Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

For RailFans, seeing RAC-1/2/3 in Mumbai-UP Trains is more exciting than Election Results - rdb

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sat Aug 13 15:10:29 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Advanced Search

News Posts by

Page#    Showing 1 to 5 of 990 news entries  next>>
कोयले से डीजल और अब इलेक्ट्रिक पथ पर आए जोधपुर रेलवे के लिए सोमवार बड़ा दिन रहा। रात 9:55 बजे जोधपुर के मुख्य स्टेशन पर पहली बार इलेक्ट्रिक ट्रेन का आगमन हुआ। मारवाड़ से चलकर जोधपुर प्लेटफार्म पर इलेक्ट्रिक ट्रेन पहुंची। संरक्षा आयुक्त आरके शर्मा और डीआरएम गीतिका पांडे सहित रेलवे के अन्य अधिकारी भी ट्रेन में बैठकर आए।

104 किमी लंबे रूट पर 12 घंटे से भी अधिक समय तक गहन निरीक्षण के बाद मारवाड़ जंक्शन से जोधपुर के बीच इलेक्ट्रिक ट्रेन का सफल संचालन हुआ। इसके साथ ही इस खंड
...
more...
पर जल्द ही इलेक्ट्रिक ट्रेन संचालित करने का मार्ग प्रशस्त हो गया है। सीआरएस से हरी झंडी मिलते ही जोधपुर के ट्रैक पर इलेक्ट्रिक ट्रेनों का दौर शुरू हो जाएगा। ट्रायल ट्रेन के सफल संचालन के साथ ही जोधपुर मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों व कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ गई।

जोधपुर से अहमदाबाद-मुंबई तक हो जाएगा इलेक्ट्रिक ट्रैकइलेक्ट्रिक ट्रेनें शुरू होने पर उत्तर-पश्चिम रेलवे का जोधपुर मंडल भी इलेक्ट्रिक ट्रेनों के माध्यम से मारवाड़ जंक्शन के रास्ते अहमदाबाद मुंबई व आगे के बड़े स्टेशनों से जुड़ जाएगा। डीआरएम ने कहा कि यह रेलवे के लिए ऐतिहासिक उपलब्धि है। इससे यात्रियों को तेज आवागमन मिलेगा, पर्यावरण के लिए भी यह अनुकूल रहेगा। इलेक्ट्रिक ट्रेन की वहन क्षमता अधिक होने से अधिक व्यापारियों को भी अधिक माल भेजने की सुविधा मिलेगी।

दिन-रात जुटकर तय समय में काम पूरा किया: डीआरएम ने बताया कि अफसरों व विद्युतीकरण में लगे कर्मचारियों ने दिन-रात एक कड़ी मेहनत से युद्ध स्तर पर काम किया। इसकी बदौलत निर्धारित समयावधि में कार्य पूरा हुआ। मंडल में इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाने का सपना साकार हुआ। इससे पूर्व संरक्षा आयुक्त शर्मा ने जोधपुर रेलवे स्टेशन पर विद्युतीकरण कार्यों का निरीक्षण किया और बाद में सीआरएस स्पेशल से जोधपुर- मारवाड़ जंक्शन खंड पर विद्युतीकरण कार्यों का निरीक्षण किया।

रास्ते के स्टेशनों पर भी इलेक्ट्रिफिकेशन जांचासंरक्षा आयुक्त ने जोधपुर के साथ-साथ भगत की कोठी, बासनी- सालावास के मध्य गेट, लूणी यार्ड ,पाली- बोमादड़ा के मध्य ब्रिज, बोमादड़ा-राजकियावास के मध्य एसएसपी सबस्टेशन व विभिन्न समपार फाटकों, सुरक्षा मानकों व विद्युतीकरण कार्यों का बारीकी से निरीक्षण किया।
Mar 29 (09:31) जोधपुर रेलवे के इतिहास में जुड़ा नया अध्याय:पहली इलेक्ट्रिक ट्रेन पहुंची, जोधपुर से अहमदाबाद मुंबई ट्रेक हुआ इलेक्ट्रिक (www.bhaskar.com)
IR Affairs
NWR/North Western
0 Followers
32661 views

News Entry# 481706  Blog Entry# 5256653   
  Past Edits
Mar 29 2022 (10:13)
Station Tag: Marwar Junction/MJ added by Adittyaa Sharma/1421836

Mar 29 2022 (10:13)
Station Tag: Jodhpur Junction/JU added by Adittyaa Sharma/1421836
Posted by: guest 990 news posts
सोमवार रात 9.55 पर जोधपुर के रेलवे स्टेशन पर नया इतिहास रचा गया। पहली बार इलेक्ट्रिक ट्रेन जोधपुर के स्टेशन तक पहुंची। कोयले से डीजल और अब डीजल से इलेक्ट्रिक युग की शुरुआत जोधपुर में हो चुकी है। ट्रेन की गति बढने से लेकर एक्स्ट्रा लोड और पर्यावरण के अनुकूल होने के चलते इलेक्ट्रिक ट्रेन का फायदा हर क्षेत्र में मिलेगा। उत्तर पश्चिमी रेलवे 104 किलोमीटर का यह रुट इलेक्ट्रिक होने से जोधपुर मारवाड़ जंक्शन होते हुए उसके आगे के सभी रूट से जोधपुर इलेक्ट्रिक माध्यम से जुड़ जाएगा। सोमवार रात मारवाड़ जंक्शन से पहली इलैक्ट्रिक ट्रेन जोधपुर पहुंचने से जोधपुर मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों व कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ गई। इससे पहले रेलवे ने रेल इंजन का ट्रायल लिया था।
मारवाड़
...
more...
जंक्शन से जोधपुर 104 किलोमीटर रूट हुआ इलेक्ट्रिक
संरक्षा आयुक्त ने बारह घंटे से भी अधिक समय तक गहन निरीक्षण के बाद मारवाड़ जंक्शन से जोधपुर के बीच इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेन का सफल संचालन किया । अब इस खंड पर रेल प्रशासन जल्द ही रुटीन में इलेक्ट्रिक ट्रेन शुरु कर देगा। पश्चिम क्षेत्र के संरक्षा आयुक्त आर के शर्मा ने सोमवार को पूरे दिन जोधपुर - मारवाड़ जंक्शन रेल खंड के 104 किलोमीटर रूट पर बारीकी से निरीक्षण कर रेलवे स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं का जायजा लेने के बाद इस खंड पर इलेक्ट्रिक संचालित की ।
स्पीड ट्रायल ट्रेन के संचालन के साथ ही जोधपुर मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों व कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ गई। अब वह पल दूर नहीं जब जोधपुर से मारवाड़ जंक्शन तक पहली इलेक्ट्रिक ट्रेन का संचालन किया जाएगा ।
मारवाड़ जंक्शन के रास्ते अहमदाबाद मुंबई व आगे के बड़े स्टेशनों से जुड़ाव
मंडल रेल प्रबंधक सुश्री गीतिका पांडेय ने जोधपुर मंडल में इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाने को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि अब उत्तर - पश्चिम रेलवे का जोधपुर मंडल भी इलेक्ट्रिक ट्रेन के माध्यम से मारवाड़ जंक्शन के रास्ते अहमदाबाद मुंबई व आगे के बड़े स्टेशनों से जुड़ जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक उपलब्धि है। सुश्री पांडेय ने कहा कि इससे न केवल यात्रियों को आवागमन में सुविधा मिलेगी अपितु पर्यावरण की दृष्टि से भी यह कार्य अनुकूल सिद्ध होगा इसके साथ ही व्यापारियों को भी अपना माल गंतव्य स्थल पर भेजना सुविधा हो जाएगी।
कड़ी मेहनत का नतीजा
उन्होंने दोहराया कि मंडल के अधिकारियों व विद्युतीकरण कार्य में लगे कर्मचारियों ने दिन-रात एक कर कड़ी मेहनत से युद्ध स्तर पर काम कर निर्धारित समयावधि में इस कार्य को पूरा किया है जिससे मंडल पर इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाने का सपना साकार हुआ ।
इससे पूर्व संरक्षा आयुक्त शर्मा ने जोधपुर रेलवे स्टेशन पर विद्युतीकरण कार्यों का निरीक्षण किया और बाद में सीआरएस स्पेशल से जोधपुर- मारवाड़ जंक्शन खंड पर विद्युतीकरण कार्यों का निरीक्षण किया। मारवाड़ जंक्शन पहुंचने के बाद कुछ औपचारिकताएं पूरी कर उन्होंने इलेक्ट्रिक इंजन लगी सीआरएस स्पेशल में मारवाड़ जंक्शन से जोधपुर के बीच 104 किलोमीटर रूट पर इलेक्ट्रिक ट्रेन संचालित कर सफलतापूर्वक ट्रायल लिया।
इन स्टेशन के हुआ निरीक्षण
संरक्षा आयुक्त ने जोधपुर के साथ-साथ भगत की कोठी , बासनी- सालावास के मध्य गेट, लूणी यार्ड ,पाली - बोमादड़ा के मध्य ब्रिज ,बोमादड़ा -राजकियावास के मध्य एसएसपी सबस्टेशन व विभिन्न समपार फाटकों ,सुरक्षा मानकों व विद्युतीकरण कार्यों का बारीकी से निरीक्षण किया।


Oct 28 2020 (11:12) ‘Chutia’ Surname Which Is Originally A Royal And Renowned Family Name Gets Woman Debarred From Job Application (edtimes.in)
*people-culture
0 Followers
25023 views

News Entry# 422948  Blog Entry# 4760739   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Posted by: guest 990 news posts
Over the years, various civilizations got washed off and some were forgotten. While various kingdoms and communities received newfound respect even in modern society, others were left neglected and unattended.

Also, not to forget, slang words have ruined various things for our generation. An unfortunate incident recently occurred with an Assamese woman wherein she lost an opportunity of employment at National Seed Corporation Limited because of her surname which has been mutated into a slang by the north-Indian population. 
...
more...

Her name is Priyanka Chutia. Her glorious family name has been reduced to abuse which does injustice to her family and its honourable past. The organization’s website required her to fill a ‘proper naming’ word while filing an application, ignoring that it was her surname and not abuse.



The Chutia Community

The word ‘Chutia’ has been derived from the Deori-Chutia language which translates into ‘natives who live near pure water’. ‘Chu’ means pure/good, ‘Ti’ refers to water and ‘Ya’ stands for natives of the land.

The community is addressed in ancient verses as ‘Chutika’ as well, which means people of good and pure lineage or origin.

The Chutia community, spelt as Sutiya community, is an ethnic group which finds its origin in the Assam state of India. They are a part of the Kachari group and have reigned over parts of Assam and Arunachal Pradesh from 1187 to 1673.



Read Also: Watch: Some Unheard Poetic Voices Of North-East India

The community is one of the oldest and largest communities of Assam which are said to have migrated from Southern China, mainly Tibet and Sichuan.

The kingdom on which the Chutiya community ruled spanned through various Indian states. Its region was on the banks of rivers Bramhaputra, Dikarai and Subansiri rivers.

The seat of Chutias is said to be Lakhimpur. The fact that they ruled over fertile land testifies for their riches and wealth. They are said to have Tibeto-Berman origin and spoke their language, however, over the years, they started speaking local Assamese language and adopted Hinduism as their religion. 

In 1673, after years of disputes and armed tussles, the Chutia community fell under the domination of the Ahoms.



It is worth noting that Chutias were the first in Assam to use firearms in warfare. Before that, most kingdoms used bows and arrows. 

Present Situation

The Chutia community is presently listed as Other Backward Classes by the Government of India.

The social discrimination faced by north-eastern residents isn’t hidden to anyone. North-eastern people living in north-Indian cities face discrimination of various sorts. Abuses and discriminatory phrases are hurled at them, which are meant to degrade them.

Same is the story with the people of the Chutia community who face aggravated discrimination and often become a laughing stock. They are made to feel inferior by those who aren’t adequately educated on their historical importance. 

The case of Priyanka brings to light an important issue. Our authorities and government are required to inculcate all communities and tribes in the system to ensure that none of them are left out.

Image Source: Google Images

Sources: Times Now, Times of India, The Print

Find The Blogger At: @innocentlysane

This post is tagged under: Arunachal Pradesh, Assam, chutia community, chutia kingdom, deori-chutia, Job, kachari group, north east, OBC, other backward class, royals

8 Posts





Oct 25 2020 (18:36) BJP worker shot at in West Bengal's Howrah, rushed to hospital (zeenews.india.com)
*current-affairs
0 Followers
18882 views

News Entry# 422744  Blog Entry# 4758345   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Posted by: guest 990 news posts
The BJP, claiming it was political violence, allegedly ransacked the TMC worker's house, while the police and the ruling party in the state said the incident was a fallout of a land dispute between the two neighbours.

HOWRAH: A BJP worker has been shot at by a TMC activist in West Bengal's Howrah district, police said on Sunday (October 25). He is being treated at a state-run hospital in Kolkata and his condition is stated to be stable, they said.
...
more...

The BJP, claiming it was political violence, allegedly ransacked the TMC worker's house, while police and the ruling party in the state said the incident was a fallout of a land dispute between the two neighbours.



The incident took place in Chandanapara in Bagnan police station area when 52-year-old flower trader Kinkar Majhi was returning home on Saturday night, a police officer said.

TMC worker Paritosh Majhi and several others stopped Kinkar Majhi, who is also his neighbour, and shot at the BJP activist from a close range over an old land dispute, he said. They fled the spot when locals heard gunshots and rushed to save Kinkar Majhi, the officer said. He was admitted to Uluberia super-speciality hospital, from where he was shifted to a hospital in Kolkata, he said.



Local BJP leader Anupam Mallick, however, claimed the accused had issued death threats to the saffron party worker. "The BJP's clout is growing in the area and our worker was shot at to suppress this tide," he said.

TMC's Bagnan MLA Arunava Sen, however, dismissed the allegations and said the incident was a fallout of an old rivalry and does not have any political link. "We have requested the police to bring the culprits to the book soon," he said.



Further investigation is underway and no one has been arrested so far, the police officer added.

Oct 25 2020 (18:33) BJP worker shot at by TMC activist in Bengal's Howrah; condition stable (economictimes.indiatimes.com)
*current-affairs
0 Followers
20949 views

News Entry# 422743  Blog Entry# 4758340   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Posted by: guest 990 news posts
The BJP, claiming it was political violence, allegedly ransacked the TMC worker's house, while the police and the ruling party in the state said the incident was a fallout of a land dispute between the two neighbours.

2 Posts





Page#    990 news entries  next>>

Go to Full Mobile site