Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

प्रयागराज एक्सप्रेस - जो भी हो तुम खुदा की कसम; लाजवाब हो

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Jun 6 01:37:38 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 404655
नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) का प्रभाव तेजी से फैलता जा रहा है। आईसीएमआर (ICMR) ने तो यहां तक कह दिया है कि ये तीसरे स्टेज की ओर कदम बढ़ा रहा है। ऐसे में लॉकडाउन खुलने के बाद रेलवे कैसे ट्रेनों का संचालन दुरुस्त रखेगा ये एक बड़ा चैलेंज है। इसी के चलते रेलवे बोर्ड ने हाल ही में एक वीडियो कॉफ्रेंसिंग बैठक की थी। जिसमें ट्रेनों (Trains) के सैनेटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग समेत कई अहम मुद्दों पर चर्चा की गई थी। हालांकि अभी किसी भी योजना को पूरी तरह से लागू किए जाने पर निर्णय नहीं लिया गया है। इस बात की जानकारी रेलवे विभाग की ओर से ट्वीट के जरिए दी गई है।Ministry of Railways has not issued any protocol regarding passenger travel during post lockdown period, as has been incorrectly reported in some media reportsAs and when a decision is taken, all stakeholders would be intimated. Please do...
more...
not be guided by any misleading report— Ministry of Railways (@RailMinIndia)
April 9, 2020सूत्रों के मुताबिक लॉकडाउन (Lockdown) खुलने के बाद जब भी ट्रेनें चलाई जाएंगी उस दौरान संक्रमण न फैले इसलिए ट्रेनों को सैनेटाइज किया जाएगा। ट्रेन को प्रत्येक फेरे के बाद साबुन अथवा सेनेटाइजर स्प्रे से कीटाणु मुक्त किया जाएगा। स्टॉपेज पर टॉयलेट की भी सफाई की जाएगी। प्लान है कि हर दो घंटे में कोच और टायलेट के दरवाजे के हैंडल, रेलिंग और खिड़कियों आदि को सेनेटाइजर स्प्रे (Sanitize) से साफ किया जाए।इतना ही नहीं स्टेशन के अंदर एंट्री के समय प्रत्येक व्यक्ति की थर्मल स्कैनिंग (Thermal Scanning) की जाएगी। जिससे पता चल सके कि किसी में संक्रमण तो नहीं। इसके अलावा यात्रियों का सफर के दौरान मास्क लगाना जरूरी होगा। एक प्रस्ताव यह भी है कि 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को अभी सफर की अनुमति नहीं दी जाएगी। मालूम हो कि रेलवे ट्रेनों के संचालन के साथ अन्य सामाजिक जिम्मेदारियां भी निभा रहा है। जिसके तहत लॉकडाउन में फंसे लोगों को भोजन मुहैया कराने के लिए रेलवे आरपीएफ, पुलिस एवं गैर सरकारी संगठन के कार्यकर्ता मिलकर काम कर रहे हैं। इसमें आईआरसीटीसी के बेस किचन का भी इस्तेमाल किया जा रहा है।
Go to Full Mobile site