Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

तो क्या हुआ , जो एक ट्रेन निकल गयी तुम्हारी, जिंदगी के ट्रैक मे अगली ट्रेन भी आएगी। - karthik

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sun Sep 22 00:53:19 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Stream
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 389007
  
भुवनेश्वर. इंडियन रेलवे के एक सीनियर आईआरटीएस आफिसर की सतर्कता से कई लोगों को बड़ी धोखाधड़ी से बचा लिया. दरअसल यह सीनियर आईआरटीएस आफीसर मैट्रिमोनियल साइट्स पर अपनी बहन के लिए एक योग्य वर की तलाश कर रहे थे, इस दौरान उन्हें अलग-अलग साइट्स पर एक ही व्यक्ति डॉक्टर के रूप में सामने आ रहा था, जिसे बाद में पुलिस को सूचना देकर पकड़वाया गया. नागपुर में आईआरटीएस ऑफिसर अनूप कुमार सत्पथी के इनपुट्स पर नयापाली पुलिस ने रविवार 18 अगस्त को एक शख्स बिरंची नाथ को गिरफ्तार किया, जिसकी अलग-अलग मैट्रिमोनियल साइट्स पर फर्जी प्रोफाइल थी और खुद को कभी डॉक्टर, मेडिकल प्रोफेसर बताता था. मैट्रिमोनियल साइट पर 38 साल के शादीशुदा और दो बच्चों के पिता नाथ ने सत्पथी के सामने खुद को एम्स दिल्ली के न्यूरोसर्जन के रूप में परिचय दिया. रेलवे पीएसयू के कंटेनर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के चीफ जनरल मैनेजर सत्पथी ने कहा, मैनें एम्स में...
more...
मेरे संपर्कों के जरिए उसके बारे में पता किया तो समझ आया कि वह झूठ बोल रहा है. उसने साइट पर फर्जी फोटो अपलोड की थी. मैंने उसे कॉल किया और खूब डांटा.
दोबारा दूसरी साइट पर नजर आया
यह मामला यहीं खत्म नहीं हुआ. कुछ दिनों बाद, सत्पथी का फिर से नाथ से एक अन्य मैट्रिमोनियल साइट पर आमना-सामना हुआ, जहां आरोपी ने खुद को भुबनेश्वर में मेडिकल प्रोफेसर बताया. सत्पथी ने कहा, दूसरी बार हमने बात की तो नाथ ने खुद को दूल्हे के पिता के रूप में पेश किया. फोन पर बात करते हुए मुझे महसूस हुआ कि मैं उसी फर्जी शख्स से बात कर रहा हूं जिसको पिछली बार मैंने फटकारा था. कुछ मिनट बात करने के बाद, मुझे यकीन हो गया और मैंने उसे इस तरह के फर्जी काम के लिए कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी. उसने तुरंत फोन रख दिया और स्विच ऑफ कर दिया.
तीसरी बार बताया आईआरएस आफीसर
दोनों एक बार फिर मैचमेकिंग पोर्टल पर ऑनलाइन मिले. सत्पथी ने पाया कि अब नाथ खुद को इंडियन रेवेन्यू ऑफिसर बतौर पहचान दे रहा है. उन्होंने कहा, इस बार, मैंने उसे सबक सिखाने का फैसला किया. जब मैंने उससे संपर्क किया और नाथ ने भुबनेश्वर के एक होटल में मेरी बहन से मिलने के लिए जोर दिया तो मैं मान गया, लेकिन मैंने पुलिस को सूचना दे दी. डीसीपी अनुप कुमार साहू ने कहा कि हमने जाल बिछाया और होटल के पास नाथ को अरेस्ट कर लिया. उन्होंने कहा कि नाथ भुबनेश्वर में एक वकील के असिस्टेंट बतौर काम करता है. हम पता कर रहे हैं कि मैट्रिमोनियल साइट्स के जरिए उसने और किसे धोखा दिया है.

  
Go to Full Mobile site