PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Mumbai Local - RailFanning nirvana.

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Dec 4 20:46:00 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search

BPL/Bhopal Junction (6 PFs)
بھوپال جنکشن     भोपाल जंक्शन

Track: Triple Electric-Line

Show ALL Trains
Junction Point BINA/MKC/ET, Navbahar Colony, Bhopal, 462001
State: Madhya Pradesh


Zone: WCR/West Central   Division: Bhopal

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 6
Number of Halting Trains: 257
Number of Originating Trains: 19
Number of Terminating Trains: 19
Rating: 3.6/5 (395 votes)
cleanliness - average (53)
porters/escalators - good (51)
food - good (50)
transportation - good (51)
lodging - good (47)
railfanning - good (48)
sightseeing - good (46)
safety - good (49)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 2519 News Items  next>>
Yesterday (22:58) Bhopal Metro News: भोपाल में मेट्रो स्टेशन बनाने की राह नहीं है आसान (www.naidunia.com)
Commentary/Human Interest
WCR/West Central
0 Followers
3468 views

News Entry# 427058  Blog Entry# 4801420   
  Past Edits
Dec 03 2020 (22:58)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Bhopal Junction/BPL  
भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी में भले ही मेट्रो आकार लेना शुरू कर चुकी हो लेकिन पहले रूट एम्स से लेकर करोंद तक के निर्माण में 16 मेट्रो स्टेशन बनाने की राह अभी तक आसान नहीं हो पाई है। इन स्टेशनों के लिए अब तक यह भी तय नहीं हुआ है कि जमीन अधिग्रहण कैसे होगा, जबकि इस रूट के 14 में से 10 स्टेशनों के लिए जमीन खाली नहीं हैं। किसी जमीन पर झुग्गियां तनी हैं तो किसी पर अतिक्रमण है। कहीं दुकानें बनी हैं। तो कहीं गौ-शाला, मंदिर या कब्रिस्तान। पुल बोगदा, मुख्य रेलवे स्टेशन तथा नादरा बस स्टेशन के पास बनने वाले तीन मेट्रो स्टेशनों की जमीन पर भी विवाद का साया है।
ग्लू फैक्ट्री और पुठ्ठा मिल का
...
more...
विवाद सुलझाने की तैयारी
इधर भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 6 के सामने से ईरानियों की अतिक्रमण वाली दुकानें हटाने के बाद अब ग्लू फैक्ट्री की जमीन और पुठ्ठा मिल का मामला सुलझाने की तैयारी की जा रही है। यहां पर मेट्रो का स्टेशन बनाया जाएगा। इसका मामला हाईकोर्ट में चल रहा है। पुरानी नर्मदा आईस फैक्ट्री की जमीन की लीज का विवाद है। इसके सुलझने के बाद ही ये स्टेशन बन सकेंगे। मेट्रो कापोर्रेशन के अधिकारियों के साथ जिला प्रशासन के अधिकारियों ने भी इन बाधाओं लेकिन अब तक कोई ठोस निर्णय नहीं लिया है।
इन मेट्रो स्टेशनों के लिए खाली करानी या लेनी होगी जमीन
मेट्रो स्टेशन की बाधाएं
हबीबगंज नाका - भेल की जमीन जिस पर दुर्गा नगर झुग्गीबस्ती तनी हैं
संगम सिनेमा - नगर निगम की पार्किंग संचालित है।
डीबी सिटी - डीबी मॉल के सामने खाली पड़ी जमीन, जिस पर दो झुग्गी और मंदिर बना है।
केंद्रीय विद्यालय - गवर्मेंट प्रेस के पीछे की जमीन, जिस पर गौशाला व अस्थाई दुकानें बनी हैं
सुभाष नगर - रेलवे लाइन के पास झुग्गियां व अस्थाई दुकानें।
पुल बोगदा - झुग्गी बस्ती तनी है और ग्लू फैक्ट्री बनी है।
भोपाल रेलवे स्टेशन (अंडरग्राउण्ड)- कच्ची दुकानें बनी हैं और अन्य जमीन पुरानी नर्मदा फैक्ट्री को लीज पर आवंटित है।
नादरा बस स्टेण्ड (अंडरग्राउण्ड) - पुट्ठा मिल की जमीन का विवाद चल रहा है। इसी पर स्टेशन बनेगा।
सिंधी कॉलोनी - पीएनटी (पोस्ट एंड ट्रेलीग्राफ) डिपार्टमेंट की 10 हजार वर्गफीट जगह ली जाएगी।
डीआईजी बंगला - डीआईजी चौराहे के पास नगर निगम के कचरा स्टेशन को शिफ्ट करना होगा।
Dec 02 (20:30) Bhopal Metro News : मेट्रो प्रोजेक्ट का सिविल वर्क कर रही कंपनी की लापरवाही, जाम से लोग परेशान (www.naidunia.com)
Commentary/Human Interest
WCR/West Central
0 Followers
3366 views

News Entry# 426903  Blog Entry# 4799804   
  Past Edits
Dec 02 2020 (20:30)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Bhopal Junction/BPL  
भोपाल। (नवदुनिया प्रतिनिधि) राजधानी में मेट्रो प्रोजेक्ट के कारण लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सुभाष नगर से गायत्री मंदिर तक जाम के कारण वाहनों की लंबी कतार लग रही है। ऐेसे हालत भी मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए सिविल वर्क कर रही कंपनी की लापरवाही व मनमानी के कारण हो रही है। दरअसल, नगरीय विकास एवं आवास विभाग के निर्देश पर मप्र मेट्रो रेल कार्पोरेशन ने सिविल वर्क के लिए काम कर रही कंपनियों को एक शर्त रखी थी। इसमें बताया गया था कि कंपनी को कार्य शुरू करने से पहले सड़कों का चौड़ीकरण करना होगा। ताकि यातायात व्यवस्था दुरुस्त रहे, लेकिन सिविल वर्क कर कंपनी ने निर्देश पर अमल नहीं किया।
दरअसल, मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए कंपनी
...
more...
द्वारा सड़कों के बीच में ही सिविल वर्क किया जा रहा है। ऐसे में टू-लेन सड़क का 60 प्रतिशत हिस्सा मेट्रो प्रोजेक्ट के निर्माण की जद में है। सड़क के दोनों ही ओर स्थिति ऐसी हो जाती है कि चार पहिया वाहन तक नहीं निकल पा रहे हैं। मजह पांच से छह फीट तक की जगह वाहनों की आवाजाही के लिए बची हुई है।
उधड़ चुकी है सड़क, मरम्मत का काम भी नहीं
सुभाष नगर की ओर से गायत्री मंदिर के आगे तक सड़क लगभग बची ही नहीं है। हर दो कदम पर गड्ढों के कारण लोगों का गुजर पाना भी दूभर हो रहा है। मेट्रो प्रोजेक्ट के दोनोंे ही ओर जो स्थान बचा हुआ है उनमें मजह दो फीट ही उखड़ा हुआ डामर शेष है। लिहाजा बिना सड़क के कच्चे रास्ते से होने हुए लोगों को निकलना पड़ रहा है।
Dec 01 (23:05) Bhopal News : भोपाल स्‍टेशन पर बेहोश हुआ रेलवे गार्ड, आरपीएफ जवान ने की त्‍वरित मदद (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
4617 views

News Entry# 426794  Blog Entry# 4798623   
  Past Edits
Dec 01 2020 (23:08)
Station Tag: Sant Hirdaram Nagar/SHRN added by Adittyaa Sharma/1421836

Dec 01 2020 (23:05)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma/1421836
भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। भोपाल रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ के जवान योगेन्द्र शर्मा ने रेलवे के गार्ड एमके श्रीवास्तव की त्‍वरित मदद करते हुए जान बचा ली। जवान संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर तैनात है और गार्ड रविवार रात को भोपाल रेलवे स्टेशन से लोकमान्य तिलक टर्मिनस-गोरखपुर सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस को झांसी की तरफ लेकर जाने के लिए तैयार था। तभी अचानक गार्ड बेहोश होकर प्लेटफार्म पर गिर पड़ा। आरपीएफ जवान योगेंद्र की जैसे ही उस पर नजर पड़ी, वह तुरंत दौड़कर गार्ड के पास पहुंचा। उसके जूते खोले और चेस्‍ट पंपिंग की और हाथ-पैरों की मालिश की। जैसे ही गार्ड की हालत कुछ सुधरी, तो तुरंत रेलवे, आरपीएफ, जीआरपी को खबर की और उसे अस्पताल पहुंचाया।
दरअसल, जवान उस टीम में शामिल
...
more...
था जो लोकमान्य तिलक टर्मिनस- गोरखपुर सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस में रात्रिकालीन गश्‍त के लिए भोपाल स्टेशन से चढ़ने वाली थी। उसी ट्रेन में गार्ड की ड्यूटी भी भोपाल रेलवे स्टेशन से शुरू हो रही थी। ट्रेन इटारसी की तरफ से भोपाल स्टेशन आकर खड़ी होती, उसके पहले गार्ड की तबीयत बिगड़ गई और वह बेहोश होकर गिर पड़ा। रेलवे ने ऐनवक्‍त पर उक्त ट्रेन में दूसरे गार्ड की व्यवस्था की और ट्रेन को आगे के लिए रवाना किया था। गार्ड का इलाज चल रहा है। यदि गार्ड चलती ट्रेन में बेहोश होता तो उसकी जान भी जा सकती थी। ट्रेन ड्राइवर का गार्ड से संपर्क नहीं हो पाता। ट्रेन परिचालन में दिक्कत भी आ सकती थी। ऐसा होता तो दुर्घटना की स्थिति बनती और हजारों यात्रियों की जान खतरे में पड़ सकती थी।
रेलवे के उक्त गार्ड का फ‍िलहाल अस्‍पताल में इलाज चल रहा है। उसके स्वास्थ्य की सभी जांचें की जा रही है। रेलवे प्रबंधन उसके परिवार के लोगों के संपर्क में है। अधिकारियों ने गार्ड के परिवार वालों से बात की है। इस बात कि भी जांच की जा रही है कि कहीं गार्ड की तबीयत पहले से गड़बड़ तो नहीं थी यदि थी तो उसे ड्यूटी पर आने के लिए मजबूर क्यों होना पड़ा, इसकी क्या जरूरत थी। ड्यूटी ऑन करने के पहले प्राथमिक पूछताछ में गार्ड की तबीयत खराब वाली बात सामने क्यों नहीं आई, इन सभी बिंदुओं पर रेलवे के अधिकारी जांच पड़ताल कर रहे हैं।
भोपाल(नवदुनिया प्रतिनिधि)। भोपाल के यूनियन कार्बाइड कारखाना परिसर में पड़े जहरीले कचरे का भूमिगत दुष्प्रभाव भोपाल रेलवे स्टेशन तक पहुंच गया है। कारखाना और स्टेशन की दूरी डेढ़ से दो किलोमीटर है। यह दावा मंगलवार गैस पीड़ितों के लिए काम करने वाले संभावना ट्रस्ट के प्रबंधक न्यासी सतीनाथ षड़ंगी ने किया है। उन्होंने भोपाल गैस कांड की 36वीं बरसी के पूर्व प्रेसवार्ता में यह जानकारी दी। दो साल पूर्व तक जहरीले कचरे से आसपास की 48 बस्तियों के भूमिगत जल स्त्रोत प्रभावित हुए थे। भारतीय विष विज्ञान एवं अनुसंधान व अन्य संस्थानों की रिपोर्ट में यह बात समय-समय पर सामने आती रही है।
यह गैस कांड 2 व 3 दिसंबर 1984 को हुआ था। इसमें हजारों लोगों की मौत हुई थी। लाखों
...
more...
लोग अभी भी प्रभावित हैं और लाखों लोग पीढ़ी दर-पीढ़ी प्रभावित हो रहे हैं। गैस कांड का 346 टन कचरा अब भी कारखाना परिसर में है, जिसे नष्ट नहीं किया जा रहा है इस वजह से वह भूमिगत जल स्त्रोतों में मिल रहा है। साल दर साल उसका भूमिगत दायरा बढ़ता जा रहा है। संभावना ट्रस्ट के सतीनाथ षड़ंगी का कहना है कि भोपाल रेलवे स्टेशन के बिल्कुल पास कृष्णा नगर व द्वारका नगर वे दो कॉलोनियां है जहां के भूमिगत जल स्त्रोतों मे दो साल पहले ही जहरीले कचरे के अंश मिले थे। इसका मतलब है कि इसका दायरा दो सालों में और बढ़ गया है और भोपाल स्टेशन तक पहुंच गया हैं।
भोपाल स्टेशन के यात्री न घबनाएं
इस दावे से भोपाल रेलवे स्टेशन से होकर गुजरने वाले यात्रियों को घबराने की जरूरत नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि भोपाल स्टेशन पर बड़े तालाब का पानी सप्लाई होता है न कि भूमिगत जल स्त्रोतों से पानी लिया जा रहा है। दावे के अनुरूप उन रहवासियों के लिए दिक्कतें होंगी जो भोपाल रेलवे स्टेशन क्षेत्रों में भूमिगज जल स्त्रोतों का उपयोग करते हैं।
मोटापे और थायराइड की समस्याओं का शिकार हो रहे गैस पीड़ित
पत्रकार वार्ता में संभावना ट्रस्ट क्लिनिक के डॉ. संजय श्रीवास्तव की तरफ से कहा गया कि गैस पीड़ित मोटापे और थायराइड की समस्याओं का शिकार हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट के क्लिनिक में 15 साल से 27 हजार 155 पीड़ित इलाज ले रहे हैं। इनका अध्ययन करने पर पाया है कि पीड़ित लोगों में अधिक वजन, मोटापे की दर अपीड़ितों से 2.75 फीसद अधिक है। इनमें अपीड़ितों के मुकाबले थायराइड संबंधी बीमारियों की दर 1.92 गुनी अधिक है। इसके अलावा डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, दिल की बीमारी, जोड़ों का दर्द, गुर्दे, स्तन और गर्भाशय कैंसर समेत अन्य बीमारियों का खतरा भी अधिक है।
भोपाल के रेल यात्रियों के लिए कुछ और ट्रेनों की सुविधा शुरू हो गई है। भोपाल से अब जबलपुर, हजरत निजामुद्दीन, इटारसी और बीना के लिए यात्री गाड़ियां आज शुरू हो रही हैं। प्रतापगढ़ के लिए भोपाल से ट्रेन आज से शुरू हो जाएगी, जबकि दुर्ग के लिए अमरकंटक सुपरफास्ट एक्सप्रेस नए समय पर चलने लेगी।
1.
गाड़ी संख्या : 02174
ट्रेन : जबलपुर
...
more...
- हजरत निजामुद्दीन सुपरफास्ट एक्सप्रेस स्पेशल
दिन : 1 दिसंबर से
जबलपुर स्टेशन : शाम 7.45 बजे रवाना होगी
2.
गाड़ी संख्या : 02173
ट्रेन : हजरत निजामुद्दीन - जबलपुर सुपरफास्ट एक्सप्रेस स्पेशल
दिन : 2 दिसंबर से
हजरत निजामुद्दीन स्टेशन : दोपहर 2.05 बजे रवाना होगी
हाल्ट : यह मदनमहल, श्रीधाम, नरसिंहपुर,करेली, गाडरवारा, पिपरिया, इटारसी, होशंगाबाद, हबीबगंज, भोपाल, विदिशा, गंजबासौदा, बीना, ललितपुर, झांसी, दतिया, ग्वालियर, मुरैना, धौलपुर, आजरा कैंट, एवं मथुरा जंक्शन स्टेशनों पर रुकेगी।
3.
गाड़ी संख्या : 01271
ट्रेन : इटारसी-भोपाल एक्सप्रेस स्पेशल
दिन : 1 दिसंबर से
इटारसी स्टेशन : शाम 4.45 बजे रवाना होगी
4.
गाड़ी संख्या : 01272
ट्रेन : भोपाल-इटारसी एक्सप्रेस स्पेशल
दिन : 1 दिसंबर से
भोपाल स्टेशन : शाम 6.10 बजे रवाना होगी
हाल्ट : गुरमखेड़ी, सोहागपुर, पिपरिया, बनखेड़ी, सालीचौका रोड, गाडरवारा, बोहानी, करेली, नरसिंहपुर, करकबेल, श्रीधाम, भिटौनी, मदनमहल, जबलपुर, सिहोरा रोड, स्लीमनाबाद रोड, कटनी मुड़वारा, दमोह, मकरोनिया, सागर, खुरई, बीना, मंडी बामोरा, गंजबासौदा, गुलाबगंज एवं विदिशा स्टेशनों पर रुकेगी।
5.
गाड़ी संख्या : 02183
ट्रेन : भोपाल-प्रतापगढ़ (सप्ताह में तीन दिन) सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस
दिन : 1 दिसंबर से, प्रति मंगलवार, शुक्रवार एवं रविवार
भोपाल स्टेशन : शाम 7.15 बजे रवाना होगी
6.
गाड़ी संख्या : 02184
ट्रेन : प्रतापगढ़-भोपाल (सप्ताह में तीन दिन) सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस
दिन : 2 दिसंबर से शुरू होगी, प्रति सोमवार, बुधवार एवं शनिवार
प्रतापगढ़ स्टेशन : शाम 7.10 बजे रवाना होगी
हाल्ट : यह विदिशा, बीना, ललितपुर, झांसी, उरई, कानपुर सेंट्रल, लखनऊ, रायबरेली, जैस एवं अमेठी स्टेशनों पर रुकेगी।
7.
गाड़ी संख्या : 02854
ट्रेन : भोपाल-दुर्ग सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस
दिन : 1 दिसंबर से
भोपाल स्टेशन : शाम 4.00 बजे रवाना होगी
8.
गाड़ी संख्या : 02853
ट्रेन : दुर्ग-भोपाल सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस
दिन : 1 दिसंबर से
प्रतापगढ़ स्टेशन : शाम 6.00 बजे रवाना होगी
हाल्ट : दुर्ग, रायपुर, बिलासपुर, शहडोल, कटनी साउथ, जबलपुर, नरसिंहपुर, पिपरिया, इटारसी, होशंगाबाद, हबीबगंज और भोपाल में रुकेगी।
Page#    Showing 1 to 20 of 2519 News Items  next>>

Go to Full Mobile site