Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

Vivek Express - জেগে ওঠো, সচেতন হও এবং লক্ষ্যে না পৌঁছানো পর্যন্ত থেমো না - Dip

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Mon Dec 6 22:50:18 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 487843-0
Medium; Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 2995118-0


SZB/Sarona (2 PFs)
सरोना     सरोना

Track: Triple Electric-Line

Show ALL Trains
Sarona Railway Station, Raipur
State: Chhattisgarh

Elevation: 282 m above sea level
Zone: SECR/South East Central   Division: Raipur

No Recent News for SZB/Sarona
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 37
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 2.7/5 (7 votes)
cleanliness - average (1)
porters/escalators - poor (1)
food - poor (1)
transportation - average (1)
lodging - n/a (0)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - good (1)
safety - average (1)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 10 of 10 News Items  
Aug 04 (15:59) डीआरएम इंस्पेक्शन:प्लेटफार्म-3 में मलबा, पार्सल बुकिंग दफ्तर में फैली थी गंदगी, अफसर ने तुरंत हटवाया (www.bhaskar.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
11419 views

News Entry# 461069  Blog Entry# 5032918   
  Past Edits
Aug 04 2021 (15:59)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma/1421836

Aug 04 2021 (15:59)
Station Tag: Sarona/SZB added by Adittyaa Sharma/1421836

Aug 04 2021 (15:59)
Station Tag: Durg Junction/DURG added by Adittyaa Sharma/1421836
दुर्ग रेलवे स्टेशन में प्लेटफार्म-3 बना है, लेकिन अभी तक इसका मलबा नहीं उठाया गया है। प्लेटफार्म चार की नाली में पानी का प्रवाह ठीक नहीं है। पार्सल बुकिंग दफ्तर के सामन पान और गुटखा खाकर लोगों ने गंदगी फैला दी है। यह सब चीजें मंगलवार को दोपहर बाद निरीक्षण पर आए डीआरएम श्यामसुंदर गुप्ता को मिली। उन्होंने इस पर नाराजगी जताई। ईएएन और संबंधित विभाग के अफसरों को तत्काल व्यवस्था सुधारने निर्देश दिए।
विशेष सेलून से डीआरएम श्यामसुंदर गुप्ता, सीनियर डीसीएम डॉ. विपिन वैष्णव, डीओएम प्रकाशचंद्र त्रिपाठी, कमांडेंट एसके गुप्ता आदि ने सरोना से दुर्ग रेलवे स्टेशन तक ट्रैक का निरीक्षण किया। पिछले दिनों बारिश के बाद ट्रैक की स्थिति की जांच की गई। पावर हाउस स्टेशन में यात्रियों की सुविधाओं
...
more...
से संबंधित चीजों की जानकारी ली।
दुर्ग में यात्रियों से मिले, पूछा - यहां की व्यवस्था कैसी है
दुर्ग रेलवे स्टेशन में उतरते ही डीआरएम और उनकी टीम सबसे पहले विश्राम गृह गई। वहां ट्रेनों की प्रतीक्षा कर रहे यात्रियों से मिले। उनसे पूछा कि आप स्टेशन की साफ-सफाई से संतुष्ट हैं। इस पर यात्रियों ने कहा कि प्लेटफार्म के भीतर ठीक है। लेकिन बाहर में कई स्थानों पर लोगों के पान और गुटखा खाकर थूकने के निशान पड़े हैं।
काउंटर पर देखा कि काउंटर क्लर्क अपने ड्रेस में है या नहीं। काउंटर की नियमित सफाई हो रही है या नहीं। यहां चल रहे काम पर अफसरों ने संतुष्टि जताई। सरोना और कुम्हारी रेलवे स्टेशन के कुछ प्लेटफार्म सवारी गाड़ियों के मुख्य द्वार के बराबर नहीं है। यहां प्लेटफार्म को अपग्रेड करने और उसका लेबल बढ़ाने की दिशा में काम करने पर विचार विमर्श किया गया।
दुर्ग में यात्रियों से मिले, पूछा - यहां की व्यवस्था कैसी है
दुर्ग रेलवे स्टेशन में उतरते ही डीआरएम और उनकी टीम सबसे पहले विश्राम गृह गई। वहां ट्रेनों की प्रतीक्षा कर रहे यात्रियों से मिले। उनसे पूछा कि आप स्टेशन की साफ-सफाई से संतुष्ट हैं। इस पर यात्रियों ने कहा कि प्लेटफार्म के भीतर ठीक है। लेकिन बाहर में कई स्थानों पर लोगों के पान और गुटखा खाकर थूकने के निशान पड़े हैं।
काउंटर पर देखा कि काउंटर क्लर्क अपने ड्रेस में है या नहीं। काउंटर की नियमित सफाई हो रही है या नहीं। यहां चल रहे काम पर अफसरों ने संतुष्टि जताई। सरोना और कुम्हारी रेलवे स्टेशन के कुछ प्लेटफार्म सवारी गाड़ियों के मुख्य द्वार के बराबर नहीं है। यहां प्लेटफार्म को अपग्रेड करने और उसका लेबल बढ़ाने की दिशा में काम करने पर विचार विमर्श किया गया।
प्लेटफार्म-3 में लंबे समय से पड़ा है मलबा पिछले दिनों प्लेटफार्म -3 के ट्रैक में काम किया गया है। अभी तक उसका मलबा नहीं उठाया जा सका है। इस पर डीआरएम ने नाराजगी जताई। पार्सल बुकिंग ऑफिस के पास गंदगी फैले होने और संकरी जगह पर कहा कि यहां सफाई की जाए। रंगरोगन भी किया जाए। साथ ही बुकिंग को दुर्ग रेलवे स्टेशन की गरिमा के अनुकुल बनाई जाए।
सरोना स्टेशन प्लेटफार्म का लेबल बढ़ेगा डीआरएम गुप्ता ने कहा कि बारिश की वजह से ट्रैक को देखा गया। अफसरों को इसमें ट्रेनों की सही परिचालन को ध्यान में रखते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। सरोना व कुम्हारी रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म के लेबल को बढ़ाया जाएगा। दुर्ग स्टेशन में प्लेटफार्म-3 के मलबे को उठाने, पार्सल बुकिंग ऑफिस का रंग-रोगन करने को कहा गया है।
Feb 26 (07:29) AIIMS Raipur: सरोना स्टेशन से एम्स पहुंचने बना नया द्वार, ई-रिक्शा की भी सुविधा (www.naidunia.com)
Commentary/Human Interest
SECR/South East Central
0 Followers
12452 views

News Entry# 441036  Blog Entry# 4889106   
  Past Edits
Feb 26 2021 (07:29)
Station Tag: Sarona/SZB added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Sarona/SZB  
रायपुर। AIIMS Raipur: राजधानी के सरोरा स्टेशन की तरफ से 250 मीटर की दूरी पर एम्स के नए द्वार (गेट नंबर छह) का शुक्रवार को रायपुर सांसद सुनील सोनी ने लोकार्पण किया। इस दौरान सांसद ने ई-रिक्शा के माध्यम से रोगियों को राहत प्रदान करने और 1.5 करोड़ रुपये से स्टेशन का पुनरुद्धार करने की भी घोषणा की। वहीं, स्टेशन का नाम एम्स-सरोना करने का प्रस्ताव भी रखा गया। इससे सरोना से एम्स आने वाले यात्रियों को सुविधा होगी।
सांसद सोनी ने कहा कि स्टेशन के पुनरुद्धार के लिए लगभग 1.5 करोड़ रुपये की योजना है। इसके लिए उन्होंने रेलवे अधिकारियों से बात कर ली है। सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से स्टेशन से एम्स के बीच ई-रिक्शा चलाने का भी प्रस्ताव
...
more...
दिया गया है। उन्होंने राज्य सरकार को स्टेशन का नाम एम्स-सरोना स्टेशन करने के लिए भी प्रस्ताव दिया है, जिससे बाहर के रोगियों को स्टेशन के बारे में जानकारी मिल सके।
सांसद ने कहा कि वह निरंतर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के संपर्क में हैं। शीघ्र ही एम्स को अत्याधुनिक तकनीक की और अधिक मशीनें मिल सकती हैं। एम्स के निदेशक डॉ. नितिन एम नागरकर ने बताया कि ओपीडी और आइपीडी के लिए प्रतिदिन औसतन 1500 रोगी पहुंचते हैं। इनमें बड़ी संख्या बाहर के रोगियों की होती है।
स्टेशन से लिंक रोड खुल जाने के बाद अब इन रोगियों को कम खर्च और कम समय में एम्स पहुंचने में आसानी हो जाएगी। मौके पर इस अवसर पर पार्षद सुनील चंद्राकर, उप-निदेशक (प्रशासन) अंशुमान गुप्ता, डीन प्रो. एसपी धनेरिया समेत अन्य लोग मौजूद रहे।
Dec 14 2020 (23:18) Railway News: रेलवे ने रखा 2024 मिलियन टन माललदान का लक्ष्य, बिलासपुर जोन से भेजे गए यह सुझाव (www.naidunia.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
70843 views

News Entry# 428509  Blog Entry# 4812966   
  Past Edits
Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Boridand Junction/BRND added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Korba/KRBA added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Gondia Junction/G added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Dadhapara/DPH added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Sarona/SZB added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Urkura/URK added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Kalamna/KAV added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Godhani/GNQ added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Ambikapur/ABKP added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Anuppur Junction/APR added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Jharsuguda Junction/JSG added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 14 2020 (23:19)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Adittyaa Sharma/1421836
बिलासपुर। Railway News: रेलवे ने एक महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय रेल योजना पर कार्य करना प्रारंभ किया है। नेशनल रेल प्लान के तहत मिशन 2024 की परिपकल्पना की गई है। जिसमें वर्ष 2024 तक भारतीय रेलवे में कुल माल लदान को वर्तमान स्तर से बढ़ाकर 2024 मिलियन टन तक सालाना लेकर जाने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए एक वृहद योजना बनाई गई है। जिसके तहत तमाम क्षेत्रीय रेलवे को महत्वपूर्ण परियोजनाओं को चिन्हित करने का निर्देश दिए गए थे, जो इस लक्ष्य को हासिल करने में कारगर साबित होंगे। इसी संबंध में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे महत्वपूर्ण रूटों पर आवश्यक कार्यों की सूची रेलवे बोर्ड को भेजी है।
भारतीय रेलवे में अभी सालाना लगभग 1200 मिलियन टन मालदान होता है। यह आंकड़ा
...
more...
सभी 17 जोन को मिलाकर है। इसमें दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की अहम भूमिका होती है। जोन भारतीय रेलवे का एक प्रमुख मालवाहक जोन के रूप में जाना जाता है। विगत वित्तीय वर्ष में 170 मिलियन टन लदान कर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने भारतीय रेलवे में सर्वाधिक लदान करने वाले क्षेत्रीय रेलवे में से एक था। इसके साथ ही आरंभिक आय की दृष्टि से भी दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे अपने स्थापना से अग्रणी रेलवे रहा है। ऐसे में भारतीय रेलवे द्वारा जो मिशन 2024 की योजना बनाई जा रही है, उसमें दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बेहद महत्वपूर्ण स्थान होने की संभावना है।
इसके तहत जोन अधोसंरचना के विकास की दृष्टि से चिंहित किए गए कार्यों को प्राथमिकता मिलने की पूरी संभावना है। जिन परियोजनाओं का चयन किया जाएगा उन परियोजनाओं के लिए 2024 तक निधि की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। उच्च स्तर पर इन परियोजनाओं की मानिटरिंग भी होगी। जोन से जिन कार्यों की सूची भेजी गई। उनमें लाइन दोहरीकरण, तीसरी व चौर्थी लाइन के अलावा यार्ड रिमाडलिंग समेत महत्वपूर्ण मार्गों में आटोमेटिक सिग्नलिंग के कार्य शामिल है।
जोन से भेजे इन परियोजनाओं के सुझाव
0 बिलासपुर- झारसुगुड़ा चौथ लाइन
0 बिलासपुर- अनूपपुर तीसरी लाइन
0 कोरीडांड- अंबिकापुर दोहरीकरण
0 गोदिनी- कलमना दोहरीकरण
0 बिलासपुर - झारसुगुड़ा, अनूपपुर, उरकुरा, सरोना, दाधापारा एवं गोंदिया में रेल फ्लाई ओवर
0 बिलासपुर यार्ड रिमाडलिंग
0 कोरबा रेलवे यार्ड रिमाडलिंग
Dec 08 2019 (10:58) ओएचई तार टूटा, 14 गाड़ियां घंटों देरी से हुईं रवाना (naidunia.jagran.com)
Major Accidents/Disruptions
SECR/South East Central
0 Followers
18631 views

News Entry# 396322  Blog Entry# 4508261   
  Past Edits
Dec 08 2019 (10:58)
Station Tag: Sarona/SZB added by Adittyaa Sharma^~/1421836

Dec 08 2019 (10:58)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Raipur Junction/R   Sarona/SZB  
रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि रायपुर और सरोना रेलवे स्टेशन के बीच शनिवार को तड़के ओएचई तार टूट गया। इससे अप लाइन में जाने वाली एक दर्जन से अधिक गाड़ियों को आउटर पर रोकना पड़ा। इसके साथ ही रायपुर से दुर्ग जाने वाली तथा डोंगरगढ़ से रायपुर आने वाली लोकल के परिचालन को अचानक रद करना पड़ा। ट्रेन के आउटर पर रुकने से यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सुबह के वक्त ट्रेन का परिचालन प्रभावित होने से भिलाई, दुर्ग की तरफ से आने-जाने वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। रेलवे के कर्मचारियों की चार घंटे की मशक्कत के बाद ट्रेनों का परिचालन दोबारा शुरू हो पाया। तब जाकर यात्रियों ने राहत की सांस ली। रेलवे के अधिकारी का कहना है कि ओएचई तार टूट गया था। इस कारण कुछ गाड़ियां प्रभावित हुई हैं। ज्ञात हो कि रायुर रेलवे स्टेशन से अप लाइन में दुर्ग की तरफ जा रही...
more...
मालगाड़ी सरोना रेलवे के पास पहुंची थी कि सुबह साढ़े पांच बजे के करीब अचानकर ओएचई तार टूट गया। अप लाइन में ओएचई तार के टूटने से अप और डाउन लाइन की दोनों तरफ गाड़ियां प्रभावित हुई हैं। जिसमें एक्सप्रेस और लोकल गाड़ियां दोनों शामिल हैं। दो से तीन घंटे गाड़ियां हुईं लेट रेलवे के अधिकारी ने बताया कि अप लाइन में ओएचई तार के टूटने से हावड़ा और मुंबई की तरफ से आने वाली गाड़ियों को मजबूरी में आउटर में रोकना पड़ा। उसके बाद किसी तरह डाउन लाइन का सुधार कार्य कर एक लाइन से इन गाड़ियों को निकाला गया। जिसमें ज्यादातर गाड़ियां एक से दो घंटे के बीच में विलंब से रवाना हुई। लोकल रद से पब्लिक हलाकानदुर्ग और भिलाई से छात्र और नौकरी पेशा के लोग भारी संख्या में रायपुर आते हैं। लेकिन सुबह ओएचइ तार के टूटने से दुर्ग रायपुर लोकल और डोंगरगढ़ रायपुर लोकल को रद कर दिया गया। पब्लिक जब ट्रेन पकड़ने के लिए स्टेशन पर पहुंची तब पता चला कि लोकल रद है। इसकी वजह से जहां लोग अपने निर्धारित समय से देरी से पहुंचे तो कुछ को बस से सफर करना पड़ा।अप लाइन में इतनी गाड़ियां प्रभावित- गोंडवाना एक्सप्रेस- हटिया कुर्ला एक्सप्रेस- अमरकंटक एक्सप्रेस- शालीमार एक्सप्रेस- बिलासपुर भगत की कोठी- सारनाथ एक्सप्रेसडाउन लाइन में प्रभावित होने वाली गाड़ी- समता एक्सप्रेस- साउथ विहार एक्सप्रेस- छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस- दुर्ग रायपुर मेमू- दुर्ग रायपुर मेमू- दल्लीराजहरा रायपुर मेमू- गोंदिया झारसुगढ़ा एक्सप्रेस- पुरी अहमदाबाद एक्सप्रेसवर्जन रायपुर सरोना के बीच ओएचई तार टूट गया था। दोनों लाइन पर परिचालन प्रभावित हो गया था। कुछ देर बाद एक लाइन शुरू कर गाड़ियों को धीरे-धीरे रवाना किया गया। - तन्मय मुखोपाध्याय, सीनियर डीसीएम, रेलवे मंडल, रायपुर Posted By: Nai Dunia News Network #OHE wires broken#14 vehicles delayed for hours
रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
रायपुर और सरोना रेलवे स्टेशन के बीच शनिवार को तड़के ओएचई तार टूट गया। इससे अप लाइन में जाने वाली एक दर्जन से अधिक गाड़ियों को आउटर पर रोकना पड़ा। इसके साथ ही रायपुर से दुर्ग जाने वाली तथा डोंगरगढ़ से रायपुर आने वाली लोकल के परिचालन को अचानक रद करना पड़ा। ट्रेन के आउटर पर रुकने से यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सुबह के वक्त ट्रेन का परिचालन प्रभावित होने से भिलाई, दुर्ग की तरफ से आने-जाने वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। रेलवे के कर्मचारियों की चार घंटे की मशक्कत के बाद ट्रेनों का परिचालन दोबारा शुरू हो पाया। तब जाकर यात्रियों ने राहत की सांस ली। रेलवे के अधिकारी का कहना है कि ओएचई तार टूट गया था। इस कारण कुछ गाड़ियां प्रभावित हुई हैं।
ज्ञात हो कि रायुर रेलवे स्टेशन से अप लाइन में दुर्ग की तरफ जा रही मालगाड़ी सरोना रेलवे के पास पहुंची थी कि सुबह साढ़े पांच बजे के करीब अचानकर ओएचई तार टूट गया। अप लाइन में ओएचई तार के टूटने से अप और डाउन लाइन की दोनों तरफ गाड़ियां प्रभावित हुई हैं। जिसमें एक्सप्रेस और लोकल गाड़ियां दोनों शामिल हैं।
दो से तीन घंटे गाड़ियां हुईं लेट
रेलवे के अधिकारी ने बताया कि अप लाइन में ओएचई तार के टूटने से हावड़ा और मुंबई की तरफ से आने वाली गाड़ियों को मजबूरी में आउटर में रोकना पड़ा। उसके बाद किसी तरह डाउन लाइन का सुधार कार्य कर एक लाइन से इन गाड़ियों को निकाला गया। जिसमें ज्यादातर गाड़ियां एक से दो घंटे के बीच में विलंब से रवाना हुई।
लोकल रद से पब्लिक हलाकान
दुर्ग और भिलाई से छात्र और नौकरी पेशा के लोग भारी संख्या में रायपुर आते हैं। लेकिन सुबह ओएचइ तार के टूटने से दुर्ग रायपुर लोकल और डोंगरगढ़ रायपुर लोकल को रद कर दिया गया। पब्लिक जब ट्रेन पकड़ने के लिए स्टेशन पर पहुंची तब पता चला कि लोकल रद है। इसकी वजह से जहां लोग अपने निर्धारित समय से देरी से पहुंचे तो कुछ को बस से सफर करना पड़ा।
अप लाइन में इतनी गाड़ियां प्रभावित
- गोंडवाना एक्सप्रेस
- हटिया कुर्ला एक्सप्रेस
- अमरकंटक एक्सप्रेस
- शालीमार एक्सप्रेस
- बिलासपुर भगत की कोठी
- सारनाथ एक्सप्रेस
डाउन लाइन में प्रभावित होने वाली गाड़ी
- समता एक्सप्रेस
- साउथ विहार एक्सप्रेस
- छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस
- दुर्ग रायपुर मेमू
- दुर्ग रायपुर मेमू
- दल्लीराजहरा रायपुर मेमू
- गोंदिया झारसुगढ़ा एक्सप्रेस
- पुरी अहमदाबाद एक्सप्रेस
वर्जन
रायपुर सरोना के बीच ओएचई तार टूट गया था। दोनों लाइन पर परिचालन प्रभावित हो गया था। कुछ देर बाद एक लाइन शुरू कर गाड़ियों को धीरे-धीरे रवाना किया गया।
- तन्मय मुखोपाध्याय, सीनियर डीसीएम, रेलवे मंडल, रायपुर
Nov 12 2019 (08:34) रिफ्लेक्टर जैकेट भी चमका, लेकिन लोको पॉयलट ने नहीं बजाया हॉर्न (naidunia.jagran.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
34901 views

News Entry# 394744  Blog Entry# 4485853   
  Past Edits
Nov 12 2019 (08:34)
Station Tag: Kumhari/KMI added by Adittyaa Sharma^~/1421836

Nov 12 2019 (08:34)
Station Tag: Sarona/SZB added by Adittyaa Sharma^~/1421836

Nov 12 2019 (08:34)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Raipur Junction/R   Kumhari/KMI   Sarona/SZB  
रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि ट्रैक मैनों की टीम ने रिफ्लेक्टर जैकेट पहने हुए थे, इसके बावजूद लोको पायलट ने हार्न नहीं बजाया। अगर हार्न बजता तो ट्रैकमैन सतर्क हो जाते। जबकि ये प्रावधान भी है कि जब किसी भी लाइन पर ट्रैकों पर टीम काम करती दिखे तो लोको पॉयलट को हॉर्न बजाना होता है। इसके चलते ये महज दो माह में ये दूसरी घटना है, जिसमें लोको पॉयलट ने हॉर्न नहीं बजाया और कर्मचारी हादसे के शिकार हो गए।बता दें कि सरोना कुम्हारी सेक्शन के बीच पुरी गांधी एक्सप्रेस के इंजन से टकरा जाने से टैकमैन नारायण उइके की जान चली गई। इस घटना की प्राथमिक जांच करने के लिए टीम सिग्नल और संकेतक विभाग के अधिकारियों की टीम गठित कर दी गई है। यह टीम जानने की कोशिश करेगी, आखिर क्या कारण थे, जिससे हादसा हुआ। बहरहाल अभी तक यही बात सामने आई है कि शनिवार की रात्रि सवा दो...
more...
बजे पेट्रोलिंग करते समय मिडिल लाइन पर आ गए थे। जिस वजह से हादसा हो गया था। इस घटना के बाद रेल यूनियन और ट्रैक मैनों की पीड़ है, उनसे दिनभर में चार शिफ्ट में ड्यूटी कराया जा रहा है। ऐसे में उनको आराम नहीं मिल पाता है। उन्होंने बताया कि जब ट्रैकमैन रिफ्लेक्टर पहने हुए था, इसके बावजूद रेल के लोको पायलट ने हार्न नहीं बजाया। इस घटना को लेकर ट्रैक मैनों में आक्रोश है, उनका कहना है कि जब वह कोई शिकायत करते हैं, उनका ट्रांसफर कर दिया जाता है। इसके डर के वजह से वह शिकायत करने नहीं करते। बहरहाल, बीते दो माह में दूसरी घटना के बाद मंडल रेलवे पूरे प्रकरण की जांच कराएगा। Posted By: Nai Dunia News Network #The reflector jacket also shone#but the loco pilot did not play the horn
रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
ट्रैक मैनों की टीम ने रिफ्लेक्टर जैकेट पहने हुए थे, इसके बावजूद लोको पायलट ने हार्न नहीं बजाया। अगर हार्न बजता तो ट्रैकमैन सतर्क हो जाते। जबकि ये प्रावधान भी है कि जब किसी भी लाइन पर ट्रैकों पर टीम काम करती दिखे तो लोको पॉयलट को हॉर्न बजाना होता है।
इसके चलते ये महज दो माह में ये दूसरी घटना है, जिसमें लोको पॉयलट ने हॉर्न नहीं बजाया और कर्मचारी हादसे के शिकार हो गए।
बता दें कि सरोना कुम्हारी सेक्शन के बीच पुरी गांधी एक्सप्रेस के इंजन से टकरा जाने से टैकमैन नारायण उइके की जान चली गई। इस घटना की प्राथमिक जांच करने के लिए टीम सिग्नल और संकेतक विभाग के अधिकारियों की टीम गठित कर दी गई है। यह टीम जानने की कोशिश करेगी, आखिर क्या कारण थे, जिससे हादसा हुआ। बहरहाल अभी तक यही बात सामने आई है कि शनिवार की रात्रि सवा दो बजे पेट्रोलिंग करते समय मिडिल लाइन पर आ गए थे। जिस वजह से हादसा हो गया था। इस घटना के बाद रेल यूनियन और ट्रैक मैनों की पीड़ है, उनसे दिनभर में चार शिफ्ट में ड्यूटी कराया जा रहा है। ऐसे में उनको आराम नहीं मिल पाता है। उन्होंने बताया कि जब ट्रैकमैन रिफ्लेक्टर पहने हुए था, इसके बावजूद रेल के लोको पायलट ने हार्न नहीं बजाया। इस घटना को लेकर ट्रैक मैनों में आक्रोश है, उनका कहना है कि जब वह कोई शिकायत करते हैं, उनका ट्रांसफर कर दिया जाता है। इसके डर के वजह से वह शिकायत करने नहीं करते। बहरहाल, बीते दो माह में दूसरी घटना के बाद मंडल रेलवे पूरे प्रकरण की जांच कराएगा।
Page#    Showing 1 to 10 of 10 News Items  

Go to Full Mobile site