Details Edit
Side View; Small TB; 3 AC; Outside of Train; Standing;
Entry# 4379418-0
Details Edit
Side View; Small TB; UnReserved; Outside of Train; Standing;
Entry# 4379418-0
Details Edit
Side View; Small TB; EOG/SLR; Outside of Train; Standing;
Entry# 4379418-0

12209⇒12255/Kanpur Central - Kathgodam Garib Rath Express
     कानपुर सेंट्रल - काठगोदाम गरीब रथ एक्सप्रेस

CNB/Kanpur Central --> KGM/Kathgodam

Availability Calendar
Search CNB to KGM
Return# 12256
PDF Download
Latest News
(You need to double-check/verify this info yourself)
12209 काठगोदाम-कानपुर सेन्ट्रल गरीबरथ एक्सप्रेस 6 अगस्त से 19 नवम्बर, 2019 तक परिवर्तित नम्बर 12255 से चलेगी। इन गाड़ियों में वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 12 एवं जनरेटर यान के 02 कोचों सहित कुल 14 कोच लगेगे।
Sat Aug 03, 2019 (10:49PM)
Inaugural Run
Tue Sep 16, 2008
Pantry/Catering
✕ Pantry Car
✕ On-board Catering
✓ E-Catering
Updated: Jul 16 (15:07) by Amish Kumar^~
Dep:
Arr:
Rating: 4.6/5 (24 votes)
cleanliness - excellent (4)
punctuality - excellent (4)
food - good (3)
ticket avbl - good (5)
railfanning - excellent (4)
safety - excellent (4)
ICF Rake

Rake/Coach Position

 LJN
News
PNR
Forum
Time-Table
Availability
Fare Chart
Map
Arr/Dep History
Trips
Gallery
ΣChains
X/O
Timeline
Train Pics
Tips

Train News

Page#    32 News Items  next>>
  
There's good news for the passengers of Garib Rath Express as trains plying in two key sectors — between Kathgodam and Jammu Tawi and between Kanpur and Kathgodam — are scheduled to be back on track from 04 August. Dismissing the speculation that the affordable AC-train may be discontinued, the Ministry of Railways recently clarified that Garib Rath services on these lines will soon resume operations.
What did the Railways Ministry clarify?· Garib Rath services on Indian Railways will continue.· The fares of Garib Rath won’t be hiked.· The trains is Garib Rath category will continue to run as usual.· In a tweet on 19 July, Railways Ministry clarified that services on two sectors are being restored from 4 August 2019 and
...
more...
other services would continue.
Services of Train no. 12207/08 Garibrath Express between Kathgodam and Jammu Tawi and Train no. 12209/10 Garibrath Express between Kanpur and Kathgodam restored with effect from 4th August 2019. pic.twitter.com/FJnYapqMf6
— Ministry of Railways (@RailMinIndia) July 19, 2019
Later, the Minister of State for Railways, Suresh Angadi also confirmed that Garib Rath services would continue.
What is the purpose of the Garib Rath Express?The Garib Rath (literal meaning: Poor people’s chariot) is a no-frills air-conditioned train started by the Indian Railways in 2005 to provide affordable and economical air-conditioned long-distance travel to passengers from lower-income category through subsidised fares.
In Garib Rath trains the distances between each seat or berth are less and the seats and berths are narrower than the normal ones. Each coach has more seats or berths than normal AC coaches in other trains. Only seating and three-tier accommodation are provided in these trains. The passengers are not provided with food or free bedding. Trains in the category of Garib Rath are significantly faster and has a higher priority than super-fast trains.
What talks of Garib Rath being converted into Mail or Express train services would mean?There were apprehensions that Garib Rath services might be converted into Mail and Express services, which the Railway Ministry has denied at present.
Had the Garib Rath been converted into Mail or Express services, the fare would have escalated to a considerable amount, making travelling costlier on AC coach for Garib Rath category passengers.
For example, the ticket fare of Garib Rath Delhi to Bandra AC train is Rs 1050. This would get increased to Rs 1500-1600 for a similar 3 AC class seat in a Mail or Express train. A passenger will, therefore, have to pay an increased fare of Rs 400 to 600.
Garib Rath fares are less than two-thirds of the fares for air-conditioned classes in other trains.
U
  
Jul 21 (13:25) Garib Rath restored on two routes, Railways say no plan to stop them (www.newindianexpress.com)
IR Affairs
0 Followers
2016 views

News Entry# 387194  Blog Entry# 4383960   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Posted by: Jayashree ❖ Amita*^ 45480 news posts
NEW DELHI:  After the temporary suspension of two Garib Rath trains and rumours doing rounds that the government has discontinued the service, the Indian Railways has confirmed that there is no proposal to stop the Garib Rath trains.“Due to temporary shortage of coaches in Northern Railway zone, two pairs of Garib Rath trains — train number 12207/08 between Kathgodam and Jammu Tawi and train number 12209/10 between Kanpur and Kathgodam — were temporarily operated as Express train services,” an official said and added that following protests over the discontinuation of the services, the Indian Railways has decided to resume the Garib Rath services from August 4. 
Currently, 26 pairs of Garib Rath trains operate across various railway zones in the country. The main
...
more...
aim of operating the Garib Rath trains was to enable passengers to travel in AC III-tier class at fares, which were lower than normal. These trains were planned to be phased out by Indian Railways as well as replace them with express trains with higher fares. 
The Garib Rath train was started in 2006 by then railway minister Lalu Prasad Yadav. The target passengers for this train service were middle and lower-income class. The first Garib Rath train was flagged off from Saharsa in Bihar to Amritsar in Punjab.According to a railway ministry report, the production of new coaches for the Garib Rath train has been stopped already putting a question mark on their continuance.
Considering that the present coaches are 10 to 14 years old and require heavy maintenance, the national transporter will have to incur a heavy cost.According to the report, the initiation of mail or express trains in these routes would mean the passengers would have to pay more.
  
Jul 20 (21:15) बंद नहीं होगी गरीब रथ ट्रेन, रेलवे मंत्रालय की सफाई (www.bhaskar.com)
New/Special Trains
0 Followers
6256 views

News Entry# 387169  Blog Entry# 4383430   
  Past Edits
Jul 20 2019 (21:15)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by अमन गुप्ता امان گپتا^~/999833

Jul 20 2019 (21:15)
Station Tag: Kathgodam/KGM added by अमन गुप्ता امان گپتا^~/999833

Jul 20 2019 (21:15)
Station Tag: Jammu Tawi/JAT added by अमन गुप्ता امان گپتا^~/999833

Jul 20 2019 (21:15)
Train Tag: Jammu Tawi - Kathgodam Weekly Express/12208 added by अमन गुप्ता امان گپتا^~/999833

Jul 20 2019 (21:15)
Train Tag: Kathgodam - Jammu Tawi Weekly Express/12207 added by अमन गुप्ता امان گپتا^~/999833

Jul 20 2019 (21:15)
Train Tag: Kanpur Central - Kathgodam Weekly Express/12209 added by अमन गुप्ता امان گپتا^~/999833

Jul 20 2019 (21:15)
Train Tag: Kathgodam - Kanpur Central Weekly Express/12210 added by अमन गुप्ता امان گپتا^~/999833
Posted by: अमन गुप्ता امان گپتا^~ 65 news posts
गरीब रथ ट्रेन को बंद करने की खबरों पर रेलवे मंत्रालय ने गलत बताया है। रेलवे मंत्रालय ने शुक्रवार को एक नोट जारी कर कहा है कि रेलवे का गरीब रथ को बंद करने का कोई इरादा नहीं है।  2005 में इस ट्रेन की शुरुआत की थी। इसे खास तौर पर गरीबों और लोअर मिडिल क्लास को सस्ते में AC का सफर कराने के लिए चलाया गया था। पहले खबर आई थी कि रेल मंत्रालय इस ट्रेन को बंद कर सकता है। काठगोदाम-जम्मू और काठगोदाम-कानपुर सेंट्रल गरीब रथ ट्रेन को मेल एक्सप्रेस में तब्दील करने के बाद गरीब रथ ट्रेन को बंद करने की खबरें सामने आई थीं। रेलवे के अनुसार जिन दो जोड़ी गरीब रथ ट्रेनों को मेल एक्सप्रेस में बदला गया था, उन्हें दोबारा पुरानी श्रेणी में 4 अगस्त से चलाया जाएगा।
शुक्रवार
...
more...
को रेल मंत्रालय ने स्‍पष्‍टीकरण जारी कहा कि ट्रेन को चलाने से रोकने का कोई प्रस्‍ताव नहीं है। अगर मंत्रालय कोई फैसला लेता है तो इसके बारे में यात्रियों को पहले से सूचित किया जाएगा। फिलहाल, इंडियन रेलवे 26 जोड़ी गरीब रथ ट्रेन चला रहा है।
मेल या एक्‍सप्रेस ट्रेन से कम होता है किराया
इसका किराया मेल या एक्‍सप्रेस ट्रेन के AC बर्थ के किराए से कम होता है। इसमें सिर्फ चेयर कार वाले डिब्‍बे होते हैं। गरीब रथ में सफर करने वाले मुसाफिरों को कम्‍बल, तकिया और चादर नहीं दी जाती। इसकी अधिकतम गति 140 किमी प्रति घंटा है जो राजधानी और दूरंतो  के बराबर है।
बिहार से चली थी पहली ट्रेन
पूर्व रेल मंत्री लालू यादव ने सबसे पहली गरीब रथ सहरसा (बिहार) से अमृतसर (पंजाब) तक चलाई थी। इसका नाम सहरसा अमृतसर गरीब रथ एक्‍सप्रेस है।
  
Jul 18 (22:15) गरीब रथ ट्रेन बंद करने की तैयारी, दो गरीब रथ ट्रेनें हो गईं मेल-एक्सप्रेस.. बढ़ गया भाड़ा (khabar.ndtv.com)
IR Affairs
0 Followers
4462 views

News Entry# 387051  Blog Entry# 4381521   
  Past Edits
Jul 18 2019 (22:15)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by Saurabh®^~/1294142

Jul 18 2019 (22:15)
Train Tag: Jammu Tawi - Kathgodam Weekly Express/12208 added by Saurabh®^~/1294142

Jul 18 2019 (22:15)
Train Tag: Kathgodam - Jammu Tawi Weekly Express/12207 added by Saurabh®^~/1294142

Jul 18 2019 (22:15)
Train Tag: Kathgodam - Kanpur Central Weekly Express/12210 added by Saurabh®^~/1294142

Jul 18 2019 (22:15)
Train Tag: Kanpur Central - Kathgodam Weekly Express/12209 added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  New Delhi/NDLS  
Posted by: Saurabh®^~ 1438 news posts
पटरी पर दौड़ती गरीब रथ ट्रेन को मंत्रालय बेपटरी करने की तैयारी में है. शुरुआत काठगोदाम से जम्मू और कानपुर सेंट्रल गरीब रथ से हो चुकी है.
पूरी तरह से थर्ड एसी इस ट्रेन में स्लीपर कोच भी जोड़े दिए गए हैं
कम पैसे में एसी ट्रेन में सफर करने का सपना साकार करने वाली गरीब रथ ट्रेन का भविष्य संकट में है. रेल मंत्रालय इस ट्रेन को बंद करने की तैयारी में है. इस कड़ी में हफ्तेभर के भीतर दो गरीब रथ ट्रेनों के कम्पोजीशन भी बदले जा चुके हैं. पूरी तरह
...
more...
से थर्ड एसी इस ट्रेन में स्लीपर कोच भी जोड़े गए और भाड़ा भी रेलवे ने बढ़ा दिया. पटरी पर दौड़ती गरीब रथ ट्रेन को मंत्रालय बेपटरी करने की तैयारी में है. शुरुआत काठगोदाम से जम्मू और कानपुर सेंट्रल गरीब रथ से हो चुकी है. उसके रेक बदल गए और पूरी तरह से थर्ड एसी ट्रेन में स्लीपर का बॉगी भी जोड़ दिया गया. इन दोनों गरीब रथ में
महज़ 4 डिब्बे थर्ड एसी के रह गए और 7 डिब्‍बे स्लीपर के इसमें जोड़ दिया गए. जहां काठगोदाम से जम्मू का भाड़ा पहले 755 रुपये था उसको बढ़ाकर 1070 रुपये कर दिया गया. वहीं  काठगोदाम से कानपुर सेंट्रल गरीब रथ का भाड़ा जो 475 रुपये होता था उसको बढ़ाकर 675 रुपये कर दिया गया.
अब हर ट्रेन में होंगे 'गरीब रथ' जैसे कोच, जानें यात्रियों को क्या-क्या फैसिलिटी मिलेगी
नई दिल्ली रांची गरीब रथ में जब एनडीटीवी ने मुसाफिरों से बात की तो उनका दर्द साफ दिखा. 52 साल की सुनीता शर्मा ने कहा कि फिर राजधानी और गरीब रथ में फर्क ही क्या रहेगा. इसी ट्रेन में यात्रा कर रहे राहुल सिन्हा ने भी कम शब्दों में सवाल भी उठा दिया और पीड़ा भी बता दी. राहुल ने कहा, 'ये नाम से विपरीत होने जा रही है.'
गरीब रथ के फर्श पर सोने के लिए मजबूर हुई पैरा-एथलीट
2006 में तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने इसकी शुरुआत गरीबों को ध्यान में रख कर की थी. मक़सद गरीबों को कम पैसे में एसी ट्रेन की सुविधा देना था. फिलहाल इन ट्रेनों की तादाद 26 है.
जब रेल राज्यमंत्री सुरेश अगड़ी से गरीब रथ ट्रेन को बंद करने को लेकर सवाल पूछा गया तो जवाब गोल गोल मिला कहा जब जिसको जो सुविधा चाहिए दे रहे हैं. सबको एसी चाहिए सबको एसी दे रहे हैं. भारत बदल रहा है. भाड़े को लेकर कोई शिकायत नहीं मिली है. जब मिलेगी तो देखेंगे.
ग़रीब रथ के 3AC डब्बों में से ज़्यादातर को दूसरे श्रेणी के डब्बों में बदलने, इन्हें मेल/एक्सप्रेस का दर्जा देकर किराया बढ़ाने और एक तरह से ग़रीब रथ ट्रेनों को बंद करने के सवाल पर रेल राज्यमंत्री @SureshAngadi_ की सफ़ाई, सुविधा/फ्रिक्वेंसी का विस्तार कर रहे हैं। भारत बदल रहा है। pic.twitter.com/3TEgdyz8VO
रेलवे की दलील है कि गरीब रथ ट्रेनों के रेक अब बनने बंद गो चुके हैं. लिहाज़ा नए मॉडर्न रेक से पुराने को बदल रहे हैं. पर सवाल है कि फिर भाड़े में बढ़ोत्तरी क्यों और बनावट में बदलाव क्यों?

5 Public Posts - Thu Jul 18, 2019

  

  

  

  

  
  
Jul 16 (20:52) गरीब रथ का बदला स्वरूप, अब 16 कोचों की हुई ट्रेन, पहले 12 कोच लगते थे NAINITAL NEWS (m.jagran.com)
Other News
NR/Northern
0 Followers
3592 views

News Entry# 386921  Blog Entry# 4379634   
  Past Edits
Jul 16 2019 (20:53)
Station Tag: Kathgodam/KGM added by Amish Kumar^~/1702584

Jul 16 2019 (20:53)
Train Tag: Kanpur Central - Kathgodam Weekly Express/12209 added by Amish Kumar^~/1702584

Jul 16 2019 (20:53)
Train Tag: Kathgodam - Jammu Tawi Weekly Express/12207 added by Amish Kumar^~/1702584
Stations:  Kathgodam/KGM  
Posted by: Amish Kumar^~ 2228 news posts
हल्द्वानी, जेएनएन : गरीब रथ एक्सप्रेस अब इतिहास बन गई है। रविवार से इसे सुपरफास्ट ट्रेन में बदल दिया गया है। इसके साथ ही अब इसके कोचों में भी बदलाव कर दिया गया है। गरीब रथ में पहले जहां 12 कोच (सभी वातानूकूलित) होती थीं, वहीं नई ट्रेन अब 16 कोचों की हो गई है। इसके जनरल, स्लीपर और एसी कोच भी लगाए गए है। यह बदलाव जहां एक वर्ग के लिए सुविधाओं में बढ़त साबित होती नजर आ रही है तो वहीं एक वर्ग के लिए सुविधाओं का अंत। 
दरअसल, गरीब रथ ट्रेन कुमाऊं भर के मध्य वर्ग के यात्रियों के लिए काफी ही सुविधाजनक सेवा थी। ट्रेन पूरी तरह वातानुकूलित होने के साथ ही इसकी दरें इतनी किफायती थीं कि
...
more...
मध्य वर्ग के यात्री भी एसी कोच की सुविधाओं का लाभ आराम से लेते थे। लेकिन वहीं नई ट्रेन में एसी कोचों की दरों में हुई वृद्धि से मध्य वर्ग के यात्रियों का एसी में सफर का सपना महंगा होता नजर आ रहा है। अब इस ट्रेन में जनरल व स्लीपर कोचों के शामिल होने से संचालित मार्गों पर हर वर्ग के यात्रियों के लिए सुविधाएं बढ़ी हैं। 
बदलाव के बाद ट्रेन में मौजूद कोच
एक्सप्रेस में अब सात स्लीपर, चार थर्ड एसी, तीन जनरल व दो गार्ड कोच शामिल हो गई हैं। इससे यह ट्रेन अब 12 की जगह 16 कोचों की हो गई है। 
यह होगा किराया
काठगोदाम-जम्मूतवी गरीब रथ में एसी कोच का किराया पहले 755 रुपये था, जो सुपरफास्ट बनने पर अब 1070 रुपये हो गया है। इसी ट्रेन के स्लीपर कोच का किराया 390 रुपये रखा गया है। वहीं काठगोदाम-कानपुर गरीब रथ के एसी किराए में कोई बदलाव नहीं किया गया है। यह 675 रुपये ही है। इसके स्लीपर कोच का किराया 250 रुपये होगा।
Page#    32 News Items  next>>

Go to Full Mobile site