Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

TKD WDP-4B "प्रतीक" - रंग ऐसा कि हर किसी को प्यार हो जाए - Anubhav Kashyap

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Sep 20 02:53:48 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Stream
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by 5 Years IRI~

Page#    Showing 1 to 5 of 14 news entries  next>>
  
Sep 12 (10:09) सुशासन एक्सप्रेस के लिए सत्रह एलएचबी कोच आए, जल्द होंगे शुरू (www.patrika.com)
New Facilities/Technology
NCR/North Central
0 Followers
3568 views

News Entry# 390810  Blog Entry# 4425254   
  Past Edits
Sep 12 2019 (10:10)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by 5 Years IRI~/779488

Sep 12 2019 (10:10)
Train Tag: Sushasan Express/11111 added by 5 Years IRI~/779488
Trains:  Sushasan Express/11111  
Stations:  Gwalior Junction/GWL  
ग्वालियर. ट्रेनों में यात्रियों को सभी सुविधाएं मिल सकें। इसके लिए रेलवे अब झांसी मंडल के ग्वालियर से चलने वाली सुशासन एक्सप्रेस में नए डिजाइन के एलएचबी लिंक हॉफमेन बुश कोच लगाने जा रही है। इन कोचों की विशेषता है कि पटरियों पर दौड़ते समय अंदर बैठे यात्रियों को ट्रेन के चलने की आवाज बहुत कम आती है। इसमें पावर ब्रेक भी लगाए गए हैं। इसके लिए एसी कोच पहले ही आ चुके हैं। अब एसी और स्लीपर कोच मिलाकर सत्रह कोच रेल डिब्बा कारखाना रायबरेली से तैयार होकर आ गए हैं। ट्रेन में आकर्षण नलों के साथ गेट और सीटें भी आधुनिक तरीके की लगाई गई हैं। रेलवे सूत्रों की माने तो एलएचबी कोच वाली इस ट्रेन को 14 सितंबर से चलाया जाएगा। झांसी मंडल में ग्वालियर से चलने वाली चंबल एक्सप्रेस के बाद अब यह दूसरी ट्रेन होगी। जिसमें एलएचबी को लगाए गए हैं। ग्वालियर से चंबल एक्सप्रेस को...
more...
दिसंबर 2018 में शुरू किया गया था।क्या होता है एलएचबीरिसर्च डिजाइन्स एंड स्टैंडर्ड ऑर्गनाइजेशन आरडीएसओ ने करीब दस साल पहले ऐसे कोच बनाए थे। जो आपस में टकरा न सकें। इन्हे लिंक हॉफमेन बुश एलएचबी कोच नाम दिया गया। इन टक्कर रोधी कोच का आलमनगर में सफर परीक्षण किया था। उसके बाद कोचों के डिजाइन में सुधार भी किया। एलएचबी कोचों और सीबीसी कपलिंग होने से ट्रेन के कोचों के पलटने और एक दूसरे पर चढऩे की गुंजाइश नहीं रहती है।जनरेटर कार का इंतजारसुशासन एक्सप्रेस में लगने के लिए एसी और स्लीपर कोच आ चुके हैं। इसमें अब ट्रेन के पीछे लगने वाले दो में से एक जनरेटर कार कोच का इंतजार है। इसके आने के बाद यह पूरी तैयार हो जाएगी। इसके बाद ग्वालियर से इस ट्रेन को चलाया जाएगा।सुशासन एक्सप्रेस के लिए एलएचबी स्लीपर और एसी कोचआ चुके हैं। इन कोचों के साथ ट्रेन को कब चलाया जाना है इसका फैसला मुख्यालय से होगा। संभवत: यह ट्रेन शनिवार से चल सकती है। मनोज कुमार सिंह, पीआरओ झांसी मंडल

1 Public Posts - Thu Sep 12, 2019

  

  

  

  

  
  
Apr 28 (09:14) पहल / रेलवे जनरल कोच के यात्रियों को बायोमैट्रिक टोकन देगी, स्कैन करने पर ही एंट्री मिलेगी (www.bhaskar.com)
0 Followers
8554 views

News Entry# 381238  Blog Entry# 4303551   
  Past Edits
Apr 28 2019 (09:20)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by 5 Years IRI~/779488

Apr 28 2019 (09:20)
Station Tag: Chhatrapati Shivaji Maharaj Terminus/CSMT added by 5 Years IRI~/779488

Apr 28 2019 (09:20)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by 5 Years IRI~/779488

Apr 28 2019 (09:20)
Train Tag: Pushpak Express/12533 added by 5 Years IRI~/779488
Dainik Bhaskar
रेलवे ने जनरल कोच में भीड़ कम करने और यात्रियों को परेशानी से निजात दिलाने के लिए योजना बनाई जितनी सीटें होंगी उतने ही टोकन जारी किए जाएंगे, ये यात्रियों को ट्रेन छूटने से 4 घंटे पहले मिलेंगे
सूरत.  जनरल कोच में भीड़ की वजह से यात्रियों को होने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए रेलवे अब बायोमैट्रिक टोकन से एंट्री देगा। रेलवे इस व्यवस्था को जल्द लागू करने जा रहा है। रेलवे का कहना है कि इससे जनरल कोच में यात्रियों के बीच होने वाली खींचतान और पहले से पैसे लेकर लोगों
...
more...
को सीट देने वाले कुलियों और दूसरे कर्मचारियों पर लगाम लगेगी। बायोमेट्रिक टोकन टिकट निकालते समय ही यात्री को दे दिया जाएगा। यात्री को जनरल कोच के बाहर लगी स्कैनिंग मशीन पर यह टोकन स्कैन करना होगा। उसके बाद ही आपीएफ के जवान यात्री को डिब्बे में एंट्री देंगे।
 
ट्रेनों के जनरल कोच में जितनी सीटें होंगी उतने ही टिकट जारी किए जाएंगे। इस सुविधा को सबसे पहले सेंट्रल रेलवे पुष्पक एक्सप्रेस में लागू करेगी। पश्चिम रेलवे अब यह विचार कर रही है कि पहले इसे किस डिवीजन में शुरू किया जाए।
 
गर्मी में बेतहाशा भीड़ को नियंत्रित करना चुनौती : रेलवे के लिए सबसे बड़ी चुनौती गर्मी के सीजन में बेतहाशा भीड़ को नियंत्रित करना है। जितनी सीटें हैं, उतने ही बायोमैट्रिक टोकन दिए जाएंगे, तो बचे हुए यात्री कैसे यात्रा करेंगे? रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह काफी चुनौतीपूर्ण है, लेकिन इसे प्रायोगिक तौर पर शुरू करेंगे। रेलवे यात्रियों को इस सुविधा की आदत बनाने कोशिश करेगा। ज्यादा यात्री होंगे तो कोच बढ़ाने पर भी विचार किया जाएगा। 
टिकट के साथ ही यात्री को दे दिया जाएगा बायोमैट्रिक टोकन: पश्चिम रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि जनरल टिकट निकालते समय ही विंडो पर यात्री को एक बायोमैट्रिक टोकन दे दिया जाएगा। ट्रेन जब स्टेशन पर पहुंचेगी, तब यात्री को बायोमेट्रिक टोकन को कोच के बाहर लगी मशीन पर स्कैन करना होगा। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही यात्री को कोच के भीतर आरपीएफ के जवान एंट्री देंगे। इससे भीड़ कम होगी। 
 
 
भीड़ कम होने के साथ, कुलियों की मनमानी पर रोक

1 Public Posts - Sun Apr 28, 2019

  

  

  

  

  
  
Aug 19 2018 (07:26) दूरंतो एक्सप्रेस एक किमी तक बिना इंजन के दौड़ी, गार्ड ने हैंड ब्रेक खींचकर रोकी (www.bhaskar.com)
Other News
NCR/North Central
0 Followers
5893 views

News Entry# 351723  Blog Entry# 3727036   
  Past Edits
Aug 19 2018 (07:26)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by ramksharma~/779488

Aug 19 2018 (07:26)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ramksharma~/779488

Aug 19 2018 (07:26)
Station Tag: Dabra/DBA added by ramksharma~/779488

Aug 19 2018 (07:26)
Train Tag: Hazrat Nizamuddin - Secunderabad Duronto Express/12286 added by ramksharma~/779488
डबरा.हजरत निजामुद्दीन से सिकंदराबाद जा रही दूरंतो एक्सप्रेस (12286) का इंजन शुक्रवार की रात डबरा और अनंत पैठ स्टेशन के बीच अचानक कोचों से अलग हो गया। इससे ट्रेन के 18 कोच एक किमी तक बिना इंजन के ही दौड़े। जैसे ही ट्रेन में सवार गार्ड को इंजन और कोचों के अलग होने की जानकारी लगी तो उसने आनन-फानन में हैंड ब्रेक खींचा, जिससे ट्रेन के कोच रुक गए। कुछ दूर ड्राइवर ने भी इंजन रोक दिया।करीब एक घंटे बाद इंजन और कोचों को जोड़कर दोबारा से ट्रेन को रवाना किया गया। इंजन और कोच के अलग होने से इस ट्रेन के पीछे आ रही गाड़ियों को रोकना पड़ा। इससे अन्य गाड़ियां भी करीब एक घंटा लेट हुईं। बताया गया कि दूरंतो एक्सप्रेस शुक्रवार की रात करीब 8:22 मिनट पर जैसे ही डबरा और अनंत पैठ के बीच पहुंची तभी खंभा नंबर 1190 के पास अचानक ट्रेन का इंजन कोचों से...
more...
अलग हो गया। इंजन अलग होते ही बोगियों से प्रेशर रिलीज हो गया। इससे गार्ड को इंजन से कोचों के अलग होने की जानकारी लग गई और उसने हैंड ब्रेक खींच दिया। इस कारण कोच 800 मीटर से एक किमी चलकर ही रुक गए। इसके साथ ही गार्ड ने तुरंत ही वॉकी-टॉकी से इंजन के ड्राइवर को भी जानकारी देकर हादसे से बचा लिया। इंजन से कोचों के अलग होने की इस घटना के बाद रेल विभाग अब इस मामले की जांच की बात कह रहा है। इंजन से अलग होते ही प्रेशर रिलीज होता है और रुक जाती हैं बोगियां: रेलवे के ड्राइवर के मुताबिक इंजन के अलग होते ही बोगियों से प्रेशर रिलीज हो जाता है। जिससे ट्रेन खुद व खुद धीमी होने लगती है। ट्रेन धीमी होते ही गड़बड़ी की आंशका के चलते गार्ड हैंड ब्रेक खींचकर सबसे पहले ट्रेन रोकते हैं। इससे ट्रेन रुक जाती है। इस घटना की जांच होगी :शुक्रवार की रात दूरंतो एक्सप्रेस में बोगियों से इंजन अलग हो गया था। 58 मिनट बाद इंजन को बोगियों से जोड़कर रवाना कर दिया गया था। इस पूरी घटना की जांच की जाएगी। -मनोज कुमार,पीआरओ, झांसी रेल मंडल

  
  
Aug 05 2018 (10:42) इन ट्रेनों के लिए किया जाता है लेट (www.bhaskar.com)
Other News
NCR/North Central
0 Followers
9000 views

News Entry# 349592  Blog Entry# 3686241   
  Past Edits
Aug 05 2018 (10:43)
Station Tag: Banmor/BAO added by ramksharma~/779488

Aug 05 2018 (10:43)
Station Tag: Dabra/DBA added by ramksharma~/779488

Aug 05 2018 (10:43)
Station Tag: Morena/MRA added by ramksharma~/779488

Aug 05 2018 (10:43)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ramksharma~/779488

Aug 05 2018 (10:43)
Train Tag: Chhattisgarh Express/18238 added by ramksharma~/779488
इन ट्रेनों के लिए किया जाता है लेट छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस का ग्वालियर पहुंचने का समय 10.45 बजे है जबकि स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस 10. 59 बजे, गतिमान 11.16 बजे और एपी एक्सप्रेस के आने का समय 11.15 बजे है। यह तीनों गाड़ियां ग्वालियर पहले पहुंचे उसके लिए छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस की सवारियों को कष्ट भोगना होता है। छत्तीसगढ़ को बानमोर और ग्वालियर के बीच रोका जाता है जबकि ग्वालियर में उस दौरान प्लेटफार्म क्रमांक तीन खाली रहता है। एक बार यह छत्तीसगढ़ लेट होती है तो फिर आगे भी यह गाड़ी लेट होती जाती है। डेली पेसेंजर को भी होती है परेशानी सुबह के समय डबरा के लिए रोजाना जाने वाले व्यापारी वर्ग के लिए छत्तीसगढ़ पहली और उपयोगी ट्रेन है। वह लोग नेट पर मुरैना और बानमोर का समय देखकर घर से निकलते हैं। उन्हें यह लगता है कि कहीं समय पर ट्रेन चली गई तो समय खराब होगा। छत्तीसगढ़ का...
more...
पांच दिन का शेड्यूल 21 जुलाई : छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस मुरैना सुबह 10 बजकर 25 मिनट पर पहुंची। 37 मिनट लेट थी। बानमोर भी यह 37 मिनट लेट थी, फिर भी उसे वहां पर 39 मिनट तक रोका गया। यह ट्रेन ग्वालियर एक घंटा लेट 11.45 पर पहुंची। 22 जुलाई : छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस मुरैना सुबह 9 बजकर 54 मिनट पर पहुंची। यहां ट्रेन 6 मिनट लेट थी, लेकिन ट्रेन ग्वालियर 11.41 मिनट पर पहुंची। रास्ते में इसको 56 मिनट रोका गया। 23 जुलाई : यह ट्रेन मुरैना सुबह 9 बजकर 58 मिनट पर पहुंची। 10 मिनट लेट थी। ट्रेन ग्वालियर 11 बजकर 23 मिनट पर पहुंची। रास्ते में इसे 38 मिनट रोका गया। 24 जुलाई : यह उस दिन डबरा तक सही समय चली। लेकिन उस दिन यह ट्रेन सोनागिर 11.50 पर पहुंची पर वहां से उसको 12.55 पर रवाना किया गया। मतलब उसे वहां पर एक घंटा पांच मिनट रोका गया। 25 जुलाई : छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस ट्रेन मुरैना समय से पहले 9 बजकर 42 मिनट पर पहुंची। अपने सही समय 9.50 पर चली। लेकिन ग्वालियर 27 मिनट लेट आई। इस ट्रेन को उस दिन बानमोर पर 27 मिनट रोका गया।
  
Jul 11 2018 (08:49) रेलवे में थाली का रेट 50 रुपए, लेकिन कांबो के नाम पर ले रहे 120; ट्रेनों में हर माह करोड़ों की अवैध वसूली (www.bhaskar.com)
WCR/West Central
0 Followers
4135 views

News Entry# 345343  Blog Entry# 3619132   
  Past Edits
Jul 11 2018 (08:50)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by ramksharma~/779488

Jul 11 2018 (08:50)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by ramksharma~/779488
भोपाल.रेलवे में कैटरिंग के नाम पर यात्रियों से खुली लूट हो रही है। रेलवे द्वारा जारी रेट लिस्ट को ताक पर रखकर मनमानी वसूली हो रही है। स्लीपर क्लास में जिस वेज थाली का तय रेट 50 रुपए है उसे खुलेआम 120 रुपए में बेचा जा रहा है। इसे सही साबित करने के लिए कांबो पैक का नाम दे दिया गया है। जबकि रेलवे की रेट लिस्ट में ऐसे किसी कांबो का जिक्र तक नहीं है। अकेले भोपाल स्टेशन से गुजरने वाली पेंट्रीकार युक्त 48 ट्रेनों में रोजाना खाना लेने वाले करीब 9600 यात्रियों से 70 रुपए के हिसाब से प्रतिदिन से 6 लाख 72 हजार रुपए की अवैध वसूली होती है। यानी हर माह 2 करोड़ 1 लाख 60 हजार रुपए यात्रियों से अवैध तरीके से लिए जा रहे हैं। भास्कर संवाददाता ने कुशीनगर एक्सप्रेस में भोपाल से झांसी तक और लौटते वक्त गोवा एक्सप्रेस में सफर कर हकीकत जानी।...
more...
पड़ताल में खाने के नाम पर यात्रियों से हो रही अवैध वसूली की ये तस्वीर सामने आई। आईआरसीटीसी के अफसरों का कहना है कि मौजूदा हालात में 50 रुपए में खाना दिया जाना संभव नहीं है। इसलिए कांट्रेक्टर उसमें कुछ आइटम बढ़ाकर 120 रुपए ले रहे हैं।रेट्स पर रेलवे का कोई अप्रूवल नहींगोवा एक्सप्रेस में कांबो थाली पर आइटम्स का ब्रेकअप तक दिया गया है। 41 का मटर पनीर, 18 की दाल फ्राय, 26 का जीरा राइस, 23 का मिक्स ड्राय वेज और 16 रुपए के दो पराठे सहित कुल 124 रुपए रेट लिखा गया था। वेंडर ने 120 रुपए लिए। जबकि आईआरसीटीसी के अधिकारी कह रहे हैं कि इस तरह की थाली वेंडर खुद बनाकर बेच रहे हैं, इसका अप्रूवल किसी स्तर पर नहीं दिया गया है।रेट लिस्ट: कोच में डिस्प्ले नहीं, पेंट्रीकार में लगा रखी हैखाने के रेट्स ट्रेन के किसी भी कोच में डिस्प्ले नहीं हैं। जब कुशीनगर एक्सप्रेस के पेंट्रीकार मैनेजर संतोष कुमार से इस बारे में पूछा गया तो जवाब मिला- हमने पेंट्रीकार में तो रेट्स डिस्प्ले कर रखे हैं। हमारी जवाबदारी यहां तक की है। ज्यादा रेट वसूलने पर उसकी सफाई थी कि 50 वाली थाली सादी होती है, इसलिए उसी में आइटम बढ़ाकर 120 रुपए में बेचा जा रहा है। साथ ही उसने यह भी दावा किया कि रेलवे ने ही उसे ऐसा करने के लिए अधिकृत किया है।टीटीई बोले- हम कुछ नहीं कर सकतेगोवा एक्स्रपेस में वेंडर से खाने का बिल मांगा, तो उसने कहा कि रात हो गई है, सुबह होते ही बिल दे दिया जाएगा। इस दौरान ट्रेन में मौजूद टीटीई मनोज कुमार रजक ने इस मनमानी व्यवस्था पर आईआरसीटीसी को जिम्मेदार ठहराया और मजबूरी जताते हुए कहा- हम इसमें कुछ नहीं कर सकते।ट्रेन में नहीं हो सुनवाई तो यहां करें शिकायतटोल फ्री नंबर 1800-111-321 पर कैटरिंग सर्विस मॉनिटरिंग सेल में और www.irctc.com पर।सीधी बात: आईआरसीटीसी प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह,Q. पेंट्रीकार का खाना 50 की जगह 120 में क्यों?A.रेलवे ने खाने की रेट लिस्ट वर्ष-2012 से रिवाइज नहीं की है। इतने सालों में दाल से लेकर सब्जी और चावल तक के रेट में काफी अंतर आ चुका है। इसलिए कांट्रेक्टर 50 की थाली में कुछ और आइटम मिलाकर 120 में कांबो थाली बेच रहा है। Q. रेट रिवाइज करने की जिम्मेदारी किसकी है? यह क्यों नहीं किए जा रहे हैं। मीनू लिस्ट भी डिस्प्ले नहीं होती?A.अब तक कैटरिंग का काम रेलवे खुद देख रहा था। आईआरसीटीसी को यह काम अप्रैल से मिला है। जल्द ही रेट रिवाइज कर लिस्ट ट्रेन में डिस्प्ले करवाने का प्रयास करेंगे।Q. क्या कांबो थाली को कोई अप्रूवल दिया गया है? A.ट्रेन में बेचने के लिए 50 की वेज और 55 की नॉनवेज थाली को ही अप्रूवल है। हो सकता है, किसी वेंडर ने फर्जी मीनू कार्ड तैयार करवा लिया हो। हम जांच करवाएंगे व जुर्माना लगाया जाएगा।
Web Title: Web Title: Bhaskar Investigation On Overcharging Meal In Trains (News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Page#    14 news entries  next>>

Go to Full Mobile site