PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Howrah Rajdhani - At 50, the Handsome King 👑 is still ruling the tracks superbly. - Somanko

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Nov 30 15:53:00 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 423027
Oct 29 (01:29) दिल्ली-ग्रेनो मेट्रो में एक कार्ड को लेकर तैयारी शुरू (m.livehindustan.com)
New Facilities/Technology
DMRC/Delhi Metro
0 Followers
3677 views

News Entry# 423027  Blog Entry# 4761459   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
नोएडा। वरिष्ठ संवाददातादिल्ली-एनसीआर और नोएडा-ग्रेटर नोएडा समेत पूरे देश मे चल रही मेट्रो के एक कॉमन कार्ड को लेकर फिर से तैयारी शुरू हो गई है। इसको लेकर बुधवार को डीएमआरसी, एनएमआरसी और एसबीआई बैंक के अधिकारियों के बीच बैठक हुई। इसमें नेशनल कॉमन मोबोलिटी कार्ड को जल्द लागू करने को लेकर चर्चा हुई। इस मामले में अगले सप्ताह दोबारा से बैठक होगी।अभी नोएडा-दिल्ली के बीच चल रही मेट्रो का संचालन डीएमआरसी कर रही है जबकि नोएडा-ग्रेटर नोएडा के बीच चल रही एक्वा लाइन की मेट्रो को एनएमआरसी चलवा रही है। दोनों ही मेट्रो में सफर करने के लिए अलग-अलग कार्ड खरीदना पड़ता है। नोएडा सेक्टर-63 से द्वारका रूट पर ब्लू लाइन और बॉटनिकल गार्डन से जनकपुरी तक मजेंटा लाइन पर लोग सफर करते हैं। इससे लोगों को काफी दिक्कत होती है। परेशानी उठाकर दोनों मेट्रो का अलग कार्ड बनवाना पड़ता है। रोजाना आने जाने वालों को टिकट खरीदकर सफर करना...
more...
महंगा पड़ता है। खर्चा अधिक होने के साथ साथ दो-दो कार्ड जेब में रखने पड़ते हैं।दिल्ली से सटा होने के कारण नोएडा-दिल्ली के लाखों लोग रोजाना एक-दूसरे क्षेत्र में नौकरी, बिजनेस और एजुकेशन आदि के लिए आते-जाते हैं। ऐसे में लोगों को सहूलियत देने के लिए दोनों मेट्रो का एक ही कॉमन कार्ड बनाने को लेकर फिर से कवायद शुरू हो गई है।नोएडा प्राधिकरण के दफ्तर में बुधवार को हुई बैठक में डीएमआरसी और एनएमआरसी के अधिकारियो ने कार्ड को लेकर अपनी अपनी रिपोर्ट पेश की। दोनों जगह एसबीआई बैंक के जरिए स्मार्ट कार्ड बनाए जा रहे हैं। ऐसे में उनके अधिकारी भी मौजूद थे लेकिन बैंक की टेक्निकल टीम के अधिकारियों के नहीं आने के कारण बैठक जल्द समाप्त हो गई।डीएमआरसी के अधिकारियों ने बताया कि एनएमआरसी के कार्ड को उनके सिस्टम के तहत चलाया जाए। वे एनएमआरसी के सिस्टम पर कार्ड नहीं चलाएंगे। उनके नेटवर्क में चलाने के लिए कार्ड रीडर सिस्टम के सॉफ्टवेयर को अपग्रेड किया जाएगा। इसी तरह एनएमआरसी को भी सॉफ्टवेयर में अपग्रेड करना होगा।अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली-एनसीआर के सभी स्टेशन पर सॉफ्टवेयर अपडेट करने में दो साल तक का समय सकता है। बैठक में ये भी चर्चा हुई कि एक कार्ड होने पर डीएमआरसी और एनएमआरसी को कितना-कितना पैसा मिलेगा। इस बारे में नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ प्रवीण मिश्र का कहना है कि बैठक में दोनों मेट्रो का एक कार्ड को लेकर चर्चा हुई। अगले सप्ताह दोबारा बैठक होगी।
Go to Full Mobile site