Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

पश्चिम रेलवे की शान, पश्चिम सुपरफास्ट एक्सप्रेस मेरी जान - Abdul Rehman

Full Site Search
  Full Site Search  
Just PNR - Post PNRs, Predict PNRs, Stats, ...
 
Wed Jul 6 07:31:00 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search

HNS/Hansi (1 PFs)
     हांसी

Track: Single Electric-Line

Show ALL Trains
Uttam Nagar , Hansi 125033
State: Haryana

Elevation: 218 m above sea level
Zone: NWR/North Western   Division: Bikaner

No Recent News for HNS/Hansi
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 1
Number of Halting Trains: 20
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
1 Follows
Rating: 3.9/5 (7 votes)
cleanliness - good (1)
porters/escalators - n/a (0)
food - good (1)
transportation - good (1)
lodging - excellent (1)
railfanning - good (1)
sightseeing - good (1)
safety - good (1)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 41 News Items  next>>
Jun 14 (23:22) रोहतक से हांसी रूट पर शुरू होने जा रही है रेल सेवा, 21 करोड़ का रुपए का टेंडर पास (heraldhindi.com)
0 Followers
10891 views

News Entry# 489246  Blog Entry# 5378846   
  Past Edits
Jun 14 2022 (23:22)
Station Tag: Dobh Bahali/DBHL added by Subhash/746156

Jun 14 2022 (23:22)
Station Tag: Hisar Junction/HSR added by Subhash/746156

Jun 14 2022 (23:22)
Station Tag: Meham/MEHAM added by Subhash/746156

Jun 14 2022 (23:22)
Station Tag: Hansi/HNS added by Subhash/746156

Jun 14 2022 (23:22)
Station Tag: Rohtak Junction/ROK added by Subhash/746156
नई दिल्ली : हरियाणा में ऐसे कई ज़िले हैं जो आपस में रेल लाइन से जुड़े हुए नहीं हैं। जबकि इन रूटों पर कई यात्री सफर करते हैं। लेकिन धीरे धीरे हरियाणा में ऐसे रूटों पर भी रेल सुविधा देने का काम किया जा रहा है। वहीं हरियाणा में रोहतक हांसी रेलवे लाइन पर भी काम चल रहा है जो महम से गुजरने वाली है। अब इस रेलवे लाइन पर जल्द ही विद्युतीकरण का काम भी शुरू होने वाला है।
हालांकि अभी विद्युतीकरण का काम शुरू होने में थोड़ा और समय भी लग सकता है लेकिन इसके लिए अब टेंडर भी जारी कर दिये गए हैं। इस काम को पूरा करने का लक्ष्य भी अब तय कर लिया गया है। इस रेलवे
...
more...
लाइन का काम पूरा होने से कई यात्रियो को लाभ मिलने वाला है और रोहतक से हांसी का सफर भी काफी आसान हो जाएगा।
रोहतक हांसी रेलवे लाइन पर जल्द शुरू होगा विद्युतीकरण का काम
हरियाणा में रोहतक हांसी के बीच सफर करने वालों के लिए एक बड़ी खुशखबरी आ रही है। बताया जा रहा है कि इस रेलवे लाइन पर विद्युतीकरण का काम अब जल्द ही शुरू होने वाला है जिसके लिए 21 करोड़ के टेंडर को भी जारी कर दिया है। इस काम को पूरा करने के लिए 9 महीनो का लक्ष्य रखा गया है। हालांकि विद्युतीकरण का काम पूरा होने में अभी एक दो महीने का समय और लग सकता है। लेकिन माना जा रहा है कि जल्द ही ये काम अब पूरा कर लिया जाने वाला है।
विद्युतीकरण का काम हांसी से शुरू होकर रोहतक से पहले भिवानी रोहतक पर बने डोभ स्टेशन तक कराया जाने वाला है। ये लाइन 68 किमी की है जिस पर सबसे पहले विद्युतीकरण का काम किया जाएगा। हालांकि हिसार से हांसी और रोहतक से दिल्ली का विद्युतीकरण पहले से ही हो रखा है। वहीं ये काम पूरा होने के बादर हिसार से भी दिल्ली तक बिजली के सहारे ट्रेन को दौड़ाया जा सकेगा।
पूरे हरियाणा को मिलेगा इस रेलवे लाइन का लाभ
कहा जा रहा है कि इस रेलवे लाइन का काम पूरा होने के बाद हिसार से दिल्ली का सफर5 मात्र डेढ़ घंटे में ही पूरा किया जा सकेगा। वहीं इस लाइन पर भी पटरी बिछाने का काम लगभग पूरा किया जा चुका है। जानकारी के अनुसार इस रेलवे लाइन से सिर्फ हिसार, रोहतक और हांसी ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश को लाभ मिलने वाला है। इस नये रेल मार्ग से हिसार से रोहतक की दूरी भी 20 किमी कम होने वाली है।
Jun 11 (05:48) 21 करोड़ रुपये से हांसी रोहतक रेलवे लाइन का होगा विद्युतीकरण, रेलवे ने टेंडर किया जारी (www.google.com)
0 Followers
4727 views

News Entry# 488823  Blog Entry# 5374893   
  Past Edits
Jun 11 2022 (05:48)
Station Tag: Hansi/HNS added by भारतीय/778285

Jun 11 2022 (05:48)
Station Tag: Rohtak Junction/ROK added by भारतीय/778285
Stations:  Rohtak Junction/ROK   Hansi/HNS  
जागरण संवाददाता, हिसार। हांसी- रोहतक वाया महम नई रेलवे लाइन पर जल्द ही विद्युतीकरण का कार्य शुरू हो सकेगा। इसके लिए रेलवे ने 21 करोड़ को टेंडर जारी कर दिया है। इस कार्य को पूरा करने की तय सीमा नौ महीने की रखी गई है। हालांकि इस लाइन पर अभी विद्युतीकरण के कार्य को शुरु होने में एक से दो महीने का समय लग सकता है। यह कार्य हांसी से शुरू होकर रोहतक से पहले भिवानी रोहतक लाइन पर स्थित डोभ स्टेशन तक कराया जाएग। इसमें कुल 68 किलोमीटर की लाइन का विद्युतीकरण किया जाएगा।

जबकि
...
more...
हिसार से हांसी और राेहतक से दिल्ली तक पहले से विद्युतीकरण हो रखा है। ऐसे में इस लाइन के विद्युतीकरण होने से हिसार से दिल्ली इलैक्ट्रिक गाड़ियों का संचालन हो सकेगा। मौजूदा समय में हिसार से भिवानी होते हुए दिल्ली के लिए ट्रेन रवाना होती है। हांसी रोहतक लाइन के शुरू होने के बाद हिसार दिल्ली लगभग डेढ़ घंटे में पहुंचा जा सकेगा। इसके साथ ही बताया जाता है कि इस लाइन पर लगभग 98 प्रतिशत पटरी बिछाई जा चुकी है। इस लाइन पर विद्युतीकरण से हिसार से लंबी दूरी की गाड़ियों का संचालन दिल्ली होते हुए विस्तार किया जा सकेगा।
तीन जिलों ही नहीं समूचे प्रदेश को होगा लाभ
बेशक ये रेल लाइन हिसार, भिवानी व रोहतक तीन जिलों से होकर गुजरेगी। लेकिन इसका फायदा समूचे प्रदेश को होगा। सिरसा, फतेहबाद, डबवाली आदि इलाकों से देश की राजधानी से संपर्क सुगम होगा। कुछ घंटे के सफर में कम खर्च पर दिल्ली पहुंचा जा सकेगा। व्यापारिक नजरिये से भी इस रेल लाइन से प्रदेश के बड़े हिस्से को लाभ पहुंचेगा।
प्रोजेक्ट का पूर्ण विवरण
घोषणा वर्ष - 2011
शिलान्यास - 2013
जमीन अधिग्रहण - 2014
आरंभिक लागत - 287 करोड़
वर्तमान लागत - 694 करोड़
राशि मंजूर - 755 करोड़
देरी का कारण - मुआवजा केस व राजनीति
68.5 कि.मी लंबी रेल लाइन पर होंगे 5 स्टेशन
हिसार से हांसी तक पुरानी पटरी पर ही रेल दौड़ेगी। इसके बाद हांसी रेलवे स्टेशन से दो कि.मी दूरी पर हांसी-रोहतक रेल लाइन शुरु होगी। जबकी पुरानी रेल लाइन भिवानी की तरफ जाती है। इस रेल रूट पर कुल 5 स्टेशन होंगे व 20 गांवों के होती हुई रेल रोहतक पहुंचेगी। हांसी के बाद पहले स्टेशन गढ़ी, मदीना, बलंभा, खरकड़ा व रोहतक से पहले बहु-अकबरपुर गांव में स्टेशन होगा। इस रेल मार्ग से हिसार से रोहतक के बीच 20 कि.मी की दूरी कम होगी।
Jun 06 (22:42) हरियाणा की रेलवे लाइन के लिए दोबारा शुरू होगा जमीन अधिग्रहण का काम (hrbreakingnews.com)
NWR/North Western
0 Followers
14139 views

News Entry# 488441  Blog Entry# 5369811   
  Past Edits
Jun 06 2022 (22:42)
Station Tag: Bhiwani Junction/BNW added by Subhash/746156

Jun 06 2022 (22:42)
Station Tag: Rohtak Junction/ROK added by Subhash/746156

Jun 06 2022 (22:42)
Station Tag: Meham/MEHAM added by Subhash/746156

Jun 06 2022 (22:42)
Station Tag: Hansi/HNS added by Subhash/746156

Jun 06 2022 (22:42)
Station Tag: Hisar Junction/HSR added by Subhash/746156
Land acquisition work started for railway line : प्रदेश की महत्वपूर्ण रेल लाइन का काम पिछले एक साल से बंद पड़ा था। अब राज्यपाल की मंजूरी के बाद इस रेलवे लाइन के लिए दोबारा से जमीन अधिग्रहण का काम शुरू होने जा रहा है।
HR BREAKING NEWS (ब्यूरो)। हरियाणा की  हिसार से रोहतक वाया महम रेलवे लाइन (Hisar to Rohtak Via Meham Railway Line) का काम इस साल पूरा हो जाएगा। इस रेलवे लाइन (Railway Line) के लिए जरूरी जमीन उपलब्ध नहीं होने के कारण (Due to non-availability of land) इस रेलवे लाइन का काम बीते दो साल से रुका हुआ था।
 
...
more...

दो फिसदी जमीन के लिए रूका था काम
अब दोबारा से राज्यपाल के आदेश (Governor's orders) पर रेलवे लाइन के लिए जमीन अधिग्रहण काम शुरू (land acquisition work started) होने वाला है। राज्यपाल की तरफ से प्रोजेक्ट (Hisar to Rohtak Via Meham Railway Line)के लिए जमीन अधिग्रहण को मंजूरी (land acquisition approval) दे दी गई है। केवल दो फीसदी जमीन की कमी के कारण इस रेलवे लाइन का काम पिछले दो साल से रूका पड़ा था।
किसानों को नहीं मिला था मुआवजा
गौरतलब है कि जब इस रेल लाइन (train line) के लिए जमीन एक्वायर (land aquire) का काम शुरू हुआ था तब अधिकारियों की गलती से 20 ऐसे प्वाइंट छूट गए थे जहां की जमीन एक्वायर नहीं हो पाई (land could not be acquired) थी। वहीं बाकि बचे ये प्वाइंट कुल जमीन का सिर्फ 2 फीसदी ही हैं परंतु ये इतने महत्वपूर्ण हैं कि इनकी वजह से ही पूरा प्रोजेक्ट रूक गया था। किसानों को जमीन का मुआवजा (land compensation) नहीं मिल पाने के कारण किसान उन एरिया में काम नहीं करने दे रहे थे। अब दोबारा से हिसार व रोहतक जिले में जमीन अधिग्रहण का काम शुरू किया जाएगा।
इन गांवों में जमीन अधिग्रहण करना भूले अधिकारी
इस रेल लाइन के लिए भैणी महाराजपुर (Bhaini Maharajpur) गांव के पास ही रेलवे ने महम (meham) कस्बे का रेलवे स्टेशन (railway station) बनाया गया है। यहीं पर रेलवे विभाग (railway department) के कर्मचारियों के लिए बहु मंजिला रिहायशी क्वार्टर (residential quarters) बनाए हैं। इन क्वार्टरों व रेलवे स्टेशन (railway station) से कुछ ही दूरी पर भैणी महाराजपुर-भैणीभैरों मार्ग (Bhaini Maharajpur - Bhainibhairon Road) के पास दो जगह पर रेलवे विभाग जमीन का ही अधिग्रहण करना भूल गया। 
जब रेलवे द्वारा रोहतक वाया महम हांसी रेलवे लाइन (Rohtak Via Meham Hansi Railway Line) के लिए जमीन अधिग्रहित की गई तो 9 किले नंबर छूट गए । अब दोनों तरफ रेलवे लाइन (Railway Line) बना दी गई है। साथ एक मुहाने पर रेलवे का अंडर पास (railway under pass) भी बना हुआ है। इसी के बीच में दो कनाल जमीन में फसल खड़ी है। इसी प्रकार भैणीमहाराजपुर गांव के ही किसान सुरेश कुमार की भी यही शिकायत है। उनका कहना है कि उसकी एक एकड़ जमीन रेलवे द्वारा अधिग्रहित नहीं की गई है।
इस रेलवे ट्रेक की वजह से यात्रियों को बचेगा आधा समय
अब अगर हिसार से दिल्ली (Hisar to Delhi) जाना हो तो इसके लिए भिवानी स्टेशन (Bhiwani Station) से होकर जाना पड़ता है। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से हिसार-रोहतक सीधी रेल लाइन (Hisar-Rohtak direct rail line) से आपस में जुड़ जाएंगे। रेलवे अधिकारी सुरेश मेहता के अनुसार Rohtak-Mhem-Hansi के बीच बिछाए जा रहे रेलवे ट्रैक पर पांच क्रॉसिंग स्टेशन (five crossing stations)मोखरा, मदीना, महम, मुंढाल और गढ़ी बनाए हैं। दूसरी ओर 4 हाल्ट स्टेशन (halt station) बनाए हैं। यहां से यात्री ट्रेन में सवार हो सकेंगे। ये स्टेशन हैं बहुअकबरपुर, खरकड़ा, बलंभा और सोरखी। इस पूरी रेल लाइन के बाद हिसार से दिल्ली जाने वाले यात्रियों को आधा समय बच जाएगा।
2019 में पूरा होना था काम
रेलवे पीआरओ (Railway PRO) दीपक कुमार के अनुसार नया रेलवे ट्रैक बिछाने का काम (railway track laying) साल 2017 में शुरू हुआ था जोकि जून 2019 तक पूरा किया जाना था। कुछ गांवों में भूमि अधिग्रहण (land acquisition) नहीं होने से ट्रैक का काम पूरा नहीं हो पाया है। रेलवे के पत्र लिखने के बाद प्रदेश सरकार (state government) ने भूमि अधिग्रहण शुरू कर दिया है। अब उम्मीद है तीन माह में बची भूमि का अधिग्रहण करके पटरी बिछाने का काम (track laying) पूरा हो जाएगा। ट्रैक बिछाने का 98 फीसदी काम पूरा हो गया है। शेष दो फीसदी काम भूमि अधिग्रहण का काम ही बाकी है।  
Mar 09 (21:32) हांसी रोहतक रेलवे लाइन प्रोजेक्ट के जल्द पूरा होने की उम्मीद, इन जिलों से होकर गुजरेगा रूट (chopaltv.com)
0 Followers
20928 views

News Entry# 479842  Blog Entry# 5238731   
  Past Edits
Mar 09 2022 (21:32)
Station Tag: Rohtak Junction/ROK added by भारतीय/778285

Mar 09 2022 (21:32)
Station Tag: Hansi/HNS added by भारतीय/778285
Stations:  Rohtak Junction/ROK   Hansi/HNS  
सालों से अधर में लटके पड़े हांसी-रोहतक वाया महम रेलवे लाइन प्रोजेक्ट जल्द ही पूरा होने की उम्मीद है। अतिरिक्त उपायुक्त स्वप्रिल रविंद्र पाटिल ने हांसी-महम-रोहतक नई रेलवे लाइन से संबंधित लंबित मामलों का निपटारा करने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों को आवश्यकदिशा-निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने रेलवे लाइन के निर्माण कार्य को लेकर गांव गढ़ी,सोरखी, बांडा हेडी व ढाणा खुर्द तथा गांव सिंघवा खास व मदनहेडी की भूमि कलेक्टर रेट पर अधिग्रहण करने की बात कही है। उन्होंने भूमि अधिग्रहण एवं अन्य लंबित कार्यों को 31 मई तक की समय सीमा निर्धारित की है। दरअसल रेलवे लाइन के लिए कुछ गांव में अभी तक भूमि अधिग्रहण नहीं की गई थी।
इस रेल लाइन के निर्माण के बाद मात्र
...
more...
डेढ़ घंटे में हिसार से देश की राजधानी दिल्ली का सफर तय हो सकेगा। यही नहीं तीन जिलों को जोड़ने वाली रेल लाइन से क्षेत्र के विकास को पंख लगेंगे। रेलवे द्वारा 2021 तक 68.5 किमी लंबे इस रेल मार्ग के निर्माण को पूरा करने का दावा किया गया था लेकिन साल पूरा होने के बाद भी काम पूरा नहीं हुआ। अब साल 2022 में निर्माण कार्य पूरा होने के बाद इस रूट से रेल चलने की उम्मीद है।
2011 में हुई थी घोषणा, 2013 में रखी गई थी आधारशिला
ट्रैक के अलावा रेलवे स्टेशनों का निर्माण भी अभी बाकी है। ट्रैक के मार्ग पर केवल मिट्टी की लेयर बिछाने का काम ही पूरा हो पाया है। बीते कई वर्षों से हांसी-रोहतक रेल लाइन की मांग प्रदेशवासियों द्वारा की जा रही थी। आखिर 9 दिसंबर 2011 को तत्कालीन रोहतक से सांसद दीपेंद्र हुडा ने इस महत्वपूर्ण रेल लाइन का ऐलान किया था। इसके बाद 31 जुलाई 2013 को हांसी में तत्कालीन सीएम भूपेंद्र सिंह की अगुवाई में आयोजित रैली में तत्कालीन रेल मंत्री मल्लिकार्जुन खड़के ने रेल लाइन की आधारशिला रखी थी। बीते 11 सालों में 3 सरकार अपना कार्यकाल पूरा कर चुकी हैं लेकिन राजनीतिक इच्छा शक्ति के अभाव में प्रोजेक्ट अपने अंजाम तक नहीं पहुंचा पाया है। अब विपक्ष में बैठी कांग्रेस भाजपा सरकार पर रेल लाइन के महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट में जानबूझकर देरी करने का आरोप लगाती रही है। लेकिन सीएम मनोहर लाल ने हमेशा आरोपों के निराधार बताकर रेल प्रोजेक्ट को लेकर अपनी गंभीरता को जाहिर करते रहे हैं।
तीन जिलों ही नहीं समूचे प्रदेश को होगा लाभ
बेशक ये रेल लाइन हिसार, भिवानी व रोहतक तीन जिलों से होकर गुजरेगी। लेकिन इसका फायदा समूचे प्रदेश को होगा। सिरसा, फतेहाबाद, डबवाली आदि इलाकों से देश की राजधानी से संपर्क सुगम होगा। कुछ घंटे के सफर में कम खर्च पर दिल्ली पहुंचा जा सकेगा। व्यापारिक नजरिये से भी इस रेल लाइन से प्रदेश के बड़े हिस्से को लाभ पहुंचेगा।
प्रोजेक्ट का पूर्ण विवरण
घोषणा वर्ष - 2011
शिलान्यास - 2013
जमीन अधिग्रहण - 2014
आरंभिक लागत - 287 करोड़
वर्तमान लागत - 694 करोड़
राशि मंजूर - 755 करोड़
देरी का कारण - मुआवजा केस व राजनीति
आखिर क्यों हुई देरी
कांग्रेस सरकार ने 2011 में इस रेल लाइन का निर्माण कार्य शुरु करवाया था। 2013 में 287 करोड़ मंजूर करते हुए शिलान्यास भी किया। लेकिन 2014 के चुनाव में कांग्रेस सत्ता से बाहर हो गई व भाजपा ने प्रदेश में कमान संभाल ली। इसी दौरान कुछ किसानों ने मुआवजा राशि को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दी। जिससे इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट पर कई सालों तक ब्रेक लगा रहा। किसान 1 करोड़ प्रति एकड़ का मुआवजा राशि की मांगकर रहे थे। आखिर 2018 मुआवजा संबंधी मामलों का निपटारा होने के बाद रेल लाइन के निर्माण को फिर से रफ्तार मिली। कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर इस प्रोजेक्ट को लेकर कई बार भेदभाव करने के आरोप भी लगाए।
50-50 डील पर शुरु हुआ था प्रोजेक्ट
प्रदेश सरकार ने रेल लाइन के लिए रेलवे विभाग को मुफ्त जमीन देने का आश्वासन दिया था। इसके अलावा रेल लाइन बिछाने की कुल लागत का आधा खर्च भी प्रदेश सरकार द्वारा वहन किया जाना है। रेल मार्ग के लिए करीब 360 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जा चुका है। जमीन अधिग्रहण में 330.20 करोड़ रुपये प्रदेश सरकार ने खर्च किए हैं।
68.5 किमी लंबी रेल लाइन पर होंगे 5 स्टेशन
हिसार से हांसी तक पुरानी पटरी पर ही रेल दौड़ेगी। इसके बाद हांसी रेलवे स्टेशन से दो कि.मी दूरी पर हांसी-रोहतक रेल लाइन शुरू होगी। जबकि पुरानी रेल लाइन भिवानी की तरफ जाती है। इस रेल रूट पर कुल 5 स्टेशन होंगे व 20 गांवों के होती हुई रेल रोहतक पहुंचेगी। हांसी के बाद पहले स्टेशन गढ़ी, मदीना, बलंभा, खरकड़ा व रोहतक से पहले बहु-अकबरपुर गांव में स्टेशन होगा।इस रेल मार्ग से हिसार से रोहतक के बीच 20 कि.मी की दूरी कम होगी।
TheIndianNews24
Latest News

हिसार से रोहतक वाया महम रेल लाइन का अधूरा पड़ा निर्माण कार्य।
हिसार से रोहतक वाया महम रेल लाइन का काम इस साल पूरा हो जाएगा। प्रोजेक्ट के लिए जरूरी
...
more...
जमीन उपलब्ध नहीं होने के कारण इस रेलवे लाइन का काम बीते दो साल से रुका हुआ है। अब दोबारा से राज्यपाल के आदेश पर रेलवे लाइन के लिए जमीन अधिग्रहण काम शुरू होगा। राज्यपाल की तरफ से प्रोजेक्ट के लिए जमीन अधिग्रहण को मंजूरी दे दी गई है। मात्र दो फीसदी जमीन की कमी के कारण ट्रेक का काम बीते दो साल से रुका हुआ था।
ज्ञात रहे कि जब इस रेल लाइन के लिए जमीन एक्वायर का काम शुरू हुआ था तब अधिकारियों की गलती से 20 ऐसे प्वाइंट छूट गए थे जहां की जमीन एक्वायर नहीं हो पाई थी। बाकि बचे ये प्वाइंट कुल जमीन का सिर्फ दो फीसदी ही हैं लेकिन ये इतने महत्वपूर्ण हैं कि इनके कारण पूरा प्रोजेक्ट रूका हुआ था। किसानों को जमीन का मुआवजा नहीं मिल पाने के कारण किसान उन एरिया में काम नहीं करने दे रहे थे। अब दोबारा से हिसार व रोहतक जिले में जमीन अधिग्रहण का काम शुरू होगा।
इस तरह की हुई थी गड़बड़ियां
भैणी महाराजपुर गांव के पास ही रेलवे ने महम कस्बे का रेलवे स्टेशन बनाया है। यहीं पर रेलवे विभाग के कर्मचारियों के लिए बहु मंजिला रिहायशी क्वार्टर बनाए गए हैं। इन क्वार्टरों व रेलवे स्टेशन से कुछ ही दूरी पर भैणी महाराजपुर-भैणीभैरों मार्ग के पास दो जगह पर रेलवे विभाग जमीन का ही अधिग्रहण करना भूल गया है। जब रेलवे द्वारा रोहतक वाया महम हांसी रेलवे लाइन के लिए जमीन अधिग्रहित की गई तो नो किले नंबर छूट गए थे। अब दोनों तरफ रेलवे लाइन बना दी गई है। साथ एक मुहाने पर रेलवे का अंडर पास भी बना हुआ है। बीच में दो कनाल जमीन में धान की फसल खड़ी है। इसी प्रकार भैणीमहाराजपुर गांव के ही रामभज की भी यही शिकायत है। उनका कहना है कि उसकी एक एकड़ जमीन रेलवे नहीं अधिग्रहित नहीं की है।
रेलवे पीआरओ दीपक कुमार के अनुसार नया रेलवे ट्रैक बिछाने का काम 2017 में शुरू हुआ, जो जून 2019 तक पूरा होना था। कुछ गांवों में भूमि अधिग्रहण नहीं होने से ट्रैक का काम पूरा नहीं हो रहा है। रेलवे के पत्र लिखने पर प्रदेश सरकार ने भूमि अधिग्रहण शुरू कर दिया है। उम्मीद है तीन माह में बची भूमि का अधिग्रहण करके पटरी बिछाने का काम पूरा होगा। ट्रैक बिछाने का 98 फीसदी काम कर लिया गया है। दो फीसदी काम भूमि अधिग्रहण नहीं से रुका है।
फिलहाल में हिसार से दिल्ली जाने के लिए भिवानी स्टेशन से होकर जाना पड़ता है। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से हिसार-रोहतक सीधी रेल लाइन से आपस में जुड़ जाएंगे। रेलवे अधिकारी सुरेश मेहता के अनुसार रोहतक-महम-हांसी के बीच बिछाए जा रहे रेलवे ट्रैक पर पांच क्रॉसिंग स्टेशन मोखरा, मदीना, महम, मुंढाल और गढ़ी बनाए हैं। वहीं, चार हाल्ट स्टेशन बनाए हैं, जहां से यात्री ट्रेन में सवार हो सकेंगे बहुअकबरपुर, खरकड़ा, बलंभा, सोरखी हैं।
Page#    Showing 1 to 20 of 41 News Items  next>>

Go to Full Mobile site