Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Mangala Lakshadweep: meri raah tujhse, meri chaah tujhse; mujhe bas yahin reh jaana - Kirti Solanki

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Feb 26 19:06:57 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 4616509-0
no description available
Entry# 4616509-0

DDNA/Dudhaunda (1 PFs)
دودھونڑا     दुधौंडा

Track: Construction - Electric-Line Doubling

Show ALL Trains
Patrahi,Kerakat,Jaunpur,222001
State: Uttar Pradesh

Elevation: 84 m above sea level
Zone: NER/North Eastern   Division: Varanasi

No Recent News for DDNA/Dudhaunda
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 1
Number of Halting Trains: 6
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: NaN/5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 6 of 6 News Items  
Jan 10 (22:25) दोहरीकरण के लिए रुट प्लान तय, एसपी जौनपुर ने गाजीपुर एसपी को लिखा पत्र (m.livehindustan.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
4030 views

News Entry# 432784  Blog Entry# 4840510   
  Past Edits
Jan 10 2021 (22:25)
Station Tag: Dudhaunda/DDNA added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Dudhaunda/DDNA  
जौनपुर। निज संवाददाताजिले के चंदवक थाना क्षेत्र में स्थित दुधौडा स्टेशन स्थित कोपा कस्बे के पास स्थित डगरा के निकट रेलपथ दोहरीकरण का काम रात आठ बजे से होना है। रविवार की सुबह छह बजे तक काम चलेगा। इसके लिए रुट प्लान तय किया गया। जनपद गाजीपुर से चन्दवक व अन्य तरफ से आने वाले भारी वाहन व छोटे वाहनों का मार्ग परिवर्तित रहेगा।पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर ने बताया कि बड़ी गाड़ी पूरब से आने वाली कस्बा पतरही चौकी के पास से मौधा बाजार के आगे से पश्चिम से आने वाली बड़ी गाड़ियाँ चन्दवक बाजार से वाराणसी रोड छोटी गाड़ियाँ पूरब से आने वाली कस्बा पतरही चौकी से उत्तर रोड करीब 200 मीटर नहर के पास से पश्चिम नहर पटरी पकड़कर ग्राम बिसौरी पुल से दक्षिण तरफ रोड से अन्दर ग्राउण्ड पास से मेन रोड पर जाएगी। पश्चिम से छोटी गाड़ी आने वाली घुट्टा अन्डर ग्राउण्ड पास से बिसौरी पुल पूरब...
more...
नहर पटरी पकड़कर कस्बा पतरही बाजार से मेन रोड बलरामपुर बैंक से दक्षिण तरफ नियार पुल से बाबतपुर होते हुए जाएगी।
Jan 10 (08:10) औडिहार-केराकत दोहरीकरण चंदवक की ओर आने वाले वाहनों का रुट आज रहेगा परिवर्तित (www.google.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
7878 views

News Entry# 432697  Blog Entry# 4839860   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Stations:  Dudhaunda/DDNA  
जौनपुर। गाजीपुर समेत अन्य दिशाओं से चंदवक की ओर आने वाले वाहनों के लिए रविवार को रूट परिवर्तन किया गया है। दुधौड़ा स्टेशन के निकट कोपा कस्बे डगरा स्थित क्रासिंग पर रेल दोहरीकरण कार्य के मद्देनजर रूट परिवर्तन किया गया है। सुबह आठ बजे से शाम छह बजे तक रूट परिवर्तित रहेगा।विज्ञापनएसपी राजकरन नय्यर ने बताया कि जनपद गाजीपुर से चंदवक व अन्य तरफ से आने वाले भारी वाहन व छोटे वाहनों का मार्ग परिवर्तित रहेगा। बड़ी गाड़ी पूरब से आने वाली कस्बा पतरही चौकी के पास से मौधा बाजार के आगे से निकलेंगी जबकि पश्चिम से आने वाली बड़ी गाड़ियां चंदवक बाजार से वाराणसी रोड से गुजरेंगी। पूरब से आने वाली छोंी गाड़ियां कस्बा पतरही चौकी से उत्तर की दिशा में 200 मीटर नहर के पास से पश्च:िम नहर पटरी के रास्ते बिसौरी पुल से दक्षिण तरफ रोड से अंडरपास से मुख्य मार्ग पर पहुंचेंगी। पश्चिम से आने वाली छोटी...
more...
गाड़ी घुट्टा अंडरपास से बिसौरी पुल के पूरब नहर पटरी के रास्ते पतरही बाजार से होकर मुख्य मार्ग पर होकर बलरामपुर बैंक से दक्षिण तरफ नियार पुल से बाबतपुर होते हुए निकलेंगी।
Feb 15 2020 (19:42) Amid protests, Urdu back on signboards at rly platforms in U'khand (m.timesofindia.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
6127 views

News Entry# 401189  Blog Entry# 4566351   
  Past Edits
Feb 15 2020 (19:43)
Station Tag: Dudhaunda/DDNA added by Saurabh®^~/1294142

Feb 15 2020 (19:43)
Station Tag: Dehradun/DDN added by Saurabh®^~/1294142
Dehradun: Barely days after replacing Urdu with Sanskrit, Dehradun railways authorities have now gone back to Urdu on signboards at railway stations.
The move comes days after name of Dehradun railway station was written in Sanskrit as Dehradunam, along with Hindi and English, when the station re-opened for public after three months. The name for Doiwala railway station, also in Dehradun, was written ‘Doiwalah’ and a new railway station in Rishikesh as ‘Yog Nagari Rishikeshah’.
However, soon after the railway ministry issued a notification stating that Sanskrit can be used as an additional
...
more...
language apart from the existing languages on railway signboards. Following which, the authorities went back to the format of English-Hindi-Urdu on February 10. But now the authorities are in a fix after members of right-wing outfits gheraoed the Dehradun station manager and demanded Sanskrit back on the signboards.
Ganesh Chandra Thakur, station director of Dehradun railway station, told TOI that the railway manual states that signboards at railway station should be in three languages — English, Hindi and regional/second language of the state. “It was right to replace Urdu with Sanskrit here. But adding a fourth language needs special provisions and approvals from both railways and state government. This will take some time and we are worried of the law and order situation as those who want Sanskrit back have threatened to protest and changing it immediately is not in our hands,” he said.
Meanwhile, members of right-wing outfits have announced to launch a protest if the authorities fail to include Sanskrit on the signboards by next week. RB Bijalwan, state president of Sanskrit teachers association, told TOI that removing Sanskrit from signboards was an insult to the language. “We have given a week’s time to the district magistrate and railway authorities to fix the issue. We want Sanskrit back on the signboard and have no problem with Urdu as an additional language,” he said.
Cabinet minister and government spokesperson Madan Kaushik said that the state government will write to the Centre and railway ministry to include Sanskrit on signboards at railway stations. “When we were part of UP, our second language was Urdu. Now, we are a different state and Sanskrit is our second language. We will be writing to the Centre seeking Sanskrit on our signboards,” Kaushik said.
Jan 24 2020 (21:44) राजाजी नेशनल पार्क बना ट्रेनों की हाईस्पीड में बाधक Moradabad News (m-jagran-com.cdn.ampproject.org)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
7059 views

News Entry# 399798  Blog Entry# 4548416   
  Past Edits
Jan 24 2020 (21:45)
Station Tag: Dudhaunda/DDNA removed by ꧁༒☬ Sp Sharma☬༒꧂^~/1833693

Jan 24 2020 (21:45)
Station Tag: Haridwar/HW added by ꧁༒☬ Sp Sharma☬༒꧂^~/1833693

Jan 24 2020 (21:45)
Station Tag: Dehradun/DDN added by ꧁༒☬ Sp Sharma☬༒꧂^~/1833693

Jan 24 2020 (21:45)
Station Tag: Dudhaunda/DDNA added by ꧁༒☬ Sp Sharma☬༒꧂^~/1833693

Jan 24 2020 (21:45)
Station Tag: Moradabad Junction/MB added by ꧁༒☬ Sp Sharma☬༒꧂^~/1833693
मुरादाबाद, देहरादून तक अधिक कोच और तेज गति से ट्रेन संचालन के लिए रेल प्रशासन तैयार है लेकिन, राजाजी नेशनल पार्क प्रबंधन बाधक बन रहा है। उसने रेल प्रशासन के सामने ऐसी शर्त रखी है कि तेज गति से ट्रेनों को चलाया नहीं जा सकता है। रेल प्रशासन की लक्सर से देहरादून तक हाई स्पीड ट्रेन चलाने की योजना है लेकिन, राजाजी नेशनल पार्क प्रबंधन इसके लिए सबसे बड़ा बाधक बना हुआ है।
पार्क प्रशासन ने 50 किमी प्रतिघंटा गति की है तय
एक साल पहले ट्रेन से जंगली हाथी टकरा गया
...
more...
था, उसके बाद राजाजी नेशनल पार्क प्रशासन ने ट्रेनों की गति अधिकतम 50 किमी प्रतिघंटा निर्धारित कर दी थी। इसके बाद भी रेल प्रशासन 18 कोच की हाई स्पीड ट्रेन देहरादून तक चलाने के लिए स्टेशन का विस्तार करा रहा हैै।
मोतीचूर स्टेशन पर लूप लाइन के विस्तार पर लगाई रोक
हरिद्वार देहरादून के बीच पांच स्टेशन हैं। रेल प्रशासन चार स्टेशनों की लूप लाइन का विस्तार करने में सफल रहा है। राजाजी नेशनल पार्क प्रबंधन ने मोतीचूर स्टेशन पर लूप लाइन के विस्तार पर रोक लगा दी है।

पार्क प्रबंधन ने रेललाइन के दोनों ओर ऊंची दीवार बनाने की रखी शर्त
हरिद्वार देहरादून के बीच तेज गति से ट्रेन चलाने और 18 कोच वाली ट्रेन चलाने के लिए मोतीचूर स्टेशन की लूप लाइन बढ़ाने की अनुमति मांगी है। पार्क प्रबंधन ने हाथी व जंगली जानवरों की सुरक्षा के लिए 40 किमी तक रेललाइन के दोनों ओर ऊंची दीवार बनाने और बीच-बीच में जानवरों के आने जाने के लिए अंडर पास निर्माण की शर्त रखी है।

राजाजी नेशनल पार्क प्रबंधन से वार्ता की जा रही है। मोतीचूर स्टेशन का लूप लाइन का विस्तार करने की अनुमति नहीं मिलती है तो फरवरी के बाद देहरादून जाने वाली सभी ट्रेनों में कोच की संख्या बढ़ाकर 18 की जाएगी। साथ ही मोतीचूर में ट्रेन को रोके बिना चलाएगा। अन्य समस्या के लिए वार्ता भी जारी रहेगी।
तरुण प्रकाश, मंडल रेल प्रबंधक
Dec 04 2018 (15:05) ज्वलंत समस्याओं के दंश से कराह रही केराकत की जनता (m.jagran.com)
Politics
NER/North Eastern
0 Followers
27111 views

News Entry# 370768  Blog Entry# 4067767   
  Past Edits
Dec 04 2018 (15:08)
Station Tag: Gangauli/GNGL added by श्री काल भैरव~/1207464

Dec 04 2018 (15:08)
Station Tag: Dudhaunda/DDNA added by श्री काल भैरव~/1207464

Dec 04 2018 (15:08)
Station Tag: Faridaha Halt/FRDH added by श्री काल भैरव~/1207464

Dec 04 2018 (15:08)
Station Tag: Dobhi/DHE added by श्री काल भैरव~/1207464

Dec 04 2018 (15:07)
Station Tag: Yadvendranagar/YDV added by श्री काल भैरव~/1207464

Dec 04 2018 (15:07)
Station Tag: Muftiganj/MFJ added by श्री काल भैरव~/1207464

Dec 04 2018 (15:05)
Station Tag: Kerakat/KCT added by श्री काल भैरव~/1207464
जागरण संवाददाता, केराकत (जौनपुर): केराकत क्षेत्र में आज भी ज्वलंत समस्याओं के अंबार तले लोग कराहते हुए नजर आ रहे हैं। आजादी के बाद से आज भी कुछ ऐसी महत्वपूर्ण समस्याएं हैं जिन्हें लेकर समाधान कराने के हसीन सपने दिखाकर जनता के कीमती वोटों से अपनी खाली झोलियां भरने के बाद भूल जाना ही जनप्रतिनिधियों की नीयति ही बन चुकी है।
देखा जाए तो जौनपुर-गाजीपुर मार्ग पर पूर्वी छोर पर 30 किमी पर बसे केराकत तहसील मुख्यालय से आने जाने हेतु राजकीय यातायात साधन का घोर अभाव है। यही नहीं वर्ष 1903 में अंग्रेजी हुकूमत के दौरान जौनपुर-औड़िहार रेल लाइन का निर्माण किया गया था और केराकत को स्टेशन का दर्जा मिला था। इस रेल मार्ग का अमान परिवर्तन तो
...
more...
किया गया ¨कतु केराकत से स्टेशन का दर्जा छीन लिया गया। इस मार्ग पर मुफ्तीगंज व डोभी को स्टेशन का दर्जा मिल गया। आज देखा जाए तो केराकत में एक पैसेंजर व एक डेमू ट्रेन के साथ-साथ लंबी दूरी की संचालित ट्रेनों में सिर्फ गोदिया ट्रेन को छोड़ किसी भी ट्रेन का ठहराव सुनिश्चित नहीं हो सका। जनप्रतिधि सिर्फ झूठ बोलकर जनता से वादे-दर-वादे करते हुए बड़ी-बड़ी रेल यातायात-रेल यात्री सुविधाएं शीघ्र उपलब्ध करवाने के आश्वासन का घूंट पिलाते चले आ रहे हैं। संवरने के बजाए बदरंग होने लगी स्टेशनों की सूरत
जौनपुर-औड़िहार रेलमार्ग पर स्थित यादवेंद्र नगर, मुफ्तीगंज, गंगौली, केराकत, डोभी व दुधौड़ा(पतरहीं) स्टेशनों की दशा पर नजर डाली जाए तो संवरने को कौन कहे दिनोंदिन बद से बदतर स्थिति नजर आने लगी है। इन स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं का घोर अभाव है। अधिकांश लाइटें जलती नहीं हैं। एक दो को छोड़कर अधिकांश हैंडपंप बिगड़े पड़े हैं। यात्रियों को बैठने के लिए बेंच टूट चुकी हैं। शौचालयों की स्थिति अत्यन्त खराब है। स्टेशनों पर कूड़ों व घास-फूस झाड़ झंखाड़ का अंबार लगा हुआ है। बेकार पड़ी है बेरोजगारों की लंबी फौज
यहां शिक्षित बेरोजगारों की फौज तैयार हो चुकी है। ¨कतु काम के अभाव में हजारों नौजवान देश के बड़े महानगरों व विदेशों में नौकरी की तलाश में दर-दर की ठोकरें खाने पर विवश हैं। यहां एक भी कलकारखाना नहीं है। जिससे बेरोजगार युवक जुड़कर अपना जीवकोपार्जन कर सकें। बिजली की दु‌र्व्यवस्था का यह आलम है कि समुचित बिजली की आपूर्ति के अभाव में छोटे मझोले उद्योग धंधे दम तोड़ते नजर आ रहे हैं। व्यापार पर भी बुरा असर पड़ा है।
नगर में एक अर्से से राजकीय महिला डिग्री कालेज की मांग आज तक पूरी नहीं हो सकी। क्षेत्र के प्रमुख बाजारों में जल निकासी की समस्या नाली के अभाव में बनी हुई है। यही नहीं पेयजल संकट के निराकरण हेतु पानी टंकी की मांग पूरी नहीं हो सकी है। तहसील के मुफ्तीगंज के मई-पसेवां घाट व बीरमपुर-भड़ेहरी घाट पर निर्माणाधीन पक्का पुल काफी दिनों से धनाभाव के चलते ठप है। केराकत के सरोज बड़ेवर व गुलरा गाट पर पीपे पुल की मांग आज भी पूरी नहीं हो सकी। तहसील मुख्यालय पर मुंसिफ न्यायालय की मांग न जाने कब पूरी होगी। क्या कहते हैं सांसद
मछलीशहर सांसद राम चरित्र निषाद का कहना है कि केराकत में ¨सगल रेल लाइन होने के कारण इसे स्टेशन का दर्जा दिलाने में बड़ी बाधा है। यही नहीं लंबी दूरी के ट्रेनों का ठहराव एवं अन्य यात्री सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं। ¨कतु डबल रेल लाइन का कार्य चल रहा है। इसके पूर्ण होने में कुछ माह में लगेंगे। कार्य पूर्ण होते ही स्टेशन का दर्जा व अन्य ट्रेनों का ठहराव आदि सुविधाएं शीघ्र उपलब्ध करा दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि डोभी में कई महत्वपूर्ण ट्रेनों का ठहराव करवा दिया गया है। केराकत क्षेत्र प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़कों का निर्माण चंदवक व केराकत में आधुनिक शौचालय का निर्माण कराया गया है। सभी प्रमुख स्थानों पर पानी की टंकी निर्माण, सैकड़ों सौर उर्जा की लाइटों के अलावा केंद्र सरकार की कई महत्वपूर्ण कल्याणकारी योजनाओं को सीधे जनता तक लाभ पहुंचाने का कार्य सम्पन्न कराया गया है। साथ ही किसानों की नेशनल हाइवे में अधिग्रहीत जमीनों का चार गुना मुआवजा भी दिलाने का सफल प्रयास किया है। क्या कहते हैं विधायक
क्षेत्रीय विधायक दिनेश चौधरी ने कहा कि महिला डिग्री कालेज, केराकत में रोडवेज बस डिपो, केराकत नगर के सुंदरीकरण व चौराहों पर महापुरुषों के प्रतिमाओं की स्थापना व सुंदरीकरण, पेयजल संकट के निराकरण हेतु पानी की टंकी, बाजारों में जलनिकासी की व्यवस्था, गोमती तट के पास एक सुंदर पार्क का निर्माण व क्षेत्र में एक स्टेडियम के साथ-साथ केराकत में मुंसफ कोर्ट की स्थापना जैसी समस्याओं का हल शीघ्र होगा।
Page#    Showing 1 to 6 of 6 News Items  

Go to Full Mobile site