Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Darjeeling Mail - উত্তরবঙ্গের ঐতিহ্য - Joydeep Roy

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Mar 3 05:41:14 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search

BKA/Barkhera (2 PFs)
بركھےڑا     बरखेड़ा

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
National Highway 69, Barkhera
State: Madhya Pradesh

Elevation: 472 m above sea level
Zone: WCR/West Central   Division: Bhopal

No Recent News for BKA/Barkhera
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 4
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 4.1/5 (18 votes)
cleanliness - good (3)
porters/escalators - good (2)
food - good (2)
transportation - good (2)
lodging - good (2)
railfanning - excellent (3)
sightseeing - excellent (2)
safety - good (2)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 32 News Items  next>>
Feb 02 (17:15) Bhopal Railway News: हबीबगंज विश्वस्तरीय सुविधा वाला स्टेशन कब तक बनेगा, कल देखेंगे रेलवे जीएम (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
9599 views

News Entry# 436548  Blog Entry# 4864523   
  Past Edits
Feb 02 2021 (17:15)
Station Tag: Budni/BNI added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 02 2021 (17:15)
Station Tag: Barkhera/BKA added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 02 2021 (17:15)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 02 2021 (17:15)
Station Tag: HabibGanj/HBJ added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 02 2021 (17:15)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी के हबीबगंज रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट की तरह सुविधाओं वाला विश्व स्तरीय स्टेशन बनाया जा रहा है। स्ट्रक्चर से जुड़े सभी काम 100 फीसद पूरे हो चुके हैं। पार्किंग एरिए को विकसित करने और फिनिसिंग समेत अन्य छोटे काम बाकी है। ये काम कब तक पूरे हो जाएंगे, इसका जायजा लेने पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर जोन के महाप्रबंधक (जीएम) शैलेंद्र कुमार सिंह बुधवार हबीबगंज आएंगे। वे बचे कामों का जायजा लेंगे। हबीबगंज विश्व स्तरीय सुविधाओं वाला अपनी तरह का देश में पहला स्टेशन होगा। इसका विधिवत लोकापर्ण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या रेलमंत्री पीयूष गोयल कर सकते हैं। यह लोकार्पण कार्यक्रम दिल्ली से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए भी हो सकता है। इस वजह से रेलवे ने काम को तय डेडलाइन से पूर्व पूरा कराने में ताकत झोंक दी है। जीएम का दौरा भी इसी से जुड़ा है हालांकि वे अन्य कामों और रेल खंडो का भी निरीक्षण करेंगे।...
more...

दरअसल, हबीबगंज स्टेशन को निजी भागीदारी के तहत पुन: विकसित किया जा रहा है। यह काम बंसल पाथ-वे हबीबगंज प्राइवेट लिमिटेड कर रहा है। इस पर यात्रियों को एयर कॉन्कोर, 36 मीटर ऊंची बिल्डिंग में रेस्टोरेंट, फूड प्लाजा, मेडिकल स्टोर, सिनेमा आदि की सुविधा दी जानी है। प्लेटफार्मों पर पहुंचने के लिए लिफ्ट, ट्रेवलेटर, स्केलेटर लगाए जा रहे हैं। दो अंडर ग्राउंड सब-वे बना दिए हैं। इन्हें यात्रियों के लिए चालू भी कर दिया है। सूचनाओं के लिए बड़ी स्क्रीन वाले आधुनिक डिस्प्ले लगा दिए हैं। यह काम नोडल एजेंसी इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कार्पोरेशन (आइआरएसडीसी) करवा रहा है। इस काम को मार्च 2021 तक पूरे करने की डेडलाइन है। अब रेलवे इस काम को उक्त डेडलाइन से पहले पूरा कराने की कोशिश में जुटा है, क्योंकि इसकी वास्तविक डेडलाइन जुलाई 2019 थी जो कि निकल चुकी है।
यात्रियों को ये सुविधाएं बाद में मिलेंगी
होटल, शॉपिंग मॉल, अस्पताल और कार्पोरेट ऑफिस काम्प्लेक्स की सुविधा बाद में मिलेगी। स्टेशन परिसर में ही ये सुविधाएं मिलेंगी। डेवलपर ने कार्पोरेट ऑफिस काम्प्लेक्स बना लिया है। अस्पताल, होटल और शॉपिंग मॉल के लिए बिल्डिंग बनाने का काम भी जारी है।
जीएम यह भी देखेंगे
- भोपाल-इटारसी रेलमार्ग पर बरखेड़ा से बुदनी के बीच तीसरी रेल लाइन का काम चल रहा है। यह घाट सेक्शन वाला रेलखंड है। इसमें तीसरी रेल लाइन का जल्दी निर्माण बहुत जरूरी है, क्योंकि ट्रेनों का आवागमन प्रभावित होता है। इस क्षेत्र में चल रहे कामों का जीएम निरीक्षण करेंगे।
- हबीबगंज स्थित ट्रैक मशीन डिपो भी जाएंगे। साथ ही हबीबगंज यार्ड में पिट लाइन बन रही है, जो स्वचलित होगी। इसमें बिना इंसानों के ट्रेन बोगियों की बाहर से धुलाई होगी। जीएम इन कामों का भी निरीक्षण करेंगे।
बुदनी से औबेदुल्लागंज के बीच जंगल क्षेत्र में रेलवे ट्रैक पर वन्यजीवों की सुरक्षा के इंतजाम हो रहे हैं। ट्रेन से टकराकर वन्य प्राणियाें की माैत राेकने के लिए रेलवे के रेल विकास निगम (आरवीएनएल) ने जाली वाली बाउंड्री करने का काम शुरू कर दिया है। औबेदुल्लागंज से बरखेड़ा के बीच करीब 2.50 किमी के दायरे में दो मीटर ऊंची लोहे की जाली की बाउंड्री बनाई जा रही है। इसकी ऊंचाई करीब 2 मीटर ऊंची हाेगी। रेलवे ने वन विभाग द्वारा किए गए सर्वे व जंगली जानवराें के ट्रैक पार करने वाले रास्ते में जालीदार बाउंड्री की जा रही है।
एक साल में ये घटनाएं हुईं
6
...
more...
सितंबर 2020 काे मिडघाट पर चाैका के पास 2.50 के तेंदुए की ट्रेन की चपेट में आने से माैत हाे गई।
27 नवंबर 2020 काे मिटघाट पर 8 महीने के तेंदुए की माैत ट्रेन की चपेट में आने से हाे गई थी।
2 जनवरी 2021 काे बरखेड़ा के पास कंपार्टमेंट आरएफ 951 के पास दाे से ढाई साल के तेंदुए की माैत ट्रेन से टकराने से हुई।
Jan 22 (11:31) Bhopal News: बरखेड़ा-बुदनी रेलखंड में बाघ-तेंदुए को बचाने की नई रणनीति... अब दो नहीं, तीन रेलवे लाइन को तार फेंसिंग से करेंगे कवर्ड (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
8756 views

News Entry# 434530  Blog Entry# 4853030   
  Past Edits
Jan 22 2021 (11:32)
Station Tag: Barkhera/BKA added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 22 2021 (11:32)
Station Tag: Budni/BNI added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 22 2021 (11:32)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Bhopal Junction/BPL   Budni/BNI   Barkhera/BKA  
भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। बरखेड़ा-बुदनी रेलखंड में बाघ, तेंदुए जैसे वन्‍य प्राणियों को ट्रेन की चपेट में आने से बचाने के लिए रेलवे और वन विभाग ने रणनीति बदल दी है। अब तीनों रेल लाइनों को ऊंची-जालीदार तार फेंसिंग करके कवर्ड किया जाएगा। पूर्व में दो रेल लाइनों को कवर्ड करने की योजना थी। यह काम रेलखंड में अगले दो साल के भीतर रेलवे को करना है। वन विभाग इसमें सहयोग करेगा। इस रेलखंड में पांच साल के भीतर 10 से अधिक वन्यप्राणियों की मौत रेलवे ट्रैक पार करते समय ट्रेन की चपेट में आकर हो चुकी है। इनमें बाघ, तेंदुए, भालू, नीलगाय आदि शामिल हैं।
दरअसल भोपाल-इटारसी रेल मार्ग रातापानी वन्यजीव अभयारण्य से होकर गुजरता है। इसकी सीमा बरखेड़ा से बुदनी के
...
more...
बीच लगती है। यहां जंगल के भीतर से दो रेल लाइनें गुजरती थीं। रेल लाइन के दोनों हिस्सों मे घना जंगल है। जिसमें प्राकृतिक जल स्रोत है। बाघ-तेंदुए समेत दूसरे वन्यप्राणी अपने रहवास स्थल में ट्रैक पार करके एक से दूसरी तरफ आना-जाना करते हैं। खासकर गर्मी के दिनों में जंगल में पानी खत्म हो जाता है और प्राकृतिक जल स्रोत ट्रैक के दोनों और सीमित है इसलिए वन्य प्राणी रेलवे लाइन पार करते हैं। ट्रेन की चपेट में आकर वन्‍य प्राणियों की मौत की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए वन विभाग ने रेलवे को पहले तो ट्रेनों की रफ्तार कम करने का प्रस्ताव दिया था। रेलवे ने इससे इन्‍कार कर दिया, क्योंकि ट्रेनों को घाट सेक्शन होने की वजह से कम रफ्तार से नहीं चलाया जा सकता। ऐसा किया गया तो ट्रेन परिचालन में दिक्कत आ सकती है। इसके बाद वन विभाग की तरफ से रेलवे को दो मौजूदा रेल लाइनों को जालीदार तार फेंसिंग करके कवर्ड करने का प्रस्ताव दिया था। रेलवे इसके लिए राजी भी है। इसी बीच बरखेड़ा से बुदनी रेलखंड में सालों से लंबित तीसरी लाइन कीअनुमति मिल गई। बीते एक साल से काम भी चालू है। ऐसे में मध्य प्रदेश वन विभाग, वन्यप्राणी विभाग और रेलवे ने मिलकर तय किया है कि अब दो लाइनों को कवर्ड करने से वन्य प्राणियों को नहीं बचाया जा सकेगा। इसके लिए तीनों लाइनों को कवर्ड करेंगे। तीसरी रेल लाइन का काम चल रहा है। इसके साथ साथ तार फेंसिंग का काम भी शुरू किया जाएगा। इस बात की पुष्टि भोपाल वन वृत्त के सीसीएफ रवींद्र सक्सेना ने भी की है।
Jan 14 (11:07) Bhopal Railway News: सुनिए वित्त मंत्री जी... उत्पादन यूनिट में बदले भोपाल का रेल कारखाना तो बनेगी बात (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
24108 views

News Entry# 433241  Blog Entry# 4844383   
  Past Edits
Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Harda/HD added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Betul/BZU added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Nishatpura Junction Cabin/NSZ added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Obaidulla Ganj/ODG added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Misrod/MSO added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Ramganj Mandi Junction/RMA added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Sant Hirdaram Nagar/SHRN added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: HabibGanj/HBJ added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Sukhisewaniyan/SUW added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Mandideep/MDDP added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Barkhera/BKA added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Bina Junction/BINA added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 14 2021 (11:08)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना संक्रमण की मार से हर क्षेत्र प्रभावित हुआ है। रेलवे पर भी इसका असर पड़ा। तब भी भोपाल रेल मंडल ने इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े कामों में अच्छी उपलब्धियां हासिल कीं। भोपाल-बीना के बीच (बरखेड़ा-मंडीदीप रेलखंड को छोड़कर) तीसरी रेल लाइन, अशोकनगर से गुना के बीच रेल लाइनों का विद्युतीकरण और गुना से पीलीघटा तक दूसरी रेल लाइन के निर्माण को पूरा किया है। बीना के सोलर प्लांट में पैदा होने वाली बिजली से ट्रेनें दौड़ रही हैं। इन कामों के सार्थक नतीजे आने वाले समय में और दिखेंगे। अब भोपाल का रेल कारखाना उत्पादन यूनिट में बदल जाए, रेलवे की खाली जमीन का 100 फीसद उपयोग होने लगे और भोपाल के आसपास छोटे स्टेशन विकसित हो जाएं तो गति और बढ़ जाएगी। प्रदेश के युवाओं को रोजगार, छोटे-बड़े उद्योगों को काम और आम जनता को सुविधा मिलने लगेगी। मंडल रेल उपयोगकर्ता सलाहकार समिति, जोनल रेल उपयोगकर्ता सलाहकार...
more...
समिति के सदस्यों, रेलवे के कांट्रेक्टरों और रेलवे मामलों के जानकारों का कहना है कि आगामी बजट में भोपाल रेल मंडल और पश्चिम-मध्य रेलवे जबलपुर के लिए इन कामों को शामिल किया जाना चाहिए।
बैतूल-हरदा संसदीय क्षेत्रों के लिए प्रमुख स्टेशनों पर ट्रेनों का स्टॉपेज मिले। आमला में रेलवे की 416 एकड़ जमीन पर उद्योग या रेलवे संस्थान खुले आदि मांगें रेलमंत्री के समक्ष रखी हैं। -डीडी उइके, सांसद बैतूल-हरदा
बाजार में बढ़े हुए दामों का लाभ रेलवे के उन्हीं कांट्रेक्टरों को मिलता है, जिनके पास पांच करोड़ से अधिक के टेंडर हैं। यह लाभ कम राशि के टेंडर वाले कांट्रेक्टरों को भी मिलना चाहिए। -अशोक आहूजा, अध्यक्ष रेलवे कांट्रेक्टर एसोसिएशन, भोपाल
निशातपुरा रेल कारखाने में पुराने कोचों को नए सिरे से बनाते हैं। इसे नई उत्पादन यूनिट में बदला जाना चाहिए। भोपाल समेत बड़े शहरों से सटे छोटे स्टेशनों का विकास हो, आगे सहूलियत होंगी। - निरंजन वाधवानी, सदस्य मंडल रेल उपयोगकर्ता सलाहकार समिति
आउटसोर्सिंग व निजीकरण रेलवे के हित में नहीं है। बजट में इन व्यवस्थाओं को जगह न दें। रेलवे एक बड़ा और सालों पुराना संगठन है, खुद काम करें। भोपाल को और ट्रेनों की जरूरत है। इसे पूरा करें। -शरद कशरेकर, पूर्व सदस्य जोनल रेल उपयोगकर्ता सलाहकार समिति
एयरपोर्ट की तरह हबीबगंज जैसे प्रमुख स्टेशनों पर यात्रियों को ट्रेन तक खुद सामान ले जाने की अच्छी सुविधा मिले। हबीबगंज से पुणे समेत सभी प्रमुख शहरों के लिए नॉन स्टॉपेज ट्रेनें मिलनी चाहिए। -सीपी जायसवाल, पूर्व सदस्य जोनल रेल उपयोगकर्ता सलाहकार समिति
मप्र में रेलवे ने निर्माणाधीन भोपाल-रामगंजमंडी रेल लाइन समेत इंफ्रास्ट्रक्चर में अच्छा निवेश किया है। उनको आगे बढ़ाने के लिए बजट में राशि मिलें, इसका प्रयास कर रहे हैं। -रोडमल नागर, सांसद राजगढ़
रेलवे भोपाल के आसपास मंडीदीप, औबेदुल्लागंज, मिसरोद, संत हिरदाराम नगर, निशातपुरा और सूखीसेवनिया जैसे स्टेशन का विकास करें। भविष्य में इनकी जरूरत पड़ेगी। -विकास विरानी, पूर्व सदस्य मंडल रेल उपयोगकर्ता सलाहकार समिति
निर्माण संबंधी काम करने के पहले माक्रो स्तर पर योजना बनाने व आम लोगों से राय लेने का प्रविधान हो। करोंद अंडरब्रिज में इन बातों का पालन करते तो आज परेशान नहीं होती। फंड मैनेजमेंट में सुधार हो। - विकास मेघानी, सचिव रेलवे कांट्रेक्टर एसोसिएशन, भोपाल
Jan 12 (16:08) Bhopal railway news: मंडीदीप-बरखेड़ा के बीच तीसरी रेल लाइन पर आज शाम से दौड़ेंगी यात्री ट्रेन (www.naidunia.com)
Commentary/Human Interest
WCR/West Central
0 Followers
8496 views

News Entry# 433021  Blog Entry# 4842268   
  Past Edits
Jan 12 2021 (16:08)
Station Tag: Barkhera/BKA added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Jan 12 2021 (16:08)
Station Tag: Mandideep/MDDP added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Mandideep/MDDP   Barkhera/BKA  
भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। भोपाल रेल मंडल में मंडीदीप से बरखेड़ा रेलवे स्टेशन के बीच तीसरी रेल लाइन पर मंगलवार शाम 4:00 बजे से यात्री ट्रेनों का आवागमन शुरू हो जाएगा। अभी इन दोनों स्टेशनों के बीच दो पुरानी रेल लाइन पर ही ट्रेनों को चलाया जा रहा है।
इस तरह भोपाल रेलवे स्टेशन से बरखेड़ा के बीच सभी रेल खंडों में तीसरी रेल लाइन पर ट्रेनें दौड़ने लगेंगी। अभी भोपाल से हबीबगंज और हबीबगंज से मंडीदीप रेलखंड के बीच तीसरी रेल लाइन पर ट्रेनें चल रही हैं। मंडीदीप से बरखेड़ा के बीच दिसंबर 2020 के आखिरी सप्ताह में तीसरी रेल लाइन पर ट्रेनों को चलाने का ट्रायल किया गया था, जो सफल रहा था लेकिन उस समय मुंबई मध्य वृत्‍त के रेल
...
more...
संरक्षा आयुक्त ने यात्री ट्रेनों को चलाने की अनुमति नहीं दी थी। पहले 7 जनवरी से तीसरी रेल लाइन पर ट्रेनें चलनी थीं, लेकिन बाद में तारीख आगे खिसक गई। अब आज शाम 4:00 बजे से इस पर ट्रेनों का आवागमन शुरू हो जाएगा।
मंडीदीप-बरखेड़ा के बीच मिली थीं मामूली कमियां
जब किसी भी रेल मार्ग पर नई रेल लाइन बिछाई जाती है तो रेल संरक्षा आयुक्त की मौजूदगी में उसका ट्रायल किया जाता है। यही ट्रायल 30 दिसंबर 2020 को मुंबई मध्य वृत्‍त के रेल संरक्षा आयुक्त की मौजूदगी में किया गया था। उस दिन ट्रायल के सफल होने की पुष्टि की थी, लेकिन यात्री ट्रेनों को चलाने की अनुमति नहीं मिली थी। बताया जाता है कि ट्रैक पर मामूली कमियां थीं जिन्हें दूर किया जाना था। इसकी डेडलाइन शुरू में 7 जनवरी 2021 तय की गई थी, लेकिन सूत्रों के मुताबिक तब तक कमियों को पूरा नहीं किया जा सका इसलिए डेडलाइन आगे बढ़ानी पड़ी थी। अब सभी कमियों को पूरा कर लिया गया है, इसलिए आज शाम से ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा।
सब कुछ ठीक रहता तो तुरंत मिल जाती हरी झंडी
भोपाल रेल मंडल में 28 दिसंबर को गुना से पीलीघटा तक दूसरी रेल लाइन का ट्रायल किया था। रेलखंड में सब कुछ ठीक था, इसलिए उसी दिन शाम को रेल संरक्षा आयुक्त ने ट्रेन चलाने की अनुमति दे दी थी। इसी तरह हबीबगंज से भोपाल के बीच तीसरी रेल लाइन पर ट्रायल किया था। उस दिन भी शाम तक रेल संरक्षा आयुक्त ने तीसरी रेल लाइन पर ट्रेनों को चलाने की अनुमति जारी कर दी थी। लेकिन 30 दिसंबर 2020 को मंडीदीप से बरखेड़ा के बीच किए गए ट्रायल को सफल तो बताया गया, पर शाम तक उक्त तीसरी लाइन पर ट्रेनों को चलाने की तुरंत अनुमति नहीं दी गई थी।
Page#    Showing 1 to 20 of 32 News Items  next>>

Go to Full Mobile site