Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Everyone knows if a train is running late, ONLY RailFans know WHY it is late

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Aug 24 08:03:28 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Stream
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~

Page#    Showing 1 to 5 of 2904 news entries  next>>
  
सूरत.उधना रेलवे स्टेशन को सेटेलाइट स्टेशन के तौर पर विकसित करने के लिए 60 करोड़ रुपए के खर्च से कई कार्य मंजूर किए गए हैं। इनमें दो नए प्लेटफॉर्म और दो एस्कलेटर के साथ फुट ओवरब्रिज विस्तार समेत अन्य कार्य शामिल हैं। नवसारी के सांसद सी.आर. पाटिल ने गुरुवार को उधना स्टेशन के मेन गेट तथा पुराने आरक्षण केन्द्र में बने बुकिंग ऑफिस का उद्घाटन किया।पश्चिम रेलवे के मुम्बई रेल मंडल में सूरत मुम्बई-नई दिल्ली और अहमदाबाद के बीच सबसे महत्वपूर्ण स्टेशनों में शामिल है। सूरत से प्रतिदिन 351 अप और डाउन गाडिय़ां गुजरती हंै। आय के मामले में मुम्बई के बाद सूरत स्टेशन दूसरे नम्बर पर है। सूरत स्टेशन पर प्लेटफॉर्म बढ़ाने के लिए पर्याप्त जगह नहीं होने से उधना को सेटेलाइट स्टेशन के तौर पर विकसित करने का निर्णय किया गया है। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक अनिल के. गुप्ता ने फरवरी में उधना स्टेशन का दौरा कर इंडियन रेलवे...
more...
स्टेशन डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (आइआरएसडीसी) द्वारा उधना स्टेशन के लिए तैयार किया गया प्रोजेक्ट देखा था और उसकी सराहना की थी। उधना स्टेशन को अलग-अलग चार फेज साइट-1, साइट-2, रेलवे स्टेशन, यार्ड और गुड्स साइडिंग में विकसित किया जाएगा। रेलवे के बजट में उधना स्टेशन को विकसित करने के लिए 60 करोड़ रुपए मंजूर किए गए थे। इसमें से 20 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं। बाकी चालीस करोड़ रुपए से अलग-अलग विकास कार्य किए जाएंगे। इनमें चार मेन गेट का निर्माण शामिल है। तीन गेट बनकर तैयार हो गए हंै। सांसद सी.आर. पाटिल ने गुरुवार को मेन गेट का रिबन काट कर उद्घाटन किया। उनके साथ महापौर डॉ. जगदीश पटेल, विधायक विवेक पटेल, जेडआरयूसीसी सदस्य अनुराग कोठारी, राकेश शाह, संतोष शाह, छोटू पाटिल, देवेन्द्र बोकाडिया के अलावा मुम्बई से एडीआरएम सुमीत हंसरंजानी, डीइएन श्रेयांस अग्रवाल, सूरत स्टेशन निदेशक सी.आर. गरूड़ा, उधना स्टेशन मैनेजर वी.एन. कदम, डिप्टी एसएस कॉमर्शियल रंजन कुमार, टीआइ अनुपम शर्मा समेत अलग-अलग विभागों के सुपरवाइजर मौजूद थे। पाटिल उधना स्टेशन का निरीक्षण करते हुए करंट टिकट बुकिंग ऑफिस पहुंचे। यहां उन्होंने नए करंट टिकट बुकिंग कार्यालय का रिबन काटकर उद्घाटन किया। उधना स्टेशन सलाहकार समिति के सदस्य सज्जन महर्षि ने उद्घाटन कार्यक्रम में लक्ष्मणगढ़ नागरिक परिषद की ओर से उधना स्टेशन पर शीतल जल की प्याऊ बनाने का प्रस्ताव रखा। यह विकास कार्य होंगेसूरत स्टेशन पर ट्रेनों का बोझ घटाने के लिए उधना स्टेशन को विकसित किया जा रहा है। उधना में दो नए प्लेटफॉर्म का निर्माण किया जाएगा। ट्रेनों के रख-रखाव और मेंटेनेंस के लिए सूरत में पिट लाइन है। उधना में दो और पिट लाइन बनाई जा रहा हैं। स्टेशन दो एस्कलेटर भी जल्द लगाए जाएंगे। ट्रेनों के परिचालन के लिए नया आरआरआइ (कंट्रोल रूम), रेलवे सुरक्षा बल और रेलवे पुलिस के लिए ऑफिस भी बनेगा। उधना के दोनों फुट ओवरब्रिज का विस्तार भी विकास कार्यों में शामिल है। दोनों ओवरब्रिज को प्लेटफॉर्म संख्या तीन-चार से जोड़ा जाएगा और एक ओवरब्रिज का रेलवे कॉलोनी तक विस्तार किया जाएगा। प्रोजेक्ट आइआरएसडीसी के प्लान मेंआइआरएसडीसी के प्लान में उधना स्टेशन पर यात्रियों तथा रेलवे स्टाफ के लिए 15 मंजिला दो बिल्डिंग का निर्माण होगा। एक बिल्डिंग को रेलवे क्वाटर्स, कम्यूनिटी सेंटर तथा क्लब के तौर पर डेवलप किया जाएगा। दूसरी बिल्डिंग को रियल एस्टेट हाउसिंग के हिसाब से डेवलप किया जाएगा। इसके अलावा 11 मंजिला एक और बिल्डिंग बनाई जाएगी, जो कॉमर्शियल (मॉल, ऑफिस और होटल) होगी। इस बिल्ंिडग को निजी कंपनी मुख्य रूप से आय के स्रोत के रूप में तैयार करेगी। एक और ग्यारह मंजिला बिल्डिंग रिटेल, ऑफिस एंड सर्विस्ड अपार्टमेंट के लिए बनाई जाएगी। भावी ग्रीन स्टेशन पर गमले उधार केउधना स्टेशन पर उद्घाटन कार्यक्रम के लिए रेलवे की ओर से करंट टिकट बुकिंग ऑफिस के पास स्टेज बनाया गया था। स्टेज सजाने के लिए प्लास्टिक के फूल, कुर्सी, सोफे लगाए गए थे, लेकिन आम लोगों के बैठने की जगह खुले आसमान के नीचे कड़ी धूप में थी। सूत्रों ने बताया कि उधना स्टेशन को ग्रीन स्टेशन के तौर पर विकसित करने की योजना है, लेकिन उद्घाटन कार्यक्रम के लिए पौधों के 35 गमले नर्सरी से किराए पर मंगवाए गए थे।
  
Today (04:36) Delhi Metro issues tenders for Aerocity-Tughlaqabad stations; 3-layer Mehrauli transport corridor to come up (www.financialexpress.com)
Metro
DMRC/Delhi Metro
0 Followers
389 views

News Entry# 389355  Blog Entry# 4409133   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
The corridor will be four elevated stations, namely, Sangam Vihar, Khanpur, Ambedkar Nagar and Saket G Block and 12 underground stations, the tenders for which are yet to be floated by DMRC.
The Delhi Metro Rail Corporation (DMRC) has recently floated tenders for the design and construction of the 5.5 km long elevated section of the 20 km Aerocity-Tughlaqabad corridor, as part of the Delhi Metro Phase IV project. As part of this section, a unique and first-of-its-kind three layer transport facility has also been planned for the Mehrauli-Badarpur road in the South Delhi region, a DMRC spokesperson told Financial Express Online.
Earlier,
...
more...
DMRC had proposed several new lines and corridors as part of the Delhi Metro Phase-IV project, with an aim to connect the far flung areas of the national capital region and to bring them on the Delhi Metro map. Prime Minister Narendra Modi-led Central government and the Delhi Government had approved three corridors as part of the Delhi Metro Phase-IV. The three approved corridors are as follows:
With the recent tender issued by DMRC for the new Aerocity-Tughlaqabad corridor, the Delhi Metro Phase-IV project has received a boost. According to DMRC, the details of the upcoming Delhi Metro Aerocity-Tughlaqabad corridor are as follows:
Delhi Metro Aerocity-Tughlaqabad corridor: Route, stations and other details
  
Today (04:31) सितंबर माह के दूसरे सप्ताह से खगड़िया-समस्तीपुर रेल लाइन पर दौड़ेगी विद्युत ट्रेन (www.jagran.com)
IR Affairs
ECR/East Central
0 Followers
397 views

News Entry# 389354  Blog Entry# 4409132   
  Past Edits
Aug 24 2019 (04:32)
Station Tag: Khagaria Junction/KGG added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Aug 24 2019 (04:32)
Station Tag: Samastipur Junction/SPJ added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
बेगूसराय। समस्तीपुर-खगड़िया रेलखंड पर विद्युतीकरण का काम संपन्न होते ही गुरुवार को विद्युत लोको ट्रायल संपन्न हुआ। इसके साथ ही इस रेलखंड पर इलेक्ट्रिक ट्रेनों के परिचालन का रास्ता साफ हो गया। इस संबंध में पूर्व मध्य रेलवे के प्रमुख मुख्य अभियंता विद्युत राकेश कुमार तिवारी ने बताया कि शनिवार को सीआरएस के निरीक्षण के बाद रेलखंड पर इलेक्ट्रिकल ट्रेनों का परिचालन आरंभ कर दिया जाएगा। मालूम हो कि 85 किलोमीटर लंबी समस्तीपुर-खगड़िया रेलखंड पर 50 करोड़ रुपये की लागत से विद्युतीकरण का कार्य किया गया है।
  
Today (04:27) कच्छप गति से चल रहा रेलवे स्टेशन पर निर्माण कार्य (www.jagran.com)
IR Affairs
NER/North Eastern
0 Followers
399 views

News Entry# 389353  Blog Entry# 4409131   
  Past Edits
Aug 24 2019 (04:27)
Station Tag: Bakulha/BKLA added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
Stations:  Bakulha/BKLA  
जागरण संवाददाता, बैरिया (बलिया) : बकुल्हां रेलवे स्टेशन पर फुट ओवरब्रिज व दो नंबर प्लेटफार्म का निर्माण कार्य कच्छप गति से होने के कारण क्षेत्रीय लोगों व रेल यात्रियों में असंतोष व्याप्त है। लोगों का कहना है कि अगर इसी गति से कार्य होता रहा तो अभी एक साल और लग जाएंगे फुट ओवरब्रिज व दो नंबर प्लेटफार्म के निर्माण में।
उल्लेखनीय है कि औड़िहार-छपरा रेलवे लाइन के दोहरीकरण के क्रम में प्रत्येक स्टेशन पर जहां एक ही प्लेटफार्म है, वहां दूसरा प्लेटफार्म व फुट ओवरब्रिज बनवाने की रेलवे की योजना है। इसके लिए रेलवे द्वारा काफी पहले धन भी जारी किया जा चुका है कितु रेलवे के अधिकारियों के कार्य के प्रति उदासीनता व ठेकेदारों की मनमानी के कारण
...
more...
बलिया से पूरब सुरेमनपुर को छोड़कर कहीं भी फुट ओवरब्रिज का निर्माण कार्य व अतिरिक्त प्लेटफार्म का निर्माण नहीं हो सका है। जबकि नियमानुसार इसे 31 मार्च 2019 तक बनकर तैयार हो जाना चाहिए था।
कार्य में शिथिलता के कारण यात्रियों को असुविधा के साथ-साथ निर्माण कार्यो की लागत भी बढ़ रही है। ग्रामीणों ने संबंधित जनप्रतिनिधियों व रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों का ध्यान अपेक्षित करते हुए आग्रह किया है कि रेलवे का निर्माण कार्य तीव्र गति से मानक के अनुसार हो।
  
Today (04:25) Paradip-Haridaspur railway line gets NGT whip (www.orissapost.com)
IR Affairs
ECoR/East Coast
0 Followers
370 views

News Entry# 389352  Blog Entry# 4409130   
  Past Edits
Aug 24 2019 (04:26)
Station Tag: Kendrapara/KNPRA added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Aug 24 2019 (04:26)
Station Tag: Haridaspur/HDS added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Aug 24 2019 (04:26)
Station Tag: Paradeep/PRDP added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
Paradip: The construction of Paradip-Haridaspur railway line has been hit with controversy again with the National Green Tribunal (NGT) stopping the project on the basis of an environmental impact assessment (EIA) report and various alleged irregularities.
Sources said, one Sashibhushan Pattanayak had filed a petition with the NGT citing various irregularities involved in the construction of the project. On the basis of the plaint, a case (No-55/2018) was registered.
At the behest of the NGT, a four-member team was formed to investigate into the allegations. A doctor of the SCB Medical College and
...
more...
Hospital in Cuttack, two officials of the State Agriculture and Horticulture Departments and one official from the Odisha State Pollution Control Board formed the team.
The team placed its report August 9. The team has mentioned about several irregularities they noticed in the construction of the railway line.
In the report it has been mentioned that land is being excavated without permission from the concerned department. The reports of the tehsildars of areas in Kendrapara district through which the 40-kilometre long line is being laid lack congruity. Necessary assessment as to how agriculture, soil and lifestyle are going to be affected has also not been carried out.
On the basis of this report, the NGT has decided to impose a fine for carrying excavation without permission on the firm involved in the project.
The 40 kilometres long track is incidentally the first railway line in Kendrapara district. It is worth mentioning, the railway line is 81 kilometres long in total and the government has been trying for its completion since 2009.
Controversies and cost escalation in the Railway Budgets has inordinately delayed the project. The Railway Ministry had announced in July that the track will be operational by December 2019. Even a trial run has already been conducted on portions of the track.
Even as the construction work is being carried out on a war footing, the NGT’s recent order will certainly affect the commissioning of the project.
Page#    2904 news entries  next>>

Go to Full Mobile site