Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Malgudi Express: From the pages of RK Narayan to the railway tracks of Mysore. - Vageesh

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Thu Feb 25 10:33:19 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search

HTZ/Hathidah Junction (2 PFs)
ہاتھیدہ جنکشن     हाथीदा (हाथीदह) जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Mokama Bhagalpur Highway (NH 80), Musahari, Dist - Patna, Pin - 803301
State: Bihar

Elevation: 50 m above sea level
Zone: ECR/East Central   Division: Danapur

No Recent News for HTZ/Hathidah Junction
Nearby Stations in the News
Type of Station: Junction
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 59
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 3.8/5 (39 votes)
cleanliness - good (5)
porters/escalators - good (4)
food - good (5)
transportation - good (5)
lodging - good (5)
railfanning - good (5)
sightseeing - good (5)
safety - good (5)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 39 News Items  next>>
Dec 27 2020 (13:44) Express train overshoots red signal by 500 metres, crew suspended (m.hindustantimes.com)
Crime/Accidents
0 Followers
3042 views

News Entry# 430372  Blog Entry# 4825178   
  Past Edits
Dec 27 2020 (13:45)
Station Tag: Hathidah Junction/HTZ added by Politics can wait Development cant/2071619

Dec 27 2020 (13:45)
Train Tag: Danapur - Tatanagar Super Festival Special/08184 added by Politics can wait Development cant/2071619
The train overshot the red signal, technically known as Signal Passing at Danger (SPAD), by 500 metres leading to suspension of the loco pilot and the assistant loco pilot as per the railway safety protocol.
Passengers of the Tata Nagar-bound Danapur-Tata express were left stranded for hours after the train overshot the red signal at Hatidah Junction falling under Danapur rail division of the Eastern Central Railway on Saturday morning.
The train overshot the red signal, technically known as Signal Passing at Danger (SPAD), by 500 metres leading to suspension of
...
more...
the loco pilot and the assistant loco pilot as per the railway safety protocol.
“The loco pilot and assistant loco pilot were immediately put under suspension for crossing the danger signal while driving an express train which left for its destination with different crew”, CPRO said.
The incident caused a huge alarm. The standard procedure for a SPAD is to detain the driver, conduct his blood test to ascertain whether he was under the influence of alcohol or drugs and to question him about the cause. SPAD is an offence which can lead to the loco pilot and the assistant loco pilot being discharged from service.
It is yet to be ascertained whether the incident occurred because of poor brakes or if the loco pilot (LP) and assistant loco pilot (ALP) forgot to stop the train.
According to the ECR official, incidents of platform overshooting occur when the loco pilot does not apply brakes at the right time. In some cases, this can happen if the train crew is engrossed in talks with the fellow personnel. The train usually gains high speed after leaving Mokama junction and as a result, some of its coaches, or the entire train, could have overshot the station by a distance. The distance between the two stations is just 8kms.
“Such incidents are taken very seriously by the railways and there is a protocol to be followed. In such cases, the station master alerts supervisors who have to measure the distance overshot. Also, the loco pilot has to be questioned and other details are noted before the train can resume its journey,“ said Rajesh Kumar, chief public relations officer, ECR.
He informed that ECR initiated a high level enquiry comprising a four-member team of top officials — senior divisional operating manager, divisional mechanical engineer, senior divisional safety officer and divisional electrical engineer. They will submit the final report within a stipulated period.
Dec 27 2020 (12:37) Express train overshoots red signal by 500 metres, crew suspended (www.hindustantimes.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
5665 views

News Entry# 430355  Blog Entry# 4825107   
  Past Edits
Dec 27 2020 (12:37)
Station Tag: Hathidah Junction/HTZ added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Hathidah Junction/HTZ  
The train overshot the red signal, technically known as Signal Passing at Danger (SPAD), by 500 metres leading to suspension of the loco pilot and the assistant loco pilot as per the railway safety protocol.
Passengers of the Tata Nagar-bound Danapur-Tata express were left stranded for hours after the train overshot the red signal at Hatidah Junction falling under Danapur rail division of the Eastern Central Railway on Saturday morning.
The train overshot the red signal, technically known as Signal Passing at Danger (SPAD), by 500 metres leading to suspension of
...
more...
the loco pilot and the assistant loco pilot as per the railway safety protocol.
“The loco pilot and assistant loco pilot were immediately put under suspension for crossing the danger signal while driving an express train which left for its destination with different crew”, CPRO said.
The incident caused a huge alarm. The standard procedure for a SPAD is to detain the driver, conduct his blood test to ascertain whether he was under the influence of alcohol or drugs and to question him about the cause. SPAD is an offence which can lead to the loco pilot and the assistant loco pilot being discharged from service.
It is not yet to be ascertained whether the incident occurred because of poor brakes or if the loco pilot (LP) and assistant loco pilot (ALP) forgot to stop the train.
According to the ECR official, incidents of platform overshooting occur when the loco pilot does not apply brakes at the right time. In some cases, this can happen if the train crew is engrossed in talks with the fellow personnel. The train usually gains high speed after leaving Mokama junction and as a result, some of its coaches, or the entire train, could have overshot the station by a distance. The distance between the two stations is just 8kms.
“Such incidents are taken very seriously by the railways and there is a protocol to be followed. In such cases, the station master alerts supervisors who have to measure the distance overshot. Also, the loco pilot has to be questioned and other details are noted before the train can resume its journey,“ said Rajesh Kumar, chief public relations officer, ECR.
He informed that ECR initiated a high level enquiry comprising a four-member team of top officials — senior divisional operating manager, divisional mechanical engineer, senior divisional safety officer and divisional electrical engineer. They will submit the final report within a stipulated period.
दानापुर रेल मंडल के मोकामा-किउल रेलखंड के हाथीदह स्टेशन पर शनिवार सुबह बड़ा हादसा टल गया। ट्रेन संख्या 08184 दानापुर-टाटानगर सुपर एक्सप्रेस हाथीदह स्टेशन पर ओवर सूट हो गई। यानी सिग्नल लाल होने के बावजूद ट्रेन आगे बढ़ गई। इससे यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। इस घटना के तुरंत बाद रेलवे प्रशासन ने ट्रेन चालक, उप चालक और गार्ड को सस्पेंड कर दिया। ट्रेन करीब दो घंटे तक स्टेशन पर रुकी रही। वहीं, दानापुर रेल मंडल ने घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।
पूर्व मध्य रेल के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि सुबह आठ बजकर 14 मिनट पर हाथीदह स्टेशन पर दानापुर-टाटानगर सुपर एक्सप्रेस होम सिग्नल को पार कर आगे निकल गई। इमरजेंसी ब्रेक लगाकर उसे रोका
...
more...
गया। बाद में ट्रेन को वापस पीछे स्टेशन पर लाया गया। इस घटना के बाद त्वरित कार्रवाई करते हुए लोको चायलट व असिस्टेंट को हाथीदह स्टेशन पर ही उतार दिया। यात्रियों ने बताया कि इंजन के साथ पांच बोगियां प्लेटफॉर्म से बाहर निकल गईं। ट्रेन के आगे बढ़ने के बाद गलती का एहसास होने पर चालक ट्रेन को पीछे कर स्टॉपेज प्वाइंट पर ले आए।

घटना की सूचना दानापुर रेल मंडल कंट्रोल को दी गई। कंट्रोल के निर्देश पर ट्रेन के चालक, उपचालक और गार्ड को हाथीदह स्टेशन पर उतार दिया गया। किऊल जंक्शन से दूसरे गार्ड, चालक, उपचालक आए, तब ट्रेन को आगे रवाना किया गया। वहीं, मोकामा से आई मेडिकल टीम ने चालक, उपचालक और गार्ड की मेडिकल जांच की और तीनों का ब्लड सैम्पल लिया। रेलवे ने कार्रवाई करते हुए गार्ड एमआई सिद्दीकी, चालक आरपी श्रीवास्तव एवं उप चालक बृजमोहन पासवान को निलंबित कर दिया है।
तीन माह से दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन से झाझा के बीच ट्रेनों की गति सीमा 130 किमी प्रति घंटे की गई है। हाथीदह स्टेशन में दो ही लाइन अप और डाउन हैं। मेन लाइन में ही प्लेटफॉर्म है। इस कारण ट्रेनें प्लेटफॉर्म में घुसने के समय काफी तेज रहती हैं। सिग्नल को पार करने वाली सुपर एक्सप्रेस की गति भी 90 किमी के आसपास थी। स्टेशन मास्टर की चेतावनी के बाद भी गाड़ी नहीं रुकी, तो हाई फ्रिक्वेंसी सिस्टम के माध्यम से चालक को गाड़ी रोकने का निर्देश दिया गया। इसके बाद उप चालक ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर गाड़ी रोकी।
किऊल-पटना रेल रूट के हाथीदह स्टेशन के पास शनिवार को बड़ी दुर्घटना टल गई। दानापुर से टाटा को जा रही 08184 एक्सप्रेस हाथीदह स्टेशन पर बिना रूके निकल गई। हालांकि ट्रेन के गार्ड ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर स्टेशन के आगे ट्रेन को रोका। घटना के बाद दानापुर डिविजन के अधिकारियों में खलबली मच गई। ट्रेन लगभग 1.45 मिनट तक स्टेशन के आगे जाकर खड़ी रही।
दानापुर डिविजन को इसकी सूचना मिलने पर ट्रेन के लोको पायलट एवं गार्ड को वहीं रोक दिया गया। फिर किऊल से लाइट इंजन द्वारा दूसरे लोको पायलट एवं गार्ड को घटना स्थल पर भेजा गया। इसके बाद ट्रेनों को फिर से वापस हाथीदह स्टेशन पहुंचाया गया। तब जाकर ट्रेन वहां से अपने गणतव्य की ओर रवाना हुई।
...
more...

इस घटना क्रम के चलते ट्रेन दो घंटे की देरी से किऊल पहंुची। प्रतिदिन चलने वाली दानापुर-टाटा एक्सप्रेस का हाथीदह स्टेशन पर नियमित ठहराव है। बावजूद इसके लोको पायलट ने ट्रेन को नहीं रोका। हाथीदह स्टेशन पर सवार होने वाले एवं उतरने वाले यात्रियों में अफरा तफरी मच गई। इन बिन्दुओं पर चल रही जांच: दानापुर डिविजन के वरिष्ठ अधिकारी इस घटना के जांच में जुटे हैं।
लोको पायलट ने किस परिस्थिति में ट्रेन नहीं राेकी। क्या पायलट नशे में तो नहीं थे। या फिर पायलट को नींद तो नहीं आ गई। जबकि लोको पायलट के साथ सहायक पायलट भी साथ चलते हैं। फिर ऐसी गलतियां क्यों और कैसे हुई। विभिन्न बिन्दुओं पर इसकी जांच की जा रही है।
गार्ड के इमरजेंसी ब्रेक लगाने पर स्टेशन के बाहर जाकर रुकी ट्रेन
हादीदह स्टेशन से आगे दानापुर-टाटा एक्सप्रेस 1.45 मिनट तक रूकी रही
घटना के बाद दानापुर एक्सप्रेस लगभग 1.45 मिनट तक रूकी रही। ट्रेन सुबह 8.11 मिनट पर पहुंची थी। 9.59 मिनट पर आगे के लिए रवाना हुई। किऊल पहंुचने के बाद 14 मिनट रूकी रही। जबकि किऊल स्टेशन पर इस ट्रेन का ठहराव मात्र दो मिनट का ही है।
किऊल के स्टेशन मैनेजर ने भी घटना की पुष्टि की है। वहीं हाथीदह से ट्रेन को लेकर आए गार्ड गोपाल जी ने बताया कि उन्हें किऊल में रेस्ट करना था। फिर किऊल से 03235 साहिबगंज-दानापुर इंटरसिटी को लेकर रवाना होना था। डिविजन के वरिष्ठ अधिकारिेयों के निर्देश पर घटनास्थल पर गया।
समय से पांच मिनट लेट से ट्रेन पहुंची थी हाथीदह|
08184 डाउन निर्धारित समय सुबह 8.09 मिनट के बजाय 5 मिनट देरी से यानि 8.14 मिनट पर हाथीदह पहुंची थी। ट्रेन आगे निकली तो यात्रियों में अफरातफरी मच गई। गार्ड के इमरजेंसी ब्रेक लगाने के बाद ट्रेन जब तक रूकती, तब तक आगे बढ़ चुकी थी।
ट्रेन में सवार व स्टेशन पर खड़े यात्रियों में अफरा-तफरी| हाथिदा स्टेशन पर चलती ट्रेन में कुछ लोग चढ़ने-उतरने
का प्रयास किया लेकिन रफ्तार बहुत तेज थी। यात्री भौंचक थे। आखिर ट्रेन रूकी क्याें नहीं। पूछताछ करने लगे। स्टेशन से आगे ट्रेन के रूकने पर यात्री उतर कर प्लेटफार्म पैदल आए।
किऊल से भेजे गए दूसरे लोको पायलट व गार्ड
दानापुर के अधिकारियों के निर्देश पर किऊल से लोको पायलट एवं गार्ड का स्पेशल लाइट इंजन भेजा गया। जो लोको पायलट गया वह 03236 दानापुर साहिबगंज इंटरसिटी एक्सप्रेस को लेकर सुबह की किऊल पहुंचे थे। उनकी ड्यूटी दानापुर से किऊल तक ही थी।
इस ट्रेन इलेक्ट्रिक लोको पायलट अभय कुमार एवं गार्ड गोपाल जी को वहां भेजा गया। पायलट एवं गार्ड वहां पहुंच ट्रेन को पहले पीछे करते हुए हाथीदह स्टेशन पर पहुंचाया। फिर हाथीदह से आगे की ओर रवाना किया।
तीनों दोषी किए गए सस्पेंड
दानापुर-टाटा के लोको पायलट वृज मोहन पासवान, उपचालक राजेश कुमार श्रीवास्तव और गार्ड एमआई सिद्दिकी को सस्पेंड कर दिया गया है। मोकामा रेलवे अस्पताल में अल्कोहलिक जांच में शून्य पाया गया। डिविजन के वरीय अधिकारी घटना की जांच कर रहे हैं।
पृथ्वी राज, पीआरओ, दानापुर
दानापुर रेल मंडल के मोकामा-किउल रेलखंड के हाथीदह स्टेशन पर शनिवार सुबह बड़ा हादसा टल गया। ट्रेन संख्या 08184  दानापुर-टाटानगर सुपर एक्सप्रेस हाथीदह स्टेशन पर ओवर सूट हो गई। यानी सिग्नल लाल होने के बावजूद ट्रेन आगे बढ़ गई। इससे यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। इस घटना के तुरंत बाद रेलवे प्रशासन ने ट्रेन चालक, उप चालक और गार्ड को सस्पेंड कर दिया। ट्रेन करीब दो घंटे तक स्टेशन पर रुकी रही। वहीं, दानापुर रेल मंडल ने घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। पूर्व मध्य रेल के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि सुबह आठ बजकर 14 मिनट पर हाथीदह स्टेशन पर दानापुर-टाटानगर सुपर एक्सप्रेस होम सिग्नल को पार कर आगे निकल गई। इमरजेंसी ब्रेक लगाकर उसे रोका गया। बाद में ट्रेन को वापस पीछे स्टेशन पर लाया गया। इस घटना के बाद त्वरित कार्रवाई करते हुए लोको चायलट व असिस्टेंट को हाथीदह स्टेशन पर ही उतार दिया। यात्रियों...
more...
ने बताया कि इंजन के साथ पांच बोगियां प्लेटफॉर्म से बाहर निकल गईं। ट्रेन के आगे बढ़ने के बाद गलती का एहसास होने पर चालक ट्रेन को पीछे कर स्टॉपेज प्वाइंट पर ले आए। घटना की सूचना दानापुर रेल मंडल कंट्रोल को दी गई। कंट्रोल के निर्देश पर ट्रेन के चालक, उपचालक और गार्ड को हाथीदह स्टेशन पर उतार दिया गया। किऊल जंक्शन से दूसरे गार्ड, चालक, उपचालक आए, तब ट्रेन को आगे रवाना किया गया। वहीं, मोकामा से आई मेडिकल टीम ने चालक, उपचालक और गार्ड की मेडिकल जांच की और तीनों का ब्लड सैम्पल लिया। रेलवे ने कार्रवाई करते हुए गार्ड एमआई सिद्दीकी, चालक आरपी श्रीवास्तव एवं उप चालक बृजमोहन पासवान को निलंबित कर दिया है। तीन माह से दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन से झाझा के बीच ट्रेनों की गति सीमा 130 किमी प्रति घंटे की गई है। हाथीदह स्टेशन में दो ही लाइन अप और डाउन हैं। मेन लाइन में ही प्लेटफॉर्म है। इस कारण ट्रेनें प्लेटफॉर्म में घुसने के समय काफी तेज रहती हैं। सिग्नल को पार करने वाली सुपर एक्सप्रेस की गति भी 90 किमी के आसपास थी। स्टेशन मास्टर की चेतावनी के बाद भी गाड़ी नहीं रुकी, तो हाई फ्रिक्वेंसी सिस्टम के माध्यम से चालक को गाड़ी रोकने का निर्देश दिया गया। इसके बाद उप चालक ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर गाड़ी रोकी।
Page#    Showing 1 to 20 of 39 News Items  next>>

Go to Full Mobile site