Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Kamayani Express - Late आना है काम तुम्हारा लेकिन मैं फिर भी हूँ तुम्हारा दीवाना - Aman

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Tue Jan 26 02:53:15 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 1631092-0
no description available
Entry# 3193515-0
Large Station Board;
Entry# 3193515-0

JEA/Nakaha Jungle (2 PFs)
نکھا جنگل     नकहा जंगल

Track: Construction - Single-Line Electrification

Show ALL Trains
Vikas Nagar, Gorakhpur- 273007
State: Uttar Pradesh

Elevation: 84 m above sea level
Zone: NER/North Eastern   Division: Lucknow NER

No Recent News for JEA/Nakaha Jungle
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 18
Number of Originating Trains: 2
Number of Terminating Trains: 2
Rating: 4.2/5 (6 votes)
cleanliness - good (1)
porters/escalators - n/a (0)
food - good (1)
transportation - good (1)
lodging - n/a (0)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - good (1)
safety - excellent (1)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 28 News Items  next>>
Jan 07 (09:14) North Eastern Railway की लूप लाइनों पर भी दौड़ेंगी इलेक्ट्रिक ट्रेनें, मार्च तक पूरा हो जाएगा विद्युतीकरण का कार्य (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
29955 views

News Entry# 432201  Blog Entry# 4836573   
  Past Edits
Jan 07 2021 (09:14)
Station Tag: Nakaha Jungle/JEA added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Jan 07 2021 (09:14)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Jan 07 2021 (09:14)
Station Tag: Barhni/BNY added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Jan 07 2021 (09:14)
Station Tag: Nautanwa/NTV added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Jan 07 2021 (09:14)
Station Tag: Anand Nagar Junction/ANDN added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Jan 07 2021 (09:14)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by Anupam Enosh Sarkar/401739
North Eastern Railway की लूप लाइनों पर शीघ्र ही इलेक्ट्रिक ट्रेनें दौड़ेंगी। गोरखपुर-आनंदनगर-नौतनवां का विद्युतीकरण 31 मार्च तक तथा आनंदनगर-बढ़नी-गोंडा रेलमार्ग का विद्युतीकरण 31 दिसंबर तक पूरा हो जाएगा। फरवरी में गोरखपुर-नकहा जंगल तक इलेक्ट्रिक ट्रेनें चलने लगेंगी।
गोरखपुर, जेएनएन। पूर्वोत्तर रेलवे के लूप (साइड वाली रेल लाइनें) लाइनों पर भी इलेक्ट्रिक इंजनों से ट्रेनें दौड़ेंगी। मुख्य मार्ग बाराबंकी-गोरखपुर-छपरा, गोरखपुर-भटनी-वाराणसी, गोरखपुर-कप्तानगंज-नरकिटयागंज और छपरा-बलिया-वाराणसी रेलमार्ग पर इलेक्ट्रिक ट्रेनें चलाने के बाद रेलवे प्रशासन ने लूप लाइनों का भी विद्युतीकरण शुरू कर दिया है।
गोरखपुर-आनंदनगर-नौतनवा और आनंदनगर-बढ़नी-गोंडा कुल 261 किलोमीटर रेल लाइन पर विद्युतीकरण
...
more...
तेजी के साथ शुरू है। गोरखपुर-आनंदनगर-नौतनवां का विद्युतीकरण 31 मार्च तक तथा आनंदनगर-बढ़नी-गोंडा रेलमार्ग का विद्युतीकरण 31 दिसंबर तक पूरा हो जाएगा। फरवरी में गोरखपुर-नकहा जंगल तक इलेक्ट्रिक ट्रेनें चलने लगेंगी।
प्रथम चरण में गोरखपुर-आनंदनगर-नौतनवां रेलमार्ग पर फाउंडेशन के बाद खंभे लगने शुरू हो गए हैं। इस मार्ग पर गोरखपुर-नकहा जंगल तक का विद्युतीकरण तो जनवरी में ही पूरा कर लिया जाएगा। गोरखपुर-नौतनवां का कार्य पूरा हो जाने के बाद द्वितीय चरण में आनंदनगर-बढ़नी-गोंडा रूट पर कार्य में तेजी आएगी। हालांकि, इस मार्ग पर भी सर्वे के बाद फाउंडेशन का कार्य शुरू हो गया है। दरअसल, रेलवे बोर्ड ने पूर्वोत्तर रेलवे की सभी रेल लाइनों के विद्युतीकरण की संस्तुति प्रदान कर दी है।
कोरोना काल में भी 282 किमी मार्ग का विद्युतीकरण पूरा
कोरोना काल में भी विद्युतीकरण कार्य तेजी के साथ चलता रहा। भटनी-औंड़िहार सहित 282 किमी रेलमार्ग पर इलेक्ट्रिक इंजनों से ट्रेनें चलने लगी हैं। मार्च 2020 से पहले 1967 किमी रेल लाइन का विद्युतीकरण पूरा हो गया था। जानकारों के अनुसार वर्ष 2016-17 में 159.20 किमी, 2017-18 में 167.14 किमी तथा 2018-19 में 431.23 किमी रेल खण्ड का विद्युतीकरण कार्य पूरा हुआ। अभी तक 2250 किमी रेललाइन का विद्युतीकरण पूरा हो चुका है। करीब 3100 रुट किमी रेल लाइन है।
गोरखपुर के एसी शेड में शुरू है इलेक्ट्रिक इंजनों की मरम्मत
गोरखपुर में सौ लोको क्षमता वाला एसी शेड में इलेक्ट्रिक इंजनों की मरम्मत शुरू है। पूर्वोत्तर रेलवे रूट पर चलने वाले इलेक्ट्रिक इंजनों को मरम्मत और रखरखाव आदि के लिए दूसरे जोन में नहीं भेजना पड़ रहा है। इस शेड में मरम्मत होने वाले इलेक्ट्रिक इंजनों पर गोरखपुर का नाम अंकित हो रहा है। वर्ष 2007-08 में तत्कालीन रेलमंत्री लालू प्रसाद यादव ने पूर्वोत्तर रेलवे में इलेक्ट्रिफिकेशन और इलेक्ट्रिक शेड की घोषणा की थी।
नई रेललाइन के साथ ही बिछने लगेंगे बिजली के तार
अब नई रेल लाइनों के साथ बिजली के तार भी बिछने लगेंगे। यानी, नई रेल लाइनों पर भी ट्रेनें इलेक्ट्रिक इंजनों से ही चलनी शुरू होंगी। नए रेलमार्ग खलीलाबाद- मेहदावल-बांसी-डुमरियागंज-उतरौला-बलराम-श्रावस्ती-भिंगा-बहराइच लगभग 240 किमी के विद्युतीकरण की भी स्वीकृति मिल गई है। करीब 270 करोड़ रुपये बजट भी आवंटित है। सहजनवां-दोहरीघाट 80 किमी और आमान परिवर्तित मार्ग इंदारा-दोहरीघाट 35 किमी के विद्युतीकरण भी स्वीकृति मिल चुकी है। इन दोनों रेलमार्गों के लिए करीब 125 करोड़ का बजट प्रस्तावित है।
इन लूप लाइनों पर पूरा हो गया है विद्युतीकरण
औंड़िहार-तरावं-नंदगंज, सीतापुर-लखीमपुर, डालीगंज-सीतापुर, गोंडा-सुभागपुर, कछवारोड से माधोसिंह, बरेली सिटी से कासगंज, मनकापुर-कटरा-अयोध्या, जलालपुर-थावे, थावे-राजपट्टी, मेंडू-कासंगंज-दरियावगंज-फर्रुखाबाद, कन्नौज से कल्याणपुर।
विद्युतीकरण के फायदे
रेलवे के खर्चों में आएगी कमी।
समय की बचत होगी, ट्रेनें बढ़ेंगी।
स्टेशनों पर बिजली की व्यवस्था।
तेल से संभावित दुर्घटनाएं खत्म।
पर्यावरण में प्रदूषण नहीं फैलेगा।
पूर्वोत्तर रेलवे में तेजी के साथ विद्युतीकरण का कार्य हो रहा है। विद्युतीकरण से जहां डीजल पर हमारी निर्भरता कम होगी और राजस्व की बचत होगी, वहीं पर्यावरण के लिए भी यह लाभकारी होगा।
- पंकज कुमार सिंह, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, पूर्वोत्तर रेलवे- गोरखपुर।

3 Public Posts - Thu Jan 07, 2021





Dec 22 2020 (12:39) गोरखपुर खिचड़ी मेला के लिए चलेंगी आधा दर्जन स्पेशल पैसेंजर ट्रेनें Gorakhpur News (www.jagran.com)
New/Special Trains
NER/North Eastern
0 Followers
16892 views

News Entry# 429521  Blog Entry# 4819954   
  Past Edits
Dec 22 2020 (12:40)
Station Tag: Deoria Sadar/DEOS added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Dec 22 2020 (12:40)
Station Tag: Kaptanganj Junction/CPJ added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Dec 22 2020 (12:40)
Station Tag: Basti/BST added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Dec 22 2020 (12:40)
Station Tag: Barhni/BNY added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Dec 22 2020 (12:40)
Station Tag: Nautanwa/NTV added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Dec 22 2020 (12:40)
Station Tag: Nakaha Jungle/JEA added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Dec 22 2020 (12:40)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by Anupam Enosh Sarkar/401739
खिचड़ी मेला के लिए गोरखपुर और नकहा से नौतनवां बढऩी बस्ती कप्तानगंज और देवरिया रेलमार्ग पर आधा दर्जन स्पेशल पैसेंजर ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। स्टेशन प्रबंधन ने ट्रेनों का प्रस्ताव तैयार कर मुख्यालय को भेज दिया है।
गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर के खिचड़ी मेला में गोरक्षनाथ मंदिर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं के लिए राहत भरी खबर है। गोरखपुर और नकहा से नौतनवां, बढऩी, बस्ती, कप्तानगंज और देवरिया रेलमार्ग पर आधा दर्जन स्पेशल पैसेंजर ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। स्टेशन प्रबंधन ने ट्रेनों का प्रस्ताव तैयार कर मुख्यालय को भेज दिया है। रेलवे प्रशासन की हरी झंडी मिलते ही स्टेशन प्रबंधन ट्रेनों के संचालन को लेकर तैयारी शुरू कर देगा। स्पेशल ट्रेनें कोविड-19 प्रोटोकाल के तहत ही चलेंगी।
गोरखपुर
...
more...
और नकहा से नौतनवां, बढऩी व बस्ती रूट पर चलाई जाएंगी ट्रेनें
स्टेशन डायरेक्टर आशुतोष गुप्ता ने वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक को पत्र लिखकर खिचड़ी मेला ही नहीं मौनी अमावस्या, बसंत पंचमी और महाशिवरात्रि पर्व पर नौतनवां-गोरखपुर, बलरामपुर-बढऩी- गोरखपुर, बेतिया- कप्तानगंज- गोरखपुर, छपरा- देवरिया- गोरखपुर और गोंडा- बस्ती- सहजनवां रूट पर स्पेशल के रूप में पैसेंजर ट्रेनों को संचालित करने का अनुरोध किया है। जानकारों के अनुसार ट्रेनों को चलाने की अनुमति मिलने के बाद जनरल टिकटों की बिक्री और निर्धारित स्टेशनों के काउंटरों को खोलने की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाएगी। जनरल टिकटों की बिक्री के लिए पहले से ही सिस्टम तैयार है। हालांकि, रेलवे बोर्ड ने अभी भारतीय रेलवे स्तर पर पैसेंजर ट्रेनों को चलाने और जनरल टिकटों की बुकिंग पर रोक लगाई हुई है।
अभी बंद है पैसेंजर ट्रेनों का संचालन
दरअसल, कोरोना काल में नौतनवां, बढऩी, बस्ती, कप्तानगंज और देवरिया रूट पर पैसेंजर और डेमू ट्रेनों का संचालन बंद हैं। इन मार्गों पर स्पेशल के नाम पर गिनती की लंबी दूरी की ट्रेनें ही चल रही हैं। यह ट्रेनें भी छोटे स्टेशनों और हाल्टों पर नहीं रुकती हैं। ऐसे में प्रत्येक वर्ष खिचड़ी पर्व पर बाबा गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाने वाले लाखों श्रद्धालुओं की परेशानी बढ़ गई है। उनकी समझ में नहीं आ रहा कि इसबार बाबा को खिचड़ी कैसे चढ़ेगी। खैर, पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए लोकल रूट पर चलने वाली पैसेंजर ट्रेनों को चलाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।
रेलवे स्टेशनों पर स्थापित होगी हेल्प डेस्क और हेल्थ बूथ
श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए गोरखपुर और नकहा स्टेशन पर अतिरिक्त व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। ट्रेनों और अन्य साधनों की जानकारी के लिए हेल्प डेस्क तथा हेल्थ बूथ स्थापित होगी। दोनों स्टेशनों पर अतिरिक्त टिकट काउंटर खोले जाएंगे। गोरखपुर में उत्तरी द्वार का टिकट काउंटर भी खुल जाएगा। स्टेशनों पर यात्रियों को ट्रेनों के अलावा अन्य आवश्यक सूचनाएं मिलती रहेंगी। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा। इसके लिए अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती की जाएगी।
किसान आंदोलन के चलते निरस्त रहेगी जननायक स्पेशल
पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के चलते जननायक एक्सप्रेस दो दिन और निरस्त रहेगी। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार 22 दिसंबर को चलने वाली 05211 दरभंगा-अमृतसर तथा 24 दिसंबर को चलने वाली 05212 अमृतसर-दरभंगा स्पेशल एक्सप्रेस नहीं चलेगी। इसके अलावा कुछ ट्रेनों का मार्ग परिवर्तन भी किया गया है।
कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती करने के लिए बनाए गए रक्षक रेलवे कोचों के आठ माह में ताले भी नहीं खुले। 140 बेड वाले 10 कोच नकहा जंगल स्टेशन पर आज भी मरीजों की सेवा के लिए तैयार हैं। यह आलम तब है, जबकि दो माह पहले तक कोरोना के मरीजों को अस्पतालों में भर्ती करने के लिए बेड तक नहीं मिल रहे थे।विज्ञापनशुरुआती दौर में कोरोना के बढ़ते मरीजों के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने रेलवे कोच को आइसोलेशन वार्ड बनाने के निर्देश दिए थे। लॉकडाउन के बीच अप्रैल में रेलवे यांत्रिक कारखाना ने 10 कोच बनाकर तैयार किए। इनमें 140 बेड बनाए गए। कोच में मरीजों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए शौचालय और वॉश बेसिन भी लगाए गए।गंभीर मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलिंडर की भी व्यवस्था की गई। आइसोलेशन कोच बनने के बाद इसे नकहा जंगल रेलवे स्टेशन पर खड़ा किया गया है। इसका अभी तक इस्तेमाल नहीं...
more...
किया गया है। कोचों पर धूल जम चुकी है। कोचों को बनाने पर कितनी लागत आई इसका अनुमान रेलवे ने नहीं लगाया है।
140 मरीजों का हो सकता है इलाज
रेलवे के बनाए कोचों का इस्तेमाल किया जाए तो इनमें 140 मरीज भर्ती हो सकते हैं। इनका इस्तेमाल न तो स्वास्थ्य विभाग ने किया और न ही रेलवे ने। पूर्वोत्तर रेलवे में 18 रैक बनेपूर्वोत्तर रेलवे में 18 रैक बनाए गए हैं। प्रत्येक में 10 कोच लगे हैं। लखनऊ मंडल में चार, इज्जतनगर में चार और वाराणसी मंडल में 10 रैक खड़े किए गए हैं। 
जरूरत पड़ने पर उपलब्ध कराया जाएगा
मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने बताया कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देश पर कोचों को कोविड मरीजों के लिए तैयार किया गया था। यांत्रिक कारखाना गोरखपुर में सभी कोच बने हैं। ऐसे में खर्च का आकलन नहीं किया गया है। भविष्य में अगर जरूरत पड़ती है तो गाइडलाइन के मुताबिक इन कोचों का इस्तेमाल किया जाएगा। सीएमओ डॉ. श्रीकांत तिवारी ने बताया कि कोविड मरीजों के लिए पर्याप्त बेड थे, इसलिए रेलवे के कोच की जरूरत नहीं पड़ी। मौजूदा समय में बीआरडी से लेकर 100 बेड टीबी अस्पताल और जिला अस्पताल तक में बेड खाली हैं। ऐसे में जब जरूरत होगी तो उसका इस्तेमाल किया जाएगा।
Jul 24 2020 (08:18) गोरखपुर से नकहा स्टेशन के बीच दोहरीकरण शुरू (www.google.com)
*current-affairs
0 Followers
59757 views

News Entry# 414872  Blog Entry# 4674635   
  Past Edits
Jul 24 2020 (08:19)
Station Tag: Nakaha Jungle/JEA added by Pankaj/1718748

Jul 24 2020 (08:19)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by Pankaj/1718748
गोरखपुर से नकहा स्टेशन के बीच दोहरीकरण शुरू मिट्टी भरने और पुल निर्माण का कार्य तेज अमर उजाला ब्यूरो गोरखपुर । गोरखपुर से नकहा स्टेशन तक रेल लाइन का दोहरीकण से शुरू हो गया है। रेल लाइन के किनारे मिट्टी भरने और छोटे पुल का निर्माण तेज गति से चल रहा है। रेलवे ने वर्ष 2021 तक निर्माण कार्य पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। रेल प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक लगभग छह किमी लंबी इस रेल लाइन के किनारे अभी तक 60 हजार क्यूबिक मीटर मिट्टी का कार्य पूरा कर लिया गया है। कुल एक लाख क्यूबिक मीटर मिट्टी गिराई जानी है। एक छोटा पुल बनाया जाना है। इसके अलावा नकहा जंगल का विस्तारीकरण और सौंदर्यीकरण भी किया जाना है। इसके तहत प्लेटफार्म संख्या एक को मानीराम की तरफ 100 मीटर तक बढ़ाकर ऊंचा किया जाएगा। प्लेटफार्म नंबर 2 और 3 भी ऊंचा होगा। इन प्लेटफार्मों पर मानीराम...
more...
की तरफ 305 मीटर लंबी नई लाइन भी बिछाई जाएगी। दरअसल, गोरखपुर-नकहा के बीच सिंगल लाइन होने के चलते दिल्ली और मुंबई से आने वाली ट्रेनें ही नहीं इंटरसिटी, पैसेंजर और डेमू भी नकहा में आकर घंटो खड़ी हो जाती हैं। नकहा में माल गोदाम होने के चलते मालगाड़ियों का संचलन भी प्रभावित होता। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने बताया कि डोमिनगढ़-गोरखपुर-कुसम्ही के बीच नई तीसरी रेल लाइन का निर्माण कार्य भी तेजी के साथ चल रहा है। 21.5 किमी लंबी इस रेल लाइन की स्वीकृति वर्ष 2016-17 में स्वीकृति मिली थी। निर्माण कार्य के लिए 186.85 करोड़ की अनुमानित लागत भी स्वीकृत हो गई है।

2 *current-affairs Posts - Fri Jul 24, 2020





Jan 14 2020 (19:16) गोरखनाथ मंदिर में खुला रेलवे टिकट काउंटर, जानें-कब तक करेगा काम Gorakhpur News (m.jagran.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
14573 views

News Entry# 399004  Blog Entry# 4540090   
  Past Edits
Jan 14 2020 (19:16)
Station Tag: Nakaha Jungle/JEA added by Amish Kumar^~/1702584

Jan 14 2020 (19:16)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by Amish Kumar^~/1702584
गोरखपुर, जेएनएन। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए गोरखनाथ मंदिर (उत्तरी गेट) और नकहा स्टेशन पर सोमवार को टिकट काउंटर खुल गया। श्रद्धालु काउंटरों से 16 जनवरी तक जनरल टिकट खरीद सकते हैं। इसके अलावा पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने गोरखपुर जंक्शन और नकहा स्टेशन पर श्रद्धालुओं के लिए अतिरिक्त सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं।
एनाउंस सिस्‍टम से सभी ट्रेनों के बारे में मिलेगी जानकारी
मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार दोनों स्टेशनों पर टिकट काउंटरों के साथ सुरक्षा, पानी, बिजली और साफ-सफाई के विशेष इंतजाम किए गए हैं। एनाउंस सिस्टम से यात्रियों
...
more...
को हर पल ट्रेनों की सूचना मिलती रहेगी।
तीन स्‍थानों पर मेडिकल बूथ स्‍थापित
गोरखपुर में प्लेटफार्म नंबर एक और नौ पर तथा नकहा स्टेशन पर मेडिकल बूथ भी खोला गया है। ताकि, तबीयत आदि खराब होने पर तत्काल प्राथमिक इलाज सुनिश्चित किया जा सके। नकहा में यात्रियों के सहयोग के लिए टिकट कलेक्टरों (टीसी) की भी तैनाती की गई है। गोरखपुर से बढऩी और नौतनवां के बीच मेला स्पेशल ट्रेनों का संचलन शुरू हो गया है।
बिछड़े श्रद्धालुओं को घर तक पहुंचाएगा रोडवेज
रोडवेज ने भी खिचड़ी मेला में जुटने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए विशेष इंतजाम किया है। विभिन्न रूटों पर अतिरिक्त बसों का संचालन करने के अलावा गोरखनाथ मंदिर, रेलवे बस डिपो और बरगदवा में श्रद्धालुओं के सहयोग के लिए कैंप लगाया है। रोडवेज मेला में परिजनों से बिछड़े लोगों को उनके घर तक पहुंचाने की भी योजना तैयार की है।
30 तक चलेगी मेला स्पेशल ट्रेनें 
55095 नंबर की ट्रेन गोरखपुर से रात 9.05 बजे से रवाना होकर 1.30 बजे बढऩी पहुंचेगी।  55096 नंबर की ट्रेन बढऩी से रात 2.45 बजे रवाना होकर सुबह 6.40 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। 55097 नंबर की ट्रेन नौतनवां से रात 10.45 बजे रवाना होकर 1.45 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। 55098 नंबर की ट्रेन गोरखपुर से रात 2.30 बजे रवाना होकर सुबह 5.45 बजे नौतनवा पहुंचेगी।
Page#    Showing 1 to 20 of 28 News Items  next>>

Go to Full Mobile site