Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Gour Express: আমের শহর মালদা থেকে রোজ যায় শিয়ালদা - Joydeep Roy

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Jan 20 15:46:07 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 207193-0

KNT/Kanth (2 PFs)
کانٹھ     कांठ

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
SH 49, Kanth, Dist. Moradabad
State: Uttar Pradesh

Elevation: 219 m above sea level
Zone: NR/Northern   Division: Moradabad

No Recent News for KNT/Kanth
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 14
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 5.0/5 (2 votes)
cleanliness - excellent (1)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - excellent (1)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 9 of 9 News Items  
Oct 21 2020 (07:10) सेंसर पकड़ेगा ट्रेन के पहिए की खराबी (m.jagran.com)
New Facilities/Technology
NR/Northern
0 Followers
9546 views

News Entry# 422123  Blog Entry# 4753770   
  Past Edits
Oct 21 2020 (07:11)
Station Tag: Rampur Junction/RMU added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 21 2020 (07:11)
Station Tag: Amroha/AMRO added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 21 2020 (07:11)
Station Tag: Kanth/KNT added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 21 2020 (07:11)
Station Tag: Moradabad Junction/MB added by Anupam Enosh Sarkar/401739
जागरण संवाददाता, मुरादाबाद : ट्रेन का पहिया गर्म होने या चिगारी निकलते ही कंट्रोल रूम को सूचना मिल जाएगी। रेल मंडल के कांठ समेत तीन स्थानों पर हॉट एक्सल एंड हॉट व्हील डिटेक्शन सिस्टम लगाया है। इसके बाद ट्रेन दुर्घटना में कमी आएगी।
रेल प्रशासन लगातार आधुनिक उपकरण लगाने व डिजिटल इंडिया के तहत सिस्टम को संचालित करने के प्रयास में जुटा है। पहिया जाम होने, चिगारी निकलने, धुरा गर्म होने से ट्रेन दुर्घटना की घटना बढ़ती जा रही हैं। दुर्घटना होने से पहले पहिए की इस कमी को पकड़ने के लिए रेलवे की टीम ने नया प्रयोग किया है। इसके तहत कांठ, अमरोहा, रामपुर स्टेशन के आउटर सिग्नल के पास रेल लाइन पर हॉट एक्सल एंड हॉट व्हील डिटेक्शन
...
more...
सिस्टम लगाया गया है। यह सिस्टम मोबाइल नेटवर्क के माध्यम से कंट्रोल रूम से जुड़ा हुआ है। यहां से गुजरने वाली ट्रेन या मालगाड़ी के पहिया की निगरानी करेगा। खराबी होने पर पहिया जाम हो जाता है और गर्म हो जाता है। पहिया का तापमान बढ़ने ही सेंसर सिस्टम उसे पकड़ लेगा और कंट्रोल रूम को सूचना भेज देगा। कंट्रोल रूम सूचना मिलते ही अगले स्टेशन पर ट्रेन को रोककर जांच की जाएगी खराबी को ठीक किया जाएगा। इससे जहां यात्री परेशान होने से बचेंगे वहीं हानि भी बचेगी। क्योंकि हादसा होने के बाद रेलवे को बहुत हानि होती है।
प्रवर मंडल वाणिज्य प्रबंधक रेखा शर्मा ने बताया कि मुरादाबाद रेल मंडल के कांठ, अमरोहा व रामपुर स्टेशन पर हॉट एक्सल एंड हॉट व्हील डिटेक्शन सिस्टम लगाया गया है। इसके माध्यम से ट्रेन दुर्घटना रोकने में सफलता मिलेगी।
Dec 10 2018 (20:18) गोरखपुर में रेलवे ट्रैक पर फंसी कार और सामने से आती नजर आई ट्रेन (m.jagran.com)
0 Followers
42726 views

News Entry# 371273  Blog Entry# 4088407   
  Past Edits
Dec 10 2018 (20:18)
Station Tag: Radha Balampur/RDV added by SGupta2003^~/1826835

Dec 10 2018 (20:18)
Station Tag: Dalmau Junction/DMW added by SGupta2003^~/1826835

Dec 10 2018 (20:18)
Station Tag: Kanth/KNT added by SGupta2003^~/1826835

Dec 10 2018 (20:18)
Station Tag: Matlabpur/MTB added by SGupta2003^~/1826835

Dec 10 2018 (20:18)
Station Tag: Sahjanwa/SWA added by SGupta2003^~/1826835

Dec 10 2018 (20:18)
Train Tag: Rae Bareli - Kanpur Central Passenger (via Ubarni)/54211 added by SGupta2003^~/1826835

Dec 10 2018 (20:18)
Train Tag: Gonda - Gorakhpur Passenger/55028 added by SGupta2003^~/1826835

Dec 10 2018 (20:18)
Train Tag: Amritsar - Howrah (Punjab) Mail/13006 added by SGupta2003^~/1826835
जेएनएन, लखनऊ। डुप्लीकेट पंजाब मेल की जनरल बोगी में शनिवार सुबह आग लगने से खलबली मच गई। मुरादाबाद में यात्रियों ने चेन पुलिंग कर ट्रेन रोक दी। इसके बाद आगे की दौड़धूप के बाद आग बुझाने का काम शुरू हुआ। गोरखपुर और रायबरेली में भी बड़े ट्रेन हादसे होने से बच गए। हादसों की आहट से रेल संचालन प्रभावित हुआ।
ट्रैक पर ही कार छोड़कर भागे
रेलवे ट्रैक पार करते समय कार फंस गई और उसमें सवार युवक ट्रैक पर ही कार छोड़कर फरार हो गए। ट्रैक पर कार देख आसपास के ग्रामीण
...
more...
इकट्ठा हो गए और उन्होंने इसी दौरान गुजरने वाली गोंडा-गोरखपुर पैसेंजर ट्रेन को लालटेन दिखाकर रोका। ट्रेन रुकने के बाद कार हटाई गई। ट्रैक पर ट्रेन करीब 45 मिनट खड़ी रही। ट्रेन संख्या 55028 रात करीब 8:30 बजे सहजनवां रेलवे स्टेशन पर पहुंचती है। रात को गोंडा से चलने के बाद ट्रेन रास्ते में लेट होती गई। इसी बीच लखनऊ की तरफ से आ रही कार संख्या यूपी 52 एएम 0345 में सवार युवक रात करीब पौने 10 बजे कार को फोरलेन के बजाय सर्विस लेन में उतर कर सीहापार ओवर ब्रिज के नीचे लेकर चले गए। वहां वे कार को रेलवे ट्रैक पर चढ़ाकर पार करने लगे, लेकिन सुरक्षा के लिए लगायी गई रेङ्क्षलग से टकराकर कार ट्रैक पर फंस गई। ट्रैक पर कार फंसने के बाद उसमें सवार युवकों ने उसे निकालने का प्रयास किया, मगर सफलता न मिलने पर कार छोड़कर भाग गए। कार में सवार युवकों के बारे में कुछ पता नहीं चल रहा है, मगर कार देवरिया के संजय कुमार के नाम से पंजीकृत है। सहजनवां रेलवे स्टेशन के अधीक्षक विनय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि रेल ट्रैक पर कार खड़ी होने पैसेंजर ट्रेन 45 करीब मिनट खड़ी रही। 
डुप्लीकेट पंजाब मेल की बोगी से लगी आग
मुरादाबाद में मतलबपुर व कांठ स्टेशन के बीच शनिवार सुबह 8.15 बजे अमृतसर से हावड़ा जाने वाली डुप्लीकेट पंजाब मेल मतलबपुर व कांठ स्टेशन के बीच गुजर रही थी। इस दौरान एक जनरल कोच से धुआं निकलने लगा। यात्रियों ने चेन पुलिंग कर ट्रेन रोक दी। यात्री शॉर्ट सर्किट से कोच में आग लगने की बात कहते हुए उतरकर भागने लगे। इस दौरान कोच की बिजली बंद कर दी गई। गार्ड और अन्य कर्मियों ने धुएं पर काबू पाया। 20 मिनट बाद ट्रेन को रवाना किया गया। मुरादाबाद स्टेशन पर तकनीकी कर्मियों के साथ आरपीएफ, यांत्रिक और विद्युत विभाग की संयुक्त टीम ने जांच की। कोच के बीच में पंखे के बराबर में प्लाई उखड़ी थी। इसमें नमकीन के रैपर, प्लास्टिक व कागज रखे थे। संभावना है कि किसी यात्री ने बीड़ी पीकर इसी कूड़े में फेंक दी। इससे धुआं निकलना शुरू हो गया। मौके से कागज व प्लास्टिक का अधजला बैग मिला है। मंडल रेल प्रबंधक अजय कुमार सिंघल ने बताया कि कोच में आग नहीं लगी थी, बीड़ी फेंकने से कूड़े से धुंआ निकल रहा था।
सतर्कता से टली एक बड़ी ट्रेन दुर्घटना
थोड़ी सी सतर्कता से रायबरेली के डलमऊ शनिवार को एक बड़ी दुर्घटना का गवाह बनते-बनते बच गया। रेल की पटरी टूटी हुई थी और ट्रेन आ गई। मगर, समय रहते ही ट्रेन को रोक लिया या।  डलमऊ और राधाबालमपुर रेलवे स्टेशन के बीच नसीरपुर गांव पड़ता है। यहां एक जगह रेलवे लाइन की एक पटरी टूटी हुई थी। सुबह शौच के लिए उधर आए ग्रामीणों ने देखा तो उनके होश उड़ गए। इसी बीच रायबरेली से कानपुर जाने वाली पैसेंजर ट्रेन 54211 आती दिखी। लोगों ने उसे रोकने की कवायद शुरू की। लाल कपड़ा लेकर खड़े हुए और ट्रैक पर आग लगा दी। ताकि ट्रेन के लोको पायलट इशारों को आसानी से समझ सके। लोको पायलट ब्रजेंद्र कुमार ने यह सब देख आनन-फानन इमरजेंसी ब्रेक लगाकर समय रहते ट्रेन रोक दी। इसके बाद सूचना उच्चाधिकारियों को दी गई। ग्रामीणों और लोको पायलट की इस सूझबूझ से ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बची। ट्रेन तब तक आगे नहीं बढ़ी, जब तक पटरी दुरुस्त नहीं हुई। इसमें करीब डेढ़ घंटे का समय लग गया। इससे यात्री परेशान हुए।
Jul 25 2016 (23:36) कांठ रेलवे फाटक हादसा: सदमे में बच्ची, अब मां-बाप का नाम बदला (www.amarujala.com)
NR/Northern

News Entry# 274848   
  Past Edits
Jul 25 2016 (11:36PM)
Station Tag: Moradabad Junction/MB added by Subhash/746156

Jul 25 2016 (11:36PM)
Station Tag: Kanth/KNT added by Subhash/746156
Stations:  Moradabad Junction/MB   Kanth/KNT  
कांठ में रेलवे फाटक के पास मिली घायल बच्ची ने शनिवार को घटना के 6 दिन बाद दूसरी बार अपने मां-पिता का नाम बताया। इस बार बच्ची ने इनका नाम अलग बताया है। जबकि घटना के दूसरे दिन बच्ची ने अपना नाम राखी बताया था। जबकि मां का नाम सीता और पिता का नाम बलजीत बताया था। उसने उसका गांव का नाम स्योहारा है। लेकिन पुलिस को यहां इस नाम से कोई नहीं मिला।
वहीं शनिवार को स्टाफ नर्स को बच्ची ने बताया कि उसकी मां का नाम अनीता और पिता का नाम प्रदीप है। इस बार बच्ची ने गांव का नाम नहीं बताया। कांठ थाना पुलिस और रेलवे पुलिस 17 जुलाई को हुए हादसे के बाद से ही मृत
...
more...
महिला, ढाई साल के बच्चे और घटना में बच गई राखी के परिजनों की तलाश कर रही है। 6 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक पुलिस को इस संबंध में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। घटना में बच गई बच्ची जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती है। घटना में बच्ची का एक हाथ और पैर फैक्चर हो गया था।
ये है घटना
17 जुलाई को सुबह सवा सात बजे कांठ थाना के सामने अमरोहा मार्ग स्थित रेलवे क्रासिंग के पास एक महिला दो बच्चों के साथ बहुत देर से चक्कर लगा रही थी। इस दौरान यहां से एक मालगाड़ी को आता देख महिला आत्महत्या करने के इरादे से मालगाड़ी के आगे आ गई। वहां मौजूद लोगों ने उसे रोकने की कोशिश की थी। लेकिन महिला नहीं रूकी। इस घटना में महिला, ढाई साल के बच्चे की मौत हो गई थी। वहीं बच्ची राखी घायल हो गई थी। इस घटना के बाद राखी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था0।
शॉक में है राखी
जिला अस्पताल के डाक्टरों ने बताया कि राखी शॉक में है। इसी कारण को चुप रहती है। राखी कुछ भी पूछने पर कभी कभार ही जवाब देती है। शनिवार को बड़ी मुश्किल से उसने अपने मां और पिता का नाम बताया। गांव का नाम पूछने पर बच्ची चुप रही।
नर्स कर रही बच्ची की देखभाल
राखी के साथ हुए हादसे के बारे में सुन कर स्टाफ नर्स उसकी देखरेख में कोई कसर नहीं छोड़तीं। राखी जो भी मांगती है, उसे स्टाफ नर्स अपने-अपने स्तर से पूरा कर रही हैं। राखी के पास खिलौनों की भी कोई कमी नहीं है। इसी लाड़-प्यारका परिणाम है कि बिल्कुल चुप रहने वाली राखी अब मुस्कुराने लगी है।
इस तरह का हादसा होता देखने वालों को एक्यूट पोर्ट ट्रोमीटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर और अगर हादसा अपनों के साथ हो तो एक्यूट ग्रीफ एक्शन भी हो जाता है। इसमें भावनाएं व्यक्त करने की क्षमता समाप्त हो जाती है। व्यक्ति गुम हो जाता है। यह स्थित एक से दो सप्ताह तक रहती है। इसके बाद उसके दिमाग में घटना का दृश्य घूमने लगता है। ऐसे में उसे भावनात्मक सहयोग की जरूरत पड़ती है।
डॉ. नीरज गुप्ता, मनोरोग विशेषज्ञ
मुरादाबाद। काठ रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को हुए प्रदर्शन के बाद से एहतियातन भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। शनिवार सुबह दस बजे ओएचई लाइन सही होने के बाद मालगाड़ी निकाली गई। ट्रेनों का संचालन शुरू होने की जानकारी न मिलने के चलते स्टेशन पर इक्का-दुक्का यात्री ही नजर आए।
कांठ रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को महापंचायत में शामिल होने आए प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक पर हंगामा किया था। प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच जमकर पथराव और फायरिंग भी हुई थी। इसमें ओवर हेड इलेक्ट्रिक लाइन टूट गई थी। इसकी मरम्मत के बाद शनिवार सुबह 10 बजे रूट चालू कर दिया गया। गाड़ियों का आवागमन शुरू हो गया। स्टेशन के मुख्य द्वार पर सीओ जीआरपी राजन त्यागी
...
more...
और इंस्पेक्टर जीआरपी अयूब हसन ने कमान संभाली। लखनऊ से आई पीएसी की 32 सी कंपनी को लगाया गया। दोनों प्लेटफार्मो पर पुलिस कर्मी बड़ी संख्या में तैनात कर दिए गए हैं। बड़ी संख्या में पुलिस बल देखकर स्थानीय लोग स्टेशन के आसपास नहीं आए। शनिवार को कांठ रेलवे स्टेशन पर एक भी टिकट की बिक्री नहीं हुई, जबकि आम दिनों में प्रतिदिन औसतन 25 हजार रुपये की टिकटों की बिक्री होती थी। वहीं दहशत के कारण ट्रेनों में यात्रियों की संख्या भी बहुत कम दिखाई दी। हालात ये हैं कि जिन गाड़ियों में पैर रखने की जगह नहीं मिलती थी उन गाडि़यों में लोग सोते हुए जा रहे हैं। दोपहर बाद जब सहारनपुर पैसेंजर कांठ रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो उससे केवल चार यात्री ही उतरते दिखाई दिए। वहीं प्रशासन ने निजी बसों का संचालन शुरू करा दिया है।
Jul 05 2014 (19:48) जख्मी चालक को एंबुलेंस भी नहीं (epaper.jagran.com)
IR Affairs
NR/Northern

News Entry# 183409   
  Past Edits
Jul 05 2014 (7:48PM)
Station Tag: Kanth/KNT added by Twesh Rajput/658575

Jul 05 2014 (7:48PM)
Station Tag: Moradabad Junction/MB added by Twesh Rajput/658575
Stations:  Kanth/KNT   Moradabad Junction/MB  
जख्मी चालक को एंबुलेंस भी नहीं 6>>कांठ में पथराव की चपेट में आया मालगाड़ी का चालक रिक्शा से भेजा गया अस्पताल
मुरादाबाद, जासं : मालगाड़ी लेकर मुरादाबाद आ रहा लोको पायलट प्रदर्शनकारियों के पत्थरों का शिकार हुआ। दो घंटे बंधक रहा। छूटा तो फिर अपनी ड्यूटी निभाते हुए मालगाड़ी को मुरादाबाद पहुंचाया। मगर बेदर्द अधिकारियों ने उसका हाल पूछना दूर अस्पताल भेजने को एंबुलेंस तक नहीं भेजी। रिक्शे से अस्पताल पहुंचा तो हंगामे के बाद भर्ती किया गया, मगर उसका एक्सरे देखने भी कोई डाक्टर नहीं आया। 1रेलवे अस्पताल में भर्ती लोको पायलेट अजय शर्मा ने बताया कि जब वह दोपहर लगभग दो बजे मालगाड़ी लेकर कांठ पहुंचा तो कांठ स्टेशन से पहले होम सिगनल रेड देखकर मालगाड़ी रोक दी। इसके बाद
...
more...
आसपास से हजारों लोगों की भीड़ ने घेर लिया। इसकी सूचना उसने रेलवे कंट्रोल को दी। कंट्रोल की सलाह पर जब इंजन बंद किया तो प्रेशर से इंजन ने झटका दिया। भीड़ ने समझा कि गाड़ी चला दी है, इसके बाद उसने पथराव कर दिया। इंजन से टकराकर कई पत्थर पसलियों पर लगे। इसके बाद कुछ लोग इंजन पर चढ़कर उसे नीचे उतार लिया। आधा किलोमीटर दूर एक बाग में ले जाकर बैठा लिया। किसी ने उसके साथ र्दुव्‍यवहार नहीं किया। दो घंटे बाद जब वहां पुलिस पहुंची तो उसे छोड़कर सभी लोग फरार हो गए। पसलियों पर लगे पत्थर से काफी दर्द हो रहा था। इसके बावजूद किसी तरह मालगाड़ी को लेकर अजय मुरादाबाद पहुंचे। यहां उसे अस्पताल ले जाने को स्टेशन पर रेलवे अस्पताल की एंबुलेंस तक नहीं पहुंची। रिक्शे पर बैठकर जब अस्पताल पहुंचा तो डाक्टरों ने उसे भर्ती तक नहीं किया। सूचना पर उरमू के मंडल उपाध्यक्ष शलभ सिंह के नेतृत्व में रेलकर्मियों ने पहुंचकर हंगामा किया तो अजय को भर्ती किया गया। एक इंजेक्शन लगाकर डाक्टर गायब हो गए। इसके बाद पसलियों का एक्सरे किया गया, जिसे रात बारह बजे तक देखने कोई डाक्टर उसके पास नहीं पहुंचा। अस्पताल में मौजूद कर्मियों ने बताया कि यहां डाक्टर आसानी से मरीज को देखने तक नहीं आते। प्रभारी सीएमएस डा.सीएस रावत न तो शिकायत सुनने को कभी मिलते हैं और न ही फोन उठाते हैं। इन हालातों में अजय शर्मा के बेहतर इलाज की उम्मीद कैसे की जा सकती है।रेलवे अस्पताल में भर्ती ट्रेन चालक।
Page#    Showing 1 to 9 of 9 News Items  

Go to Full Mobile site