Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

प्रयागराज एक्सप्रेस - जो भी हो तुम खुदा की कसम; लाजवाब हो

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Feb 26 19:06:02 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 1646042-0
Large Station Board;
Entry# 1646042-0

ASSH/Aishbagh MG
(عیش باغ ( ایم جی     ऐशबाग़ (एम जी)

Track: Single Electric-Line

Show ALL Trains
Aishbagh, Lucknow
State: Uttar Pradesh

Elevation: 123 m above sea level
Zone: NER/North Eastern   Division: Lucknow NER

No Recent News for ASSH/Aishbagh MG
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: n/a
Number of Halting Trains: 0
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: NaN/5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 14 of 14 News Items  
Nov 27 2018 (23:59) ऐशबाग में लगेंगी चार वाटर वेंडिंग मशीन (www.livehindustan.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
13085 views

News Entry# 370122  Blog Entry# 4048336   
  Past Edits
Nov 27 2018 (23:59)
Station Tag: Aishbagh/ASH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Nov 27 2018 (23:59)
Station Tag: Aishbagh MG/ASSH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739
Stations:  Aishbagh/ASH   Aishbagh MG/ASSH  
ऐशबाग जंक्शन पर ट्रेनों का दवाब बढ़ गया है, लेकिन यहां पर यात्री मूलभूत सुविधाओं का ही टोटा है। यहां पर यात्रियों के पानी पीने के लिए व्यवस्था ही नहीं है। यात्रियों को प्लेटफार्म पर जगह-जगह वाटर कैन लगाकर पानी की सुविधा उपलब्ध हो रही है। इसको देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे मंडल कार्यालय ने ऐशबाग जंक्शन पर चार डब्ल्यूवीएम(वाटर वेंडिंग मशीन) लगाकर पानी उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है।ऐशबाग जंक्शन पर मात्र चार जोड़ी पैसेंजर ट्रेनें गुजरती थीं। बीते 13 नवंबर को ऐशबाग जंक्शन पर एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव भी होने लगा है। जिसके चलते अब यहां 42 एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेनें गुजरती हैं। लेकिन, यहां पानी की व्यवस्था न होने से यात्रियों को खासी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा था। इसको देखते हुए रेलवे ने ऐशबाग जंक्शन पर दो डब्ल्यूवीएम प्लेटफार्म नंबर दो व तीन पर जबकि दो डब्ल्यूवीएम प्लेटफार्म चार व पांच पर लगाने का निर्णय लिया है।...
more...
डब्ल्यूवीएम से यात्रियों को मात्र दो रुपये में एक लीटर पानी उपलब्ध होगा। जबकि, पानी के कंटेनर के साथ एक लीटर पानी मात्र पांच रुपये में मिल जाएगा। इसका सबसे बड़ा फायदा जनरल कोच के यात्रियों को मिलेगा। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि दिसंबर महीने से वाटर वेंडिंग मशीन लगना शुरू हो जाएंगी और जल्द ही यात्रियों को फायदा मिलेगा।
पूर्वोत्तर रेलवे के ऐशबाग जंक्शन पर यात्रियों को ट्रेन पकड़ने में मुश्किलें आ रही हैं। यहां से गुजरने वाली दर्जनों ट्रेनों के हिसाब से प्लेटफार्म छोटे हैं। नतीजतन, ट्रेनों के अधिकांश कोच प्लेटफार्म से बाहर खड़े हो रहे हैं। यात्रियों को ट्रेन के कोचों तक पहुंचने के लिए पटरियों पर चलकर जाना पड़ रहा है। पूर्वोत्तर रेलवे के ऐशबाग जंक्शन पर करीब दो हफ्ते पहले दर्जनों ट्रेनें ट्रांसफर हुई हैं। यहां से 12541 गोरखपुर-लोकमान्यतिलक, 19038 अवध एक्सप्रेस, 15015 गोरखपुर-यशवंतपुर, 15101 छपरा-छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, 15045 गोरखपुर-ओखा एक्सप्रेस, 12511 राप्तीसागर एक्सप्रेस समेत करीब 28 ट्रेनों को रोककर सीधे मानकनगर होते हुए निकला जा रहा है। इसमें से गुजरने वाली अधिकांश ट्रेनों के कोच ऐशबाग जंक्शन प्लेटफार्म पर नहीं आ रहे हैं। इनमें ट्रेनों के पीछे लगे जनरल कोच के यात्रियों को खासी मशक्कत करनी पड़ रही है। लंबी दूरी के 24 कोच वाली ट्रेनों के कोच में दो से तीन कोच प्लेटफार्म से...
more...
बाहर खड़े हो रहे हैं। इसके चलते यात्री प्लेटफार्म छोड़कर ट्रेन आने से पहले पटरी पर जाकर खड़े होने को मजबूर है। सोमवार को भी ऐसा ही कुछ नजारा देखने को मिला जब, ऐशबाग जंक्शन पर ट्रेन 12511 राप्तीसागर पहुंची थी। ट्रेन के तीन कोच पटरी से बाहर निकल गए। इससे यात्रियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।
बिना तैयारी ट्रेनें चलाना यात्रियों के लिए बना मुसीबत
मुम्बई, त्रिवेंद्रम, यशवंतपुर, सिकंदराबाद, अर्नाकुलम, बांद्रा आदि जाने के लिए यात्री पहले लखनऊ जंक्शन से ट्रेन पकड़ते थे, लेकिन अब इन ट्रेनों का ठहराव ऐशबाग हो गया है। रेलवे ने बिना तैयारी के ऐशबाग स्टेशन पर ट्रांसफर तो कर दिया, लेकिन यात्रियों की सुविधाओं का ख्याल तक नहीं रखा। रेलवे की यही लापरवाही अब यात्रियों को भारी पड़ रही है। प्लेटफार्म छोटे होने के साथ ही यहां पर यात्रियों को कई और समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।


Nov 25 2018 (21:35) ऐशबाग सीतापुर रेलखंड पर 120 की रफ्तार में दौड़ी ट्रेन (www.livehindustan.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
11537 views

News Entry# 369830  Blog Entry# 4041957   
  Past Edits
Nov 25 2018 (21:35)
Station Tag: Sitapur Junction/STP added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Nov 25 2018 (21:35)
Station Tag: Aishbagh MG/ASSH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739
ढाई साल पहले शुरू हुआ था पटरियों को छोटी लाइन से बड़ी लाइन में बदलने का कामरेल संरक्षा की निगरानी में पहली बार डीलीगंज से सीतापुर के बीच ट्रेन का ट्रायल हुआ
लखनऊ। कार्यालय संवाददाता पूर्वोत्तर रेलवे के ऐशबाग से सीतापुर रेलखंड बनकर तैयार हो गया है। इस रूट पर ट्रेनों का संचालन जल्द शुरू करने की तैयारी है। रविवार को रेल संरक्षा आयुक्त की निगरानी में ट्रेन की रफ्तार का ट्रायल किया गया। ट्रेन को डालीगंज से सीतापुर के बीच 120 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ाया गया। जहां पटरियों की मजबूती को देखते हुए ट्रायल सफल माना जा रहा है। ऐसे में ढाई वर्ष के बाद इस रेलखंड पर अब एक बार फिर से ट्रेनों का संचालन जल्द शुरू
...
more...
होने की उम्मीद है। इस रेलखंड पर दो दिवसीय सीआरएम की टीम ने शनिवार व रविवार को निरीक्षण किया। पूर्वोत्तर रेलवे परिमंडल के सीआरएस अरविंद कुमार जैन ने रेलखंड के आमान परिवर्तन कार्य का मोटर ट्रॉली से निरीक्षण किया था। उन्होंने रेलखंड पर बने समपारों, प्वाइंटरों, क्रासिंगों, रेलवे लाइन फिटिंग्स, सिग्नल एवं रास्ते में पड़ने वाले स्टेशनों पर बने स्टेशन अधीक्षक कार्यालय, पैनल रूम एवं रिले रूम का निरीक्षण किया। इस बीच कमलापुर स्टेशन, कमलापुर-खैराबाद अवध के मध्य पुल संख्या 84, समपार संख्या 62 एवं खैराबाद अवध-सीतापुर के मध्य कर्व संख्या 28 एवं अन्य क्रॉसिंग्स, रेलवे लाइन फिटिंग्स, सिग्नल, समपार फाटक,अंडर पास का गहन निरीक्षण किया। ट्रायल सफल होने पर खुश नजर आए अफसर अधिकारियों ने बताया कि ढाई साल की मेहनत का परिणाम रहा कि ट्रेन का ट्रायल सफल रहा। इस रेलखंड पर अधिकतम 120 किमी की रफ्तार से ट्रेन का संचालन किया। अधिकारियों की मानें तो स्पीड ट्रायल पूरी तरह सफल रहा है। ऐसे में रेल संरक्षा अपनी ट्रायल रिपोर्ट पूर्वोत्तर रेलवे के डीआरएम को सौंपेंगे। सीआरएम के निरीक्षण में उप मुख्य इंजीनियर (निर्माण) सीएम चौधरी, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर (समन्वय) आरके श्रीवास्तव, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक स्वदेश कुमार सिंह मौजूद रहे। ट्रेन से सीतापुर तक 30 रुपये किराया होगा इस रेलखंड पर ट्रेनों का संचालन शुरू होने से लखनऊ से सीतापुर के बीच 30 रुपये किराया होगा। इस रूट पर ट्रेन से रोजाना तकरीबन 25 हजार यात्रियों को ट्रेन की सुविधा मिलेगी। अभी तक यात्रियों को रोडवेज बसों से लखनऊ से सीतापुर पहुंचने के लिए करीब 90 रुपए का किराया देना पड़ता है। अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती दौर में इस रेलखंड पर आधा दर्जन डेमू ट्रेनों का संचालन कराया जाएगा।
Nov 25 2018 (21:28) सीतापुर तक हुआ रेल चलाने का ट्रायल, लखीमपुर में खुशी (www.livehindustan.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
12725 views

News Entry# 369825  Blog Entry# 4041936   
  Past Edits
Nov 25 2018 (21:30)
Station Tag: DaliGanj Junction/DAL added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Nov 25 2018 (21:30)
Station Tag: Mailani Junction/MLN added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Nov 25 2018 (21:30)
Station Tag: Aishbagh MG/ASSH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Nov 25 2018 (21:30)
Station Tag: Aishbagh/ASH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Nov 25 2018 (21:28)
Station Tag: Sitapur Junction/STP added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739
ऐशबाग- मैलानी रेलप्रखंड पर ट्रेन यातायात जल्द शुरू होने की कवायद शुरू हो गई है। इसमें पहले चरण में ऐशबाग-सीतापुर रेलप्रखंड पर ट्रेन का ट्रायल किया गया है। इसके लिए 24 से 25 नवम्बर को निर्धारित समय पर रेलवे के अधिकारियों की निगरानी में ट्रायल लिया गया। इससे लखीमपुर के लोगों में भी खुशी है। सीतापुर तक ट्रायल के बाद अब सीतापुर- मैलानी रेलप्रखंड पर ट्रायल होने की तैयारी है। डालीगंज-सीतापुर रेलखंड के ट्रायल के साथ ही राजधानी सहित सीतापुर, लखीमपुर और पीलीभीत जिले के लोगों को नई दिल्ली, जम्मू और पंजाब के लिए नया रूट बनने जा रहा है।आगे आने वाले समय में यह रूट इन जिले के लोगों के साथ ही व्यापार को भी संजीवनी देने का काम करेगा। दो दिन के ट्रायल को पूवोत्तर परिमंडल के रेल संरक्षा आयुक्त अरविंद कुमार जैन, डीआरएम विजयलक्ष्मी कौशिक, और आरवीएनएल के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर वीके पांडे ने स्टेशनों के बीच...
more...
निरीक्षण किया। शनिवार को माटर ट्राली से निरीक्षण हुआ इसके बाद रविवार को स्पेशल ट्रेन दौड़ाकर स्पीड ट्रायल हुआ। ऐशबाग- मैलानी रेलप्रखंड पर मीटरगेज की लाइन को हटाकर ब्राडगेज किए जानें का आमान परिवर्तन का काम वर्ष 2016 में शुरू किया गया था। इसमें पहले ऐशबाग से सीतापुर के बीच ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया था। इसके बाद सीतापुर से मैलानी के बीच ट्रेनों का संचालन बंद किया गया। सबसे बाद मैलानी से पीलीभीत के बीच में ट्रेन का संचालन बंद कर पटरी बदलने का काम शुरू किया गया। दो साल से ज्यादा का समय गुजर जानें के बाद ऐशबाग- सीतापुर के बीच ब्राडगेज रेलप्रखंड पर ट्रेन का ट्रायल होने जा रहा है। पहले ट्रायल में इस रुट पर डीएमयू ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि ऐशबाग- सीतापुर के बीच होने वाले ट्रायल के बाद करीब तीन माह के बाद सीतापुर-मैलानी के बीच ट्रेन का ट्रायल किया जाएगा। ट्रायल के बाद भी ट्रेन संचालन में अभी वक्त लगेगा। इसके बाद भी कार्रदाई संस्था को तय समय तक अपना काम पूरा करने को कहा गया है।900 करोड़ के बजट से हो रहा आमान परिवर्तन का कामऐशबाग से पीलीभीत रेल प्रखंड को आमान परिर्वतन कर ब्राडगेज करने के लिए 900 करोड रुपए का बजट दिया गया था। इसमें 289 किलोमीटर में रेलवे ट्रेक को बदला जाना है। ऐशबाग- सीतापुर के बीच आमान परिर्वतन के लिए 350 करोड रुपए दिए गए थे।पहले दौर में चलेगी चार जोड़ी ट्रेनेआरवीएनएल के अधिकारियों ने बताया कि ऐशबाग- सीतापुर रेलप्रखंड पर रेलवे के ट्रायल होने के बाद चार जोड़ी ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। यह ट्रेने पैसेजर ट्रेने होगी। इसके बाद सीतापुर- मैलानी रेलप्रखंड का ट्रायल होने के बाद इन ट्रेनों को संचालन मैलानी तक बढाया जाएगा।ट्रेनों का संचालन पहले बाद में बनेगे स्टेशनआरवीएनएल के अधिकारियों का कहना है कि रेलवे पहले ट्रेनों का संचालन चलाने को प्राथमिकता दे रहा है। इसके चलते पहले से बने स्टेशनों के सहारे यात्रियों को ट्रेन की सुविधा दी जाएगी। इसके बाद धीरे धीरे इनका निर्माण भी पूरा कर लिया जाएगा।इस तरह से बंद हुआ ट्रेनों का संचालन15 मई 2016 ऐशबाग से सीतापुर ट्रेन का संचालन बंद15 अक्टूबर 2016 सीतापुर से मैलानी ट्रेन का संचालन बंद31 मई 2018 मैलानी से पीलीभीत ट्रेन का संचालन बंदऐशबाग-मैलानी के बीच संचालित होती थी 22 ट्रेने
Nov 02 2018 (21:00) तीसरा व्यस्ततम स्टेशन होगा लखनऊ का ऐशबाग, कठिनाई भरा होगा रास्ता (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
13303 views

News Entry# 367741  Blog Entry# 3965662   
  Past Edits
Nov 02 2018 (21:00)
Station Tag: Aishbagh MG/ASSH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739

Nov 02 2018 (21:00)
Station Tag: Aishbagh/ASH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739
Stations:  Aishbagh/ASH   Aishbagh MG/ASSH  
लखनऊ (जेएनएन)। चारबाग स्टेशन और लखनऊ जंक्शन के बाद अब ऐशबाग शहर का सबसे व्यस्तम स्टेशन होगा। इस स्टेशन पर 13 नवंबर से चार जोड़ी महत्वपूर्ण ट्रेनों का ठहराव होगा। जबकि अगले ही महीने से ऐशबाग-सीतापुर रेलखंड के शुरू होते ही पांच जोड़ी ट्रेनें और यहां से चलने लगेंगी। यात्रियों की सुविधा के लिए जहां रेलवे ने ऐशबाग स्टेशन पर तैयारियां पूरी कर ली है। वहीं, दूसरी ओर ऐशबाग स्टेशन तक एप्रोच रोड को लेकर उनको दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।  ऐशबाग स्टेशन तक पहुंचने के लिए राजेंद्रनगर और मवैया होकर रास्ता जाता है। राजेंद्रनगर से अग्रसेन इंटर कॉलेज का रास्ता तो कुछ ठीक है, लेकिन मवैया होकर यात्रियों को पुल के पास जाम में फंसना पड़ेगा। फिलहाल यहां यातायात सुधारने के लिए कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। ऐशबाग स्टेशन पर दोनो तरफ यात्रियों के प्रवेश और निकास की सुविधा होगी। अभी मेन बिल्डिंग बनकर तैयार हो गई...
more...
है। जबकि सेकेंड एंट्री का काम चल रहा है। ऐशबाग स्टेशन से चारबाग की ओर से जाने वाली अप व डाउन दिशा की  कुशीनगर एक्सप्रेस, आम्रपाली एक्सप्रेस, बिहारसंपर्कक्रांति एक्सप्रेस और वैशाली सुपरफास्ट एक्सप्रेस का संचालन होगा। वहीं ऐशबाग सीतापुर रूट की ट्रेनें चलने से यहां पर रोजाना सफर करने वाले यात्रियों की संख्या 25 से 30 हजार के बीच होगी। इतनी बड़ी संख्या में यात्रियों के आवागमन को देखते हुए सुरक्षा के भी व्यापक इंतजाम होंगे। आरपीएफ यहां चौकी को थाना के रूप में अपग्रेड करने की तैयारी कर रहा है। एसी लाउंज में बैठेंगे यात्री ऐशबाग स्टेशन पर यात्रियों के लिए आरामदायक एसी लाउंज बनाया गया है। इसके अलावा आरक्षण केंद्र, जनरल टिकट काउंटर, यात्री प्रतीक्षालय, दो एसी और दो नॉन एसी श्रेणी के विश्रामालय, जनरल टिकट बेचने के लिए दो यूटीएस काउंटर और आटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन, वाहनों की पार्किंग, दो रैंप के साथ पैदल पुल और एटीएम की सुविधा भी ऐशबाग स्टेशन पर होगी।
Page#    Showing 1 to 14 of 14 News Items  

Go to Full Mobile site