Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

22222/22221-->Aapli Rajdhani, Asli VIP number waali - Somanko

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Oct 23 11:33:14 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 393682
पश्चिम मध्य रेलवे (पमरे) के विभिन्न स्टेशनों से शुरू होने वाली और यहांं से गुजरने वाली ट्रेनें जल्द ही 120 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ेंगी। इसके लिए पमरे ने तैयारियां शुरू कर दी हैंं। रेलवे बोर्ड से पहले चरण में 11 ट्रेनों की गति बढ़ाने की अनुमति मांगी है। इसके बाद 10 और ट्रेनों को चलाया जाएगा। वर्तमान में ट्रेनों की स्पीड 90-110 किमी प्रतिघंटा है। जानकारों के अनुसार पहले चरण में एलटीटी से गोरखपुर के बीच चलने वाली ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने पर पर काम किया गया है। इस रूट की ट्रेनों की गति बढ़ाने के लिए रेलवे बोर्ड को पत्र भी लिखा गया है। इसके बाद सम्पर्क क्रांति, सोमनाथ और अमरावती एक्सप्रेस की गति बढ़ाने की अनुमति मांगी जा सकती है।
एलएचबी
...
more...
कोच वाली टे्रनें
पश्चिम मध्य रेलवे से शुरू होने वाली कई टे्रनों में एलएचबी कोच लगाए जा रहे हैं। ये कोच पूर्व के कोच की तुलना में हल्के हैं। इन्हें 130 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ााय जा सकता है। इसलिए पहले चरण में एलएचबी कोच वाली ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने की बात कही जा रही है। इनमें नए और आधुनिक लोको (इंजन) का उपयोग किया जाएगा।
तीनों मंडलों में अधिकतम गति 110 किमी
वर्तमान में पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर, कोटा और भोपाल रेल मंडलों से संचालित ट्रेनों की अधिकतम गति 90-110 किमी प्रतिघंटा है। तीनों मंडलों की ट्रेनों की गति 120 किमी प्रतिघंटा होने पर यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने में कम समय लगेगा।
ऑपरेटिंग विभाग कर रहा तैयारी ट्रेनों की रफ्तार में ट्रैक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसके लिए ऑपरेटिंग विभाग ट्रैक मेंटेनेंस सहित अन्य स्तर पर काम कर रहा है। जानकारी के अनुसार कटनी से इटारसी के बीच डबल ट्रैक भी डाला गया है।
पत्रिका वाले ने हैडिंग लिखने के पहले भांग चाटी थी
Go to Full Mobile site