Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

दूरी नही मंज़िल भारी, साथ हो जब मेट्रो हमारी - Mushfique Khalid

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Oct 28 08:59:22 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 394790
Nov 12 2019 (20:38) Rapid Rail: दिल्ली से मेरठ तक काम में आई तेजी, वेस्ट यूपी के साथ दिल्ली के लाखों लोगों को मिलेगा लाभ (m.jagran.com)
NR/Northern
0 Followers
2880 views

News Entry# 394790  Blog Entry# 4486490   
  Past Edits
Nov 12 2019 (20:39)
Station Tag: Meerut City Junction/MTC added by Amish Kumar^~/1702584

Nov 12 2019 (20:39)
Station Tag: Ghaziabad Junction/GZB added by Amish Kumar^~/1702584

Nov 12 2019 (20:39)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by Amish Kumar^~/1702584
गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। Rapid Rail: दिल्ली से मेरठ तक प्रस्तावित रैपिड रेल कॉरिडोर के काम में तेजी आनी शुरू हो गई है। वसुंधरा में एनसीआरटीसी (नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन) ने आवास विकास परिषद की जमीन पर यार्ड बनाने के बाद ट्रांस हिंडन में रैपिड रेल के कॉरिडोर का निर्माण शुरू कर दिया है। वसुंधरा सेक्टर-दो की ग्रीन बेल्ट पर एनसीआरटीसी ने ये काम शुरू किया है। अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही ग्रीन बेल्ट पर बेस तैयार कर इसके लिए पिलर बनाए जाएंगे।
गौरतलब है कि दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल कॉरिडोर का काम गाजियाबाद में शुरू हो चुका है। कॉरिडोर के रूट में कुल 15 स्टेशन होंगे। इसमें से सात गाजियाबाद में हैं। यहां साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई, मुरादनगर, मोदीनगर उत्तर
...
more...
और मोदीनगर दक्षिण स्टेशन शामिल हैं। इसे देखते हुए एनसीआरटीसी ने आवास विकास परिषद की वसुंधरा सेक्टर सात की जमीन पर यार्ड तैयार कर लिया है। इसके साथ ही वसुंधरा सेक्टर-दो ग्रीन बेल्ट पर बैरिकेडिंग कर पिलर तैयार करने का काम भी शुरू कर दिया गया है।
अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही पिलरों का निर्माण शुरू किया जाएगा। साथ ही पिलरों को आपस में जोड़ने और कॉरिडोर का ट्रैक तैयार करने के लिए प्री फैब्रिकेटेड तकनीक से वायाडक्ट लगाई जाएंगी।
32 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट का गाजियाबाद को मिलेगा लाभ
रैपिड रेल के इस प्रोजेक्ट की लागत करीब 32 हजार करोड़ रुपये बताई जा रही है। इसमें करीब 4500 करोड़ रुपये उत्तर प्रदेश सरकार देगी। शेष राशि दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार की तरफ से वहन की जाएगी। रैपिड रेल मेट्रो रेल से तीन गुना तेज होगी। ट्रेन की अधिकतम गति 180 किमी प्रति घंटे बताई जा रही है। गाजियाबाद में सात स्टेशन बनने के बाद इसका सीधा लाभ यहां के लोगों को मिलेगा। इससे न सिर्फ मेरठ-मोदीनगर बल्कि दिल्ली जाने वाले यात्रियों को भी लाभ मिलेगा।
वसुंधरा में बनना है रैपिड रेल, मेट्रो और रोडवेज बसों का जंक्शन
वसुंधरा लाल बत्ती के पास ही रैपिड रेल, मेट्रो और यूपी रोडवेज का एक संयुक्त जंक्शन बनना है। रैपिड रेल कॉरिडोर के स्टेशन से बाहर निकले बिना यात्री स्काई वॉक के जरिये सीधे मेट्रो स्टेशन और साथ ही रोडवेज के साहिबाबाद डिपो में भी प्रवेश कर सकेंगे। आने वाले समय में यह एनसीआर का सबसे बड़ा जंक्शन बनेगा।
सुधीर कुमार शर्मा (पीआरओ, एनसीआरटीसी) के मुताबिक, रैपिड रेल का निर्माण तेजी से किया जा रहा है। यार्ड में भी काम जारी है। वसुंधरा में ग्रीन बेल्ट पर पिलरों के लिए जमीन को समतल करने का काम शुरू कर दिया गया है। 
दिल्ली से मेरठ पहुंचने में लगेगा एक घंटा समय
पहला चरण: साहिबाबाद से दुहाई 17 किमी
रूट: दिल्ली से मेरठ
कुल दूरी: 82.15 किमी
प्रोजेक्ट डेडलाइन: 2024
लागत: 30274 करोड़ रुपये लगभग
Go to Full Mobile site