्रैक मे अगली ट्रेन भी आएगी। - karthik

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Thu Feb 25 03:15:19 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search

PNBE/Patna Junction (10 PFs)
پٹنہ جنکشن     पटना जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Station Road, Mahaveer Mandir, Patna 800001
State: Bihar


Zone: ECR/East Central   Division: Danapur

No Recent News for PNBE/Patna Junction
Nearby Stations in the News
Type of Station: Junction
Number of Platforms: 10
Number of Halting Trains: 140
Number of Originating Trains: 70
Number of Terminating Trains: 71
Rating: 3.8/5 (565 votes)
cleanliness - good (72)
porters/escalators - good (72)
food - good (71)
transportation - good (69)
lodging - good (69)
railfanning - good (69)
sightseeing - good (71)
safety - good (72)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 2327 News Items  next>>
Feb 23 (20:26) जंक्शन: अलग शेड में पार्सल के सामानों की होगी की शॉर्टिंग धन्यवाद (www.livehindustan.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
3179 views

News Entry# 440464  Blog Entry# 4886548   
  Past Edits
Feb 23 2021 (20:26)
Station Tag: Patna Junction/PNBE added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Patna Junction/PNBE  
टैग: सुविधा- जंक्शन पर पार्सल के लिए बनेगा एक और शेड- 02 गुना अधिक राजस्व आया है इस बार पार्सल कार्यालय का, पिछले वर्ष की तुलना में- पटना से दूसरे शहरों से आने व भेजे जाने वाले सामानों की हो सकेगी शॉर्टिंगपटना। रविशंकर सिंहपटना जंक्शन से अलग अलग शहरों से पटना में मंगाए जाने पार्सल की आसानी से डिलीवरी हो सकेगी। साथ ही पटना से बाहर के शहरों में भेजे जाने वाले पार्सल की खेप भी सुरक्षित ढंग से भेजी जा सकेगी। इससे पार्सल की डिलीवरी भी काफी तेज होगी। रेलवे प्रशासन की ओर से जंक्शन के पार्सल कार्यालय के समीप अलग से एक शेड का निर्माण कराया जा रहा है। इस शेड में बाहर से आने वाले व यहां से भेजे जाने वाले सामानों का अलग अलग बंटवारा किया जा सकेगा। शहरों के हिसाब से सामानों को अलग अलग रखने से पार्सल की सुविधा पहले की तुलना में तेज हो...
more...
सकेगी।रेलवे प्रशासन की ओर से पार्सल कार्यालय के पूर्वी हिस्से में शेड बनने का काम अंतिम चरण में है। शेड की छत बन चुकी है। इसकी पूर्वी हिस्से की दीवार को ढंकने का काम हो रहा है। नीचे के फ्लोर को फर्श के रूप में बना दिया गया है। अब जल्द ही इसमें पार्सल के सामानों को रखने की शुरुआत हो जाएगी। जंक्शन के सभी प्लेटफॉर्म पर आने वाले पार्सल व भेजे जाने वाले पार्सल विस्तारित व निर्माणाधीन शेड से भेजे जाएंगे। इस सुविधा का लाभ पार्सल की सेवा लेने वाले लोगों के साथ साथ रेलवे यात्रियों को भी होगा। रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार पटना जंक्शन के पार्सल कार्यालय को प्रत्येक महीने औसतन 16 लाख से अधिक की आमदनी पिछले दो वर्ष से हो रही है। वहीं, वर्ष 2019 की तुलना में वर्ष 2020 में पार्सल कार्यालय की कमाई दोगुनी से अधिक हुई है। इस लिहाज से अब सुविधा बेहतर होने से कमाई और बढ़ने की संभावना रेल अफसर जता रहे हैं।प्लेटफॉर्म पर नहीं बिखरे मिलेंगे पार्सलअभी पार्सल में जगह की कमी के चलते अमूमन प्लेटफार्म पर ही सामान इधर-उधर बिखरे पड़े रहते हैं। जंक्शन के सभी 10 प्लेटफॉर्म पर आए दिन पार्सल के सामान से दिक्कत होती है। लेकिन अब पार्सल शेड के विस्तार से सभी सामानों को शेड में रखकर इसकी अलग अलग शहरों के हिसाब से छंटाई का काम होगा। ऐसे में प्लेटफॉर्म पर अब सामान बिखरे हुए हाल में नहीं मिलेंगे। इससे पटना जंक्शन से आने जाने वाले यात्रियों को भी परेशानी नहीं होगी। वहीं, पार्सल के बुकिंग पर्यवेक्षक सुभाष चंद्र सिंह बताते हैं कि नया शेड मिलने से अब सामान इधर उधर नहीं बिखरे होंगे। नए शेड में पार्सल के सामान की शॉर्टिंग होगी। अलग अलग शहरों का पार्सल छांटकर सुरक्षित ढंग से भेजा जा सकेगा।पार्सल रखने की जगह होगी पर्याप्तपटना जंक्शन के स्टेशन निदेशक डॉ निलेश कुमार ने बताया कि पार्सल कार्यालय के पूर्वी हिस्से में एक बड़ा स्पेस पहले से कबाड़ के सामान से अतिक्रमण की चपेट में था। रेलवे प्रशासन ने इसको अब खाली करा लिया है और इसकी सफाई भी करा दी गई है। इसको बेहतर ढंग से पार्सल के सामान रखने के लिए जगह दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सामान्य श्रेणी के वेटिंग हॉल के निर्माण के बाद पार्सल के जगह में हुई कमी की भरपाई भी की जा सकेगी। प्लेटफॉर्म संख्या एक के सबसे पूर्वी छोर के उतरी हिस्से में पार्सल के लिए विस्तारित शेड बनाया जा रहा है। पार्सल शेड के नीचे बेहतर ढंग से टाइल लगाने के साथ ही फ्लोर बनवाकर रेलवे प्रशासन पार्सल कार्यालय को देगा।
Feb 23 (18:01) पटना जंक्शन पर देश का सबसे बड़ा यात्री प्रतीक्षालय, महिला और छात्रों के लिए विशेष सुविधा (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
1894 views

News Entry# 440383  Blog Entry# 4886323   
  Past Edits
Feb 23 2021 (18:01)
Station Tag: Patna Junction/PNBE added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Patna Junction/PNBE  
चंद्रशेखर, पटना : पूर्व-मध्य रेल के दानापुर मंडल के पटना जंक्शन पर देश का सबसे बड़ा यात्री प्रतीक्षालय बनाया गया है। रेलवे रिजर्वेशन काउंटर के नीचे 10 हजार वर्गफीट में बने इस यात्री प्रतीक्षालय के एक हिस्से में अत्याधुनिक कैफेटेरिया भी बनकर तैयार है। 2500 वर्गफीट में कैफेटेरिया का निर्माण किया गया है। वीआइपी यात्रियों के बैठने के लिए विशेष रूप से लाउंज का निर्माण किया जा रहा है। इस लाउंज में एक साथ 100 से अधिक यात्री बैठ सकते हैं। पूर्णत: वातानुकूलित इस यात्री प्रतीक्षालय में एक साथ 800 से अधिक यात्री बैठ सकेंगे। 
दूसरा सबसे बड़ा यात्री प्रतीक्षालय भी पटना जंक्शन पर
देश
...
more...
का दूसरा सबसे बड़ा यात्री प्रतीक्षालय भी पटना जंक्शन के पार्सल घर के पास बनाया गया है। इसमें एक साथ 350 से अधिक यात्रियों के बैठने की व्यवस्था की गई है। इस प्रतीक्षालय को भी पूर्णत: वातानुकूलित बनाया गया है। 6000 वर्गफीट में बने इस प्रतीक्षालय में यात्रियों के बैठने के लिए 150 से अधिक कुर्सियां लगाई गई हैं। इसके साथ ही बीच का बड़ा भाग ऐसे यात्रियों के लिए छोड़ दिया गया है जहां वे चादर बिछाकर बैठ सकते हैं। 

सबसे बड़े प्रतीक्षालय में लगाई गई हैं 400 कुर्सियां
पटना जंक्शन पर बने देश के सबसे बड़े प्रतीक्षालय में यात्रियों के बैठने के लिए 400 के आसपास कुर्सियां लगाई गई हैं। इसके साथ ही काफी जगह को खाली रखा गया है जहां 400 से अधिक यात्री चादर अथवा प्लास्टिक बिछाकर आराम कर सकेंगे। इस प्रतीक्षालय में एक साथ 200 से अधिक यात्री अपने मोबाइल को चार्ज कर सकते हैं। 

प्रतीक्षालय को बनाया गया है इको फ्रेंडली 
पटना जंक्शन पर बने देश के सबसे बड़े यात्री प्रतीक्षालय को पूरी तरह इको फ्रेंडली बनाया गया है। सौर ऊर्जा से इस प्रतीक्षालय को रोशन किया जा रहा है। सारे एसी भी सौर ऊर्जा से संचालित किये जा रहे हैं। 
मुफ्त वाई-फाई की सुविधा
इस वेटिंग रूम में आराम करने वाले यात्रियों के लिए मुफ्त वाई-फाई की सुविधा मुहैया कराई जा रही है। कोई भी यात्री आधे घंटे तक मुफ्त वाई-फाई की सुविधा का लाभ उठा सकता है। इसके बाद यात्रियों को शुल्क लगेगा। 
महिलाओं के लिए ब्रेस्ट फीडिंग कराने की सुविधा
इस प्रतीक्षालय में महिला यात्रियों के लिए अलग से अपने बच्चे को दूध पिलाने के लिए ब्रेस्ट फीडिंग कक्ष बनाया गया है। पहले उन्हें भीड़भाड़ में बच्चों को दूध पिलाने में परेशानी होती थी। 
कैफेटेरिया व वीआइपी लाउंज शीघ्र होगा शुरू
स्टेशन निदेशक डॉ. निलेश कुमार ने बताया कि पटना जंक्शन पर देश का सबसे बड़ा वातानुकूलित यात्री  प्रतीक्षालय बनाया गया है। पहले इसे 7500 वर्गफीट में बनाया गया था। अब लगभग 2500 वर्ग फीट में कैफेटेरिया बनाया गया है। वीवीआइपी यात्रियों के लिए लाउंज बनाया जा रहा है जहां मॉड्यूलर फर्नीचर रखा जाएगा। यह व्यवस्था निशुल्क होगी। कोरोना संक्रमण के कम होते ही इस प्रतीक्षालय को शुरू कर दिया गया है। शीघ्र ही कैफेटेरिया व वीआइपी लाउंज भी शुरू होगा।
पटना, बिहार ऑनलाइन डेस्‍क। Bihar CoronaVirus Update देश के कुछ राज्‍यों में कोरोना संक्रमण फिर रफ्तार पकड़ रहा है। इसके देखते हुए बिहार सरकार अलर्ट मोड में आ गई है। सरकार ने एक ओर सभी जिलों में संक्रमितों की पहचान के लिए जांच के साथ मास्क लगाने व शारीरिक दूरी के सख्‍ती से पालन का निर्देश दिया ही है, साथ ही होली (Holi) को लेकर बिहार आने वाले लोगों की एयरपोर्ट, रेलवे स्‍टेशन व बस स्‍टैंड पर ही जांच कराने का फैसला लिया है। होली में बाहर से बड़ी संख्‍या में घर लौटते हैं बिहारी विदित हो कि महाराष्ट्र छतीसगढ़, मध्यप्रदेश, पंजाब, केरल सहित कई राज्‍यों में कोरोना संक्रमण के आंकड़े बढ़ने लगे हैं। वहां बड़ी संख्या में बिहार के लोग नौकरी करते हैं। वहां बिहारी मजदूरों की संख्‍या भी कम नहीं है। राज्‍य के बाहर रहने वाले ऐसे बिहारी होली में बड़ी तादाद में घर लौटते हैं। उन्‍हें घर...
more...
लाना रेलवे के लिए तो चुनौती है ही, यह बिहार में कोरोना संक्रमण की आशंका को भी बढ़ाता दिख रहा है।
संक्रमण रोकने के लिए आने वालों की होगी जांच
संक्रमण की आशंका को देखते हुए स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने सभी जिलों के सिविल सर्जनों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बैठक कर पूरी व्यवस्था की समीक्षा की। प्रधान सचिव ने स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट कर दिया है। साथ ही कोरोना जांच, आइसोलेशन सेंटर और आइसीयू की व्‍यवस्‍था रखने का निर्देश भी दिया है। कोरोना संक्रमण का मामला मिलने पर उसकी कांटेक्ट ट्रेसिंग कराई जाएगी। साथ ही संबंधित इलाके के पांच सौ मीटर के दायरे को तत्काल सील कर वहां के सभी निवासियों की आरटीपीसीआर जांच कराई जाएगी। ये एहतियाती कदम होली में कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने में मददगार बनेंगे।
एयरपोर्ट, स्‍टेशन व बस स्‍टॉप पर रहेंगे डॉक्‍टर
पटना की सिविल सर्जन विभा कुमारी सिंह ने बताया कि आगामी 29 मार्च को होली को लेकर बिहार आने वालों की जांच के लिए एयरपोर्ट, रेलवे स्‍टेशन एवं बस स्‍टॉप पर डॉक्‍टरों को तैनात किया जाएगा। डॉक्टरों की टीम के साथ सभी सार्वजनिक स्‍थलों पर तैनात रहेगी। उनके साथ मजिस्ट्रेट और पुलिस बल की भी तैनाती की जाएगी। वे बाहर से आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग व कोरोना जांच करेंगे। इसके लिए डॉक्टरों की सूची तैयार की जा रही है। जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग मिलकर काम करेंगे, ताकि राज्‍य के बाहर से आने वाले सभी लोगों की जांच कराई जा सके।
बिहार में कोरोना के 560 मामले, टॉप पर पटना
बिहार में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति की बात करें तो मरीजों का कुल आंकड़ा 560 है। कई जिलों में एक भी पॉजिटिव मरीज नहीं है। हालांकि, सर्वाधिक 218 एक्टिव केस पटना में हैं। 35 एक्टिव केस के साथ गया दूसरे स्‍थान पर है तो तीसरे नंबर पर सारण में 33 केस हैं।
कोरोना मरीजों को आइसोलेट करने के लिए रेलवे के कोविड 19 आइसोलेशन कोचों का इस्तेमाल नहीं हुआ। इसकी नौबत ही नहीं आई। जबकि एक कोच को आइसोलेशन कोच के रूप में कन्वर्ट करने में 15 से 20 हजार का खर्च आया था। पूर्व मध्य रेल में जनरल क्लास के कुल 269 कोचों को आइसोलेशन कोच में तब्दील किया गया था।
इस तरह 40 लाख से अधिक खर्च हो गए। काफी समय तक पटना जंक्शन पर 40 कोचों को मरीजों के लिए तैयार रखा गया। उसके बाद से पाटलिपुत्र स्टेशन से निर्माणाधीन कोचिंग कॉम्प्लेक्स तक इन कोचों को खड़ा रखा गया है।
^जो
...
more...
नए कोच थे, उनका इस्तेमाल पैसेंजर ट्रेनों में कर रहे हैं। वैसे आइसोलेशन कोचों के लिए ज्यादातर वैसे ही कोचों का इस्तेमाल किया गया था, जिनकी लाइफ पूरी होने को थी। अभी जो भी कोच खड़े हैं, उन्हें कंडम करने के लिए भेजा जाएगा। एक कोच को आइसोलेशन कोच में तब्दील करने में करीब 15 से 20 हजार का खर्च आया था।राजेश कुमार, सीपीआरओ, पूर्व मध्य रेल
Feb 22 (07:42) ट्रेन में पटना का युवक कर रहा था गंदा काम, आरपीएफ ने धर दबोचा... (m.jagran.com)
Crime/Accidents
ECR/East Central
0 Followers
2956 views

News Entry# 440207  Blog Entry# 4884613   
  Past Edits
Feb 22 2021 (07:42)
Station Tag: Rourkela Junction/ROU added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 22 2021 (07:42)
Station Tag: Hatia/HTE added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 22 2021 (07:42)
Station Tag: Patna Junction/PNBE added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 22 2021 (07:42)
Station Tag: Ranchi Junction/RNC added by Adittyaa Sharma/1421836
Patna News Bihar News Jharkhand News आरपीएफ ने राउरकेला - हटिया पैसेंजर से संदिग्ध गतिविधियों में शामिल दो युवकों को पकड़ा। पटना बिहार और साहिबगंज के रहने वाले ये युवक बार-बार मोबाइल पर गलत काम कर रहे थे।
रांची, जासं। Patna News, Bihar News, Jharkhand News आरपीएफ कर्मियों ने राउरकेला से हटिया आने वाली पैसेंजर ट्रेन से रविवार को दो साइबर अपराधियों को पकड़ा है। यह साइबर अपराधी पटना के सोनपाड़ा इलाके का मनीष और साहिबगंज के संकरीगली घाट इलाके का मनोहर यादव हैं। दोनों अपराधियों को पूछताछ करने के बाद चुटिया थाना पुलिस के हवाले कर दिया गया है।
आरपीएफ
...
more...
के अधिकारियों ने बताया कि दोनों के मोबाइल पर थोड़ी थोड़ी देर में पैसे आने का मैसेज आ रहा था। उनके अकाउंट में कभी 10 हजार रुपये तो कभी पांच हजार रुपये आने का मैसेज ‌आ रहा था। इससे आरपीएफ कर्मियों को शक हुआ। पूछताछ में पहले दोनों ने किसी भी तरह के अपराध में शामिल होने से इनकार किया। लेकिन बाद में जब मोबाइल पर पैसे आने की बात उनसे पूछी गई तब उन्होंने अपना अपराध कुबूल किया।
गिरफ्तार किए गए दोनों युवकों ने आरपीएफ को बताया कि वे लोग ट्रेन में अपराध नहीं करते। बल्कि भोले- भाले लोगों को फंसा कर ऑनलाइन अपराध करते हैं। उनके अकाउंट से पैसे उड़ाते हैं। इसके बाद आरपीएफ के अधिकारियों ने रांची के चुटिया थाना प्रभारी को फोन कर इसकी जानकारी दी और चुटिया थाना पुलिस को दोनों आरोपियों को सौंप दिया। चुटिया थाना प्रभारी दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रहे हैं।
रांची - जयनगर ट्रेन को शुरू करने को लेकर रेलवे स्टेशन पर धरना
रांची जयनगर एक्सप्रेस ट्रेन को शुरू करने की मांग को लेकर विद्यापति स्मारक समिति ने रांची रेलवे स्टेशन परिसर में धरना दिया। धरने के बाद समिति के पदाधिकारियों ने स्टेशन मैनेजर को ज्ञापन सौंपा। इसमें मांग की गई है कि रांची जयनगर एक्सप्रेस ट्रेन को फौरन चालू किया जाए। साथ ही चेतावनी दी गई है कि अगर इस ट्रेन को राउरकेला से रांची होते हुए जयनगर तक चलाया गया तो उग्र आंदोलन होगा।
समिति चाहती है कि रांची जयनगर एक्सप्रेस ट्रेन राउरकेला से जय नगर के लिए नहीं बल्कि रांची से जयनगर के लिए चलाई जाए।रेलवे ने दीपावली के मौके पर रांची जयनगर स्पेशल ट्रेन को चालू किया था। लेकिन कुछ दिनों तक इसे दौड़ाने के बाद बंद कर दिया गया। यही नहीं रेलवे ने एक आदेश जारी कर रांची जयनगर स्पेशल ट्रेन को राउरकेला वाया रांची जयनगर चलाने का ऐलान भी किया है।
रेलवे के अधिकारी बताते हैं कि जिस दिन भी रांची जयनगर एक्सप्रेस ट्रेन चालू होगी तो यह जयनगर से राउरकेला तक जाएगी और फिर राउरकेला से रांची होते हुए वापस जयनगर जाएगी। रांची जयनगर स्पेशल ट्रेन को बंद किए जाने और इसे राउरकेला तक चलाए जाने की घोषणा से विद्यापति स्मारक समिति के लोग नाराज हैं। उनका कहना है कि इस ट्रेन को रांची से ही जयनगर के बीच चलाया जाए।
उनका कहना है कि रांची से जयनगर रोड पर चलने वालों की संख्या काफी अधिक होती है। अगर यह ट्रेन राउरकेला से चलेगी तो रांची वासियों के लिए मुश्किल हो जाएगी। इसी मांग को लेकर विद्यापति स्मारक समिति ने रांची रेलवे स्टेशन पर धरना दिया।
Page#    Showing 1 to 20 of 2327 News Items  next>>

Go to Full Mobile site