Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

RailFans never grow old

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Oct 21 12:49:19 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Stream
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 393036
  
Oct 10 (20:16) उझानी स्टेशन पर गुड्स लाइन तक बनेगा फुट ओवरब्रिज, प्रस्ताव मंजूर (www.amarujala.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
2603 views

News Entry# 393036  Blog Entry# 4454255   
  Past Edits
Oct 10 2019 (20:17)
Station Tag: Ujhani/UJH added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
Stations:  Ujhani/UJH  
उझानी (बदायूं)। पूर्वोत्तर रेलवे की बरेली-कासगंज ब्रॉडगेज लाइन पर चल रहे विद्युतीकरण कार्य के बीच एक और अच्छी खबर आई है। बदायूं समेत आसपास इलाके में व्यापार को बढ़ावा देने के लिए रेलवे ने मालगाड़ियों की रैक लोडिंग-अनलोडिंग के लिए उझानी स्टेशन को चुना है। मालगोदाम के विस्तार से लेकर माल को सुरक्षित रखने की सुविधा मुहैया कराने की दिशा में लोडिंग-अनलोडिंग स्थल पर गुड्स शेड की कवायद ने रफ्तार पकड़ ली है। प्लेटफार्म और रैक स्थल के बीच फुट ओवरब्रिज बनेगा।विज्ञापनरेलवे स्टेशन पर इस साल लोडिंग और अनलोडिंग के लिए पहुंचने वाली मालगाड़ियों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। यहां से शीरा, मक्का, गेहूं और बाजरा की रैक की लोडिंग होती रही है। अनलोडिंग के लिए पहुंचने वाली रैक में सर्वाधिक यूरिया और डीएपी है। यूरिया और डीएपी की सप्लाई बदायूं जिले के अलावा कासगंज और संभल के लिए पहुंचती है। रैक की लोडिंग और अनलोडिंग बढ़ने के...
more...
बाद ही स्थानीय स्तर से रैक स्थल पर गुड्स शेड और प्लेटफार्म-रैक स्थल के बीच फुट ओवरब्रिज का प्रस्ताव रेल मंत्रालय को भेजा गया था। गुड्स शेड का प्रस्ताव अभी पास नहीं हुआ है लेकिन पिछले दिनों फुट ओवरब्रिज को मंजूरी प्रदान कर दी गई। प्रस्ताव मालगाड़ियों के लिए एक और लाइन का भी था। फिलहाल उसे स्वीकृत नहीं किया गया है। बता दें कि मालगोदाम बदायूं स्टेशन पर भी है लेकिन वहां स्थान काफी कम होने की वजह से रैक की लोडिंग-अनलोडिंग नहीं हो सकती। बरेली सिटी से लेकर कासगंज सिटी तक किसी भी स्टेशन पर यहां के मुकाबले पर्याप्त जगह उपलब्ध नहीं है। इसीलिए रेलवे ने रैक को लेकर स्थानीय स्टेशन को ही चुना था। जल्द ही फुट ओवरब्रिज का निर्माण कार्य भी शुरू हो सकता है।...पर मालगाड़ियों की मैनुअल शंटिंग से खतरा बरकरारलोडिंग और अनलोडिंग के लिए जो मालगाड़ियां यहां स्टेशन पर पहुंचती है, उन्हें गुड्स चबूतरे से सटी चौथी लाइन पर रोका जाता है। ट्रैकर गुड्स लाइन पर सिग्नल की सुविधा नहीं होने की वजह से उनकी शंटिंग के लिए स्टेशन मास्टर को मैनुअल व्यवस्था का सहारा लेना पड़ता है। बाकी की तीनों लाइनें इलेक्ट्रानिक सिग्नल सिस्टम से जुड़ी हैं। चौथी लाइन पर मालगाड़ी को लेने के लिए रेलवे कर्मियों को झंडी दिखाकर आगे बढ़ाना होता है। ऐसे में हादसे की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता। कभी-कभी तो मालगाड़ियों की शंटिंग के फेर में सवारी गाड़ियां भी पड़ जाती हैं। आउटर पर ही सवारी गाड़ियां रोके जाने से लेट हो जाती हैं।यहां रेलवे स्टेशन पर फुट ओवरब्रिज बनने के बाद यात्रियों को भी फायदा होगा। अक्सर दूसरे छोर से पहुंचने वाले यात्री लाइन से होकर ही निकल आते हैं। गुड्स चबूतरे तक व्यापारी और मजदूरों को भी दिक्कत होती है। अफसर भी सुविधाओं में इजाफा करना चाहते हैं।- चंद्रभूषण सिंह, स्टेशन अधीक्षक
Go to Full Mobile site