PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Ammi Jaan kahti thi Railfanning se bada koi dharm nhi hota or koi Railfan chhota nhi hota - Shanzil Kabir

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Dec 4 14:35:49 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Platform Pic;
Entry# 802705-0
Platform Pic; Large Station Board;
Fb.com/TheRailCamera
Entry# 2392336-0


FDB/Faridabad (5 PFs)
فرید آباد     फरीदाबाद
[Old Faridabad]

Track: Quadruple Electric-Line

Show ALL Trains
Sant Nagar, Sector 20A, Faridabad, PIN 121003
State: Haryana


Zone: NR/Northern   Division: Delhi

No Recent News for FDB/Faridabad
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 5
Number of Halting Trains: 92
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 2.8/5 (35 votes)
cleanliness - good (4)
porters/escalators - poor (5)
food - poor (3)
transportation - good (5)
lodging - average (4)
railfanning - excellent (4)
sightseeing - average (5)
safety - average (5)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 222 News Items  next>>
Nov 29 (16:45) मुंबई-दादरी रेलवे फ्रेट कारिडोर : यमुना नदी पर जल्द तैयार होगा पुल (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
4329 views

News Entry# 426489  Blog Entry# 4795142   
  Past Edits
Nov 29 2020 (16:45)
Station Tag: Faridabad/FDB added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Faridabad/FDB  
जागरण संवाददाता, फरीदाबाद। मुंबई-दादरी रेलवे फ्रेट कारिडोर के लिए यमुना नदी पर बनाए जा रहे पुल का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। पुल के ऊपर केवल दो गार्डर रखने का काम बचा है। डेडिकेटिड फ्रेट कारिडोर कारपोरेशन के अधिकारियों की माने तो दिसंबर के पहले सप्ताह में पुल निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा। इसके बाद इसके ऊपर पटरियां बिछाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।
बता दें फ्रेट कारिडोर के लिए रेलवे की लाइन जिले में 28 किमी एरिया से गुजरेगी। इसके लिए जिले के 20 गांव की 551 एकड़ भूमि अधिगृहीत की जा चुकी है। कारिडोर निर्माण का काम भी तेजी से किया जा रहा है। यह कारिडोर करीब 20 फुट ऊंचा बनाया जा रहा है ताकि आमजन सहित कोई
...
more...
जानवर इस पर न चढ़ सके। इससे हादसे होने की आशंका भी कम होगी। कारिडोर जिन मार्गों को पार कर रहा है, वहां अंडरपास बनाने का काम भी किया जा रहा है।
---
फ्रेट कारिडोर निर्माण कार्य तेजी से पूरा किया जा रहा है। कुछ दिन पहले यमुना नदी के ऊपर एक गार्डर रखा जा चुका है। जल्द दो और गार्डर रख दिए जाएंगे।
- वाईपी शर्मा, उप मुख्य परियोजना प्रबंधक, डेडिकेटिड फ्रेट कारिडोर कारपोरेशन।
Nov 23 (19:35) रेलवे स्टेशन का पुराना भवन टूटा (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
5192 views

News Entry# 425686  Blog Entry# 4788379   
  Past Edits
Nov 23 2020 (19:35)
Station Tag: Faridabad/FDB added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Faridabad/FDB  
जासं, फरीदाबाद : रेलवे स्टेशन के पुराने भवन में चल रहे सभी कार्यालय अब नए में शिफ्ट हो गए। इसके साथ ही पुराने भवन को तोड़ने में तेजी आई है। अब केवल स्टेशन अधीक्षक कार्यालय के आसपास का हिस्सा टूटना शेष रह गया है। एक-दो दिन में वह भी तोड़ दिया जाएगा। भवन को तोड़ने के बाद जमीन को समतल किया जाएगा और उसके बाद चौथी लाइन बिछाई जाएगी। इसके अलावा 1-ए प्लेटफार्म का विस्तार किया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि जंक्शन केबिन से मथुरा तक चौथी रेलवे लाइन का विस्तार किया जा रहा है। अब केवल फरीदाबाद से न्यूटाउन रेलवे स्टेशन के बीच का कार्य अधूरा पड़ा है। योजना के तहत स्टेशन के पुराने भवन के स्थान पर चौथी लाइन
...
more...
गुजरेगी। इसके लिए नया भवन बनाना तय किया गया था। अब नए भवन का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और पुराने भवन से सभी कार्यालय शिफ्ट हो गए हैं। सभी कार्यालयों के शिफ्ट होने के बाद तोडफोड़ के काम में तेजी आई है। रेलवे प्रशासन अर्थमूवर से भवन को तुड़वा रहा है। एक-दो दिन में पूरा भवन टूट जाएगा। इसके बाद जमीन को समतल करने, ओएचई लाइन के लिए पोल लगाने, इंटरलाकिग, ट्रायल आदि एक वर्ष का समय लग जाएगा। इसके बाद ही चौथी लाइन से ट्रेन गुजरती दिखाई देंगी। बता दें कि बल्लभगढ़ स्टेशन से मथुरा तक ट्रेन चौथी लाइन पर से निकल रही है। इस संबंध में आइओडब्ल्यू मोहम्मद इलियास ने बताया कि एक वर्ष में सभी काम पूरे हो जाएंगे। इसके बाद ट्रेन का परिचालन जंक्शन केबिन से मथुरा तक चालू हो जाएगा।
Nov 03 (21:15) स्पेशल ट्रेन में भी यात्रियों को नहीं मिल रहा आरक्षण (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
5154 views

News Entry# 423717  Blog Entry# 4766331   
  Past Edits
Nov 03 2020 (21:15)
Station Tag: Faridabad/FDB added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Faridabad/FDB  
जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : दिवाली एवं छठ का त्योहार नजदीक आने के साथ लोग अपने घर जाने के लिए आरक्षण केंद्रों पर पहुंच रहे हैं। डेली एक्सप्रेस के अलावा स्पेशल ट्रेनों में भी आरक्षण नहीं मिल रहा है। ऐसे में यात्रियों को वेटिग का टिकट बुक कराना पड़ रहा है, ताकि त्योहार के दिन अपने स्वजनों के साथ हों।
उल्लेखनीय है कि फरीदाबाद में अन्य राज्यों के रहने वाले लोग की संख्या अधिक है। यहां उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, झारखंड के लोग रोजगार के लिए फरीदाबाद आते हैं और त्योहार अपने परिवार के साथ ही मनाते हैं। होली एवं दिवाली के दौरान यात्रियों की संख्या बढ़ जाती है। यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए हर वर्ष स्पेशल ट्रेन चलाई
...
more...
जाती है। इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से परिस्थितियां भिन्न हैं। रेलवे द्वारा पहले से ही कम संख्या में ट्रेन चलाई जा रही है। यात्रियों की मांग को देखते हुए स्पेशल ट्रेन शुरू की गई हैं, लेकिन उनमें भी आरक्षण पूरे हो चुके हैं। यात्री वेटिग टिकट करवाकर यात्रा करने को तैयार हैं। दिवाली पर झारखंड में अपने घर जस्सीडीह जाने का विचार किया था, लेकिन आरक्षण नहीं मिल रहा है। वेटिग 250 से अधिक है। दिसंबर की कंफर्म टिकट मिली है, तभी अपने गांव जाऊंगा।
-सुभाष चंद यादव, डबुआ कालोनी महीने के अंत में बेटी की शादी है। सोचा इस बार दिवाली भी परिवार के साथ मना लूं, लेकिन किसी भी ट्रेन में बांदा उत्तर प्रदेश के आरक्षण नहीं मिला है। अब 13 नवंबर की वेटिग टिकट बुक कराई है।
-रमेश, फतेहपुर चंदीला एक सप्ताह में टिकट की मांग बढ़ी है। अब रोजाना 250 से अधिक टिकट बनाई जा रही हैं। इनमें से अधिकतर वेटिग होती हैं।
-नन्हे लाल, चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर, फरीदाबाद
Oct 18 (21:18) नवंबर अंत तक बनकर तैयार हो जाएगा रेलवे स्टेशन का नया भवन (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
5285 views

News Entry# 421847  Blog Entry# 4751424   
  Past Edits
Oct 18 2020 (21:18)
Station Tag: Faridabad/FDB added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Faridabad/FDB  
जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : फरीदाबाद रेलवे स्टेशन के नए भवन का निर्माण नवंबर के अंत तक पूरा होने की संभावना है। वहीं चौथी रेलवे लाइन के विस्तार के लिए पुराने भवन को तोड़ने का कार्य शुरू कर दिया गया है। इसके तहत पैनल कक्ष को तोड़ा जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि वर्ष 2007 के बजट में चौथी लाइन के विस्तार को शामिल किया गया था। इसके तहत तुगलकाबाद से पलवल तक चौथी लाइन तक विस्तार किया जाना था। फरीदाबाद रेलवे स्टेशन के पुराने भवन के स्थान से रेलवे लाइन होकर गुजरेगी। इस कार्य के पूरे होने की समयावधि वर्ष 2010 निर्धारित की गई थी, लेकिन रेलवे जमीन पर बसी झुग्गियों की वजह से चौथी लाइन के विस्तार का कार्य समय
...
more...
पर नहीं हो पाया। अब तक चौथी लाइन का विस्तार तुगलकाबाद से जंक्शन केबिन, न्यू टाउन से पलवल के बीच और कुछ कार्य फरीदाबाद की तरफ हो चुका है। अब केवल फरीदाबाद रेलवे स्टेशन के आसपास कार्य रह गया है। पुराने भवन में संचालित सभी कार्यालय पूरी तरह नए भवन में शिफ्ट होने के बाद तोड़फोड़ में तेजी लाई जाएगी। इनको किया गया शिफ्ट
फरीदाबाद रेलवे स्टेशन के नए भवन में सबसे पहले अप्रैल में पैनल को नए भवन में शिफ्ट किया गया था। इसके बाद पिछले सप्ताह जीआरपी थाना को और अब दो दिन पहले ही आरपीएफ थाना को भी नए भवन में शिफ्ट किया गया है। इसके अलावा ट्रेन यातायात पूरी तरह बहाल होने पर यात्रियों को अनारक्षित टिकट नए भवन से ही मिलेगा। जल्द ही स्टेशन अधीक्षक कार्यालय भी नए भवन में शिफ्ट हो जाएगा। पुराने भवन को तोड़ने का काम शुरू हो गया है। पुराने स्टेशन अब केवल स्टेशन अधीक्षक का कार्यालय रह गया है। वह भी जल्द ही शिफ्ट हो जाएगा। इसके अलावा टिकट खिड़की भी पूरी तरह तैयार हो गई है। इस महीने के अंत तक सभी कार्य पूरे हो जाएंगे।
- मोहम्मद इलियास, आइओडब्ल्यू(इंस्पेक्टर आफ वर्क)
Jun 20 (17:16) दिल्ली-एनसीआर में हाल के भूकंप के झटके किसी बड़ी घटना के संकेत नहीं देते, हालांकि एक बड़े भूकंप की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता: डब्ल्यूआईएचजी (pib.gov.in)
Commentary/Human Interest
0 Followers
43108 views

News Entry# 411850  Blog Entry# 4654175   
  Past Edits
Jun 21 2020 (00:32)
Station Tag: Dadri/DER added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

Jun 21 2020 (00:32)
Station Tag: Panipat Junction/PNP added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

Jun 21 2020 (00:32)
Station Tag: Sonipat Junction/SNP added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

Jun 21 2020 (00:32)
Station Tag: Gurgaon/GGN added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

Jun 21 2020 (00:32)
Station Tag: Faridabad/FDB added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

Jun 21 2020 (00:32)
Station Tag: Ghaziabad Junction/GZB added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693

Jun 21 2020 (00:32)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by GZB⭐️WAP5⭐️35006^~/1833693
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय
‘दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में ऐसे भूकंप के झटके असामान्य नहीं हैं, लेकिन ये संकेत देते हैं कि क्षेत्र में तनाव ऊर्जा का निर्माण हो रहा है‘
दिल्ली-एनसीआर की पहचान दूसरे सर्वोच्च भूकंपीय खतरे वाले जोन (जोन IV) के रूप में की गई है
हाल की घटनाएं ‘पूर्व झटकों‘ के रूप में परिभाषित नहीं की जा सकती
...
more...
दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के सभी झटके तनाव ऊर्जा के जारी होने के कारण आते हैं, जो अब भारतीय प्लेट के उत्तर दिशा में बढ़ने और फॉल्ट या कमजोर जोनों के जरिये यूरेशियन प्लेट के साथ इसके संघर्ष के परिणामस्वरूप संचित हो गए हैं ‘
प्रविष्टि तिथि: 19 JUN 2020 11:01AM by PIB Delhi
दिल्ली-एनसीआर में हाल के भूकंप के झटकों की श्रृंखला के बाद, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के एक स्वायत्तशासी संस्थान वाडिया हिमालयी भूविज्ञान संस्थान ने कहा है कि दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में ऐसे भूकंप के झटके असामान्य नहीं हैं, लेकिन ये संकेत देते हैं कि क्षेत्र में तनाव ऊर्जा का निर्माण हो रहा है।
उन्होंने कहा है कि चूंकि भूकंपीय नेटवर्क काफी अच्छा है, दिल्ली-एनसीआर में और आसपास के क्षेत्रों में वर्तमान सूक्ष्म से हल्के झटके रिकार्ड हो सकते हैं।
हालांकि कोई भूकंप कब, कहां और कितनी अधिक ऊर्जा (मैग्निीट्यूट) के साथ आ सकता है, इसकी हमारी समझ स्वष्ट नहीं है, लेकिन किसी क्षेत्र की अति संवेदनशीलता को उसकी पूर्व भूकंपनीयता, तनाव बजट की गणना, सक्रिय फाल्टों की मैपिंग आदि से समझा जा सकता है। दिल्ली-एनसीआर की पहचान दूसरे सर्वोच्च भूकंपीय खतरे वाले जोन (जोन IV)
के रूप में की गई है। कभी कभी एक अति संवेदनशील जोन शांत रह सकता है, वहां छोटी तीव्रता के भूकंप आ सकते हैं जो किसी बड़े भूकंप का संकेत नहीं देते, या बिना किसी अनुमान के एक बड़े भूकंप के द्वारा अचानक एक बड़ा झटका दे सकता है। दिल्ली-एनसीआर में आए 14 छोटी तीव्रता के भूकंपों में से 29 मई को रोहतक में आए भूकंप की तीव्रता 4.6 थी।
हाल की घटनाएं ‘पूर्व झटकों‘ के रूप में परिभाषित नहीं की जा सकतीं। अगर क्षेत्र में एक बड़ा भूकंप आता है, तो उससे तत्काल पूर्व उस क्षेत्र में आए सभी छोटे भूकंपों को ‘पूर्व झटकों‘ के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। इसलिए, वैज्ञानिक रूप से दिल्ली-एनसीआर में आए छोटी तीव्रता के ऐसे सभी भूकंपों को पूर्व झटकों के रूप में सभी निर्धारित किया जा सकता है जब इसके तत्काल बाद एक बड़ा भूकंप आता है। हालांकि इसका पूर्वानुमान नहीं लगाया जा सकता, एक बड़े भूकंप, जो लोगों एवं संपत्तियों के लिए खतरा बन सकताहै, के आने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता। चूंकि किसी भूकंप का पूर्वानुमान किसी तंत्र द्वारा नहीं लगाया जा सकता, इसलिए भूकंप के इन हल्के झटकों को किसी बड़ी घटना के संकेत के रूप में परिभाषित नहीं किया जा सकता।
दिल्ली-एनसीआर में पहले के भूकंपों का परिदृश्य:
भूकंप की ऐतिहासिक सूची प्रदर्शित करती है कि दिल्ली में 1720 में 6.5 की तीव्रता का भूकंप आया था, मथुरा में 1803 में 6.8 की तीव्रता का, 1842 में मथुरा के निकट 5.5 की की तीव्रता का, 1956 में बुलंदशहर में 6.7 की तीव्रता का, 1960 में फरीदाबाद में 6.0 की तीव्रता का, दिल्ली एनसीआर में 1966 में मुरादाबाद के निकट 5.8 की तीव्रता का भूकंप आया था।


Page#    Showing 1 to 20 of 222 News Items  next>>

Go to Full Mobile site